myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

पेट का फूलना एक आम समस्‍या है और हर व्‍यक्‍ति को अपने जीवन में कभी न कभी पेट फूलने की समस्‍या जरूर होती है। पेट में गैस बनने या कब्‍ज होने पर ऐसा होता है। इसे अंग्रेजी में ‘ब्‍लोटिंग’ कहा जाता है। पेट में गैस बनने पर कब्‍ज होने लगती है और कब्‍ज की स्थिति में मल आंतों में ही सड़ने लगता है। इस मल के शरीर से बाहर न निकलने पर पेट फूलने लगता है। व्‍यायाम, संतुलित आहार से इस समस्‍या का निदान किया जा सकता है। अगर आपको किसी रोग के कारण पेट फूलने की दिक्‍कत हो रही है तो पहले उस रोग का उचित उपचार करवाएं।

(और पढ़ें - पेट में गैस बनने पर क्या खाना चाहिए)

  1. पेट फूलने के कारण - Pet kyon phoolta hai in hindi
  2. पेट फूलने का इलाज - Pet phoolna ka ilaj in hindi
  3. इन 5 आसनों से पाएं पेट फूलने से छुटकारा

पेट फूलने का घरेलू उपचार में खाने के साथ पानी न पिए - Drinking water with meals can cause bloating in hindi

जब हम भोजन के दौरान पानी या कोई भी पेय पीते हैं, वह गैस्ट्रिक एसिड और उन एन्ज़इम्स को कम करता है जो पाचन के लिए ज़रूरी हैं। इसलिए भोजन को पचने में ज्यादा समय लगता है और पेट में गैस का गठन बढ़ जाता है। 

(और पढ़ें – गर्मियों में ठंडा पानी पीकर कहीं कोई गलती तो नहीं कर रहे हैं आप?)

पेट फूलने का इलाज के लिए खाली पेट ना पिए शराब - Drinking alcohol on an empty stomach can cause bloated stomach in hindi

शराब गैस्ट्रिक एसिड के उत्पादन को बढ़ाती है। खाली पेट शराब पीने पर यह गैस्ट्रिक एसिड अपने काम को धीमा कर देता है और लगातार खाली पेट शराब पीने पर यह पेट और आंतों के माइक्रोफ्लोरा को मार देता है। यदि आप शराब पीते हैं तो ध्यान रखें कि कभी भी खाली पेट शराब नहीं पीनी चाहिए। 

(और पढ़ें – शराब की लत से छुटकारा पाने के असरदार तरीके)
 

पेट फूलने का उपाय है फैटी आहार से बचना - Eating too much fat can cause gas in hindi

फैट युक्त भोजन जैसे फास्ट फूड और फैटी मिठाई भारी भोजन होते है जो पाचन के दौरान पेट में ही रह जाते हैं। इस तरह के भोजन को पचाने में पेट को कठिनाई होती है जिसके कारण यह अधिक गैसों का उत्पादन करता है। यदि आप कम फैट का सेवन करते हैं तो आप काम पीड़ा और असुविधा महसूस कर सकते हैं।

(और पढ़ें – फैट बर्न करने और पोस्चर सुधारने के लिए एक्सरसाइज)

पेट फूलने का उपाय में ना खाएं फास्ट फूड - Eating too fast can cause gas in hindi

जब हम जल्दी जल्दी खाते हैं, खाने के दौरान बात करते हैं, बुरी तरह चबाते हैं, कार्बोनेटेड पेय पीते हैं, बबलगम को चबाते हैं या धूम्र पान करते हैं तब हम अतिरिक्त हवा को निगलते हैं। यह खतरनाक तो नहीं है, लेकिन यह हमारे पेट में अधिक गैस का निर्माण करते हैं।

पेट फूलने की समस्या के लिए नहीं खाएं फाइबर युक्त आहार - Too much fiber can cause stomach bloating in hindi

कई प्रकार के फल, सब्जियां और फलियां हैं जिनमें फाइबर होता है। अतिरिक्त फाइबर का सेवन गैस के गठन का कारण होता है और आंतों के कामकाज को रोकता है। ऐसे भोजन को अधिक मात्रा में नहीं खाना चाहिए।

