गंभीर बीमारियों और बढ़ती हुई महंगाई को देखते हुए आजकल अस्पतालों में इलाज कराना आसान नहीं रह गया है। यदि किसी मेडिकल इमरजेंसी के कारण अस्पताल में भर्ती होना पड़ जाता है, तो ऐसे में व्यक्ति लंबे समय तक कर्जदार हो जाता है। इन्हीं समस्याओं को देखते हुए केंद्र सरकारों के साथ-साथ राज्य सरकारें भी काफी कदम उठा रही हैं और आर्थिक तंगी से जूझ रहे लोगों को स्वास्थ्य बीमा योजनाएं प्रदान करती हैं। इस आर्टिकल में झारखंड सरकार द्वारा जारी की गई हेल्थ इन्शुरन्स स्कीम के बारे में चर्चा करेंगे।

झारखंड मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना एक सरकारी हेल्थ इन्शुरन्स स्कीम है, जिसमें राज्य की गरीब जनता के स्वास्थ्य समस्याओं के इलाज पर होने वाले खर्च कवर किया जाता है। यह स्कीम मुख्य रूप से राज्य के उन लोगों के लिए हैं, तो आर्थिक तंगी से जूझ रहे हैं जैसे बीपीएल कार्ड धारक, मनरेगा कर्मचारी, मजदूर, रिक्शा चालक और कूड़ा बीनने वाले आदि।

इस लेख में आप जान पाएंगे कि झारखंड सरकार द्वारा चलाई जाने वाली मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना क्या है, इसकी पात्रता और इससे क्या लाभ मिलते हैं।

(और पढ़ें - हेल्थ इन्शुरन्स और लाइफ इन्शुरन्स में अंतर)

  1. मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना झारखंड क्या है - What is Mukhyamantri Swasthya Bima Yojana in Hindi
  2. मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना झारखंड के लाभ क्या हैं - Benefits of Mukhyamantri Swasthya Bima Yojana in Hindi
  3. मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना झारखंड की पात्रता के क्या मापदंड हैं - What are the eligibility criteria Mukhyamantri Swasthya Bima Yojana in Hindi
  4. एमएसबीवाई के लिए आवश्यक दस्तावेज कौन से हैं - What are the documents required for MSBY in Hindi
  5. मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना के लिए ऑनलाइन पंजीकरण कैसे कराएं - How to register online for Mukhyamantri Swasthya Bima Yojana in Hindi
  6. झारखंड मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना का उद्देश्य क्या है - What are the objective of Mukhyamantri Swasthya Bima Yojana in Hindi

झारखंड सरकार द्वारा चलाई गई स्वास्थ्य बीमा योजना को मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना या एमएसबीवाई के नाम से जाना जाता है। इस योजना की शुरुआत 15 नवंबर 2017 को हुई थी और इसे 28 दिसंबर के बाद लागू कर दिया गया था। इस योजना के लाभार्थी को राज्य के सभी अस्पतालों और योजना के नेटवर्क में आने वाले सभी अस्पतालों में मुफ्त इलाज की सुविधा मिलती है। जिन लोगों के पास बीपीएल कार्ड है, उन्हें इस योजना के तहत 2 लाख रुपये तक की स्वास्थ्य बीमा कवरेज मिलती है। इतना ही नहीं जिन्हें मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत कवरेज मिली है, उनको चिकित्सक से परामर्श, जांच और दवाएं आदि भी मुफ्त में उपलब्ध कराई जाती हैं।

(और पढ़ें - हेल्थ इन्शुरन्स में क्या क्या कवर होता है)

मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना एक सरकारी योजना है, जिसका मुख्य उद्देश्य उन लोगों को मेडिकल इमरजेंसी के समय में वित्तीय सहायता पहुंचाना है जो आर्थिक रूप से कमजोर श्रेणी में आते हैं। लाभार्थी झारखंड के किसी भी सरकारी अस्पताल में जाकर या नेटवर्क में आने वाले प्राइवेट हॉस्पिटल में जाकर इस योजना का लाभ उठा सकते हैं। इस योजना के तहत सभी बीमारियां, जांच और अन्य मेडिकल प्रोसीजर कवर किए जाते हैं। इसके अलावा एमएसबीवाई झारखंड से बीमित व्यक्ति व उसका परिवार निम्न लाभ उठा सकते हैं -

