myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

पेट में गैस बनना पाचन प्रक्रिया का एक स्वाभाविक हिस्सा है। इसका मुख्य लक्षण पेट फूलना (fatulence) होता है। ज़्यादातर लोग पूरे दिन में कई बार पेट की गैस निकाल देते हैं। हालांकि ये एक सामान्य बात है, लेकिन अगर पेट में गैस हद से ज़्यादा बढ़ जाती है तो इस पर आपको ज़रूर ध्यान देना चाहिए।

पेट में गैस तब बनती है जब पेट में बैक्टीरिया उन कार्बोहाइड्रेट को उत्तेजित कर देते हैं जो छोटी आंत में ठीक से पच न पाए हों। आमतौर से यह ज़्यादा फाइबर युक्त आहार खाने से होता है, जैसे फलसब्जियां, साबुत अनाजसेम और दालें आदि।

अगर आप ज़्यादा मात्रा में फाइबर युक्त आहार खाते हैं तो आपका शरीर पेट में ज़्यादा गैस बनाना शुरू कर देता है। गैस बनने के अन्य कारण हैं शराब पीना, ढंग से खाने को न चबाना, मसालेदार खाना या अन्य गैस बनाने वाले खाद्य पदार्थ खाना। ज़्यादा तनाव, कुछ प्रकार के संक्रमण, पाचन से सम्बंधित समस्या, खाते समय हवा का भी साथ में जाना, कब्ज़ आदि की वजह से भी गैस बन जाती है।

अगर गैस बढ़ जाए और आप उसे निकाल नहीं पाते हैं तो आपको गैस की वजह से दर्द भी महसूस हो सकता है।

पेट की गैस की समस्या से कोई भी पीड़ित हो सकता है। लेकिन घबराने की ज़रूरत नहीं है क्योंकि ये कुछ ऐसे घरेलू उपाय हैं जो पेट में गैस से राहत दिला सकते हैं और आप आराम से दोबारा अपना मनपसंद खाना खा सकते हैं। अगर आपको ये समस्या बार बार हो, या पेट में दर्द, या कोई और गंभीर लक्षण हो, तो अवश्य डॉक्टर से परामर्श करें। 

(और पढ़ें – पेट में गैस के लिए योग)

तो आइये आपको बताते हैं पेट की गैस को दूर करने के कुछ घरेलू उपाय।

  1. पेट में गैस का घरेलू उपचार है लौंग - Gas ka gharelu upchar hai cloves in Hindi
  2. पेट में गैस का इलाज है पुदीने की चाय - Pet ki gas ka ilaj hai peppermint tea in Hindi
  3. गैस की रामबाण दवा है अदरक - Gas ka ramban dawa hai ginger in Hindi
  4. गैस की समस्या से छुटकारा दिलाता है काली मिर्च - Gas ki samasya se chutkara dilata hai black pepper in Hindi
  5. पेट में गैस का घरेलू उपचार करे लहसुन से - Pet ki gas ka gharelu upchar kare garlic se in Hindi
  6. पेट की गैस को दूर करने का उपाय है सरसो - Gas dur karne ka upay hai mustard in Hindi
  7. पेट से गैस निकालने का उपाय करें सेब के सिरके से - Gas dur karne ka tarika hai apple vinegar in Hindi
  8. पेट की गैस से छुटकारा पाने के उपाय में करें बेकिंग सोडा का प्रयोग - Gas se chutkara pane ka upay hai baking soda in Hindi
  9. पेट की गैस से बचने का उपाय है चारकोल - Gas se bachne ka tarika hai charcoal in Hindi
  10. पेट की गैस का रामबाण इलाज करता है दालचीनी - Pet ki gas ka ramban ilaj hai cinnamon in Hindi
  11. पेट की गैस का देसी इलाज है सौफ - Pet ki gas ka desi ilaj hai fennel in Hindi
  12. पेट की गैस को ठीक करने का उपाय करें हींग से - Gas ko thik karne ke upay hai hing in Hindi
  13. पेट की गैस का घरेलू उपाय है छाछ - Gas ka gharelu upay hai buttermilk in Hindi
  14. पेट में गैस की समस्या का अन्य समाधान - Gas ki samasya ke liye tips in Hindi

गैस की समस्या को दूर करने के लिए लौंग बहुत ही लाभदायक है। इसे शहद के साथ लेने से कब्ज की समस्या को भी दूर किया जा सकता है। इसके अलावा रोजाना इसे चूसने से भी पेट ठीक रहता है और गैस नहीं बनती है।

(और पढ़ें - लौंग के फायदे)