फूले हुए पेट को ठीक करने का एक अच्छा तरीका है गैस को निकालना। लेकिन अगर तब भी आपको सूजन से छुटकारा नहीं मिल रहा है तो कुछ सरल घरेलू उपायों से आप ये समस्या दूर कर सकते हैं

(और पढ़ें - ये 5 स्नैक्स करें पेट फूलने की समस्या का तुरंत समाधान)

तो आज हम आपको सूजन को दूर करने के कुछ घरेलू उपाय बताने वाले हैं –

  1. पेट फूलना रोकने का उपाय है ध्यान लगाना - Meditation to relieve bloating in hindi
  2. पेट फूलने पर करें मसाज - Massage for stomach bloating in hindi
  3. पेट मे गैस के उपाय है नींबू पानी - Lemon water good for bloating in hindi
  4. पेट फूलने की दवा अदरक की चाय - Ginger tea for gas relief in hindi
  5. पेट फूलने का घरेलू उपाय है सौफ के बीज - Fennel seeds for bloated stomach in Hindi
  6. पेट फूलने को दूर करने के लिए पुदीने का करें इस्तेमाल - Peppermint for bloating in Hindi
  7. पेट फूलने का घरेलू नुस्खा है अदरक - Ginger for stomach bloating in Hindi
  8. कैमोमाइल चाय रखे पेट फूलने को दूर - Chamomile tea for stomach bloating in Hindi
  9. पेट फूलने में लाभदयक है जीरा - Caraway seeds good for bloating in Hindi
  10. कद्दू पेट फूलने में है फायदेमंद - Pumpkin good for bloating in Hindi
  11. पेट फूलने को कम करने के लिए चक्र फूल का करें उपयोग - Star anise for bloating in Hindi
  12. पेट फूलने ठीक करने के लिए चारकोल की गोलियां है उपयोगी - Charcoal tablets good for bloating in Hindi
  13. पेट फूलना दूर करने के लिए खाएं केला - Banana good for bloating in Hindi
  14. पेट फूलने की समस्या को दूर करने के लिए नींबू पानी का करें प्रयोग - Warm lemon water for bloating in Hindi

पेट फूलना रोकने का उपाय है ध्यान लगाना - Meditation to relieve bloating in hindi

चिंता और तनाव से आंतों के कामकाज पर प्रभाव पड़ता है। इससे बचने के लिए आपको ठीक से आराम करने की आवश्यकता है। उदाहरण के लिए आपको 15-20 मिनट का ध्यान करना चाहिए जो मन, पेट और हृदय को शांत करता है और रक्त परिसंचरण को सामान्य करता है। 

(और पढ़ें – मेडिटेशन करने का तरीका​)

पेट फूलने पर करें मसाज - Massage for stomach bloating in hindi

कुछ पॉइंट्स पर मालिश करने से ब्लोटिंग यानी पेट के फूलेपन से छुटकारा मिल सकता है।

गैस की गठन को कम करने और पेट को राहत देने के लिए आप इस तरह मालिश कर सकते हैं -

आप अपनी चार अंगुलियों को नाभि के से ऊपर रखें। अब अपनी ऊपरी अंगुली के ऊपर जो पॉइंट है, उसे अपनी अंगुलियों से 2-3 मिनट के लिए घड़ी की दिशा में और फिर घड़ी की विपरीत दिशा में मालिश करें। यदि आपने सब कुछ सही ढंग से किया होगा तो आप अपने मुँह में एक खट्टा स्वाद महसूस करेंगे और आपके लार में भी वृद्धि होगी।

पानी के प्रतिधारण को खत्म करने और पेट दर्द को दूर करने के लिए आप इस तरह मालिश कर सकते हैं -

आप अपनी नाभि से ऊपर अपनी दूसरी अंगुली को रखें। अब आप उसके ऊपर जो पॉइंट है, उसे दबाकर 2-3 मिनट के लिए घड़ी की दिशा में और फिर घड़ी की विपरीत दिशा में मालिश करें। (और पढ़ें – पेट की गैस दूर करने के घरेलू उपाय)

