myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

सेक्‍स के दौरान अनचाही प्रेगनेंसी से बचने के लिए कंडोम का इस्‍तेमाल किया जाता है। कंडोम के इस्‍तेमाल से यौन संचारित रोगों जैसे कि एड्स, सिफिलिस, गोनोरिया का खतरा भी कम हो जाता है।

वर्ष 2016 के आंकड़ों के अनुसार 216 लाख भारतीय एड्स की बीमारी से प्रभावित थे। एड्स एक संक्रामक बीमारी है जो अधिकतर यौन मार्ग से फैलती है। एड्स को खत्‍म करने का अब तक कोई उपचार या दवा नहीं आई है इसलिए इस बीमारी से बचने के लिए बहुत जरूरी है कि सेक्‍स के दौरान कंडोम का इस्‍तेमाल किया जाए।  

अधिकतर लोग कंडोम के बारे में जानते हैं लेकिन उन्‍हें ये नहीं पता होता है कि कंडोम को किस तरह से लगाना सबसे ज्‍यादा प्रभावी रहता है। कंडोम के इस्‍तेमाल से यौन सुख भी बढ़ता है। तो चलिए जानते हैं कंडोम से जुड़ी कुछ जरूरी बातें। 

  1. कंडोम क्या है - What is a Condom in Hindi
  2. पुरुष कंडोम इस्तेमाल करने का तरीका - How to use male Condom in Hindi
  3. कंडोम के प्रकार - Types of Condoms in Hindi
  4. कंडोम के फायदे - Benefits of Condoms in Hindi
  5. कंडोम के नुकसान - Side Effects of Condoms in Hindi
  6. कंडोम प्राइस - Price of Condom in Hindi
  7. कंडोम के बारे में अन्य जानकारी - Condom ke bare me aur jankari
  8. कंडोम के बारें में जानें इस विडियो में - Learn about condoms in this video in Hindi
  9. कंडोम का इस्तेमाल, फायदे और जानकारी के डॉक्टर
  10. कंडोम लेने से पहले इसके साइज़ पर भी ध्यान देना है जरूरी
  11. एक्सपायर्ड कंडोम इस्तेमाल करने से हो सकते हैं ये नुकसान

कंडोम लेटेक्स (रबड़), प्लास्टिक (पॉलीयोरेथेन, नाइट्रील या पॉलीसोप्रेन) या लंबस्किन से बने छोटे, पतले पाउच हैं, जो सेक्स के दौरान आपके लिंग को कवर करते हैं और वीर्य जमा करते हैं। कंडोम शुक्राणु को योनि में आने से रोकता है, इसलिए शुक्राणु का अंडे के साथ मिलन नहीं होता है और गर्भधारण नहीं होता है।

कंडोम से लिंग को कवर करके एसटीडी को भी रोका जा सकता है। इसके बिना वीर्य और योनि द्रव में संपर्क होता है जिससे यौन संचारित संक्रमण फैल सकता है। ध्यान दे कि लंबस्किन कंडोम एसटीडी के खिलाफ उपयोगी नहीं होते हैं। केवल लेटेक्स और प्लास्टिक कंडोम ही इससे सुरक्षा करते हैं।

ज्यादातर मामलों (विशेष रूप से ग्रामीण इलाकों) में लोगों के अनजान होने और प्रगतिशील मामलों में शर्म की वजह से भारत में शुरुआती चरणों में इस उत्पाद के प्रति विश्वास थोड़ा कम दिखा। भारत में एक व्यक्ति दुकान पर कंडोम खरीदते हुए ज्यादा शर्मिंदा हो सकता है, बजाय नग्न होने के। हालांकि कंडोम के इस्तेमाल ने भारत को पहले से कहीं ज्यादा यौन सुरक्षित देश बना दिया है। हम कुछ शीर्ष कंडोम ब्रांडों को सूचीबद्ध कर रहे हैं जिन्होंने यह संभव बनाया है।

