चीफ मिनिस्टर आरोग्य अरुणाचल योजना (सीएमएएवाई) योजना एक स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी है, जिसे अरुणाचल प्रदेश सरकार ने शुरू किया है। इस योजना का उद्देश्य राज्य की गरीब आदिवासी आबादी को वित्तीय सहायता प्रदान करना है। इस स्वास्थ्य बीमा योजना का उद्देश्य राज्य में समाजिक और आर्थिक रूप से पिछड़े लोगों को कैशलेस इलाज की सुविधा उपलब्ध कराना है। योजना को राज्य के मुख्यमंत्री पेमा खांडू के नेतृत्व में शुरू किया गया। राज्य के स्वास्थ्य और परिवार कल्याण विभाग के पास इस योजना की देखरेख की जिम्मेदारी है। सीएमएएवाई योजना से पहले राज्य में चीफ मिनिस्टर्स युनिवर्सल हेल्थ इन्शुरन्स स्कीम लागू थी, जिसे अब बंद कर दिया गया है।

(और पढ़ें - प्री और पोस्ट हॉस्पिटलाइजेशन कवरेज क्या होती है?)

  1. चीफ मिनिस्टर आरोग्य अरुणाचल योजना की मुख्य विशेषताएं - Main Features of the CMAAY in Hindi
  2. चीफ मिनिस्टर आरोग्य अरुणाचल योजना के लिए पात्रता मानदंड - Eligibility criteria for applying for CMAAY in Hindi
  3. चीफ मिनिस्टर आरोग्य अरुणाचल योजना के अंतर्गत क्या इलाज होता है - List of treatments that are covered under the CMAAY in Hindi
  4. सीएमएएवाई का आवेदन करने के लिए आवश्यक दस्तावेज - Documents required for applying for CMAAY in Hindi
  5. चीफ मिनिस्टर आरोग्य अरुणाचल योजना के लिए आवेदन कैसे करें - How to apply for the CMAAY in Hindi?

चीफ मिनिस्टर आरोग्य अरुणाचल योजना (सीएमएएवाई) की मुख्य विशेषताएं निम्नलिखित हैं -

  • चिकित्सा क्षेत्र में विकास : सीएमएएवाई राज्य में आर्थिक रूप से पिछड़े लोगों की मदद करने और स्वास्थ्य से संबंधित खर्चों का ध्यान रखने में सरकार की मदद करेगा। यह योजना पैनल में शामिल अस्पतालों को बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करने के लिए प्रोत्साहित करेगी।
  • कैशलेस उपचार : अरुणाचल प्रदेश सरकार की योजना इस स्वास्थ्य बीमा योजना के माध्यम से उन आवेदकों को मुफ्त इलाज उपलब्ध कराने की है, जो इसके लिए पात्र हैं। इस योजना के तहत, किसी व्यक्ति को उसके इलाज के लिए भुगतान करने की आवश्यकता नहीं होगी। इस खर्च को राज्य सरकार वहन करेगी।
  • वित्तीय बोझ में कमी : सीएमएएवाई को राज्य के गरीब और आदिवासी समुदायों को वित्तीय सहायता प्रदान करने के उद्देश्य से तैयार किया गया है। इस योजना की मदद से उनके महंगे मेडिकल बिल का खर्च बच जाएगा।
  • योजना के तहत पैनल में अस्पताल शामिल : कैशलेस उपचार की सुविधा सिर्फ पैनल में शामिल अस्पतालों में ही उपलब्ध होगी, जो सीएमएएवाई के तहत सूचीबद्ध होंगे।
  • पांच लाख का सम-इनश्योर्ड : चीफ मिनिस्टर आरोग्य अरुणाचल योजना के तहत पंजीकृत प्रत्येक परिवार को हर वर्ष 5 लाख रुपये तक का सम-इनश्योर्ड दिया जाता है। आवेदक को 1 लाख रुपये सेकेंड्री ट्रीटमेंट और 4 लाख रुपये तृतीय क्षेणी के ट्रीटमेंट के लिए मिलते हैं।
  • उपचार की श्रेणी : आवेदक को इस योजना के तहत लाभ सिर्फ सेकेंड्री और तृतीय श्रेणी के उपचारों के लिए मिलता है।
  • सीएमएएवाई के तहत मेडिकल ट्रीटमेंट : फिलहाल 23 उपचार प्रक्रियाएं हैं, जिन्हें इस योजना के तहत कवर किया जाता है। इन प्रक्रियाओं के लिए आवेदक को अपनी पॉकेट से खर्च भी नहीं करना पड़ता, उसे कैशलेस उपचार का लाभ मिलता है।
  • सीएमएएवाई के तहत कौन से अस्पताल नामांकन कर सकते हैं : इस स्कीम के तहत सभी प्रकार के अस्पताल स्वयं को नामांकित कर सकते हैं। सरकारी अस्पतालों के साथ ही ट्रस्ट के अस्पताल, प्राइवेट हॉस्पिटल, सेमी प्राइवेट अस्पताल और चैरिटेबल अस्पताल भी इस योजना के तहत नामांकन के लिए पात्र हैं।