आंतों की गतिविधि में वृद्धि के लिए और पेट का भारीपन दूर करने के लिए आप इस तरह मालिश कर सकते हैं -

आप अपनी चार अंगुलियों को नाभि के नीचे रखें और छोटी अंगुली के नीचे जो पॉइंट है, उसे 2-3 मिनट के लिए घड़ी की दिशा में और फिर घड़ी की विपरीत दिशा में मालिश करें। यदि आपने सब कुछ सही ढंग से किया होगा तो यह आपको गैस से छुटकारा दिलाने में मदद करेगा।

स्वस्थ व्यक्ति में पेट के फूलने के कई कारण हो सकते हैं। यह आपके भोजन और पेट की क्रियाओं से भी संबंधित होते हैं। इसके लिए आप नीचे लिखी बातों पर भी ध्यान देकर पेट के फूलेपन को काम कर सकते हैं।

पेट मे गैस के उपाय है नींबू पानी - Lemon water good for bloating in hindi

आप भोजन से 15-30 मिनट पहले एक गिलास गर्म पानी में नींबू मिलाकर पिएं। यह गैस्ट्रिक एसिड के स्राव को सामान्य बनाने में मदद करता है और सीने में जलन के लक्षणों से राहत दिलाता है और साथ ही आंत में डकार और गैस के निर्माण को भी रोकता है।

(और पढ़ें – नींबू पानी के फायदे और नुकसान)

पेट फूलने की दवा अदरक की चाय - Ginger tea for gas relief in hindi

अदरक एक प्राकृतिक मसाला है जो पेट को शांत करता है और गैस के गठन और आंत्र सम्बंधित गतिविधि को कम करता है। यह रक्त को पतला करता है और इसके परिसंचरण में सुधार करता है। इसके लिए आप अदरक की चाय का सेवन करें।

पेट फूलने का घरेलू उपाय है सौफ के बीज - Fennel seeds for bloated stomach in Hindi

सौंफ़ के बीज पाचन समस्याओं के लिए बहुत प्रभावी होते हैं। इसमें मूत्रवर्धक, दर्द-कम करने और माइक्रोबियल गुण शामिल होते हैं। सौफ के बीज पाचन तंत्र में मांसपेशियों की ऐंठन और पेट की सूजन से राहत दिलाने में मदद करते हैं।

सौफ के बीज का कैसे करे इस्तेमाल –
  1. खाना खाने के बाद कुछ सौफ के बीज को चबाएं।
  2. एक कप गर्म पानी में एक चम्मच सौफ के बीज को मिला दें।
  3. अब इसे ढक दें और पांच या दस मिनट के लिए उबलने को रख दें।
  4. अब इस मिश्रण को छान लें।
  5. इसे पूरे दिन में दो या तीन बार ज़रूर पियें।
(और पढ़ें - सौंफ के फायदे)

पेट फूलने को दूर करने के लिए पुदीने का करें इस्तेमाल - Peppermint for bloating in Hindi

पुदीने में मेन्थॉल ऑयल होता है जिसमे एंटी-स्पास्मोडिक गुण होते हैं जो मांसपेशियों को आराम देने में मदद करते हैं। यह जठरांत्र, पित्त नली और पित्ताशय की थैली में ऐंठन को दूर करता है।

पुदीने का इस्तेमाल कैसे करें -

  1. पेट की सूजन से राहत पाने के लिए आप कुछ पुदीने की पत्तियों को चबा सकते हैं।
  2. इसके अलावा पुदीने के चाय के बैग को गर्म पानी में दस मिनट के लिए रख दें और फिर इसे पी जाएँ।
  3. इस चाय का इस्तेमाल पूरे दिन में दो या तीन बार ज़रूर करें।

(और पढ़ें - पुदीने के फायदे)