यदि आप गैस की समस्या से बहुत ज़्यादा परेशान हैं तो पुदीने की पत्तियों की चाय बनाकर पीने से राहत मिलती है। इससे आपको गैस की वजह से होने वाले पेट दर्द में भी आराम मिलता है। पुदीने की चाय बनाने के लिए पत्तियों को पानी में उबाल लें और उसमें टेस्ट के लिए 1 चम्मच शहद मिलाएं। बस इस चाय को पी लीजिए। 

(और पढ़ें - पुदीने की चाय के फायदे)

पुदीने की पत्तियों को कच्चा चबाने से भी कब्ज की समस्या में आराम मिलता है।

(और पढ़ें - पुदीने के फायदे)

पेट में गैस की समस्या को दूर करने के लिए अदरक सबसे अच्छा घरेलू उपचार है। इसमें एंटीबैक्टीरियल और एंटी-इंफ्लेमेटरी तत्व पाएँ जाते हैं जो पेट में होने वाली कब्ज और घेघा (esophagus) की समस्या को दूर करने में सहायक होते हैं। 

(और पढ़ें - अदरक के फायदे और नुकसान)

अदरक का कई तरीकों से सेवन किया सकता है जैसे इसकी चाय बनाकर पी सकते हैं, या फिर इसे प्रत्यक्ष रूप से नमक के साथ चूसा जा सकता है। आप चाहें तो रोजाना सब्जियों में भी अदरक डाल सकते हैं। 

(और पढ़ें - अदरक की चाय के फायदे और नुकसान)

काली मिर्च का प्रयोग भी पेट में कब्ज जैसी समस्याओं को दूर करने में किया जाता है। यह पेट में आमाशय रस के प्रवाह को बढ़ाती है और भोजन के सही तरह से पाचन में मदद करती है। पेट में हाइड्रोक्लोरिक एसिड की कमी से होने वाले पेट दर्द में भी काली मिर्च आराम पहुँचाती है। इसके चूर्ण को शहद के साथ, गुड़ के साथ या फिर छाछ के साथ लेने से कब्ज और गैस की समस्या दूर हो जाती है। 

(और पढ़ें - काली मिर्च के फायदे)

लहसुन गर्म गुणवत्ता और तेज गंध वाला होता है। इस वजह से यह भोजन के पाचन में मदद करता है और पेट में गैस भी नहीं बनने देता। लहसुन को प्रयोग में लाने के लिए कई तरीके हैं जैसे आप इसे आग में भून कर या फिर इसका जूस बनाकर या भोजन में पकाकर खा सकते हैं। जिन व्यक्तियों को कब्ज की बहुत ज़्यादा समस्या होती है, उन्हें कच्ची लहसुन को उपयोग में लाना चाहिए। ऐसा करने से कब्ज में जल्द ही आराम मिलता है। 

(और पढ़ें - लहसुन के फायदे और नुकसान)

ये एक बेहद ही आसान तरीका है जो हर किसी के घर में उपलब्ध होता है। पीली सरसों में एसिटिक एसिड (acetic acid) पाया जाता है जो आपके पेट की एसिडिटी को कम करता है और जल्द राहत दिलाने में भी मदद करता है।

(और पढ़ें - सरसों के साग के फायदे)

सरसों का इस्तेमाल कैसे करें -

  1. एक चम्मच पीली सरसों लें और उसे एक ग्लास गर्म पानी के साथ खा लें।
  2. आपको पांच से दस मिनट के अंदर पेट की गैस से राहत मिलनी शुरू हो जाएगी।

(और पढ़ें - सरसों के तेल के फायदे)

सेब के सिरके को आमतौर पर अपच का इलाज करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। सेब का सिरका पेट की गैस को दूर करने के लिए भी बेहद फायदेमंद होता है। सेब के सिरके में मौजूद एंजाइम पाचन का इलाज करते हैं और आपके शरीर को अल्कलाइज़ (alkalize) करने में भी मदद करते हैं जिससे आप बेहद आरामदायक महसूस करने लगते हैं और गैस की समस्या भी दूर हो जाती है। ये आपके पेट को हल्का करता है और जल्द आराम भी देता है। इसके अलावा, सेब साइडर सिरका गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए भी सुरक्षित होता है।

(और पढ़ें - सेब के फायदे)

सेब के सिरके का इस्तेमाल कैसे करें -

  1. एक ग्लास गर्म पानी में दो चम्मच सेब का सिरका मिलाएं।
  2. अब पानी को गुनगुना होने के लिए रख दें।
  3. गुनगुना होने के बाद पानी को पी जाएँ।
  4. इस मिश्रण को पूरे दिन में दो बार ज़रूर पियें।

(और पढ़ें - सेब के सिरके के फायदे)