  • इस योजना के तहत झारखंड सरकार स्पेशल केयर के रूप में 2 लाख रुपये और सेकेंड्री केयर के रूप में 50 हजार रुपये की राशि प्रदान करती है।
  • इसके साथ वरिष्ठ नागरिकों के मामलों में 30 हजार रुपये अतिरिक्त दिए जाते हैं।
  • इस योजना के लाभार्थी को सिर्फ अस्पताल में भर्ती होने के दौरान ही नहीं छुट्टी मिलने के बाद भी कुछ निश्चित दिनों तक मेडिकल खर्च पर कवरेज मिलती है।
  • उपचार प्रणाली को पूरी तरह से कैशलेस बनाने के लिए सभी बीमाधारकों को विशेष हेल्थ कार्ड प्रदान करने का प्रावधान भी है।
  • इस योजना के लाभार्थियों को पूरी तरह से फ्री सुविधाएं मिलती हैं और उन्हें अपने जेब से कोई प्रीमियम भी नहीं भरना है।
  • इतना ही नहीं झारखंड सरकार के अनुसार जो अस्पताल राज्य से बाहर सीमा के आसपास हैं उन्हें नेटवर्क में शामिल किया जाएगा।

(और पढ़ें - हेल्थ इन्शुरन्स पॉलिसी रिन्युअल क्या होता है)

एमएसबीवाई झारखंड का लाभ लेने के लिए झारखंड राज्य का स्थायी निवासी होना आवश्यक है। राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के अंतर्गत आने वाले सभी परिवार मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना के पात्र हैं। गरीबी रेखा के नीचे आने वाले (बीपीएल) परिवार भी इस योजना का लाभ उठा सकते हैं। सरकारी कर्मचारी या आयकर देने वाले नागरिक इस योजना के पात्र नहीं हैं।

(और पढ़ें - भारत में मौजूद हेल्थ इन्शुरन्स कंपनियां)

यदि आप झारखंड राज्य के निवासी हैं और मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना का लाभ उठाना चाहते हैं, तो आपको नामांकन करने के लिए निम्न दस्तावेजों की आवश्यकता पड़ती है -

  • झारखंड का डोमिसाइल सर्टिफिकेट
  • आधार कार्ड
  • वोटर कार्ड
  • बीपीएल राशन कार्ड
  • आय प्रमाण पत्र

कुछ स्थितियों में नामांकन कराते समय किसी अन्य दस्तावेज की आवश्यकता भी पड़ सकती है, ऐसा आमतौर पर तब होता है जब आपके पास उपरोक्त में से कोई एक या अधिक दस्तावेज न हों या फिर उनमें दी गई जानकारी समान न हो।

(और पढ़ें - मैटरनिटी इन्शुरन्स प्लान लेने से पहले इन बातों का रखें ध्यान)

यदि आपके पास सभी आवश्यक दस्तावेज हैं और आप मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना की पात्रता के मापदंडों को पूरा करते हैं, तो आप ऑनलाइन भी एमएसबीवाई के लिए रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। झारखंड सरकार की ऑफिशियल वेबसाइट https://www.jharkhand.gov.in/ पर जाकर आप ऑनलाइन अप्लाई कर सकते हैं। इस बात का ध्यान रखें कि आप वेबसाइट पर सभी जानकारियां ध्यानपूर्वक भरें, सही जानकारी न भरने पर आपकी एप्लीकेशन को रिजेक्ट किया जा सकता है। फॉर्म सबमिट होने के बाद उसका प्रिंटआउट निकाल लें और उसे अपने पास संभाल कर रख लें।

(और पढ़ें - प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना)

जैसा कि ऊपर बताया गया है कि लगातार नई-नई गंभीर बीमारियां जन्म ले रही हैं और इसके साथ-साथ मेडिकल क्षेत्र में महंगाई भी काफी बढ़ती जा रही है। ऐसे में आर्थिक रूप से कमजोर परिवार पर्याप्त चिकित्सा सुविधाओं से वंचित रह जाते हैं। झारखंड सरकार का मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना लाने का मुख्य उद्देश्य गरीब परिवारों को उचित स्वास्थ्य सुविधाएं पहुंचाना है। सरकार ने राज्य के हर कोने में जाकर इस योजना का प्रचार किया है, ताकि ज्यादा से ज्यादा गरीब परिवार इसका लाभ लें और कोई भी व्यक्ति चिकित्सा सुविधाओं से वंचित न रहे।

(और पढ़ें - सीनियर सिटीजन हेल्थ इन्शुरन्स क्या है)

और पढ़ें ...
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