हर घर में एक बुजुर्ग होता ही है और हमने देखा है कि उम्र बढ़ते-बढ़ते उनका शरीर साथ देना कम कर देता है, जिससे उन्हें नई-नई बीमारियां व स्वास्थ्य समस्याएं होने लगती हैं। ऐसे में उन्हें बार-बार स्वास्थ्य जांच व इलाज की आवश्यकता पड़ती है, जो आजकल की महंगाई में थोड़ा मुश्किल काम है। वृद्धावस्था में शरीर साथ न होने के कारण कमाई संभव नहीं है और वे जीवनभर जोड़े गए पैसे पर ही निर्भर रहते हैं, जिनमें मेडिकल खर्च उठाना संभव नहीं है। इसलिए उन्हें एक ऐसे स्वास्थ्य बीमा का साथ चाहिए, जो वृद्धावस्था में भी उनकी मदद कर सके। वरिष्ठ नागरिकों के लिए स्वास्थ्य बीमा यानी सीनियर सिटीजन हेल्थ इन्शुरन्स प्लान को सिर्फ बुजुर्गों को ध्यान में रखकर ही तैयार किया गया है।

यदि आप एक वरिष्ठ नागरिक हैं और आपने सीनियर सिटीजन हेल्थ इन्शुरन्स प्लान खरीदा हुआ है, तो आपको मेडिकल खर्च से संबंधित कोई चिंता करने की आवश्यकता नहीं पड़ती है। ऐसा इसलिए है क्योंकि रेगुलर स्वास्थ्य जांच के लिए या फिर मेडिकल इलाज के लिए आपको इन्शुरन्स प्लान से कवरेज मिल जाती है। ऐसे समय में सीनियर सिटीजन हेल्थ इन्शुरन्स प्लान वृद्ध लोगों के लिए एक वरदान से कम नहीं होता है।

बहुत सारी कंपनियां हैं, जो सीनियर सिटीजन हेल्थ इन्शुरन्स की सुविधा देती हैं। इन सभी कंपनियों का अपना अलग क्राइटेरिया होता है, जिसमें ये व्यक्ति की उम्र, स्वास्थ्य व पहले से मौजूद बीमारियों के आधार पर प्रीमियम और बीमा अवधि निर्धारित करती हैं। यदि आप वरिष्ठ नागरिकों के लिए स्वास्थ्य बीमा खरीदने के बारे में सोच रहे हैं, तो एक बार इस लेख को अवश्य पढ़ें -

  1. सीनियर सिटीजन हेल्थ इन्शुरन्स क्या है - What is Senior citizen health insurance in Hindi
  2. सीनियर सिटीजन हेल्थ इन्शुरन्स के लाभ - Benefits of Senior citizen health insurance in Hindi
  3. सीनियर सिटीजन हेल्थ इन्शुरन्स में क्या-क्या शामिल है - What does Senior citizen health insurance cover in Hindi
  4. सीनियर सिटीजन हेल्थ इन्शुरन्स में क्या-क्या शामिल नहीं है - What does Senior citizen health insurance not cover in Hindi
  5. सीनियर सिटीजन हेल्थ इन्शुरन्स और सामान्य हेल्थ इन्शुरन्स में क्या अंतर है - Difference between senior citizen health insurance and health insurance in Hindi

वरिष्ठ नागरिकों के लिए स्वास्थ्य बीमा योजना किसे कहते हैं?

वरिष्ठ नागरिकों के लिए स्वास्थ्य बीमा एक विशेष इन्शुरन्स पॉलिसी है, जो 60 साल से अधिक उम्र वाले व्यक्तियों के मेडिकल खर्च को कवर करती है। एक वृद्ध व्यक्ति को जब उम्र से संबंधी कोई बीमारी होती है, तो अस्पताल में उसके इलाज पर होने वाला खर्च उसके द्वारा लिए गए इन्शुरन्स प्लान द्वारा कवर किया जाता है। सीनियर सिटीजन हेल्थ इन्शुरन्स प्लान सस्ते प्रीमियम और व्यापक बीमित राशि की सुविधा के साथ-साथ वृद्ध लोगों के लिए कुछ विशेष लाभ भी प्रदान करता है, ताकि वे अपने वृद्ध जीवन को चिंता व तनावमुक्त जी सकें।

यदि आप वरिष्ठ नागरिकों के लिए स्वास्थ्य बीमा प्लान खरीदते हैं, तो आपको बार-बार होने वाली उम्र संबंधी स्वास्थ्य समस्याओं से डरने की जरूरत नहीं हैं, क्योंकि आप बढ़ती महंगाई में भी बिना किसी परेशानी के इलाज करवा सकते हैं। उम्र बढ़ने के साथ हेल्थ इन्शुरन्स का प्रीमियम भी बड़ी तेजी से बढ़ता है, लेकिन myUpchar बीमा प्लस हेल्थ इन्शुरन्स में आप कम प्रीमियम में भी अपने घर के बुजुर्गों को तीन लाख तक का हेल्थ इन्शुरन्स कवरेज दे सकते हैं।

वरिष्ठ नागरिकों को स्वास्थ्य बीमा योजना से क्या लाभ मिलते हैं?