पेट फूलने का घरेलू नुस्खा है अदरक - Ginger for stomach bloating in Hindi

अदरक एक प्रसिद्ध जड़ी बूटी है जिसका उपयोग गैस और सूजन को कम करने के लिए किया जाता है। इसमें कई सक्रिय सामग्रियां मौजूद होती हैं जैसे जिंजरोल और शोगोल जो आंत की सूजन को कम करती है और आंत की मांसपेशियों को आराम पहुंचाने में मदद करती हैं।

(और पढ़ें - पेट में गैस दूर करने के घरेलू उपाय)

अदरक का इस्तेमाल दो तरीको से करें -

पहला तरीका -
  1. पांच से छः अदरक के टुकड़ों को काट लें।
  2. फिर उन्हें गर्म पानी में डाल दें। बर्तन को ढक दें और दस मिनट के लिए इसे उबलते रहने दें।
  3. उबलने के बाद उसमे शहद मिलाएं और पी जाएँ।
  4. इस मिश्रण का इस्तेमाल पूरे दिन में तीन बार ज़रूर करें
दूसरा तरीका -
  1. इसके अलावा आप एक चम्मच पीसी अदरक को खाना खाने से पहले खाएं।
  2. आप अदरक की जड़ों को पीसकर अपने खाने में भी डाल सकते हैं।
  3. व्यस्क पीसी हुई अदरक की जड़ को रोज़ाना 0.25 से 1 ग्राम ले।

(और पढ़ें - अदरक के फायदे)

कैमोमाइल चाय रखे पेट फूलने को दूर - Chamomile tea for stomach bloating in Hindi

कैमोमाइल चाय एक और घरेलू उपाय है जो सूजन को कम करने में मदद करती है। इस हर्बल चाय में सूजनरोधी और एंटी-स्पास्मोडिक के गुण होते हैं जो पेट की सूजन में राहत पहुंचाते हैं साथ ही सीने की जलन को भी कम करते हैं।

कैमोमाइल चाय का इस्तेमाल कैसे करें -
  1. सबसे पहले एक कप पानी उबालें। अब इसमें कैमोमाइल चाय के बैग को डाल दें।
  2. अब इस बर्तन को ढक दें और दस मिनट तक इसे ज़रूर उबालें।
  3. चाय बनने के बाद इसे धीरे धीरे पियें।
  4. इस चाय का इस्तेमाल पूरे दिन में दो या तीन बार ज़रूर करें।
(और पढ़ें - कैमोमाइल चाय के फायदे)

पेट फूलने में लाभदयक है जीरा - Caraway seeds good for bloating in Hindi

जीरे में एंटी-स्पास्मोडिक के गुण होते हैं इसके साथ ही एन्टिमिक्रोबियल और कार्मिनेटिव के प्रभाव भी इसमें शामिल होते हैं। कार्वोल और कारवीन केमिकल जीरे के बीज में मौजूद होते हैं जो पाचन तंत्र की मांसपेशियों के उत्तकों को आराम पहुंचाते हैं और पेट की सूजन की वजह से बनने वाली गैस को भी निकालने में मदद करते हैं।

जीरे का इस्तेमाल कैसे करें -
  1. अगर आप बार-बार सूजन से पीड़ित होते हैं, तो पूरे दिन में कई बार कुछ जीरे के बीज को चबाएं।
  2. अगर जीरे की बीज का स्वाद आपके लिए स्वादिष्ट नहीं है तो आप जीरे से बने बिस्कुट खा सकते हैं।
  3. इसके अलावा आप जीरे की बीज की चाय बनाकर भी पी सकते हैं।
(और पढ़ें - जीरे के फायदे)

कद्दू पेट फूलने में है फायदेमंद - Pumpkin good for bloating in Hindi

कद्दू का सेवन पेट फूलने के साथ साथ सूजन के लिए भी बेहद फायदेमंद है। कद्दू में विटामिन एपोटेशियम और फाइबर की अच्छी मात्रा पायी जाती है जो पाचन क्रिया के लिए बेहद लाभदायक है। एक कप कद्दू को अपने रोज़ के खाने में ज़रूर मिलाएं इससे आपके पेट की सूजन और गैस को निकालने में मदद मिलेगी। आप इसे स्टीम, सेक या भूनकर या अन्य सामग्रियों को मिलाकर खा सकते हैं।

