myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

बहुत से लोग आँसू को भावनात्मक कमज़ोरी की निशानी मानते हैं। पर वे यह नही जानते हैं कि रोना हमारे शरीर के लिए तनाव को बाहर निकालने का एक तरीका है और रोने से ढेर सारी बीमारियाँ दूर होती हैं। इससे आपका दिल ही हल्का नही होता है बल्कि स्वास्थ्य के लिए कई बेनिफिट्स भी होते हैं।

मनोवैज्ञानिकों का कहना है कि जब इंसान को रोना आए, उसे उसी समय रो लेना चाहिए, उसे रोकना नही चाहिए। रोने से आपको कोई हानि नही होगी बल्कि फायदा ही होगा। चलिए हम रोने के विभिन्न स्वास्थ्य लाभों के बारे मे बताते हैं -

  1. रोने के फायदे आँखो की रोशनी के लिए - Crying benefits for eyesight in Hindi
  2. रोने से आँखें होती हैं साफ - Crying kills bacteria in Hindi
  3. रोने से होता है तनाव दूर - Crying relieves stress in Hindi
  4. आँख के आँसू नकारात्मक भावनाओं को निकालने में फायदेमंद - Crying eliminates toxins in Hindi
  5. आँखों में पानी आने से जलन में होता है लाभ - Rone ke fayde for eye irritation in Hindi
  6. रोने के लाभ करे मूड में सुधार - Crying makes you feel better in Hindi

रोने से आँखो की रोशनी बढ़ती है। आँखो में आँसू आने से प्यूपिल और आइलिड्स को नमी मिलती है, जिससे आँखे सूखती नही हैं। अगर आपकी आँखो मे नमी की कमी हो जाए तो आपको देखने मे समस्या हो सकती है।

(और पढ़ें – आँखों की रौशनी बढाने के उपाय)

शरीर के अन्य हिस्सों की तरह आपकी आँखो में भी बैक्टीरिया पाए जाते हैं। पर आँसुओं में कुछ ख़ास जीवाणुरोधी गुण होते हैं। आँसुओं मे “लाइसोसोम” नमक द्रव्य होता है जो 5 मिनिट मे आँख के 90-95% बैक्टीरिया को खत्म कर सकता है। आँसुओं में मजबूत माइक्रोबियल विरोधी गुण हैं जो एंथ्रेक्स की अशुद्धिकरण (contamination) के खिलाफ रक्षा कर सकते हैं।

जब आप परेशान या तनाव में होते हैं, तब आप रोते हैं जिससे आपका तनाव कम हो जाता है। रोने के वक्त शरीर मे प्रोलैक्टिन का स्तर कम होता है जिससे तनाव कम होता है। साथ ही कई बार अगर हम कोई बात कह नहीं पा रहे हैं या हममें तर्क करने की हिम्मत शेष नहीं है तो रोने से हम अपने इमोशन्स को ज़्यादा अच्छे से दूसरे को समझा पाते हैं। इससे भी तनाव कम होता है। 

(और पढ़ें – तनाव दूर करने के लिए योग)

रोना न केवल नकारात्मक भावनाओं को हमारे मन से निकालता है, अपितु हमारे शरीर को भी शुद्ध करता है। आँसू हमारे शरीर से उन रसायनों को निकालते हैं जो कोर्टिसोल (तनाव हार्मोन) में वृद्धि करते हैं। विषाक्त पदार्थों के साथ-साथ, नकारात्मक भावनाएं भी बाहर निकल जाती हैं।

प्याज़ मे कुछ एन्ज़ाइम होते हैं जो आँखो मे जलन पैदा करते हैं। इसी तरह धूल के कण भी हमारी आँखो मे जाते हैं तो पानी आने लगता है। इस तरह का रुदन आपकी आँखो को सुरक्षा देता है और यह सुनिश्चित करता है कि यह पार्टिकल्स आँसुओं के साथ आँख से बाहर निकल जाएँ। 

(और पढ़ें – आँखों में दर्द का घरेलू इलाज)

रोना हमारे मूड में सुधार और किसी भी उदास भावना से छुटकारा पाने में मदद करता है। रोना किसी भी एंटी-डिप्रेसेंट की तुलना में बेहतर उपाय है। समय के साथ, भावनाओं के दमन के कारण, उदासी और दुख की भावनाएं हमारे भीतर छिप जाती हैं। रोने से ये दबी भावनाएँ बाहर निकल जाती हैं। हालांकि चिंता या मूड विकारों से ग्रसित लोगों को हमेशा रोने का सकारात्मक प्रभाव अनुभव नहीं होता है।

जैसे हँसी हमारे भीतर से सकारात्मक भावनाएं बाहर लाती है, रोने से हमारे भीतर की नकारात्मकता बाहर हो जाती है। रोने के कई स्वास्थ्य लाभ हैं, लेकिन बहुत अधिक रोना स्वास्थ्य के लिहाज से नुक़सानदायक हो सकता है।

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें
कोरोना मामले - भारतx

कोरोना मामले - भारत

CoronaVirus
1159 भारत
1पुडुचेरी
1मणिपुर
3हिमाचल प्रदेश
1मिजोरम
38पंजाब
3ओडिशा
13लद्दाख
8चंडीगढ़
7उत्तराखंड
31जम्मू-कश्मीर
58गुजरात
9अंडमान निकोबार
9आंध्र प्रदेश
11बिहार
7छत्तीसगढ़
5गोवा
198महाराष्ट्र
202केरल
22पश्चिम बंगाल
82उत्तर प्रदेश
71तेलंगाना
67तमिलनाडु
59राजस्थान
47मध्य प्रदेश
83कर्नाटक
87दिल्ली
36हरियाणा

मैप देखें