myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

प्रारंभ में, हरी चाय (Green Tea) चीन में लोकप्रिय थी और सिरदर्द से लेकर अवसाद तक की सभी चीजों का इलाज करने के लिए सदियों से औषधीय रूप से उपयोग की जाती रही है। आजकल दुनिया के विभिन्न हिस्सों में इसके कई स्वास्थ्य लाभों के कारण ग्रीन टी का सेवन किया जाता है।

इसमें एंटीऑक्सिडेंट्स के साथ-साथ एंजाइम, एमिनो एसिड और पॉइटोफेनोल जैसी फाइटोकेमिकल्स की एक उच्च मात्रा होती है। इसमें विटामिन बी, फोलेट, मैंगनीज, पोटेशियम, मैग्नीशियम और कैफीन भी है।

इसके स्वास्थ्य लाभ के अलावा, हरी चाय की त्वचा की देखभाल के लिए भी कई लाभ हैं। अपनी सुंदरता को बढ़ाने के लिए, आप अपनी हरी चाय का उपयोग फेस मास्क के रूप में कर सकते हैं। इसके अलावा, इस लोकप्रिय पेय के कुछ कप रोजाना पिएं।

  1. ग्रीन टी फेस पैक फॉर फेयर स्किन - Green Tea Face Pack for Glowing Skin in Hindi
  2. ग्रीन टी बैग्स बेनेफिट्स करें डार्क सर्कल्स का इलाज - Green Tea Bags to Reduce Dark Circles in Hindi
  3. ग्रीन टी फेस मास्क बचाएँ झुर्रियों से - Green Tea Face Mask for Wrinkles in Hindi
  4. मुँहासे का इलाज करे ग्रीन टी फेस पैक - Green Tea Face Mask for Acne in Hindi
  5. ग्रीन टी है त्वचा टोनर - Green Tea as Skin Toner in Hindi
  6. ग्रीन टी फेस पैक बेनेफिट्स फोर सनबर्न स्किन - Green Tea for Sun Damage in Hindi
  7. ग्रीन टी से बना मास्क करें पोर्स को कम - Green Tea Shrinks Pores in Hindi
  8. ग्रीन टी के गुण करें त्वचा को एक्सफोलिएट - Green Tea Dead Skin Remover in Hindi
  9. स्किन क्लीन्ज़र है ग्रीन टी - Green Tea as a Cleanser in Hindi
  10. हरी चाय के फायदे फेस स्टीम के लिए - Green Tea for Steam Facial in Hindi

ग्रीन टी आपकी त्वचा के रंग को बेहतर करती है और आपकी त्वचा को स्वस्थ बनाती है। यह त्वचा से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में मदद करती है, दाग और निशान को ठीक करती है, और सूजन को कम करती है। यह त्वचा की लोच को भी बेहतर बनाती है

जॉर्जिया के मेडिकल कॉलेज द्वारा 2003 के एक अध्ययन ने दिखाया कि हरी चाय में त्वचा का कायाकल्प करने वाले गुण होते हैं। इसका उपयोग त्वचा रोगों और घावों के इलाज के लिए किया जा सकता है।

हरी चाय में मौजूद एंटीऑक्सिडेंट्स और टैनिन (एक कसैले) सूजी हुई आंखों के साथ-साथ डार्क सर्कल्स का इलाज करने में भी मदद करते हैं। इसके एंटीऑक्सिडेंट्स गुण आंखों के चारों ओर नाजुक त्वचा के नीचे रक्त वाहिकाओं को कम करने में मदद करते हैं। इससे सूजन और पफनेस कम हो जाती है।

इसके अलावा, हरी चाय में मौजूद विटामिन K द्वारा आंखों के नीचे काले घेरे को हल्का करने में मदद मिलती है।

  • 30 मिनट के लिए रेफ्रिजरेटर में 2 प्रयोग की गई हरी चाय की थैली रखें।
  • अब अपनी बंद पलकों पर ठंडी चाय के बैग रखें।
  • 15 मिनट के लिए इन्हें आँखों पर लगाएँ रखें।
  • इस उपाय का दिन में दो बार उपयोग करें जब तक कि आप परिणाम से संतुष्ट न हो जाएँ। (और पढ़ें - डार्क सर्कल्स हटाने के लिए क्या है सेहतमंद आहार)