मैनफोर्स कंडोम्स
ड्यूरेक्स कंडोम्स
मूड्स
डीलक्स निरोध (सरकार द्वारा वितरित भारत में कंडोम का सबसे पुराना ब्रांड)
कोहिनूर कंडोम

इनके अलावा भी कई छोटे ब्रांड उपलब्ध है जो सस्ते और गुणवत्ता वाले कंडोम बनाते है। आप उनका भी उपयोग कर सकते है। उपरोक्त सूचि केवल जानकारी के उद्देश्य से दी जा रही हैं।

कंडोम को पहनने का तरीका:-

  1. सबसे पहले कंडोम पैक की जांच करके यह सुनिश्चित करें कि समाप्ति की तारीख पारित निकली तो नहीं है।
  2. पैकेट को सावधानी से खोलें नाखूनों, अंगूठियां और दांत से कंडोम फट सकता हैं, इसलिए सावधानी रखें।
  3. सुनिश्चित करें कि लिंग कंडोम द्वारा कवर किए जाने से पहले साथी की योनि, मुंह या गुदा को नहीं छूता है।
  4. कंडोम उल्टा तो नहीं है पहनने से पहले एक बार जांच लें।
  5. कंडोम की नोक से हवा को हटाने के लिए कंडोम की नोक को चुटकी में दबाएं।
  6. पूर्णतः उत्तेजित लिंग के मुँह पर कंडोम की नोक को कुटकी में पकड़े हुए इसे नीचे की तरफ रोल करें।
  7. अगर चिकनाई बढ़ाना चाहते है तो केवल पानी आधारित लुब्रीकेंट (जैसे KY जेली, गीला पदार्थ, सिल्क और टॉप जेल) का प्रयोग करें। तेल-आधारित लुब्रिकेंट्स जैसे कि वेसिलीन से लेटेक्स या रबर कंडोम को फाड़ सकते हैं।
  8. वीर्यस्राव के बाद और जब लिंग योनि से बाहर करते है तो कंडोम को पकड़ लें ताकि यह लिंग से फिसले ना और वीर्य योनि पर न फैले।
  9. टिशू या टॉयलेट पेपर में उपयोग किये गए कंडोम को लपेटें और उसे कचरे के बॉक्स में डाल दें।
  10. हर बार जब आप सेक्स करते हैं तो एक नए कंडोम और चिकनाई का प्रयोग करें!

अन्त में, कंडोम के साथ गोली, रिंग, शॉट, इम्प्लांट या आईयूडी जैसे जन्म नियंत्रण के अन्य रूपों का उपयोग करना एक अच्छा विचार है। यह गर्भावस्था को रोकने में मदद कर सकता है। यदि आप गलती करते हैं या कंडोम फट जाता हैं, तो भी ये आपको अतिरिक्त सुरक्षा प्रदान करते हैं।

(और पढ़ें - sex ke fayde) 

यदि आपके साथ कंडोम दुर्घटना हो जाती है लेकिन आप किसी अन्य जन्म नियंत्रण पद्धति का उपयोग भी नहीं कर रहे हैं, तो आपातकालीन गर्भनिरोधक (मॉर्निंग-आफ्टर पिल) असुरक्षित यौन संबंध के 5 दिनों तक गर्भावस्था को रोकने में मदद कर सकती है।

(और पढ़ें - प्रेगनेंसी में पेट दर्द हो तो क्या करे)

फ्लेवर्ड कंडोम्स:-
भारत में उपलब्ध कंडोम के कई फ्लेवर हैं - वेनिला, केला, स्ट्रॉबेरी, सेब, चॉकलेट, बबल गम, कॉफी आदि। फ्लेवर्ड कंडोम का ओरल सेक्स के दौरान उपयोग एसटीडी के जोखिम को कम करता है।

अनफ्लेवर्ड कंडोम्स:-
सुरक्षित यौन संबंध के लिए यह व्यापक रूप से प्रयोग किया जाता है। यह जान लें कि इसे कैसे उपयोग किया जाए, कैसे स्टोर करें और हमेशा समाप्ति तिथि की जांच करें। यदि आप इसकी जांच नहीं करते हैं, तो इसका आपका कोई लाभ नहीं होगा।