(और पढ़ें - हेल्थ इन्शुरन्स में को-पेमेंट का क्या मतलब है?)

चीफ मिनिस्टर आरोग्य अरुणाचल योजना (सीएमएएवाई) के पात्रता मानदंड इस प्रकार हैं -

  • आवासीय स्थिति : आवेदक कानूनी रूप से अरुणाचल प्रदेश का निवासी होना चाहिए।
  • जनजातीय समुदाय : अरुणाचल प्रदेश शेड्यूल ट्राइब्स (एपीएसटी) के तहत नामांकित राज्य के अधिकार क्षेत्र में आने वाले आदिवासी समुदाय इस योजना का प्रत्यक्ष लाभ प्राप्त करने के पात्र होंगे।
  • सरकारी कर्मचारी : चीफ मिनिस्टर आरोग्य अरुणाचल योजना का लाभ राज्य के सरकारी कर्मचारियों को भी मिलता है।
  • गैरआदिवासी समुदाय से संबंधित पिछड़े समुदाय के लोग : गैर-आदिवासी समुदाय से संबंध रखने वाले चांगलांग, लोहित और नामसाई के निवासी भी इस योजना के तहत नामांकन करवा सकते हैं।
  • सरकारी कर्मचारियों के आश्रित : इस स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी का लाभ सरकारी कर्मचारियों के आश्रितों को भी मिलता है।

(और पढ़ें - हेल्थ इन्शुरन्स में प्री-एग्जिस्टिंग डिजीज कवर का क्या मतलब है?)

चीफ मिनिस्टर आरोग्य अरुणाचल योजना (सीएमएएवाई) के अंतर्गत निम्न इलाज कवर किए जाते हैं -

  • यूरोलॉजी
  • कार्डियोलॉजी
  • कार्डियो-थोरेसिक सर्जरी
  • कार्डियो-वैस्कुलर सर्जरी
  • प्रसूति एवं स्त्री रोग
  • ईएनटी
  • नेत्र विज्ञान
  • बर्न्स मैनेजमेंट
  • हड्डी रोग
  • प्लास्टिक और रिकंस्ट्रक्टिव सर्जरी
  • ओरल एंड मैक्सिलोफेशियल सर्जरी
  • न्यूरो सर्जरी
  • जनरल सर्जरी
  • पॉलीट्रामा
  • पीडियाट्रिक सर्जरी
  • मानसिक बीमारी के लिए ट्रीटमेंट पैकेज
  • इमरजेंसी ट्रीटमेंट पैकेज (12 घंटे से कम समय के लिए चिकित्सा देखभाल)
  • पीडियाट्रिक कैंसर
  • नियो-नेटल
  • मेडिकल पैकेज
  • इंटरवेंशनल न्यूरो-रेडियोलॉजी
  • पीडियाट्रिक मेडिकल मैनेजमेंट
  • ऑन्कोलॉजी

(और पढ़ें - ईएसआई क्या है)

चीफ मिनिस्टर आरोग्य अरुणाचल योजना (सीएमएएवाई) के तहत आवेदन प्रक्रिया के लिए निम्नलिखित दस्तावेजों की आवश्यकता होती है -