अगर आपके घर में सेब का सिरका मौजूद नहीं है तो आप सामान्य तौर पर इस्तेमाल होने वाले सिरके का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

बेकिंग सोडा को सोडियम बायोकार्बनेट भी कहा जाता है। ये पेट की गैस को निकालने के लिए प्रभावी एंटासिड की तरह काम करता है। अगर आप इसे नींबू के जूस के साथ मिलाते हैं तो ये मिश्रण और भी ज़्यादा प्रभावी हो जाता है।

बेकिंग सोडा का इस्तेमाल कैसे करें -

  1. आधा नींबू को सबसे पहले निचोड़कर एक ग्लास गर्म पानी में मिला दें।
  2. अब उसमे एक चम्मच बेकिंग सोडा मिलाएं। इसके पीने से आपको गैस और गैस के दर्द से जल्द आराम मिलेगा।
  3. अगर आपके पास नींबू नहीं है तो आप एक चम्मच बेकिंग सोडा को एक ग्लास से कम पानी में मिलाकर पी सकते हैं।

(और पढ़ें - बेकिंग सोडा के फायदे)

हालाँकि जब भी आपको पेट में गैस बने तो इस उपाय का इस्तेमाल ज़्यादा न करें क्योंकि इसका लम्बे समय तक अधिक इस्तेमाल भी आपके स्वास्थ्य को खराब कर सकता है। सोडियम से दूर रहने वाले व्यक्ति इसका सेवन न करें।

चारकोल गैस और पेट फूलने की समस्या के लिए बेहद फायदेमंद उपाय है। इसके छिद्रपूर्ण तत्व आँतों से गैस को दूर करने में मदद करते हैं। गैस को कम करने के लिए भोजन के 2 घंटे पहले या बाद में आप 500 मिलीग्राम चारकोल का सेवन कर सकते हैं। इसका सेवन करने के बाद एक ग्लास पानी पीना न भूलें। ये टेबलेट, कैप्सूल और पाउडर के रूप में भी आपको दुकानों पर मिल जाएगा। इसका सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर से परामर्श ज़रूर करें।

(और पढ़ें - गर्भावस्था में गैस बनने के कारण)

दालचीनी आपके पेट को हल्का करती है और गैस को दूर करने में भी मदद करती है। दालचीनी गैस्ट्रिक एसिड और पेप्सिन के स्राव को पेट की वाल्स (walls) से दूर करती है जिससे पेट में गैस नहीं बनती।

(और पढ़ें - दालचीनी दूध के फायदे)

दालचीनी का इस्तेमाल दो तरीकों से करें -

पहला तरीका -

  1. एक कप गर्म दूध में एक या आधा चम्मच दालचीनी पाउडर को मिलाएं।
  2. इस मिश्रण को अच्छे से मिलाकर पी जाएँ।
  3. आप इसमें शहद भी मिला सकते हैं।

दूसरा तरीका -

  1. इसके साथ ही आप दालचीनी की चाय भी बना सकते हैं।
  2. चाय बनाने के लिए एक कप गर्म पानी में आधा चम्मच दालचीनी पाउडर मिलाएं या कुछ दालचीनी की स्टिक्स को भी डाल सकते हैं।
  3. पांच मिनट तक पानी को उबलने दें।
  4. उबलने के बाद मिश्रण को थोड़ा ठंडा होने के लिए रख दें और फिर मिश्रण को पी जाएँ।

(और पढ़ें - दालचीनी के फायदे

सौफ गैस और पेट फूलने की समस्या के लिए सर्वोत्तम सामग्री में से एक है। ये एक कार्मिनेटिव की तरह कार्य करती है जिसकी मदद से गैस को दूर करने में मदद मिलती है। यह शिशुओं में होने वाले पेट के दर्द को भी दूर करती है।

सौफ के बीज का इस्तेमाल दो तरीकों से करें -

पहला तरीका -

  1. एक चम्मच सौफ के बीज को ओखली में कूट लें।
  2. कूटने के बाद इसे एक कप पानी के बर्तन में डाल दें।
  3. अब बर्तन को ढक दें और पांच मिनट के लिए उबलने दें।
  4. अब इस मिश्रण को छानकर पी जाएँ। इस चाय का इस्तेमाल पूरे दिन में एक बार ज़रूर करें।
  5. आप इस चाय का इस्तेमाल खाना खाने के बाद भी कर सकते हैं।

दूसरा तरीका -

  1. इसके अलावा आप सौफ, दालचीनी और पुदीने की पत्तियों को एक साथ मिलाकर दो कप पानी में गर्म होने के लिए डाल दें।
  2. अब इस मिश्रण को उबलने के बाद छानकर पी जाएँ।
  3. अपच और गैस को दूर करने के लिए आप कैमोमाइल चाय का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

(और पढ़ें - सौंफ के फायदे और नुकसान

हींग को गैस के लिए बेहद प्रभावी उपाय माना जाता है। इसमें एंटीस्पास्मोडिक और ऐंटिफ्लाटुलेंट के गुण पाए जाते हैं जो अपच और गैस जैसी समस्याओं को कम करने में मदद करते हैं।

हींग का इस्तेमाल तीन तरीको से करें

पहला तरीका -

  1. एक ग्लास गर्म पानी में एक चुटकी हींग को डाल दें और फिर पानी को अच्छे से चला लें।
  2. इस मिश्रण को फिर पी जाएँ।
  3. पूरे दिन में इसका उपयोग दो या तीन बार ज़रूर करें।

दूसरा तरीका -

  1. इसके अलावा आप केले के टुकड़े में हींग को रखकर भी खा सकते हैं।
  2. इस प्रक्रिया को पूरे दिन में दो बार ज़रूर अपनाएँ।

तीसरा तरीका -

  1. हींग को सबसे पहले कूट लें और उसमे ज़रा सा पानी मिला लें।
  2. पेस्ट तैयार होने के बाद इसे अपने पेट पर लगाएं और कुछ मिनट तक सूखने का इंतज़ार करें।
  3. इसकी मदद से आपकी गैस जल्द दूर हो जाएगी।

(और पढ़ें - हींग के फायदे और नुकसान

आयुर्वेद के अनुसार, छाछ गैस को निकालने के लिए एक गुणकारी उपाय है। छाछ में प्रोबायोटिक माइक्रोब्स होते हैं जो पाचन को बढ़ाते है और अपच और गैस को कम करते हैं। ये एसिडिटी और पेट फूलने की समस्या को भी दूर करता है। खासकर अगर आप इसका सेवन अजवाइन के बीज और काला नमक के साथ करते हैं तो।

(और पढ़ें - अपच का घरेलू उपाय)

छाछ का इस्तेमाल दो तरीकों से करें

पहला तरीका -

  1. सबसे पहले एक चम्मच अजवाइन और काला नमक को एक कप छाछ में मिला दें।
  2. अगर आपके पास अजवाइन के बीज नहीं हैं तो आप अजमोद के बीज का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।
  3. अब इस मिश्रण को अच्छे से मिलाने के बाद पी जाएँ।
  4. इस मिश्रण को पूरे दिन में दो बार ज़रूर पियें।

दूसरा तरीका -

  1. इसके अलावा एक चुटकी अदरक के पाउडर और सेंधा नमक को एक ग्लास छाछ में मिला दें।
  2. मिलाने के बाद इस मिश्रण को पी जाएँ।
  3. इस मिश्रण को पूरे दिन में एक या दो बार ज़रूर पियें।

(और पढ़ें - छाछ के फायदे

  1. अगर आपको गैस लैक्टोस (एक प्रकार की चीनी) से सम्बंधित समस्या है तो आप लैक्टेज सप्लीमेंट्स का सेवन कर सकते हैं। इसकी मदद से आप लैक्टोस को पचा पाएंगे और गैस की परेशानी को भी दूर कर पाएंगे। लेकिन किसी भी तरह का सप्लीमेंट्स लेने से पहले अपने डॉक्टर से बात ज़रूर करें।
  2. उन खाद्य पदार्थों पर ध्यान दें और उन्हें नज़रअंदाज़ करने की कोशिश करें जो आपकी गैस की समस्या को बढ़ाते हैं।
  3. तेल और वसायुक्त खाद्यपदार्थ न खाएं।
  4. डेरी उत्पादों का सेवन न करें।
  5. ज़्यादा भारी खाना खाने की बजाएं पूरे दिन में चार से पांच बार हल्का भोजन खाने की कोशिश करें।
  6. धीरे धीरे खाना खाएं। एकदम से खाने को न सटके।
  7. चिविंग गम न खाएं और तरल पदार्थ स्ट्रॉ से पीने की कोशिश करें जिससे हवा अंदर न जाए और गैस का कारण न बने।
  8. धूम्रपान न करें। इससे आपकी हवा अंदर जाने की मात्रा बढ़ती है।
  9. अपने शारीरिक गतिविधियों को बढ़ाएं जिससे गैस की समस्या रोज़ रोज़ न बने। योग जैसे पवनमुक्तासन, पर्वतासन और अधो मुख श्वानासन आपको गैस की समस्या से जल्द राहत दिलाने में मदद करेंगे।
  10. सल्फर से भरपूर खाद्य पदार्थ न खाएं।
और पढ़ें ...