myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

जैतून के पेड़ ज्यादातर भूमध्य क्षेत्र (Mediterranean region) में पाए जाते हैं। लेकिन जैतून के तेल के स्वास्थ्य लाभों की बढ़ती जागरूकता के साथ, इसकी लोकप्रियता दुनिया भर में बढ़ रही है।

कुछ कम गुणवत्ता वाले जैतून के तेल बाजार में उपलब्ध हैं, जब आप इसे खरीदने जाएं तब आपको इसकी गुणवत्ता पर ध्यान देने की जरूरत है। सबसे अच्छी क़िस्म अतिरिक्त शुद्ध (extra-virgin olive oil) जैतून का तेल है, जो कोल्ड-प्रेस्ड है और जिसमें सबसे अच्छा स्वाद और गंध होता है।

जैतून के तेल के स्वास्थ्य और सुंदरता के लिए कई उपयोग हैं और आप इसे आंतरिक और बाह्य दोनों रूप से उपयोग कर सकते हैं।

यहां हम आपको शुद्ध जैतून के तेल (extra-virgin olive oil) के कुछ प्रमुख स्वास्थ्य लाभ और दुष्प्रभाव के बारे में बताने जा रहे हैं।

  1. जैतून के तेल के फायदे - Olive Oil Benefits in Hindi
  2. जैतून के तेल के नुकसान - Olive Oil Side Effects in Hindi
  3. जैतून के तेल की तासीर - Jaitun ke tel ki taseer in hindi
  4. जैतून के तेल का उपयोग - Olive oil use in hindi

जैतून का तेल स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभदायक है। इससे आपका हृदय स्वस्थ रहता है, आपको कैंसर होने की समस्या कम रहती है और आपका वज़न भी नहीं बढ़ता जिससे मोटापे की समस्या नहीं रहती है। ये आपके मानसिक स्वस्थ्य के लिए भी लाभदायक है, इसका सेवन करने से आप डिप्रेशन की समस्या से बच सकते हैं। ये आपकी त्वचा को जवान रखता है और बूढा होने से बचाता है। इससे डायबिटीज की समस्या कम होती है और स्तन कैंसर के जोखिम घटते हैं।

(और पढ़ें - डायबिटीज में परहेज)

  1. जैतून तेल का उपयोग करे कोलेस्ट्रॉल को कम - Olive Oil for Lowering Cholesterol in Hindi
  2. जैतून के तेल से फायदा उठाएं उच्च रक्तचाप में - Olive Oil Reduces High Blood Pressure in Hindi
  3. ऑलिव ऑयल से मधुमेह रखे दूर - Olive Oil for Diabetes in Hindi
  4. जैतून तेल के लाभ सूजन के लिए - Use Olive Oil to Treat Inflammation in Hindi
  5. जैतून के तेल से मालिश के फायदे हड्डियों के लिए - Olive Oil for Bones in Hindi
  6. जैतून के तेल के फायदे कैंसर से बचाएं - Olive Oil Prevents Cancer in Hindi
  7. जैतून तेल के बेनिफिट्स हैं दिमाग के लिए - Olive Oil for Brain Health in Hindi
  8. ऑलिव ऑयल के फायदे हैं वजन घटाने में - Olive Oil Helps Reduce Weight in Hindi
  9. जैतून का तेल चेहरे के लिए है फायदेमंद - Olive Oil Improve Skin Complexion in Hindi
  10. बालों के लिए जैतून का तेल - Olive Oil for Hair Growth in Hindi

जैतून तेल का उपयोग करे कोलेस्ट्रॉल को कम - Olive Oil for Lowering Cholesterol in Hindi

अतिरिक्त शुद्ध जैतून का तेल आपके एलडीएल (LDL - कम घनत्व वाले लिपोप्रोटीन) कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद करता है। LDL के कारण धमनियों में संकुचन पैदा हो सकता है।

जैतून का तेल शरीर में एचडीएल (उच्च घनत्व वाले लिपोप्रोटीन कोलेस्ट्रॉल) को बढ़ाता है, जो सुरक्षात्मक भूमिका निभाता है और अवांछित खून के जमने, दिल के दौरे और स्ट्रोक के प्रमुख कारण को रोकने में मदद करता है। 

(और पढ़ें - स्ट्रोक के कारण)

जैतून के तेल से कोलेस्ट्रॉल घटाने वाले प्रभाव का आनंद लेने के लिए, हफ्ते में दो या तीन बार खाने में जैतून के तेल का उपयोग करें। इससे हृदय रोग का खतरा टलता है। जैतून के तेल से दिल मजबूत होता है और दिल का दौरा पडने की संभावना कम हो जाती है। 