हरी चाय में एंटी-एजिंग और एंटीऑक्सीडेंट लाभ होते हैं जो त्वचा की उम्र बढ़ने के लक्षणों में सहायता कर सकते हैं, जैसे लटकी हुई त्वचा, सूरज की क्षति, आगे स्पॉट्स, फाइन लाइन्स और झुर्रियां।

हरी चाय में मदद करने वाले पॉलीफेनोल हानिकारक मुक्त कणों को बेअसर कर देते हैं, जो त्वचा को काफी नुकसान पहुंचा सकते हैं और उम्र बढ़ने की प्रक्रिया में तेजी ला सकते हैं। इसके अलावा, यह त्वचा कैंसर से बचाव में मदद करती है। (और पढ़ें – कैंसर की दवा)

3 बड़े चम्मच सादे दही के, 1 बड़ा चम्मच हरी चाय की पीसी हुई पत्तियों का और एक चुटकी हल्दी पाउडर को मिलाएं। इसे अपने चेहरे और गर्दन पर लगाएँ। 20 मिनट के बाद गुनगुने पानी के साथ धो लें। इस फेस मास्क का सप्ताह में एक या दो बार उपयोग करें। 

(और पढ़ें - झुर्रियां, फाइन लाइन्स दूर करने का एक ज़बरदस्त फॉर्मुला)

हरी चाय में मौजूद कैटेचिन्स एंटीबायोटिक एजेंट होते हैं जो मुँहासे से पैदा होने वाले बैक्टीरिया से लड़ने में मदद करते हैं। कैटेचिन्स भी शरीर में हार्मोनल असंतुलन जो मुँहासे के प्रमुख कारणों में से एक है को नियमित करने में मदद करता है।

इसके अलावा, हरी चाय की सूजन कम करने वाले गुण मुँहासे के द्वारा हुई लालिमा और सूजन को कम करने में मदद करते हैं।

जर्नल ऑफ़ इन्व्हेस्टीगेटिव स्मरेटोलॉजी में प्रकाशित 2012 के एक अध्ययन ने निष्कर्ष निकाला है कि हरी चाय में एक घटक एपिगॉलॉटेचिन-3-गैलेट (ईजीसीजी) होता है जो इंट्रासेल्युलर मॉलिक्यूलर टार्गेट्स और बाधा को रोक कर मुँहासे का इलाज करता है।

  • एक चौथाई कप पानी और एक चौथाई कप पीसी हुई हरी चाय को मिक्स करें।
  • रूई का उपयोग करके प्रभावित क्षेत्र पर इस घोल को लगाएँ।
  • इसे 10 से 15 मिनट के बाद ठंडे पानी के साथ धो लें।
  • जब तक आपकी त्वचा मुँहासे-मुफ़्त न हो जाए, तब तक दो बार ऐसा करें।

यह लोकप्रिय पेय आपकी त्वचा के लिए एक प्राकृतिक टोनर के रूप में भी काम करता है। यह अशुद्धियों को बाहर निकालने में मदद करता है, बड़े छिद्र को कम करता है और आपकी त्वचा को एक अच्छी स्वस्थ चमक प्रदान करता है। यह आपकी त्वचा को हाइड्रेटेड रखने में भी मदद करता है, जो स्वस्थ त्वचा के लिए आवश्यक है।

  • हरी चाय से 2 कप काढ़ा बनाएँ और ठंडा होने दें।
  • अपनी पसंद के किसी भी आवश्यक तेल के कुछ बूंदों को मिलाएँ।
  • एक साफ स्प्रे बोतल में घोल को भरें।
  • अपने चेहरे पर इस घोल से स्प्रे करें या इसे दो बार रूई के साथ लगाएँ।
  • छालरोग और रोसैसा जैसे त्वचा वाले लोग भी इस घोल का उपयोग कर सकते हैं। (और पढ़ें - गुलाब जल लगाने के फायदे स्किन टोन के लिए)

हरी चाय सूर्य की हानिकारक पराबैंगनी (यूवी) किरणों से आपकी त्वचा की रक्षा भी कर सकती है। हरी चाय में मौजूद टैनिक एसिड, थियोब्रोमाइन और पॉलीफेनॉल यूवी किरणों के संपर्क से होने वाले नुकसान को निष्क्रिय करके सनबर्न त्वचा को शांत करने और ठीक करने में मदद कर सकते हैं।

