myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

आमतौर पर भारतीय अपने दिन की शुरुआत कई बार अलार्म घड़ी को बंद करने की कोशिश करते हुए करते हैं।

लेकिन ज़रा सोचिये जिस दिन आपकी सुबह अच्छी गुज़रती है वो पूरा दिन कितना स्फूर्तिवान और आनंद से भरा होता है। आप बिना किसी बात के खुश रहते हैं। अगर याद नहीं आ रहा तो अपने जन्मदिन की सुबह को ही याद कर लीजिये।

क्या आपने कभी सोचा है बड़े बड़े ऋषि मुनि, धर्म गुरु अपने आपको ऊर्जावान कैसे रखते हैं ? अगर नहीं तो आइये जानते हैं धर्म गुरु दलाई लामा के अनुसार, अच्छे दिन की शुरुआत कैसे की जाये।

दलाई लामा कहते हैं, "हर सुबह उठने के बाद यह सोचिये कि आप बहुत भाग्यशाली हैं जो आपको नया दिन देखने को मिला। इसका मतलब आपको अनमोल मानव जीवन मिला है और आपको इसे बर्बाद बिलकुल भी नहीं करना है। यह सोचिये कि आप अपने दिल और शरीर का उपयोग दूसरों की मदद के लिए करेंगे और मुसीबत में पड़े लोगों की बाधा दूर करने की कोशिश करेंगे। आप दूसरों के प्रति हमेशा दयालु विचार रखेंगे और गुस्से तथा हीन भावना पर नियंत्रण रखेंगे। आपसे जितना हो सकेगा आप दूसरों के काम आएंगे। ऐसा सोचने मात्र से आपके दिन की शुरुआत निस्संदेह अच्छी होगी।" 

(और पढ़ें - गुस्सा कैसे कम करें)

वास्तव में केवल यह सकारात्मक मानसिकता ही ध्यान करने में आपकी मदद कर सकती है। यहां 6 ऐसे चरण उल्लेखनीय हैं जो रोज सुबह अपनाने से, दलाई लामा जैसा सकारात्मक दृष्टिकोण पैदा करने में मदद करेंगे।

नकारात्मक विचारों से दूर रखने के लिए करें मैडिटेशन

  1. सर्वप्रथम एक आरामदायक स्थिति चुनें जिसमें आपको ध्यान करना हो। उदाहरण के लिए कुर्सी इत्यादि।
  2. अपने शरीर को महसूस करने की कोशिश करें और किसी भी शारीरिक तनाव को त्यागते हुए गहरी सांस लें।
  3. सामान्य तरीके से प्राकृतिक वायु ग्रहण करें। सांसें लम्बी या छोटी करने की ज़रूरत नहीं है। बस अपने शरीर में सांस अंदर आने और बाहर जाने की प्रक्रिया को महसूस करें।
  4. दिमाग को शांत रखें अर्थात अपने दिमाग में इधर उधर के विचार आने से रोकें। हालांकि मन भटकना स्वाभाविक है उसपर नियंत्रण नहीं किया जा सकता लेकिन सिर्फ अपनी सांस पर ध्यान देकर उसे नियंत्रित करने की कोशिश ज़रूर की जा सकती है।
  5. सांस लेकर 5-7 मिनट तक उसे रोकने का प्रयास करें।
  6. कुछ ही मिनटों के बाद, अपनी शारीरिक संवेदनाओं का परीक्षण करें। सांस बाहर निकलने के साथ आप पहले से अधिक बेहतर महसूस करेंगे। (और पढ़ें - ध्यान या मेडिटेशन कैसे करें)
और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें
कोरोना मामले - भारतx

कोरोना मामले - भारत

CoronaVirus
3374 भारत
161आंध्र प्रदेश
10अंडमान निकोबार
1अरुणाचल प्रदेश
24असम
30बिहार
18चंडीगढ़
9छत्तीसगढ़
445दिल्ली
7गोवा
105गुजरात
49हरियाणा
6हिमाचल प्रदेश
92जम्मू-कश्मीर
2झारखंड
144कर्नाटक
306केरल
14लद्दाख
104मध्य प्रदेश
490महाराष्ट्र
2मणिपुर
1मिजोरम
20ओडिशा
5पुडुचेरी
57पंजाब
200राजस्थान
485तमिलनाडु
269तेलंगाना
22उत्तराखंड
227उत्तर प्रदेश
69पश्चिम बंगाल

मैप देखें