(और पढ़ें – कोलेस्ट्रॉल कम करने के उपाय)

जैतून के तेल से फायदा उठाएं उच्च रक्तचाप में - Olive Oil Reduces High Blood Pressure in Hindi

आंतरिक चिकित्सा के अभिलेखागार 2000 में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, जो लोग हाई बीपी के लिए दवाएं ले रहे हैं वो रक्तचाप की मात्रा को कम कर सकते हैं। अपने खाना बनाने में जैतून के तेल का उपयोग करें। शोधकर्ताओं का मानना है कि जैतून के तेल में मौजूद ओलिक एसिड आसानी से शरीर में अवशोषित हो जाता है और रक्तचाप को कम करता है। यह तेल स्वस्थ मोनोसैचुरेटिड फैट की उपस्थिति के कारण हृदय की उम्र को भी बढ़ाता है।

उच्च रक्तचाप को नियमित रखने के साथ युवा और स्वस्थ दिल का आनंद लेने के लिए, खाना पकाने के लिए जैतून के तेल का उपयोग करें। खाने में जैतून के तेल का उपयोग करने से शरीर का रक्त परिसंचरण सुधरता है। इससे उच्च रक्तचाप की समस्या दूर होती है।

(और पढ़ें - bp kam karne ka upay)

ऑलिव ऑयल से मधुमेह रखे दूर - Olive Oil for Diabetes in Hindi

शुद्ध जैतून का तेल शुगर के उपचार में लाभदायक है। यह शुगर की शुरुआत को रोकने में मदद कर सकता है। यह रक्त में शर्करा नियंत्रण में सुधार करता है और इंसुलिन के प्रति संवेदनशीलता को बढ़ाता है। इसके अलावा, जैतून का तेल ट्राइग्लिसराइड का स्तर बनाए रखने में मदद करता हैं।

मधुमेह की देखभाल नामक वैज्ञानिक पत्रिका 2011 के संस्करण में प्रकाशित एक अध्ययन में पाया गया है कि जैतून का तेल, कम वसा वाले भोजन की तुलना में लगभग 50 प्रतिशत तक टाइप 2 मधुमेह के खतरे को कम कर सकता हैं। 

(और पढ़ें – शुगर में क्या नहीं खाना चाहिए)

अपने रक्त में शर्करा के स्तर को संतुलित बनाए रखने और टाइप दो मधुमेह का खतरा कम करने के लिए, आप अपने दैनिक आहार में जैतून के तेल के 2 बड़े चम्मच शामिल करना शुरू कर दें।

(और पढ़ें - डायबिटीज का आयुर्वेदिक इलाज)

जैतून तेल के लाभ सूजन के लिए - Use Olive Oil to Treat Inflammation in Hindi

जैतून का तेल लंबे समय से चली आ रही सूजन को कम करता है। जिसके कारण हृदय रोग, कैंसर, मधुमेह, अल्जाइमर और गठिया जैसी कई बीमारियां हो सकती है।

मोनएल्ल केमिकल सेन्सस सेंटर द्वारा 2005 में किये गए एक अध्ययन के अनुसार, जैतून के तेल में सूजन को कम करने वाले गुण हैं, जो शरीर में सूजन पैदा करने वाले एंजाइम को रोकने में मदद करता है।

दैनिक आधार पर भोजन में शुद्ध जैतून के तेल के एक से दो चम्मच का उपयोग सूजन और सूजन से होने वाले रोगों के खतरो को कम करने में मदद करता है।

(और पढ़ें - सूजन कम करने के उपाय)

जैतून के तेल से मालिश के फायदे हड्डियों के लिए - Olive Oil for Bones in Hindi

क्लिनिकल एनडोक्रिनॉलजी और चयापचय नामक पत्रिका में 2012 में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, जो लोग जैतून और जैतून के तेल से बना भोजन खाते है, उनकी हड्डिया स्वस्थ और मजबूत रहती हैं।

जैतून का तेल ऑस्टियोपोरोसिस (osteoporosis - हड्डियों का कमजोर होना) से पीड़ित लोगों के लिए फायदेमंद है। इसके रोजाना सेवन से ऑस्टियोपोरोसिस का खतरा कम हो जाता हैं।

आप नियमित रूप से खाना पकाने में या मालिश के तेल के रूप में अपनी हड्डियों को स्वस्थ और मजबूत बनाने के लिए इस तेल का उपयोग कर सकते हैं।

(और पढ़ें - हड्डियों को मजबूत करने का तरीका)

जैतून के तेल के फायदे कैंसर से बचाएं - Olive Oil Prevents Cancer in Hindi

जैतून के तेल में पाया जाने वाला पोलीफेनॉल्स (polyphenols) एंटीऑक्सिडेंटस सूजन कम करके, कई प्रकार के कैंसर के खतरे को कम करने में मदद करता है।

बीएमसी कैंसर में 2008 में प्रकाशित एक अध्ययन में पता चला हैं कि शुद्ध जैतून के तेल (extra-virgin olive oil) में कैंसर विरोधी घटक होता है जो स्तन कैंसर के खतरे को कम कर सकता है। जैतून का तेल प्रोस्टेट कैंसर, लंग कैंसर और कोलोरेक्टल कैंसर के खतरे को भी कम कर सकता हैं।

(और पढ़ें – कैंसर से लड़ने वाले बेहतरीन आहार)

विभिन्न प्रकार के कैंसर के जोखिम को कम करने के लिए प्रतिदिन शुद्ध जैतून के तेल (extra-virgin olive oil) के एक से दो चम्मच का सेवन करें।

(और पढ़ें - कैंसर रोगियों के लिए सूप)

जैतून तेल के बेनिफिट्स हैं दिमाग के लिए - Olive Oil for Brain Health in Hindi

जैतून के तेल का दिमाग पर बहुत अच्छा असर पड़ता है जिससे यह संज्ञानात्मक हानि (cognitive impairment) के जोखिम को कम करता है।

अमेरिकन केमिकल सोसायटी के 2013 में प्रकाशित एक अन्य अध्ययन से पता चला है कि शुद्ध जैतून के तेल में फीनॉलिक (phenolic) घटक पाया जाता है जो अल्जाइमर और डिमेंशिया से जुड़ी दिमाग़ की कमज़ोरी को कम करने में मदद करता है। इसके अलावा यह डिप्रेशन के ख़तरे को भी कम करता है। 

(और पढ़ें – डिप्रेशन का देसी इलाज​)

ऑलिव ऑयल के फायदे हैं वजन घटाने में - Olive Oil Helps Reduce Weight in Hindi

जैतून के तेल को सही मात्रा में लेने से वजन घटाने में मदद मिलती है। इसमें ज्यादातर स्वस्थ, मोनोसैचुरेटिड फैट होता है, जिससे वजन और पेट की चर्बी को कम करने में मदद मिलती हैं।

खाद्य रसायन विज्ञान के जर्मन रिसर्च सेंटर से 2013 के एक अध्ययन में पाया गया कि जैतून के तेल की महक की वजह से पेट भरा हुआ महसूस होता हैं, जिससे लंबे समय के लिए भूख नही लगती और चीनी खाने की इच्छा भी कम हो जाती है।

(और पढ़ें - मोटापा घटाने के लिए योगासन)

मोटापे से निपटने और वजन घटाने के लिए, हर दिन एक से दो चम्मच शुद्ध जैतून के तेल का सेवन करें।

(और पढ़ें - वजन घटाने के लिए एक्सरसाइज)

जैतून का तेल चेहरे के लिए है फायदेमंद - Olive Oil Improve Skin Complexion in Hindi

जैतून का तेल त्वचा के लिए एक बहुत अच्छा मॉइस्चराइजर है। इसमें विटामिन ए और ई के साथ ही कई अन्य खनिज और फैटी एसिड पाए जाते हैं जो त्वचा को नरम और चिकनी बनाता है।

जैतून का तेल त्वचा की उम्र को बढ़ने से रोकता है साथ ही झुर्रियाँ और फाइन लाइन्स से त्वचा की रक्षा करता है। यह स्ट्रेच मार्क्स से भी छुटकारा दिलाता हैं।

(और पढ़ें – चेहरे की झुर्रियां हटाने के तरीके)

नियमित रूप से नहाने से पहले गर्म जैतून के तेल के साथ शरीर की मालिश करने से, रक्त परिसंचरण में सुधार होता हैं जिससे आपकी त्वचा में चमक आती है। आप सर्दियों के दौरान होठों को फटने से रोकने के लिए लिप बाम के बजाय जैतून के तेल का उपयोग कर सकते हैं। इसके अलावा आप एक प्राकृतिक मेकअप रिमूवर के रूप में भी जैतून के तेल का उपयोग सकते हैं।

(और पढ़ें - फटे होंठ के घरेलू उपाय)

बालों के लिए जैतून का तेल - Olive Oil for Hair Growth in Hindi

जैतून का तेल फैटी एसिड, कई एंटीऑक्सीडेंट और विटामिन ई से भरपूर होने के कारण यह सूखे और क्षतिग्रस्त बालों के इलाज के लिए एक मॉइस्चराइजर के रूप में काम करता हैं।