रिब्ड कंडोम्स:-
इस कंडोम में महिला की उत्तेजना को बढ़ाने के लिए बाहरी सतह पर उभरी हुई धारियां होती हैं। सेक्स के दौरान ये धारियां महिला साथी तेजी से संतुष्टि प्राप्त करने में मदद करती हैं। यदि आप एक यादगार क्षण छोड़ना चाहते हैं, तो रिब्ड कंडोम संभोग सुख तक पहुंचने के लिए एकदम सही हैं।

डॉटेड कंडोम्स:-
इन कंडोम के बाहरी सतह पर डॉट्स होते हैं। यह कंडोम भी एक मजेदार सेक्स अनुभव के लिए आदर्श है। अधिकांश कंडोम चिकनाई से युक्त होते हैं और कंडोम पर डॉट्स को जोड़ने से यह अधिकतम संतुष्टि की गारंटी देता है।

लॉन्ग लास्टिंग कंडोम्स:-
ऐसे कंडोम, उन लोगों के लिए उत्कृष्ट है जो शीघ्र स्खलन से ग्रस्त है। इन कंडोम की नोक में बेंज़ोकेन या इसके समान सलूशन होता है, जो टिप या लिंग के मुँह को सुन्न कर देता है। यह आपको उत्तेजना तक पहुंचने के लिए लंबी अवधि देता है। इससे आपको अपनी महिला साथी को खुश करने और ओर्गास्म प्रदान करने के लिए पर्याप्त समय मिलता है। (और पढ़ें – शीघ्र स्खलन के कारण)

बिग हेड कंडोम्स:-
अधिकांश कंडोम सभी के लिए फिट होते है, लेकिन कुछ लोगो के लिंग के मुँह का आकार अधिक बड़ा हो सकता हैं। ऐसे लोगों के लिए, बिग हेड कंडोम्स मदद करते हैं। ध्यान रखे कि गलत आकार का कंडोम पहनने से बचें, क्योंकि वह फट सकता है।

एक्स्ट्रा लुब्रिकेटेड कंडोम्स:-
अगर योनि का सूखापन आपके साथी की समस्या है तो उन्हें दर्द मुक्त सेक्स का आनद देने के लिए अतिरिक्त चिकनाई वाले कंडोम का प्रयास करें। इस कंडोम में चिकनाई सामान्य मात्रा से दोगुनी होती है इसलिए यह घर्षण और दर्द को रोकने में मदद करता है।

वार्म कंडोम्स:-
एक गर्म और भाप से भरे सेक्स के लिए, आप इस कंडोम का लाभ उठा सकते हैं जो आपको गर्मी की भावना देता है। ये कंडोम रोमांस को बढ़ाने के लिए एक वार्मिंग एजेंट के साथ लूब्रिकेट किए जाते हैं।

अल्ट्रा थिन कंडोम्स:-
पुरुष आम तौर पर कंडोम लगाए जाने से नफरत करते हैं क्योंकि यह नेचुरल भावना को दूर कर देता है। इसलिए यह अल्ट्रा थिन कंडोम चिकनाई से युक्त और बहुत पतला होता हैं जो आपको नेचुरल महसूस करवाता है।

एलो वेरा कंडोम्स:-
एलो वेरा के कई स्वास्थ्य लाभ हैं। लेकिन कंडोम के साथ इसका क्या काम है? एक एलो वेरा को जब आप काटते है तो आप इसमें चिपचिपा-फिसलन भरा पदार्थ देखते है। एलो वेरा के उपयोग से दर्द मुक्त सेक्स के लिए प्राकृतिक लुब्रीकेंट के साथ आने वाला यह कंडोम भी उपयोग कर सकते है।

कंडोम को आसानी से किसी भी केमिस्ट शॉप से ख़रीदा जा सकता है और इसका उपयोग भी बहुत आसान है। अगर आपको शॉप से खरीदने में कोई परेशानी है तो आप ऑनलाइन भी आर्डर कर सकते हैं। लगभग सभी फेमस ऑनलाइन साइट्स पर कंडोम उपलब्ध हैं। ये गर्भावस्था और यौन संक्रामक रोग (एसटीडी) दोनों को रोकने में मदद करते हैं और सेक्स करना अधिक आनंददायक भी बना सकते हैं।

(और पढ़ें - गर्भ में लड़का कैसे हो)

एसटीडी के विरुद्ध प्रभावी:-
कंडोम जन्म नियंत्रण का मात्र ऐसा उपाय है जो एचआईवी सहित अन्य यौन संक्रमणों के प्रसार को रोकने में भी मदद करता है। यहां तक ​​कि अगर आप गर्भधारण से बचने के लिए पहले से ही एक अलग तरह के गर्भ नियंत्रण का प्रयोग कर रहे हैं, तो भी एसटीडी से खुद को बचाने के लिए हर बार जब आप सेक्स करते हैं तो कंडोम का इस्तेमाल करना एक अच्छा विचार है।

(और पढ़ें - महिला कंडोम क्या है)

कीमत ज्यादा नहीं और सुविधाजनक भी हैं:-
कंडोम विभिन्न दुकानों, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों और ऑनलाइन साइट्स से प्राप्त करना आसान है। आपको उन्हें खरीदने के लिए किसी डॉक्टर की पर्ची या आईडी की आवश्यकता नहीं है। इनकी कीमत भी बहुत कम (भारत सरकार सामुदायिक केन्द्रो के माध्यम से और अन्य माध्यमों से मुफ्त में भी कंडोम उपलब्ध करवाती हैं।) हैं। कंडोम गर्भावस्था और एसटीडी से सुरक्षा के लिए एक छोटा, बुद्धिमानीपूर्ण और पोर्टेबल तरीका है।

(और पढ़ें - बच्चा गोरा कैसे पैदा हो से जुड़े मिथक)

सुरक्षा के साथ संतुष्टि भी देता है:-
कंडोम कई अलग-अलग शैलियों, आकृतियों और बनावटों में आते हैं जो दोनों सेक्स साथियों के लिए सनसनी को बढ़ाने का काम करता हैं। आपकी साथी द्वारा आपके लिंग पर कंडोम लगाना सेक्स पूर्व क्रिया का एक सेक्सी और आनंददायक हिस्सा हो सकता है। खासकर अगर आप कुछ चिकनाई (लुब्रिकेंट) इस्तेमाल करते हैं। कंडोम स्खलन (कमिंग) में भी देरी कर सकते हैं, इसलिए आप लंबे समय तक सेक्स कर सकते है।

आप ओरल, गुदा और योनि सेक्स के लिए कंडोम का उपयोग कर सकते हैं, ताकि वे एसटीडी से आपकी रक्षा करें। यह वास्तव में सबसे सेक्सिएस्ट भाग है क्योंकि कंडोम आपको गर्भावस्था या एसटीडी के बारे में चिंता किए बिना संतुष्टि और अपने साथी पर ध्यान केंद्रित करने देता है।

कंडोम जन्म नियंत्रण के अन्य तरीकों से बेहतर:-
अपने जन्म नियंत्रण कोर्स में कंडोम आपको गर्भावस्था से अतिरिक्त सुरक्षा दे सकता है। कोई भी तरीका 100% प्रभावी नहीं है, इसलिए कंडोम को बैकअप के रूप में जोड़ने से आपको गर्भावस्था को रोकने में मदद मिलती है। यदि आप अपनी दूसरी विधि के साथ गलती करते हैं या वह विफल रहती है, तो भी आप सुरक्षित रहेंगे।

कंडोम लगभग सभी अन्य जन्म नियंत्रण विधियों जैसे कि गोली, शॉट, रिंग, आईयूडी और प्रत्यारोपण के साथ अतिरिक्त सुरक्षा प्रदान कर सकते हैं। हालांकि, एक समय में एक से अधिक कंडोम पहनने की कोई आवश्यकता नहीं है। इसके अलावा एक साथ महिला कंडोम और पुरुष कंडोम दोनों का उपयोग न करें। केवल एक साथी को ही कंडोम पहनना चाहिए।

(और पढ़ें - हली बार सेक्स)

कंडोम का कोई दुष्प्रभाव नहीं है:-
अधिकांश लोग कंडोम का उपयोग बिना किसी समस्या के कर सकते हैं। इसका कोई दुष्प्रभाव नहीं है। हालाँकि लेटेक्स (रबड़) कंडोम कभी-कभी लेटेक्स एलर्जी या संवेदनशीलता वाले लोगों में जलन पैदा कर सकता है और कभी-कभी कुछ प्रकार के कंडोम पर लगी चिकनाई से भी परेशानी हो सकती है।

यदि आपको लेटेक्स से एलर्जी हो, तो ब्रांड बदलने या प्लास्टिक कंडोम का उपयोग करने का प्रयास करें। पुरुष कंडोम और महिला कंडोम, जो नरम प्लास्टिक से बने होते हैं जैसे पॉलीयोरेथेन, नाइट्रील या पॉलीसोप्रेन लेटेक्स-फ्री हैं। आप उन अधिकांश स्थानों से गैर-लेटेक्स कंडोम प्राप्त कर सकते हैं जहां कंडोम बेचा जाता है।

नोट:- यदि आप हर बार यौन संबंध बनाते समय कंडोम का उपयोग सही तरह से करते हैं, तो वे गर्भावस्था को रोकने में 98% प्रभावी होते हैं। लेकिन लोगों से अक्सर गलती हो जाती हैं, इसलिए वास्तविक जीवन में कंडोम लगभग 82% प्रभावी है। इसका मतलब है कि कंडोम का इस्तेमाल करने वाले 100 लोगों में से 18 लोग गर्भवती हो सकते हैं।

(और पढ़ें - सेक्स पोजीशन)

कंडोम का उपयोग करने के नुकसान नीचे दिए गए हैं:

  1. कई पुरुष शिकायत करते हैं कि कंडोम को लगाने के बाद वे लिंग में उत्तेजना बरक़रार नहीं कर पाते हैं। इस प्रकार की असुविधा आम तौर पर सामान्य-मोटाई वाले कंडोम में अनुभव की जाती है। अल्ट्रा थिन कंडोम का उपयोग करके देखना चाहिए, जो समान सुरक्षा प्रदान करता है।
  2. कंडोम को लगाना मूड खराब करने वाला माना जाता है, क्योंकि इसको लगाने के लिए रुकने से मूड बर्बाद हो जाता है और उत्तेजना भी पहले जैसी नहीं रहती है। यह यौन क्रियाओं के क्रम को तोड़कर सेक्स से पूर्व की क्रिया (फोरप्ले) और सेक्स में दखल देता है।
  3. पुरुष कंडोम गलत तरीके से उपयोग किए जाने पर निकल या फट सकते हैं।
  4. लेटेक्स से एलर्जी कंडोम के इस्तेमाल की एक और सीमा है। लेटेक्स कंडोम के रसायनों के प्रति संवेदनशील लोगों को पॉलीयुरेथेन के बने कंडोम का उपयोग करना चाहिए। इसके अलावा, तेल आधारित लुब्रिकेंट्स (हाइपोएलर्जेनिक कंडोम), जैसे - शरीर पर इस्तेमाल किये जाने वाले तेल या लोशन, कभी भी लेटेक्स कंडोम के साथ प्रयोग नहीं किया जाना चाहिए। तेल मिनटों में ही लेटेक्स को घोल सकते हैं और कंडोम को नुकसान पंहुचा सकते हैं।
  5. कंडोम घर्षण को बढ़ाता है और कभी-कभी बहुत अधिक घर्षण के लिए जिम्मेदार होता है। बहुत अधिक घर्षण लिंग के प्रवेश को मुश्किल बना देता है।

(और पढ़ें - सेक्स पावर कैसे बढ़ाएं और सेक्स करने के तरीके)

भारत में कंडोम के कई रूप हैं, जिनकी व्याख्या ऊपर की गयी है। सरल गैर-बनावट वाले से लेकर अलग-अलग प्रकार के फ्लेवर तक बाजार में व्यापक रूप से उपलब्ध हैं। प्रमुख ब्रांड मूड, ड्यूरेक्स, कामसूत्र, कोहिनूर और स्कोर हैं। इसके अलावा, गुणवत्ता के साथ समझौता किए बिना बहुत सस्ती कंडोम बनाने वाले छोटे और अच्छे ब्रांड भी हैं।

छोटे और नवोदित ब्रांड बाजार में 1 रू की कीमत से शुरू होने वाले हर तरह के कंडोम का निर्माण और वितरण करते हैं।

कुछ प्रमुख ब्रांड के पैक की कीमत निम्नलिखित है:-

  1. मैनफोर्स कंडोम का किसी भी नजदीकी मेडिकल स्टोर से 60 रुपये में 10 कंडोम्स का पैक खरीद सकते है या 3 कंडोम्स का पैक 22 रुपये में उपलब्ध हैं।
  2. ड्युरेक्स कंडोम्स का 3 कंडोम का पैक 50 रुपये में उपलब्ध हैं।
  3. मूड्स कंडोम्स का 3 कंडोम का पैक 25 रुपये में उपलब्ध हैं।
  4. डीलक्स निरोध के 60 कंडोम्स का पैक 160 रुपये में उपलब्ध हैं। यह उत्पाद सब्सिडी देकर सरकार कम कीमत पर उपलब्ध करवाती है।
  5. कोहिनूर कंडोम्स 3 कंडोम का पैक 20 रुपये में उपलब्ध हैं।

कृपया ध्यान दें कि कीमतों में कुछ परिवर्तन हो सकता है। उपरोक्त कीमतें केवल एक सामान्य जानकारी के लिए दी जा रही है। किसी भी ब्रांड का उत्पाद खरीदने से पहले उसकी मौजूदा कीमत का पता कर लें।

कंडोम से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण सवाल और उनके जवाब:-

प्र: निरोध या अन्य कंडोम में से बेहतर क्या है फैमिली प्लानिंग के लिए?
उ: सरकार हर साल 650 मिलियन 'निरोध' कंडोम को अपने सुरक्षित सेक्स अभियान के तहत
वितरित करती है, लेकिन इसकी अनाकर्षक पैकिंग और कंडोम का एक सफेद प्लास्टिक आवरण में
मिलना कई लोगों के लिए टर्नऑफ़ थे। हालाँकि, अब भारत सरकार ने अपने अर्ध-शताब्दी पुराने
कंडोम ब्रांड के पैकेजिंग पैमानों को बदल दिया है, जिसमें खूबसूरत पुरूषों और खूबसूरत महिलाओं
की तस्वीरों को शामिल किया गया है, साथ ही आकर्षक विज्ञापनों के माध्यम से भी प्रचार किया जा
रहा है। जहाँ तक गुणवत्ता का सवाल है, उसमें सरकारी और निजी फर्मों द्वारा बेचे जा रहे आकर्षक
उत्पादों में कोई खास फर्क नहीं है।

प्र: कंडोम्स कितने सुरक्षित हैं?
उ: अगर आप हर बार सेक्स के दौरान सही तरीके से और सही तरह के कंडोम का उपयोग करते है, तो
यह पूरी तरह सुरक्षित है।

प्र: कंडोम स्लिप या फटता क्यों है?

  1. उ: सही ढंग से नहीं पहनना।
  2. नाखूनों, आभूषणों या दांतों से फट जाना।
  3. यौन संभोग के दौरान पर्याप्त चिकनाई (नमी) नहीं होना।
  4. गलत लुब्रीकेंट का उपयोग करना।
  5. लंबे समय तक या बहुत जोरदार संभोग करना।
  6. लिंग का योनि से बाहर निकालने से पहले ही ढीला हो जाना। (और पढ़े - ling ka size kya hona chahiye)
  7. कंडोम का लिंग को बाहर निकालते वक्त फिसल जाना।
  8. कंडोम को सही तापमान पर स्टोर न किया जाये या हिप पॉकेट में रखने से भी रबड़ अपनी ताकत
  9. खो देता है।
  10. अगर कंडोम की अंतिम तिथि निकल चुकी है तो भी इसका रबड़ कमजोर हो जाता है।
  11. अपने डॉक्टर से बात करें यदि आपको कंडोम का उपयोग करने में समस्याएं हैं।

प्र: लुब्रीकेंट (चिकनाई) क्यों महत्वपूर्ण है?
उ: लुब्रीकेंट एक तरह की चिकनाई वाले पदार्थ होते है जो सेक्स के दौरान लिंग के प्रवेश को आसान
बनाते है। यदि यह पर्याप्त नहीं है, तो कंडोम फटने की अधिक संभावना है। अतिरिक्त लुब्रीकेंट का
हमेशा इस्तेमाल किया जाना चाहिए, खासकर यदि गुदा सेक्स करते है तो। लेकिन केवल पानी
आधारित लुब्रिकेंट्स ही प्रयोग करें।

प्र: शुक्राणुनाशकों का इस्तेमाल कितना सुरक्षित है?
उ: शुक्राणुनाशकों का अब कंडोम के साथ उपयोग करने की सिफारिश नहीं की जाती क्योंकि वे
संवेदनशील त्वचा को परेशान कर सकते हैं और एसटीआई के जोखिम को बढ़ा सकते हैं।

प्र: यदि मै या मेरा साथी कंडोम इस्तेमाल नहीं करना चाहता है तो क्या करें?
उ: अगर आप या आपके साथी कंडोम का इस्तेमाल नहीं करना चाहते हैं, तो अन्य संभोग की बजाय
आप एक दूसरे के साथ सुरक्षित और आनन्ददायक अन्य तरह की यौन चीजें कर सकते हैं। एक-
दूसरे को मास्टरबेशन से संतुष्ट करने की कोशिश करें, मसाज करें, आलिंगन करें... अपनी कल्पना
का उपयोग करें।

यदि कंडोम आरामदायक नहीं है इसलिए आप इस्तेमाल नहीं करना चाहते हैं, तो एक अलग ब्रांड के
कंडोम का उपयोग करके देखें। कंडोम विभिन्न आकार, प्रकार, मोटाई, स्वाद, बनावट और रंगों में
आते हैं। कुछ को उपयोग करके देखने का प्रयास करें कि आप को कौन सा कंडोम सबसे अच्छा
लगता हैं।

Dr. Abdul Haseeb Sheikh

Dr. Abdul Haseeb Sheikh

सेक्सोलोजी

Dr. Ghanshyam Digrawal

Dr. Ghanshyam Digrawal

सेक्सोलोजी

Dr. Srikanth Varma

Dr. Srikanth Varma

सेक्सोलोजी

Medicine NamePack SizePrice (Rs.)
Skore CondomSkore Condom Banana72
Moods CondomMoods Condom Chocolate71
Kamasutra Longlast CondomKamasutra Longlast Condom99
Kohinoor CondomKohinoor Pink Condom57
Kamasutra Excite CondomKamasutra Excite Condom Butterscotch45
Kamasutra Dotted CondomKamasutra Dotted Condom135
Kamasutra Ribbed CondomKamasutra Ribbed Condom135
Kamasutra Skyn CondomKamasutra Skyn Condom90
Durex Sensation CondomDurex Sensation Condom21
Durex Performa CondomDurex Performa Condom90
और पढ़ें ...