(और पढ़ें - कद्दू के बीज के फायदे)

पेट फूलने को कम करने के लिए चक्र फूल का करें उपयोग - Star anise for bloating in Hindi

चक्र फूल में एंटी-स्पासमोडिक गुण होते हैं जो पाचन तंत्र में आराम पहुंचाने में मदद करते हैं। इसके अलावा इसमें मौजूद कार्मिनेटिव प्रभाव पेट की गैस को बनने से रोकता है और पेट की सूजन को दूर करता है। इस जड़ी-बूटी के फायदेमंद प्रभावों को प्राप्त करने का सर्वोत्तम तरीका है चक्र फूल का मिश्रण पीना।

नोट - एक रिसर्च के अनुसार छोटे बच्चों को चक्र फूल से बनी चाय उल्टी, बेचैनी और तेजी से आँखों को नुकसान पहुंच सकता है इसके अलावा, गर्भवती महिलायें चक्र फूल का इस्तेमाल न करें।

पेट फूलने ठीक करने के लिए चारकोल की गोलियां है उपयोगी - Charcoal tablets good for bloating in Hindi

चारकोल में छिद्रयुक्त होता है, जो पेट में हवा और पानी को निकलने में मदद करता है। पेट में संक्रमण की वजह से आंतों में पनपने वाली गैस को चारकोल दूर करता है। चारकोल की दवाइयां आपको टेबलेट, कैप्सूल और पाउडर के रूप में दुकानों पर मिल जाएंगी। लेकिन इन्हें लेने से पहले अपने डॉक्टर से बात कर लें।

पेट फूलना दूर करने के लिए खाएं केला - Banana good for bloating in Hindi

केला फाइबर का एक अच्छा स्त्रोत है जो कब्ज़ से जुडी पेट की सूजन और गैस को दूर करने में मदद करता है। इसके अलावा केले में पोटेशियम मौजूद होता है। यह खनिज शरीर में मौजूद फ्लूड को नियंत्रित रखता है और पेट की सूजन की समस्या में आराम पहुंचाता है। अगर आप केला रोज़ाना खाते हैं तो आप पेट की सूजन को कम कर पाएंगे। आप इसे स्नैक, फल के सलाद या डेजर्ट की तरह खा सकते हैं।

(और पढ़ें - केले के फायदे)

पेट फूलने की समस्या को दूर करने के लिए नींबू पानी का करें प्रयोग - Warm lemon water for bloating in Hindi

गर्म पानी स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है क्योंकि यह शरीर से हानिकारक विषाक्त पदार्थों को निकालने में मदद करता है और साथ ही शरीर को हाइड्रेटेड रखता है। नींबू में विटामिन बीविटामिन सी, राइबोफ्लेविन, कैल्शियम, फास्फोरस, मैग्नीशियम, प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट के गुण होते हैं जो पाचन क्रिया के लिए बेहद फायदेमंद होते हैं।

इसके अलावा, नींबू में मौजूद अम्लीय गुण हाइड्रोक्लोरिक एसिड के उत्पादन को उत्तेजित करते हैं, जिससे भोजन को पचाने में मदद मिलती है। जब आप पानी और नींबू को एक साथ मिलाएंगे तो यह आपके पाचन तंत्र के लिए बेहद फायदेमंद हो सकते हैं। गर्म नींबू पानी पीने से आपको सूजन, गैस और कब्ज से राहत मिलती है।

(और पढ़ें - नींबू पानी के फायदे)

पेट की सूजन आपके दैनिक कार्यों को प्रभावित करती है लेकिन इन उपायों की मदद से आप अपना पेट एकदम ठीक रख सकते हैं। हालाँकि अगर ये स्थिति बहुत पुरानी है तो इसमें दवा, आहार और जीवन शैली में बदलाव की आवश्यकता पड़ती है। इसके अलावा अगर स्थिति ठीक नहीं होती है तो अपने डॉक्टर को ज़रूर दिखाएं।

और पढ़ें ...