जैतून का तेल दो मुँहे और घुंघराले बालों की समस्याओं के लिए सही समाधान है। यह आपके बालों को मजबूत भी बनाता है।

(और पढ़ें – सफेद बालों को काला करने के उपाय)

इसे इस्तेमाल करने का तरीका - 

  • सूखे बालों को पोषण देने के लिए, आप अपने सिर की गुनगुने जैतून (ज्यादा गर्म नही) के तेल की मालिश करें।
  • इसके लिए अच्छी तरह से अपने सिर और बालों पर तेल लगाएँ।
  • फिर अपनी अंगूलियों से पांच मिनट के लिए सिर की मालिश करें।
  • एक गर्म तौलिये के साथ अपने बालों को कवर करें और 30 मिनट या रात भर के लिए छोड़ दें।
  • और सुबह अपने बालों को शैम्पू करें।
  • यह उपाय सप्ताह में एक बार ज़रूर करें।

जैतून तेल के नुकसान इस प्रकार हैं -

  • त्वचा पर जैतून के तेल का ज्यादा इस्तेमाल मुँहासे की समस्या पैदा कर सकता है। अगर आपकी त्वचा तेलीय (oily skin) है, तो इसके चिपचिपेपन और तेलीय प्रकृति के कारण आपको पूरी तरह से जैतून का तेल इस्तेमाल करने से बचना चाहिए। जैतून का तेल जब आपकी तेलीय औऱ चिकनी त्वचा के साथ जुड़ता है, यह गंभीर जलन, चकत्ते और आपकी त्वचा पर लालिमा का कारण बन सकता है।
  • जैतून का तेल बहुत ज़्यादा शुष्क त्वचा (dry skin) के लिए भी अच्छा विकल्प नहीं है। कई अध्ययनों से यह निष्कर्ष निकला है कि जैतून के तेल में ओलिक एसिड पाया जाता है जो त्वचा की प्राकृतिक मॉइस्चराइजिंग क्षमता को खत्म कर देता है।
  • अपनी बेहद चिपचिपी और तेल प्रकृति के साथ, जैतून का तेल आपके चेहरे पर ब्लैकहेड्स पैदा कर सकता है।
  • कई लोगों के लिए जैतून का तेल तीव्र एलर्जी पैदा कर देता है। और अगर आप को भी इससे एलर्जी है, तो इसका इस्तेमाल नहीं करें।
  • अधिक मात्रा में जैतून के तेल का सेवन आपके ब्लड प्रेशर को कम कर सकता है। जो हमारे सम्पूर्ण स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है और हमें चक्कर आना, स्ट्रोक और गुर्दे की विफलता जैसी कई समस्याएं हो सकती हैं।
  • जैतून के तेल में अधिक वसा होने के कारण यह पाचन विकार का कारण बन सकती है और दस्त जैसी गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल समस्याओं को पैदा कर सकती है।
  • जैतून के तेल का अधिक सेवन वजन बढ़ने का कारण बन सकता है। ।

इन आवश्यक बातों का ध्यान करें - 

जैतून के तेल से विभिन्न स्वास्थ्य लाभ प्राप्त करने के लिए, सुनिश्चित करें कि आप शुद्ध जैतून के तेल का उपयोग कर रहे हैं। साथ ही जैतून के तेल का ज़रूरत से ज़्यादा सेवन करने से बचें।
इस तेल को एयर टाइट कंटेनर में स्टोर करें, गर्मी और प्रकाश से दूर रखें और दो महीने के भीतर इसका प्रयोग करें। शोध बताते हैं कि जैतून के तेल में पोषक तत्वों की गुणवत्ता में दो महीने की अवधि के बाद कमी आ सकती है।
अपने जैतून के तेल को स्टोव के पास ना रखे, गर्माहट से इसे नुकसान हो सकता है।

जैतून के तेल की तासीर ठंडी होती है। इसकी ठंडी तासीर होने की वजह से इसे गर्मियों में मालिश के लिए इस्तेमाल किया जाता है। 

(और पढ़ें - गर्मियों में क्या खाना चाहिए)

  • जैतून के तेल को आप सलाद के ऊपर छिड़क सकते हैं। 
  • मीट, मछली और सब्ज़ियां बनाते समय उन्हें पहले जैतून के तेल में पका लें। 
  • खाने बनाने के अंत में थोड़ा सा जैतून का तेल छिड़क दें, उसे खाने में स्वाद आता है। 
  • ब्रेड पर मक्खन का उपयोग करने की जगह जैतून का तेल इस्तेमाल करें। 
  • खाना बनाते समय जैतून के तेल का प्रयोग करें। 
  • चटनी बनाते समय जैतून के तेल का इस्तेमाल करें। 
और पढ़ें ...