दही हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभदायक होता है। रोज एक कटोरी दही खाने से पाचन क्रिया सही रहती है। दही में भरपूर मात्रा में कैल्शियम, प्रोटीन और विटामिन पायें जाते हैं। हमारी भारतिया संस्कृति में तो प्राचीन काल से ही दही का बहुत महत्व रहा है। चाहे कोई विवाह हो या किसी कार्य का शुभारम्भ, हर शुभ अवसर पर दही का इस्तेमाल होता है।

कयोकि माना जाता है की यदि किसी भी शुभ कार्य को करने से पहले दही खिलाया जाएं तो उसे सफलता मिलती है। हम आपको बतादें की दही के बहुत ही लाभ होते हैं। इससे ना केवल हमारा शरीर स्वास्थ्य बनता है। हमारे सौन्दर्य को बढ़ाने में भी यह बेहद लाभकारी है। और खास बात तो यह है की यह सस्ता होने के साथ-साथ आसानी से भी मिल जाता है।

  1. दही खाने के फायदे - Dahi Khane ke Fayde
  2. दही खाने के नुकसान - Dahi Khane ke Nuksan

आपको यह बात जानकार शायद आश्चर्या हो लेकिन दही, दूध के मुक़ाबले कई ज़्यादा फायदा पहुचता है। दही में दूध के अपेक्षा ज़्यादा कैल्शियम पाया जाता है। इसके अलावा दही आसानी से पच भी जाता है।

रोजाना दही खाने से डाइजेस्न (digestion ) अच्छी तरह होता है और खुलकर भूक भी लगती है। इसलिए जिन लोगो को पेट की परेशानियां जैसे की अपच, भूक ना लगना आदि हो, वो दही का सेवन ज़रूर किया करें। तो आज हम आप को दही से होने वालें स्वास्थ्य लाभ के बारे में बतातें हैं। 

 

  1. मोटापा कम करने के लिए खाएं दही - Motapa kam karne ke liye khayen dahi
  2. हृदय रोग में फायदेमंद है दही - Hriday rog mein faydemand hai dahi
  3. दही से करें मुंह के छाले दूर - Dahi se karen munh ke chale dur
  4. पेट की गर्मी दूर करे दही - Pet ki garmi dur kare dahi
  5. सौन्दर्य बढ़ाने में लाभकारी है दही - Soundary badhaanemein labhkari hai dahi
  6. दही है प्रोटीन का अच्छा स्रोत - Dahi hai protein ka achha storat
  7. पाचन के लिए लाभकारी है दही - Paachan ke liye labhkari hai dahi
  8. दही का सेवन करे इम्युनिटी को मजबूत - Dahi ka sewan kare immunity ko majboot
  9. दही खाने के फायदे बचाएं ऑस्टियोपोरोसिस से - Dahi khane ke fayde bachayen osteoporosis se
  10. दही से होने वाले कुछ लाभ - Dahi se hone waale kuch labh

मोटापा कम करने के लिए खाएं दही - Motapa kam karne ke liye khayen dahi

जैसा की हम सभी जानते है की मोटापा कई बीमारियों को जन्म देता है। यानि की यदि हम मोटापा कम कर लेते हैं तो हम दूसरी बीमारियों से भी निजाद पा सकते हैं। दही हमारे शरीर में कोलेस्ट्रॉल को बढ़ने से रोकता है। जिससे रक्त का प्रवाह सुधरता है और शरीर में अतिरिक्त चर्बी नही जमती। इसके अलावा दही के उपयोग से ब्लड प्रेशर जैसी समस्याओं में भी बहुत लाभ मिलता है।

हृदय रोग में फायदेमंद है दही - Hriday rog mein faydemand hai dahi

दही खाने से कोलेस्ट्रॉल नही बदता और दिल की धड़कन सामान्य रहती है। दही के उपयोग से दिल के रोग, उच्च रक्तचाप और गुर्दे की बीमारियां ठीक होती हैं।

दही से करें मुंह के छाले दूर - Dahi se karen munh ke chale dur

दही मुंह के छाले को भी दूर करने में सहायक होता है। इसके लिए या तो आप दही को शहद में मिलाकर छाले पर लगाएं या फिर दही को भोजन के साथ लें। दोनो तरह से प्रयोग करने पर आपको छालो में आराम मिलेगा।

पेट की गर्मी दूर करे दही - Pet ki garmi dur kare dahi

पेट के कई रोगों के इलाज के लिए भी दही अमृत माना जाता है। पेट में गर्मी या जलन होने पर दही या दही से बनी लस्सी पीने से आराम मिलता है। इसके अलावा अगर किसी को दस्त होता हो तो दही में चावल मिलकर खाना चाहियें। 

(और पढ़ें –  डायरिया का घरेलू इलाज)

सौन्दर्य बढ़ाने में लाभकारी है दही - Soundary badhaanemein labhkari hai dahi

बालो के लिए - 

दही में यदि मुलतानी मिट्टी मिलकर बालों पर लगाया जाए तो बाल मुलायम होते हैं। साथ ही यह बालों को झरने से रोकने में भी मदद करता है। दही का उपयोग बालो से रूसी हटाने के लिए भी किया जाता है। इसके लिए मेहंदी में दही को मिलाकर लगाएं या फिर दही को सीधे भी बालो पर लगाया जा सकता है। यह बालो के लिए एक प्रकरातिक कंडीशनर की तरह कम करता है।

चेहरे के लिए - 

त्वचा में चमक लाने के लिए भी दही का इस्तेमाल किया जा सकता है। दही में मोजूद विटामिन ए, फॉस्फोरस, और ज़िंक त्वचा में चमकाने में मदद करते हैं। बस दही में थोड़ा बेसन मिला लीजिए और 10 मिनिट के लिए चेहरे पर लगाकर रखें। इससे आपके चेहरे की रंगत भी बढ़ेगी और त्वचा में चमक भी आएगी। अगर आप अपनी तैलीय त्वचा से परेशन हैं तो दही में शहद मिलाकर लगाएं। इससे कई हद तक तैलीय त्वचा से छुटकारा पाया जा सकता है।

दही है प्रोटीन का अच्छा स्रोत - Dahi hai protein ka achha storat

दही में प्रोटीन की भरपूर मात्रा पाई जाती है। 200 ग्राम दही में लगभग 12 ग्राम प्रोटीन होता है। प्रोटीन दिनभर में खर्च हुई ऊर्जा को बढ़ाने या पूरे दिन में बर्न हुई कैलोरी को बढ़ाने में मदद करती है।

भूख को नियमित रखने के लिए प्रोटीन प्राप्त करना भी महत्वपूर्ण होता है। प्रोटीन के सेवन से आप अपने वजन को भी नियंत्रण में कर सकते हैं।

पाचन के लिए लाभकारी है दही - Paachan ke liye labhkari hai dahi

कुछ प्रकार के दही में लाइव बैक्टीरिया या प्रोबियोटिक होते हैं जिनका सेवन करना आपके पाचन के स्वास्थ्य के लिए लाभकारी हो सकता है। लेकिन दुर्भाग्य से कई प्रकार की दही पेस्टराइज्ड होती है। पेस्टराइज्ड प्रोसेस के दौरान ये फायदेमंद जीवाणु ख़त्म हो जाते हैं।

दही में पाए जाने वाले कुछ प्रकार के प्रोबियोटिक, जैसे कि बिफिडोबैक्टेरिया और लैक्टोबैसिलस, को इर्रिटेबल बोवेल सिंड्रोम (आईबीएस) के लक्षणों को कम करने के लिए जाने जाते हैं। एक अध्ययन के अनुसार, जो आईबीएस रोगी नियमित रूप से किण्वित या फर्मेन्टेड (fermented) दूध या दही का सेवन करते थे, उन्हें इस समस्या से बहुत जल्दी राहत प्राप्त हुई।

एक और अध्ययन में पाया गया कि बिफिडोबैक्टेरिया से परिपूर्ण दही पाचन तंत्र और स्वास्थ्य से जुड़ी परेशानियों को कम करने में मदद करती है।

इसके अलावा, कई अध्ययनों से पता चला है कि प्रोबियोटिक, एंटीबायोटिक से जुड़ी दस्त और कब्ज जैसी समस्याओं का इलाज भी करने में मदद करते हैं।

(और पढ़ें - अपच से बचने के उपाय)

दही का सेवन करे इम्युनिटी को मजबूत - Dahi ka sewan kare immunity ko majboot

दही का सेवन इम्युनिटी के लिए भी बहुत ही लाभकारी हो सकता है। विशेष रूप से यदि इसमें प्रोबियोटिक होते हैं। इसलिए नियमित रूप से दही का सेवन आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत कर सकता है। और इस कारण आपके बार बार बीमार होने की संभावना को भी कम हो जाती है।

