हर व्यक्ति को कभी न कभी पेट में गैसपेट फूलने जैसी समस्या हो जाती है. इन समस्याओं को आयुर्वेदिक दवाओं से ठीक किया जा सकता है, लेकिन हर समय दवा का सेवन करना सही नहीं है. ऐसे में एक्यूप्रेशर का इस्तेमाल किया जा सकता है. यह पूरी तरह से सुरक्षित और असरकारक है. इसमें बस शरीर के कुछ खास पॉइंट पर दबाव डालकर मालिश करनी होती है.

आज इस लेख में आप जानेंगे कि पेट की गैस को ठीक करने के लिए एक्यूप्रेशर पॉइंट कौन-कौन से हैं -

(और पढ़ें - पेट की गैस ठीक करने के घरेलू उपाय)

  1. पेट की गैस के लिए एक्यूप्रेशर पॉइंट
  2. सारांश
पेट की गैस ठीक करने वाले एक्यूप्रेशर पॉइंट्स के डॉक्टर

पेट में गैस की समस्या होने पर नीचे बताए गए बॉडी पॉइंट्स को दबाने या मालिश करने से आराम मिल सकता है. आइए, इन पॉइंट्स के बारे में विस्तार से जानते हैं -

ST36

इसे जुसानलि भी कहा जाता है. यह पॉइंट घुटने के लगभग 3 इंच नीचे स्थित होता है. इस पॉइंट को दबाने से पेट की गैस व पेट में दर्द जैसी परेशानी से राहत मिल सकती है. इस पॉइंट की मालिश करने के लिए हाथ की दो उंगलियों को इस पॉइंट पर रखकर उंगली को हल्का दबाते हुए गोलाकार घुमाना होता है. करीब 2 से 3 मिनट तक इसी तरह मालिश करने के बाद दूसरे पैर में भी इसी तरह से मालिश करनी चाहिए.

(और पढ़ें - पेट में गैस बने, तो क्या करें?)

SP6

इसे सान्यिनजियाओ भी कहा जाता है, जो स्प्लीन मेरीडियन वाली जगह पर होता है. ये पॉइंट टखने की हड्डी के अंदर की ओर लगभग 3 इंच ऊपर स्थित होता है. इस पॉइंट की मालिश करने के लिए हाथ की एक से दो उंगली को स्प्लीन मेरीडियन पॉइंट पर रखने के बाद हल्का-सा दबाव डालते हुए उंगलियों को गोलाकार गति में घुमाना होता है.

इसी तरह करीब 2 से 3 मिनट तक इस पॉइंट की मालिश करनी चाहिए. इसके बाद दूसरे पैर के पॉइंट की भी ऐसे ही मालिश करनी है. इस पॉइंट को दबाने से पेट के निचले हिस्से में होने वाली समस्या और गैस की परेशानी से राहत मिल सकती है.

(और पढ़ें - पेट की गैस के लिए योग)

CV6

यह एक्यूप्रेशर पॉइंट नाभि से लगभग 1 से 1/2 इंच नीचे स्थित होता है और इसे किहाई भी कहा जाता है. इस पॉइंट को दबाने से शरीर को एनर्जी मिलती है. साथ ही पेट में होने वाली गैस की परेशानी से आराम मिल सकता है. इस पॉइंट की मालिश करने के लिए हाथ की दो उंगलियों को इस पॉइंट पर रखकर उंगली को हल्का-सा दबाते हुए गोलाकार गति में घुमाना चाहिए. बस ध्यान रहे कि पेट पर ज्यादा दबाव न पड़े, क्योंकि यह शरीर का संवेदनशील हिस्सा होता है.

(और पढ़ें - पेट में गैस का होम्योपैथिक इलाज)

CV12

पेट में गैस की परेशानी को दूर करने के लिए इस एक्यूप्रेशर पॉइंट को दबाने से लाभ मिल सकता है. इसे झोंगवान भी कहा जाता है. यह पॉइंट नाभि से लगभग 4 इंच ऊपर की ओर स्थित होता है. इस एक्यूप्रेशर पॉइंट की मालिश करने के लिए हाथ की दो से तीन उंगलियों को इस पॉइंट पर रखकर गोलाकार गति में उंगलियों से हल्का दबाव डालना होता है. बस ध्यान रहे कि दबाव ज्यादा न डालें.

(और पढ़ें - पेट में गैस बनने पर डाइट)

BL21

पेट में दर्द, गैस और पाचन से जुड़ी परेशानियों को दूर करने के लिए यह एक्यूप्रेशर पॉइंट प्रभावकारी हो सकता है. इस पॉइंट का अन्य नाम वीशु है. यह पॉइंट पीठ पर नीचे से करीब 6 इंच ऊपर और रीढ़ के दोनों ओर 1 से 1/2 इंच बाहर की ओर स्थित होता है.

इस पॉइंट की मालिश करने के लिए एक से दो उंगलियों को इस प्वाइंट पर रखकर गोलाकार गति में हल्का-सा दबाव डालते हुए मालिश करनी होती है. करीब 1 से 2 मिनट तक इसी तरह मसाज करनी चाहिए. स्लिप डिस्क या रीढ़ की हड्डी से जुड़ी समस्या होने पर इस पॉइंट पर मसाज न करने की सलाह दी जाती है.

(और पढ़ें - पेट में गैस का आयुर्वेदिक इलाज)

पेट में गैस की परेशानी से राहत पाने के लिए आप इस लेख में बताए एक्यूप्रेशर पॉइंट को दबा सकते हैं. दवा के मुकाबले इससे रोग को जल्द आराम मिलता है. बस इस बात का ध्यान जरूर रखें कि शुरुआत में इसे खुद से करने की जगह एक्यूप्रेशर एक्सपर्ट से करवाएं, जब आपको इसकी प्रैक्टिस हो जाए, तभी खुद से करें.

(और पढ़ें - गैस का दर्द कैसे दूर करें)

Dr. Raghu D K

Dr. Raghu D K

गैस्ट्रोएंटरोलॉजी
14 वर्षों का अनुभव

Dr. Porselvi Rajin

Dr. Porselvi Rajin

गैस्ट्रोएंटरोलॉजी
16 वर्षों का अनुभव

Dr Devaraja R

Dr Devaraja R

गैस्ट्रोएंटरोलॉजी
7 वर्षों का अनुभव

Dr. Vishal Garg

Dr. Vishal Garg

गैस्ट्रोएंटरोलॉजी
14 वर्षों का अनुभव

ऐप पर पढ़ें
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