myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

कान में दर्द बहुत परेशान करता है। कभी कभी इसके चलते सिर दर्द भी होता और जबड़े में भी दर्द होने लगता है। कानों में दर्द होने के कई कारण हो सकते हैं जैसे सर्दी, कानों में किसी तरह की चोट, नाक की नली में रुकावट आदि। 

(और पढ़ें – सिर दर्द के घरेलु उपाय)

लेकिन इसके होने का मुख्य कारण कानों में संक्रमण होता है। कान का दर्द ख़ासकर बच्चों और बुज़ुर्गो में ज्यादा देखने को मिलता है।

कुछ लोगों को तो आनुवांशिक कारणों के चलते कान में दर्द रहता है। अगर आपको भी यह समस्या है तो ज्यादा परेशान होने की ज़रूरत नहीं है। घरेलू उपचार द्वारा इस समस्या को दूर किया जा सकता है।

  1. कान के दर्द के उपाय करें अदरक से - Kan dard ka upay hai ginger
  2. कान का दर्द के उपाय है लहसुन - Kan me dard ka desi nuskha hai garlic
  3. कान के दर्द से छुटकारा दिलाता है जैतून का तेल - Kan dard se chutkara dilata hai olive oil
  4. कान के दर्द का घरेलू नुक्सा है नमक - Kan ke dard ka gharelu upay hai salt
  5. कान के दर्द का घरेलू उपाय है गरम पानी की बोतल - Kan ke dard ka desi nuskha hai hot water bottle
  6. कान दर्द का घरेलू नुस्ख़ा है पुदीने की पत्तियां - Kaan ka dard ka upay hai peppermint oil

अदरक में सूजन को कम करने वाले गुण मौजूद होते हैं। यह कानों के संक्रमण को ठीक करने में सहायक होते हैं। साथ ही यह प्राकृतिक दर्द निवारक भी है।

ताजे अदरक के टुकड़े से रस निकालकर अपने कानों में डालें। इससे कानों का दर्द और सूजन दोनों दूर होते हैं।

या एक बड़े चम्मच में जैतून का तेल लें, उसमें थोड़ा सा मैश किया हुआ अदरक डालें। इस तेल को गैस की आँच पर गर्म करें। हल्का सा ठंडा होने के बाद, इस तेल की कुछ बूंदे कानों में डालें। 

(और पढ़ें – अदरक की चाय के फायदे)

लहसुन में दर्द को हटाने वाले गुण मौजूद होते हैं। इसलिए कानों के संक्रमण को ठीक करने के लिए, लहसुन भी एक अच्छा घरेलू उपचार है।

इसे बनाने और इस्तेमाल करने का तरीका -

  • तिल के तेल में लहसुन के छोटे छोटे टुकड़े डालकर गर्म करें।
  • इस तेल को ठंडा करके छान लें। (और पढ़ें - लहसुन खाने का फायदा)
  • इस तेल की 2 से 3 बूंदे जिस कान में दर्द हो रहा है उस कान में डाल दें।
  • यदि आप चाहें तो लहसुन की कलियों का रस निकालकर भी कानों में डाल सकते हैं। 

(और पढ़ें – पेट में गैस का घरेलू उपचार करे लहसुन से)

जैतून का तेल आपको बहुत जल्द कान के दर्द से राहत दिलाता है। यह एक तरह का लुब्रिकेंट है जो कानों के संक्रमण को दूर करने में मदद करता है। यहां तक कि जैतून का तेल कानों के अंदर आने वाली भीन भीनाहट वाली आवाज़ को भी दूर करता है। इसके लिए, गुनगुने तेल की तीन से चार बूंदे कानों में डालें। 

(और पढ़ें – जैतून के तेल के फायदे और नुकसान)

यह सबसे आसान घरेलू उपचार है, क्योकि यह हर घर में मौजूद होता है।

इसे बनाने और इस्तेमाल करने का तरीका - 

  • थोड़ा सा नमक लेकर उसे कढ़ाई में गर्म करें, उसे चम्मच की सहायता से हिलाते रहें नहीं तो वो जल जाएगा।
  • अब इसे एक कपड़े में लें और पोटली बाँध लें। इस पोटली को अपने कानों पर लगाएं।
  • इस नमक से जो गर्मी निकलेगी, उससे आपके कानों की सिकाई होगी। 

(और पढ़ें – सेंधा नमक के फायदे और नुकसान)

कानों को सेक देने के लिए आप गर्म पानी की बोतल भी इस्तेमाल कर सकते हैं। यह उपाय भी दर्द दूर करने में मदद करता है।

इसके लिए आपको ज़्यादा कुछ नही करना है, बस गर्म पानी बोतल में डालें, उसे तौलिए की सहायता से लपेटें।
अब जो कान दर्द कर रहा है, उसके उपर रखें।

आप शायद नहीं जानते होंगे, लेकिन पुदीने की पत्तियां भी कानों में होने वाले दर्द से राहत दिलाती है।

ताजी पत्तियों का रस निकाल कर उसे किसी भी ड्रॉप वाली बोतल में भर लें। अब कुछ बूंदे, जिस कान में दर्द हो रहा है उसमें डालें।
रूई के टुकड़े की सहायता से कुछ तेल कान के खुले हिस्से में भी डालें। 

(और पढ़ें – साइनसाइटिस का उपचार है पुदीने का तेल)

इन घरेलू उपचारों के इस्तेमाल से आप अपने कानों में होने वाले दर्द से राहत पा सकते हैं। यदि इन घरेलू उपचारों को इस्तेमाल करने पर भी आपको राहत नहीं मिल रही है तो आपको बिना देर किए चिकित्सक को दिखाना चाहिए।

और पढ़ें ...