बायोकैमिकल और बायोफिजिकल रिसर्च कम्युनिकेशन जर्नल में प्रकाशित 2011 के एक अध्ययन में पाया गया कि हरी चाय में मौजूद एपिगॉलॉटेचिन-3-गैलेट एक प्रकार के त्वचा के कैंसर को रोकता है।

  • ग्रीन टी से 2 से 3 कप काढ़ा बनाएँ और इसे कुछ समय के लिए रेफ्रिजरेटर में डालें।
  • चाय में एक मुलायम कपड़े को डुबो लीजिये और धीरे-धीरे इसे सनबर्न वाली जगह पर लगाएँ।
  • दर्द और लाली को दूर करने के लिए इस उपाय को दिन में 2 या 3 बार दोहराएं। (और पढ़ें - पाएं सनबर्न से छुटकारा लेकर इन प्राकृतिक तरीकों का सहारा)

इसकी एंटीऑक्सिडेंट और कसैले गुणों के कारण, हरी चाय बढ़े हुए छिद्रों को कम करने में मदद कर सकती है जो बैक्टीरिया से संक्रमित हो सकते हैं। इस प्रकार यह चिकनी और त्वचा को कसने में मदद करेगी।

हरी चाय का एक कप बनाएँ और ठंडा होने दें। पेस्ट बनाने के लिए 2 बड़े चम्मच बेंटोनाइट मिट्टी या किसी भी कॉस्मेटिक मिट्टी को चाय में मिलाएं। अपने चेहरे पर इस फेस मास्क को फैलाएं और पूरी तरह से सूख जाने के बाद धीरे से इसे साफ़ करें और गर्म पानी के साथ अपना चेहरा धो लें।
इसके अलावा, आपके शरीर से टॉक्सिन्स को बाहर निकालने के लिए ग्रीन टी का सेवन करें। 

(और पढ़ें - त्वचा के बड़े रोम छिद्रों को कैसे करें कम)

सूखी हरी चाय की पत्तियों का मामूली सा दरदरा पाउडर मृत त्वचा कोशिकाओं, गंदगी और अन्य अशुद्धियों से छुटकारा पाने के लिए आपकी त्वचा की एक्सफोलिएट में मदद करता है।

एक साथ 1 चम्मच सूखे हरी चाय, 1 कप चीनी, आधा कप जैतून का तेल और 2 चम्मच शहद के साथ मिलाएं। इसे अपने चेहरे और शरीर पर लगाएँ और धीरे-धीरे इसे परिपत्र गति में रगड़ें। अंत में, गर्म पानी के साथ इसे धो लें। एक हफ्ते में एक बार या दो बार इससे चेहरे को साफ़ करें। 

(और पढ़ें - चंदन के औषधीय गुण हैं डेड स्किन को निकालने के लिए)

आपको हमेशा महनगे क्लीन्ज़र्स और पिंपल क्रीम की आवश्यकता नहीं होती है। गर्म पानी में 10 सेकंड के लिए एक हरी चाय बैग को डुबोकर रखें। इस बैग को काटकर ग्रीन टी को अपने नियमित क्लीन्ज़र्स के साथ मिक्स करके उपयोग करें। 5 मिनट के लिए मालिश करें और धो लें। हरी चाय में मौजूद पॉलीफेनोल्स रक्त परिसंचरण को बढ़ावा देते हैं और आप मुँहासे से लड़ने में भी मदद करते हैं। (और पढ़ें - कचा दूध है फेस क्लींजर)

हम सभी जानते हैं कि चेहरे की त्वचा के लिए स्टीम लेना अच्छा होता है। जब आप स्टीम लेते हैं तो त्वचा भाप को अवशोषित करती है। तो क्यों नहीं सादे पानी में ग्रीन टी को मिलाकर भाप के लिए इस्तेमाल किया जाएँ। दो गिलास पानी लें और उसमें तीन बड़े चम्मच ग्रीन टी की पत्तियों को उबालें और भाप लें। भाप लेने से आपकी त्वचा कुछ पॉलीफेनोल और फ्लैनोनोइड सोख लेती है। जो त्वचा के निखार के लिए बहुत ही अच्छे होते हैं। 

(और पढ़ें - चुकंदर के चेहरे के मास्क से पायें चमकदार और गोरी त्वचा)

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें