myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

भागदौड़ भरी जिंदगी में आपका शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य बिगड़ने लगता है। इसके लिए खुद को आराम देना बेहद जरूरी है और मसाज इसके लिए बेहद अच्छा तरीका है। मसाज से न सिर्फ मस्तिष्क तनाव रहित होता है, बल्कि शरीर के दर्द को भी दूर करता है। हफ्ते में एक बार या महीने में तीन बार मसाज करवाना बेहद जरूरी है। इससे शारीरिक और मानसिक तनाव के लावा कुछ अन्य स्वास्थ्य समस्यें भी ठीक होती हैं। 

(और पढ़ें - तनाव के लिए योग)

तो आइये आपको बताते हैं मसाज क्या है, प्रकार, लाभ और करने के तरीके –

  1. मसाज क्या है - Massage kya hai
  2. मसाज के प्रकार - Massage ke prakar
  3. मसाज करने के फायदे - Massage karne ke fayde
  4. मसाज करने का तरीका - Massage karne ka tarika

मसाज या मालिश आराम देने वाली थेरेपी है, जिसमें शरीर की मांसपेशियों और नर्म उत्तकों को हाथों से आराम दिया जाता है। एक पेशेवर मसाज थेरेपिस्ट मालिश करते समय कई तकनीक अपनाता है। मसाज मांसपेशियों के दर्द से राहत दिलाती है, रक्त परिसंचरण बढ़ाती है और "लिम्फ" (lymph; पूरे शरीर में मौजूद एक तरल पदार्थ जिसमें संक्रमण से लड़ने वाली सफ़ेद कोशिकाएं होती हैं) के प्रवाह को बढ़ा देती है। इसके अलावा मसाज से त्वचा को भी कई लाभ मिलते हैं, साथ ही मस्तिष्क को भी बेहद आराम मिलता है।

(और पढ़ें - तेज दिमाग के सरल उपाय)

मसाज के प्रकार निम्नलिखित हैं –

  1. हेयर मसाज -
    हेयर मसाज आप घर में बिना तेल के साथ या भीना तेल की भी कर सकते हैं। हेयर मसाज करने से बाल बढ़ते हैं और उनका झड़ना भी कम होता है। साथ ही हेयर मसाज से सिर की त्वचा का रक्त परिसंचरण भी बढ़ता है। हेयर मसाज करने से आपके बालों की जड़ें भी मजबूत होती हैं। (और पढ़ें - बाल झरने का उपाय)
     
  2. हेड मसाज -
    हेड मसाज में आपके सिर और माथे की मालिश की जाती है। सही तकनीक से हेड मसाज करने से सिर की त्वचा की रक्त वाहिकाएं उत्तेजित होती हैं और रक्त वाहिकाओं की मदद से ऑक्सीजन को अच्छे से अवशोषित करने में मदद मिलती है। हेड मसाज करने से सिर दर्द की समस्या भी कम हो जाती है। (और पढ़ें - सिर दर्द से बचने के उपाय)
     
  3. बॉडी मसाज -
    बॉडी मसाज में आपके पूरे शरीर की मालिश की जाती है। इसमें फेस मसाज, पैरों की मसाज, हाथों की मसाज, कमर आदि की मसाज शामिल होती है। बॉडी मसाज से आपके पूरे शरीर में रक्त परिसंचरण बढ़ता है और शरीर के दर्द से संबंधित सभी समस्याएं दूर हो जाती हैं। (और पढ़ें - नसों के दर्द को दूर करने के उपाय)
     
  4. पैरों की मसाज -
    दिनभर व्यस्त जीवनशैली के कारण आप थक जाते हैं, और अक्सर पैरों में दर्द हो जाता है। इसके लिए पैरों की मसाज करवाना बेहद फायदेमंद होता है। पैरों की मसाज करने से मांसपेशियों में आया तनाव कम हो जाता है, साथ ही पैरों का दर्द भी दूर हो जाता है। मसाज करने से पैरों का रक्त प्रवाह भी बढ़ता है। पैरों की मसाज करने के लिए पहले उंगलियों से पैरों पर हल्के हाथ से कुछ ख़ास "प्रेशर पॉइंट्स" को दबाया जाता है। फिर धीरे-धीरे पूरे पैर की  मालिश की जाती है। (और पढ़ें - पैरों के दर्द के लिए आसान घरेलू उपाय)
     