प्रोबायोटिक दवाओं को सूजन को कम करने के लिए जाना जाता है, जो वायरल संक्रमण से लेकर आँतों से जुड़ी कई स्वास्थ्य समस्याओं के लिए उपयोग की जाती है। रिसर्च के अनुसार कुछ मामलों में, प्रोबायोटिक सामान्य सर्दी से लेकर, उसकी गंभीरता को कम करने में भी मदद कर सकते हैं।

इसके अलावा, दही में मैग्नीशियम, सेलेनियम और जिंक की भी भरपूर मात्रा होती हैं जो इम्युनिटी को मजबूत बनाने में सहायक होती है।

दही खाने के फायदे बचाएं ऑस्टियोपोरोसिस से - Dahi khane ke fayde bachayen osteoporosis se

दही में कैल्शियम, प्रोटीन, पोटेशियम, फास्फोरस और विटामिन डी की भरपूर मात्रा पाई जाती है। जो हड्डियों को स्वस्थ बनाए रखने के लिए बहुत महत्वपूर्ण पोषक तत्व होते हैं।

ये सभी विटामिन्स और खनिज ओस्टियोपोरोसिस को रोकने में भी मदद करते हैं। ओस्टियोपोरोसिस की समस्या बुजुर्गों में आम होती है। ऑस्टियोपोरोसिस वाले व्यक्तियों की बोन डेंसिटी बहुत ही कम होती है जिसके कारण हड्डी के फ्रैक्चर का खतरा बना रहता है। एक स्टडी के अनुसार दिन में तीन बार दही का सेवन हड्डी द्रव्यमान और ताकत को बनाए रखने में मदद कर सकता है।

दही से होने वाले कुछ लाभ - Dahi se hone waale kuch labh

दही का सेवन करने से पेट और आंतों के होने वाले रोगों से आराम मिलता है। दही में उपस्थित कैल्शियम हड्डियों, दाँत और नाख़ून को मजबूत बनता है। दही हमारी भूख को बढ़ाने और दस्त को रोकने में मदद करता है। एक गिलास दही से बनी छाछ में अजवाइन मिलाकर पीने से बवासीर जैसे रोगों में आराम मिलता है। चेहरे पर होने वाले मुहँसो को दूर करने में भी दही सहायक होती है। बहुत से लोग ऐसे होते हैं जिनका पाचन सही नही रहता है तो ऐसे में दही का उपयोग भोजन के साथ करने से पाचन तुरंत सुधर जाता है। जिन लोगों को नींद ना आने की बीमारी होती हैं उनको दही खाने की सलाह तो डॉक्टर भी देते हैं। इसे खाने से नींद अच्छी आती है। दही शरीर से पसीने की दुर्गन्ध को दूर करने में भी मदद करता है। इसके लिए आप दही और बेसन को मिलाएं और अपने शरीर पर लगा लें फिर थोड़ी देर बाद नहा लें इससे शरीर की दुर्गन्ध दूर हो जाती है।

ध्यान रखे -

हमेशा ताज़े दही का ही सेवन करे। कभी भी रात के समय दही ना खाएं। अगर आपको सर्दी की समस्या हमेशा बनी रहती है तो भी दही का सेवन ना करें।

  1. लैक्टोज असहिष्णुता तब होती है जब शरीर में लैक्टेज की कमी होती है। एंजाइम लैक्टोज को तोड़ने के लिए आवश्यक होते हैं, जो एक प्रकार की चीनी होती है जो दूध में पाई जाती है। कुछ लोगों को दूध या उससे बने उत्पादों का सेवन करने के बाद, पेट दर्द और दस्त जैसी विभिन्न पाचन समस्याएं हो जाती है।
  2. दूध उत्पादों में केसिन और मट्ठा होते हैं, जो प्रोटीन होते हैं। जिनके सेवन से कुछ लोगों को एलर्जी हो सकती है। जिसके कारण आपको सूजन जैसी समस्या हो सकती है। इसलिए यदि आपको दूध से एलर्जी है तो आपके लिए दही के सेवन से बचना सबसे अच्छा उपाय है।
  3. कई प्रकार के दही में अधिक मात्रा में चीनी होती है, खासतौर पर उनमें जिनमें कम फैट का लेबल लगा होता है। अतिरिक्त चीनी के सेवन से कई स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती है, जिनमें डायबिटीज और मोटापा शामिल हैं। इसलिए दही खरीदते समय ध्यान रखें की उसमें चीनी की मात्रा ना हों।

दही के लाभकारी गुण सम्बंधित चित्र

और पढ़ें ...