मंकीपॉक्स वायरस के कारण होने वाली बीमारी को मंकीपॉक्स कहा जाता है. यह बंदरों के जरिए फैलने वाली दुर्लभ बीमारी है. मंकीपॉक्स के ज्यादातर मामले मध्य और पश्चिम अफ्रीका में पाए गए हैं. हाल ही में दुनियाभर में इसके मामले तेजी बढ़ रहे हैं. भारत में भी मंकीपॉक्स के कई मामले सामने आए हैं, जबकि हाल ही में एक व्यक्ति की मंकीपॉक्स से मृत्यु की पुष्टि की गई है. ऐसे में कई लोग इस बीमारी से डरे हुए हैं. मंकीपॉक्स से बचने के लिए कुछ जरूरी बातों का ध्यान रखना जरूरी है.

आज इस लेख में मंकीपॉक्स से बचाव के तरीकों के बारे में बताया गया है -

(और पढ़ें - मंकीपॉक्स के लिए टीका)

  1. मंकीपॉक्स से बचाव के टिप्स
  2. सारांश
मंकीपॉक्स से बचाव का तरीका के डॉक्टर

मंकीपॉक्स से पीड़ित व्यक्ति के शरीर पर रैशेज होने लगते हैं. इसके साथ ही इसकी वजह से मरीजों को काफी तेज बुखार होने लगता है. स्मॉल पॉक्स वैक्सीन से मंकीपॉक्स में होने वाली इन समस्याओं से बचाव किया जा सकता है. ऐसे में मंकीपॉक्स वायरस को फैलने से रोकना ही सबसे अच्छा और बेहतर उपचार हो सकता है. आइए, जानते हैं कि मंकीपॉक्स से कैसे बचाव करें -

  • संक्रमित जानवरों (विशेषकर बीमार या मृत जानवरों) के संपर्क में आने से बचें.
  • बिस्तर और वायरस से दूषित अन्य चीजों के संपर्क में आने से बचें.
  • मीट या इससे उत्पादित पदार्थों का सेवन कम मात्रा में करें. इसके अलावा, अगर आप मीट का सेवन कर रहे हैं, तो इस स्थिति में मीट को अच्छी तरह से पकाकर खाएं. 
  • रोजाना समय-समय पर बार-बार साबुन और पानी से अच्छी तरह हाथ धोएं. 
  • मंकीपॉक्स से संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने से बचें. 
  • सुरक्षित यौन संबंध बनाएं. शारीरिक संबंध बनाने के दौरान कंडोम और डेंटल डैम का इस्तेमाल करें. 
  • घर से बाहर निकलने से पहले मास्क पहनें. खासतौर पर अपने मुंह और नाक को अच्छी तरह से ढकें. 
  • बार-बार इस्तेमाल होने वाली सतह को अच्छे से साफ करें, ताकि संक्रमण और कीटाणुओं को नष्ट किया जा सके. 
  • मंकीपॉक्स वायरस से संक्रमित लोगों की देखभाल करते समय पीपीई किट जरूर पहनें. 
  • शरीर में मंकीपॉक्स के लक्षण जैसे- स्किन रैशेज, बुखार, थकान व सिरदर्द इत्यादि दिखे, तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें.

(और पढ़ें - क्या सेक्स करने से मंकीपॉक्स फैलता है)

मंकीपॉक्स एक वायरल डिजीज है. यह कोरोना की तरह एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैल सकता है. इस स्थिति में इससे बचाव जरूरी है. अगर आपके क्षेत्र के आसपास मंकीपॉक्स से संक्रमित व्यक्ति रहता है, तो इससे बचने वाले टिप्स को जरूर फॉलो करें, ताकि आप इस दुर्लभ बीमारी से बच सकें. वहीं, मंकीपॉक्स के लक्षण दिखने पर तुरंत डॉक्टर से अपनी जांच कराएं.

(और पढ़ें - चेचक के टीके की खोज)

Dr Rahul Gam

Dr Rahul Gam

संक्रामक रोग
8 वर्षों का अनुभव

Dr. Arun R

Dr. Arun R

संक्रामक रोग
5 वर्षों का अनुभव

Dr. Neha Gupta

Dr. Neha Gupta

संक्रामक रोग
16 वर्षों का अनुभव

Dr. Lalit Shishara

Dr. Lalit Shishara

संक्रामक रोग
8 वर्षों का अनुभव

ऐप पर पढ़ें
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