सीनियर सिटीजन हेल्थ इन्शुरन्स में बीमित व्यक्ति को विभिन्न प्रकार के लाभ प्राप्त होते हैं, हाालंकि, यह बीमा करने वाली कंपनी पर भी निर्भर करता है। इसका मतलब है कि हर बीमा कंपनी का अपना एक अलग प्लान होता है, जिसमें वह अलग-अलग प्रीमियम के अनुसार बेनेफिट्स ऑफर करती है। सीनियर सिटीजन हेल्थ इन्शुरन्स प्लान में मुख्य रूप से वृद्ध व्यक्ति के मेडिकल खर्च को कवर किया जाता है, जैसे रोगों का इलाज व सर्जरी, दुर्घटनाएं और बेड, आईसीयू व एम्बुलेंस आदि पर होने वाले खर्च आदि। वरिष्ठ नागरिकों के लिए स्वास्थ्य बीमा को समय पर नवीनीकृत किया जाता है, यह आपको 80 साल की उम्र तक कवरेज प्रदान करता है। कई इन्शुरन्स प्लान में 99 वर्ष तक भी कवरेज मिलता है।

नीचे कुछ पॉइंट्स दिए गए हैं, जिनकी मदद से आप सीनियर सिटीजन हेल्थ इन्शुरन्स प्लान से मिलने वाले लाभों के बारे में जानेंगे -

  • बुजुर्ग लोगों को मेडिकल कवरेज -
    यह वरिष्ठ नागरिकों के लिए स्वास्थ्य बीमा योजना का सबसे मुख्य फीचर है। इस बीमा योजना के अनुसार जो व्यक्ति 60 साल से ऊपर की उम्र वाले हैं, वे सीनियर सिटीजन हेल्थ इन्शुरन्स प्लान खरीद सकते हैं। सामान्य हेल्थ इन्शुरन्स प्लान आमतौर पर 65 साल की उम्र तक आपके मेडिकल खर्च को कवर करते हैं, ऐसे में वरिष्ठ नागरिकों के लिए स्वास्थ्य बीमा करवाना एक लाभदायक विकल्प हो सकता है।
     
  • व्यापक कवरेज -
    सीनियर सिटीजन हेल्थ इन्शुरन्स प्लान खरीदने के बाद आपको अस्पताल में भर्ती होने से पहले और बाद के मेडिकल खर्च के बारे में चिंता करने की आवश्यकता नहीं है, यह सब आपकी बीमा योजना द्वारा ही कवर किया जाता है। इसके अलावा यदि आपको अस्पताल में भर्ती होने की आवश्यकता नहीं है और एक ही दिन में आपका ट्रीटमेंट हो जाएगा तो अस्पताल के खर्च के साथ-साथ घर पर होने वाले मेडिकल खर्च को भी काफी हद तक कवर किया जाता है।
     
  • बीमा करवाने से पहले मेडिकल जांच -
    अधिकतर हेल्थ इन्शुरन्स प्लान्स को खरीदने से पहले आपको मेडिकल टेस्ट करवाने की सुविधा नहीं मिलती है। जबकि सीनियर सिटीजन हेल्थ इन्शुरन्स प्लान में वृद्ध लोगों को विशेष रूप से मेडिकल टेस्ट करवाने की सुविधा दी जाती है। यह सुविधा वृद्ध व्यक्तियों के लिए काफी लाभदायक है, ताकि आपको पहले से ही मौजूद किसी बीमारी का पता लग सके। मेडिकल टेस्ट करवाने का मुख्य फायदा यह है कि आप जान पाएंगे कि जो बीमारी आपको पहले से है, उसको इस प्लान में कवर किया जा रहा है या नहीं।
     