  • निवास प्रमाण : आवेदन प्रक्रिया के लिए निवास प्रमाण एक बहुत महत्वपूर्ण दस्तावेज है। यह योजना अरुणाचल प्रदेश सरकार द्वारा यहां के निवासियों के लिए शुरू की गई है, इसलिए सिर्फ प्रदेश के निवासी ही आवेदन कर सकते हैं और इसके लिए आवेदक को राज्य में निवास का प्रमाण देना होगा।
  • राशन कार्ड : इस योजना के तहत आवेदन करते समय आवेदक को राशन कार्ड का विवरण प्रस्तुत करना अनिवार्य है।
  • आधार कार्ड : सीएमएएवाई के तहत आवेदन के लिए आवेदक को आधार कार्ड का विवरण देना जरूरी है। इसके लिए मुख्य आवेदक के आधार का विवरण देना अनिवार्य है और परिवार के अन्य सदस्यों का मुख्य आवेदक के साथ संबंध स्थापित करने के लिए प्रमाण देना भी जरूरी है।
  • सरकार द्वारा जारी आईडी कार्ड : यदि योजना के तहत आवेदक एक सरकारी कर्मचारी है, तो उसे रेफरेंस के लिए उस विभाग से जारी अपना सरकारी आईडी कार्ड दिखाना होगा।
  • जनजातीय प्रमाण पत्र : अरुणाचल प्रदेश अनुसूचित जनजातीय (एपीएसटी) के तहत नामांकित आवेदकों को जनजातीय प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना अनिवार्य है। राज्य सरकार द्वारा जारी जनजातीय प्रमाण पत्र इस योजना में उनके नामांकन के प्रमाण के रूप में कार्य करता है।
  • जन्म या विवाह प्रमाण पत्र : इस योजना में परिवार के नए सदस्यों को भी जोड़ा जा सकता है। यदि परिवार में कोई बच्चा पैदा हुआ है तो उसका कानूनी जन्म-प्रमाण पत्र प्रस्तुत करके उसे इस योजना का लाभ दिया जा सकता है। परिवार में विवाह के बाद आई बहू का नाम जोड़ने के लिए विवाह के पंजीकरण कागजात प्रमाण के रूप में प्रस्तुत किए जाने चाहिए।

(और पढ़ें - सीजीएचएस क्या है)

चीफ मिनिस्टर आरोग्य अरुणाचल योजना (सीएमएएवाई) के तहत आवेदन करने के लिए आवेदक को निम्नलिखित चरणों का पालन करना चाहिए -

  • चीफ मिनिस्टर आरोग्य अरुणाचल योजना (सीएमएएवाई) की वेबसाइट www.cmaay.com पर जाएं
  • वेबसाइट पर होमपेज के निचले हिस्से में चार अलग-अलग बॉक्स (एमपैनलमेंट, एनरोलमेंट, अदर लिंक्स और फीडबैक एंड ग्रिवांसेस) दिखेंगे। 
  • एनरोलमेंट बॉक्स में तीन सब-हेड दिए गए हैं, उनके नाम हैं - हाउ टू एनरोल, चेक (सर्च यूजिंग बैनिफिशरी आइडेंटिफिकेशन सॉफ्टवेयर - बीआईएस) और एनरोल।
  • एनरोल विकल्प पर जाकर आप अप्लाई ऑप्शन पर क्लिक करें और नामांकन की प्रक्रिया में आगे बढ़ें।
  • अप्लाई पर क्लिक करने के बाद आवेदक को एक नए पेज पर रिडायरेक्ट किया जाता है, जहां यह देखा जाता है कि आवेदक सरकारी कर्मचारी है या आम नागरिक।
  • विकल्प चुनने के बाद आवेदक को नए पेज पर रिडायरेक्ट किया जाता है। यहां पर अपने दस्तावेजों के अनुसार सभी जानकारियां भरें। इस पेज में नाम, जन्मतिथि, लिंग, पिता/पति का नाम, मोबाइल नंबर, राशन कार्ड नंबर, निवास प्रमाण पत्र, स्थायी निवास पता, पिनकोड आदि भरना होता है।
  • यदि आवेदक सरकारी कर्मचारी है तो उसे सरकारी आईडी विवरण भी प्रस्तुत करना आवश्यक है।
  • एक बार फॉर्म पूरी तरह से भर जाने और सत्यापन होने के बाद आप सेव के ऑप्शन पर क्लिक कर सकते हैं।
  • एक बार जब नामांकन फॉर्म भर जाए तो आवेदक आधिकारिक वेबसाइट www.cmaay.com/CheckStatus.aspx पर जाकर अपने नामांकन की स्थिति की जांच कर सकता है।
  • इस पेज पर आवेदक जिले और यूआरएन या आधार नंबर दर्ज करके अपने आवेदन की स्थिति सर्च कर सकते हैं।

(और पढ़ें - आपके लिए myUpchar बीमा प्लस पॉलिसी क्यों है बेहतर)

और पढ़ें ...
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