  5. फेस मसाज - फेस मसाज आप या तो रोज खुद कर सकते हैं या फिर फेशियल करवाते समय भी करवा सकते हैं। फेस मसाज में गाल, माथे, ठोढ़ी और गर्दन की मालिश की जाती है। फेस मसाज हल्की-हल्की उंगलियों से किया जाता है। ध्यान रखें, चेहरे पर अधिक दबाव कभी नहीं डालना चाहिए, वरना इससे आपकी चेहरे की त्वचा लटक सकती है।

(और पढ़ें - गोरा करने के उपाय)

मसाज करने के फायदे इस प्रकार हैं -

1. मसाज तनाव दूर करता है -

तनाव को दूर करने के लिए मसाज बेहद अच्छा तरीका है। मसाज की मदद से आपका मस्तिष्क एकदम शांत हो जाता है और शरीर को बेहद राहत मिलती है।

(और पढ़ें - तनाव दूर करने के घरेलू उपाय)

2. मसाज रक्त परिसंचरण को सुधारता है -

मसाज करने से मांसपेशियों का तनाव कम हो जाता है और इस तरह आपके पूरे शरीर में रक्त प्रवाह अच्छे से बढ़ता है। इसके अलावा रक्त परिसंचरण सुधरने से आपके पूरे शरीर को कई सकारात्मक प्रभाव भी मिलते हैं जैसे चक्कर आने और मांसपेशियों में दर्द की समस्या दूर होती है।

(और पढ़ें - मांसपेशियों के दर्द का घरेलू उपाय)

3. मसाज से दर्द कम होता है -

मसाज कई समस्याएं जैसे कमर में दर्द और मांसपेशियों में अकड़न को कम करता है। मसाज करते समय जहाँ दर्द हो, उस जगह की हलकी मालिश करने से दर्द कम हो सकता है। इसके लिए अगर आप किसी पेशेवर मसाज थेरेपिस्ट के पास जा सकें, तो ज्यादा फायदा होगा।

(और पढ़ें - कमर में दर्द का उपाय)

4. मसाज विषाक्त पदार्थों को साफ करता है -

मसाज करने से शरीर के मुलायम उत्तक उत्तेजित होते हैं और रक्त व लिम्फाटिक प्रणाली से विषाक्त पदार्थों को निकालने में मदद करते हैं।

(और पढ़ें - बॉडी को डिटॉक्स कैसे करे)

5. मसाज से मासपेशियां लचीली बनती हैं -

मसाज करने से मांसपेशियों में आया तनाव कम होता है और इस तरह आपको दर्द से आराम मिलने लगता है। मसाज से मांसपेशियां खुल जाती हैं और लचीली बन जाती हैं।

(और पढ़ें - मांसपेशियों में खिंचाव के कारण)

6. मसाज से नींद न आने की समस्या ठीक होती है -

मसाज करने से आपके मस्तिष्क को आराम मिलता है और मूड भी अच्छा होता है। शांत और रिलैक्स्ड मूड के साथ सोने से आपको नींद बेहद अच्छी आती है। इस तरह आप सुबह थका हुआ महसूस नहीं करते।

(और पढ़ें - अच्छी नींद के उपाय)

7. मसाज से प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है -

मसाज से लिम्फ ग्रंथि (nodes) उत्तेजित होती है जिससे शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है।

(और पढ़ें - इम्यून सिस्टम मजबूत करने के उपाय)

8. मसाज से थकान कम होती है -

मसाज से दिमाग शांत होता है जिससे नींद अच्छी आती है। इससे आप सुबह भरपूर और सुखद नींद के बाद जब उठते हैं, तो आप में ऊर्जा ज़्यादा होती है और दिन के अंत में थकान कम महसूस होती है।