  • इलाज के समय कैश की जरूरत नहीं -
    अन्य कई बीमा पॉलिसियों की तरह वरिष्ठ नागरिकों के लिए स्वास्थ्य बीमा योजना में भी आपको कैशलेश सुविधा मिलती है। इसमें आपको कोई बीमारी होती है, तो आप बीमा कंपनी के नेटवर्क में आने वाले किसी भी अस्पताल में जाकर बिना कैश के अपना इलाज करवा सकते हैं। उदाहरण के लिए यदि आपके पास कैश नहीं है और अचानक से आपकी तबीयत बिगड़ जाती है, तो आपको अस्पताल जाने से पहले पैसे का इंतजाम करने की आवश्यकता नहीं है।
     
  • मन की शांति -
    जिस प्रकार लगातार मेडिकल खर्चों में इजाफा हो रहा है, अस्पतालों के बिल भरना वृद्ध लोगों के लिए तनावपूर्ण स्थिति पैदा कर सकते हैं। इस स्थिति को सीनियर सिटीजन हेल्थ इन्शुरन्स प्लान की मदद से पैदा होने से रोका जा सकता है। यदि आप अपने माता-पिता के लिए सीनियर सिटीजन हेल्थ इन्शुरन्स प्लान खरीदने के बारे में सोच रहे हैं, तो यह आपके मन की शांति को बनाए रखने में भी मदद करता है।
     
  • विशेष छूट -
    चूंकि यह इन्शुरन्स प्लान वरिष्ठ नागरिकों के लिए है, इसमें क्लेम-फ्री ईयर की सुविधा भी दी जाती है। यह डिस्काउंट अलग-अलग बीमा कंपनियों और प्लान के अनुसार 20 से 100 प्रतिशत तक भी हो सकता है।
     
  • टैक्स में लाभ -
    वरिष्ठ नागरिकों के लिए स्वास्थ्य बीमा योजना आपको टैक्स पर एक विशेष छूट का लाभ भी देती है। इनकम टैक्स एक्ट के सेक्शन 80डी के अंतर्गत भुगतान किए गए प्रीमियम में आपको प्रत्येक वित्तीय वर्ष विशेष डिस्काउंट मिलता है। इसलिए यदि आप टैक्स भरते हैं, तो सीनियर सिटीजन हेल्थ इन्शुरन्स प्लान आपके लिए लाभदायक हो सकता है।

(और पढ़ें - बुजुर्गों के लिए myupchar बीमा प्लस पॉलिसी के फायदे)

वरिष्ठ नागरिकों के लिए स्वास्थ्य बीमा योजना में क्या-क्या शामिल है?

यदि आप सीनियर सिटीजन हेल्थ इन्शुरन्स प्लान खरीदने की सोच रहे हैं, तो पहले आपको यह जान लेना चाहिए कि इस प्लान में क्या-क्या कवरेज दी जा रही है। वैसे तो इन्शुरन्स प्लान में दी जा रही कवरेज बीमा करने वाली कंपनी पर निर्भर करती है, लेकिन, फिर भी कई चीजें हैं, जिन्हें सीनियर सिटीजन हेल्थ इन्शुरन्स के प्लान में कवर किया जाता है। वरिष्ठ नागरिकों के लिए किए जाने वाले हेल्थ इन्शुरन्स प्लान में आमतौर पर निम्न को शामिल किया जाता है -

  • अस्पताल के खर्च पर कवरेज -
    यदि आप बीमाधारक हैं तो आपके बीमार होने पर अस्पताल का सारा खर्च बीमा कंपनी उठाती है। अस्पताल के खर्च में आमतौर पर रूम, बेड, आईसीयू व मशीनों के खर्च को शामिल किया जाता है। इसके अलावा सभी डॉक्टरों व नर्स आदि की फीस भी आपका सीनियर सिटीजन हेल्थ इन्शुरन्स प्लान ही कवर करता है। साथ ही इलाज में इस्तेमाल होने वाली दवाएं, इंजेक्शन, सुई व अन्य उपकरण भी बीमा योजना की कवरेज में ही शामिल हैं।
     
  • अन्य मेडिकल खर्च -
    वृद्धावस्था में आपके शरीर के सभी अंग सामान्य रूप से काम नहीं कर पाते हैं और इसी बात को ध्यान में रखते हुए इस प्लान को बनाया गया है। इसमें रेडियोथेरेपी, कीमोथेरेपी, डायलिसिस, नकली अंग लगाना या नकली हड्डी इंप्लांट करना आदि का खर्च भी शाामिल है। इसके अलावा यदि आपको कोई उपकरण जैसे पेसमेकर या वैस्कुलर स्टेंट आदि लगाया जाना है, तो इसका खर्च भी सीनियर सिटीजन हेल्थ इन्शुरन्स प्लान द्वारा कवर किया जाता है।
     
  • मेडिकल परीक्षणों का खर्च -
    अस्पताल में भर्ती करने से पहले और इलाज के बाद किए जाने वाले सभी मुख्य टेस्टों को भी वरिष्ठ नागरिकों के लिए की जाने वाली स्वास्थ्य बीमा योजना में कवर किया जाता है। इसमें मुख्य रूप से एक्स रे, ब्लड टेस्ट, यूरिन टेस्ट व अन्य सभी टेस्टों को कवर किया जाता है।
     
  • डे केयर ट्रीटमेंट -
    यदि आपको कोई ऐसी स्वास्थ्य समस्या हुई है, जिसमें आपको 24 घंटों से कम समय तक ही अस्पताल में रुकना पड़ा है, तो उसे डे केयर ट्रीटमेंट कहा जाता है। वरिष्ठ नागरिकों के लिए स्वास्थ्य बीमा प्लान में डे केयर ट्रीटमेंट पर होने वाले खर्च को भी कवर किया जाता है।
     
  • अस्पताल में भर्ती होने से पहले और बाद का खर्च -
    यदि आपने सीनियर सिटीजन हेल्थ इन्शुरन्स प्लान खरीदा हुआ है और आपको कोई मेडिकल इमर्जेंसी हो जाती है तो अस्पताल में भर्ती होने से पहले के खर्च जैसे डॉक्टर की कंसल्टेंशन फीस और बाद के खर्च जैसे दवाएं आदि को बीमा कंपनी कवर करती है।
     
  • कोविड 19 पर कवरेज -
    जैसा कि आपको पता है वृद्धावस्था उस एज ग्रुप में आती है, जिसे कोरोना वायरस संक्रमण से सबसे अधिक खतरा है। वरिष्ठ नागरिकों के लिए स्वास्थ्य बीमा योजना को यह ध्यान में रखते हुए बनाया गया है और इसमें आपको एक सीमित सीमा तक कोविड 19 संक्रमण के इलाज के खर्च पर कवरेज मिलती है।
     
  • ऑर्गन डोनर खर्च -
    सीनियर सिटीजन हेल्थ इन्शुरन्स प्लान ऑफर करने वाली अधिकतर कंपनियां अंगदान के मेडिकल खर्च को भी कवर करती हैं। उदाहरण के लिए यदि कोई अंग ट्रांसप्लांट किया जाना है, तो उसका खर्चा बीमाकर्ता कंपनी उठाती है।
     
  • एम्बुलेंस का खर्च -
    यदि बीमाधारक को कोई मेडिकल इमर्जेंसी होने पर उसे अस्पताल ले जाने और वापस घर छोड़ने के लिए एम्बुलेंस का इस्तेमाल किया गया है, तो उसका खर्च भी सीनियर सिटीजन हेल्थ इन्शुरन्स प्लान द्वारा ही कवर किया जाता है।
     
  • पहले से मौजूद बीमारियों पर कवरेज -
    अधिकतर हेल्थ इन्शुरन्स प्लान पहले से मौजूद बीमारियों के इलाज पर कोई कवरेज नहीं देते हैं। जबकि वरिष्ठ नागरिकों के लिए स्वास्थ्य बीमा योजना में यदि वृद्ध व्यक्ति को पहले से ही कोई बीमारी है, तो उसके इलाज पर होने वाले खर्च पर भी मेडिकल कवरेज दी जाती है। हालांकि, कुछ बीमारियां हो सकती हैं, जो यदि पहले से मौजूद हों तो उन्हें प्लान में कवर नहीं किया जाता है।
     
  • डोमिसिल्लरी मेडिकल खर्च पर कवरेज -
    यदि आप किसी ऐसी बीमारी से ग्रस्त हैं, जिसका इलाज डॉक्टर आपके घर पर ही कर रहे हैं तो भी सीनियर सिटीजन हेल्थ इन्शुरन्स प्लान आपके सभी मेडिकल खर्च पर कवरेज देता है। घर पर आपके मेडिकल ट्रीटमेंट से संबंधित सारा खर्च आपका बीमा प्लान ही कवर करता है।

(और पढ़ें - सबसे अच्छा हेल्थ इन्शुरन्स कौन सा है?

वरिष्ठ नागरिकों के लिए स्वास्थ्य बीमा योजना में क्या-क्या कवर नहीं किया जाता है?