(और पढ़ें - थकान दूर करने के उपाय)

9. मसाज करने से डिप्रेशन और चिंता की समस्या कम होती है -

मसाज से आपके शरीर में "एंडोर्फिन" (endorphin) नाम का हॉर्मोन निकलता है, जिससे आप खुश, ऊर्जा से भरपूर और रिलैक्स महसूस करने लगते हैं। इससे डिप्रेशन (अवसाद) और चिंता कम महसूस होती है।

(और पढ़ें - डिप्रेशन के लिए योग)

10. मसाज की मदद से सर्जरी और चोट के बाद की सूजन कम होती है -

खेल में आयी चोट या सर्जरी के बाद शरीर को वापस चुस्त बनाने के लिए मसाज से ठीक किया जा सकता है। इस तरह की मसाज केवल पशेवर मसाज थेरेपिस्ट ही कर सकते हैं।

(और पढ़ें - सूजन का घरेलू नुस्खा)

मसाज करने का तरीका निम्नलिखित है –

हेयर मसाज –

हेयर मसाज के लिए हाथों की उंगलियों का इस्तेमाल करें। आराम-आराम से उंगलियों को सिर की त्वचा पर गोल-गोल घुमाएं। इससे सिर की त्वचा का रक्त परिसंचरण बढ़ेगा और बाल भी नहीं टूटेंगे। ध्यान रखें हेयर मसाज ज्यादा दबाव के साथ या रगड़ कर न करें। इससे आपके बालों को नुकसान पहुँच सकता है।

(और पढ़ें - बालों की देखभाल करने के तरीके)

हेड मसाज –

हेड मसाज आप खुद कर सकते हैं या किसी और से करवा सकते हैं। आम तौर से किसी और से हेड मसाज करवाना ज्यादा फायदेमंद होता है क्योंकि खुद ठीक से मसाज कर पाना आसान नहीं है। हेड मसाज करने के लिए कई तकनीक इस्तेमाल होती हैं, जो एक पेशेवर मसाज थेरेपिस्ट ही इसे अच्छे से कर सकता है। हेड मसाज आप लेटकर या बैठकर करवा सकते हैं। यह आप पर निर्भर करता है। 

(और पढ़ें - सिर दर्द के लिए योग)  

बॉडी मसाज –

बॉडी मसाज में आपके पूरे शरीर की मसाज होती है। बॉडी मसाज में शरीर पर उंगलियों से हलका दबाव डाला जाता है। उसके बाद टांगों, हाथों, कमर आदि हर अंग की मालिश की जाती है। इससे पूरे शरीर में रक्त प्रवाह बढ़ता है। बॉडी मसाज करने के लिए आप तेल या क्रीम का इस्तेमाल कर सकते हैं। 

(और पढ़ें - टांगों में दर्द के घरेलू उपाय)

पैरों की मसाज –

पेरों की मसाज को फूट मसाज (foot massage) कहा जाता है। इसमें पंजे की मालिश की जाती है। पूरे दिन काम करते रहने से सबसे ज्यादा थकान पेरों में ही लगती है, लेकिन मसाज करने से आपके पैरों की थकान एकदम गायब हो जाती है। पैरों की मसाज से सूजन, दर्द आदि की समस्या भी कम हो जाती है।

(और पढ़ें - पैरों की सूजन का इलाज)

फेस मसाज –

फेस मसाज करने के लिए आपको कुछ आसान तकनीकें आना जरूरी है। फेस मसाज आप खुद चेहरे को धोते समय, फेशियल या क्लींजिंग करवाते समय करवा सकते हैं। फेस मसाज करने के लिए कोई सौम्य क्रीम चुनें जो आपकी स्किन को सूट करती है। क्रीम को चेहरे पर लगाएं और उँगलियों से गोल-गोल घुमाते हुए मसाज करें। 

(और पढ़ें - चर्म रोग का इलाज कैसे करें)

और पढ़ें ...