यदि आप सीनियर सिटीजन हेल्थ इन्शुरन्स प्लान लेने की योजना बना रहे हैं, तो आपका यह जानना भी बहुत जरूरी है कि इसमें कौन-कौन से मेडिकल खर्चों को कवर नहीं किया जाता है। वैसे तो वरिष्ठ नागरिकों के लिए स्वास्थ्य बीमा योजना में अधिकतर मेडिकल खर्चों को कवर कर लिया जाता है, फिर भी कुछ स्थितियां हैं जिनमें बीमाकर्ता कंपनी मेडिकल खर्च को कवर नहीं करती है। इनमें आमतौर पर निम्न शामिल हैं -

  • पहले से मौजूद कुछ बीमारियों या चोटें को कवर नहीं किया जाता है
  • जानबूझकर खाई गई चोट और खुदकुशी की कोशिश से हुई हानि
  • नशीले व अन्य अवैध ड्रग्स लेने से होने वाली स्वास्थ्य समस्याएं
  • बीमा खरीदने के 30 दिन के भीतर एक या अधिक बीमारियां विकसित होना
  • एलोपैथिक के अलावा किसी अन्य उपचार प्रक्रिया से इलाज करवाना जैसे आयुर्वेद आदि
  • कॉस्मेटिक सर्जरी या सौदर्य से संबंधित कोई इलाज 
  • दांत संंबंधी समस्याओं का इलाज (यदि किसी दुर्घटना से संबंधित न हो)
  • चश्मे या कॉन्टेक लेंस लगवाना/बदलवाना (यदि किसी दुर्घटना से संबंधित न हो)
  • एड्स के इलाज में होने वाले मेडिकल खर्च को भी सीनियर सिटीजन हेल्थ इन्शुरन्स प्लान में कवर नहीं किया जाता है

(और पढ़ें - मेडिक्लेम इन्शुरन्स क्या है)

सीनियर सिटीजन हेल्थ इन्शुरन्स, सामान्य हेल्थ इन्शुरन्स प्लान से कैसे अलग है?

अब आपके दिमाग में भी यह बात आई होगी कि ऐसे कौन से फीचर हैं, जो वरिष्ठ नागरिकों के लिए किए जाने वाले स्वास्थ्य बीमा को सामान्य स्वास्थ्य बीमा योजना से अलग करते हैं। आपको बता दें कि जो सामान्य स्वास्थ्य बीमा योजना है, वह लगभग सभी के लिए होती है, लेकिन बुजुर्ग लोग इस योजना का लाभ नहीं उठा पाते हैं। इतना ही नहीं सामान्य हेल्थ इन्शुरन्स से मिलने वाले लाभ आमतौर पर एक बुजुर्ग व्यक्ति के लिए काफी नहीं होते हैं और इसी बात का ध्यान रखते हुए सीनियर सिटीजन हेल्थ इन्शुरन्स प्लान बनाया गया है।

आमतौर पर आपकी उम्र को देखते हुए सामान्य हेल्थ इन्शुरन्स करने से पहले आपके कुछ मेडिकल टेस्ट किए जा सकते हैं। टेस्ट रिजल्ट की रिपोर्ट देखने के बाद कंपनी अपना निर्णय बताती है। यदि आपके मेडिकल टेस्टों में आपको कोई स्वास्थ्य समस्या है, तो आपको प्लान ऑफर करने से मना किया जा सकता है या फिर आपके प्रीमियम को बढ़ा दिया जाता है।

इसलिए यदि आप हेल्थ इन्शुरन्स खरीदने के बारे में सोच रहे हैं, तो यह सुनिश्चित कर लें कि आप सही जगह पर पैसा लगा रहे हैं। उदाहरण के लिए यदि आप की उम्र सीनियर सीटीजन मे आती है, तो सामान्य हेल्थ इन्शुरन्स की बजाय सीनियर सिटीजन हेल्थ इन्शुरन्स प्लान खरीदना लाभप्रद रहता है। बिना अपनी जेब पर बोझ डाले आप सीनियर सिटीजन हेल्थ इन्शुरन्स प्लान खरीद सकते हैं, जो आपको अधिकतम उम्र (लगभग 80 साल) तक लाभ प्रदान करता है। यह प्लान पूरी तरह से बुजुर्ग लोगों को होने वाली स्वास्थ्य समस्याओं को देखते हुए तैयार किया गया है, ताकि आप इसका पूरी तरह से लाभ उठा सकें और एक चिंतामुक्त जीवन जी सकें।

(और पढ़ें - हेल्थ इन्शुरन्स में क्या-क्या कवर नहीं होता है?)

और पढ़ें ...

सम्बंधित लेख

बुजुर्गों के लिए myUpchar बी...

संपादकीय विभाग

शेयर करें
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