myUpchar सुरक्षा+ के साथ पुरे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

लहसुन की खेती काफी पुराने समय से होती आ रही है और ये दुनिया भर में कई सभ्यताओं की पाक परंपरा में खुद को शामिल करने में कामयाब रहा है। इसकी खेती मध्य एशिया से शुरू हुई थी। इसके पौष्टिक मूल्य और औषधीय लाभों की वजह से, इस पौधे को हमारी प्रकृति के सबसे मूल्यवान उपहारों में से एक के रूप में पहचाना गया था और आज भी इसे हर घर में उपयोग किया जाता है।  

आमतौर पर लहसुन कई खाद्य व्यंजनों को स्वादिष्ट बनाने के लिए उपयोग किया जाता है, लेकिन इसमें कुछ प्रभावी स्वास्थ्य लाभ भी होते हैं। लहसुन का प्रमुख औषधीय यौगिक एलिकिन नामक तत्व है जिसमें जीवाणुरोधी, एंटीवायरल, एंटिफंगल और एंटीऑक्सिडेंट गुण होते हैं।

इसके अलावा लहसुन विभिन्न प्रकार के विटामिन और पोषक तत्वों से भी भरपूर है। इसमें विटामिन बी 1, बी 6 और सी के साथ- साथ मैंगनीज कैल्शियम, तांबा, सेलेनियम और कई अन्य खनिज निहित हैं।

(और पढ़ें - लहसुन का तेल)

रोज़ाना थोड़ी मात्रा में लहसुन का सेवन आपके स्वास्थ्य को बेहतर तो बनाता ही है परन्तु साथ ही यह आपके शरीर को बिमारियों से संरक्षण भी प्रदान करता है। लहसुन का सबसे अधिक स्वास्थ्य लाभ लेने के लिए, इसे कच्चा ही खाना चाहिए। पका हुआ लहसुन, इसमें निहित औषधीय गुणों की एक महत्वपूर्ण राशि खो देता है। इसके अतिरिक्त प्राकृतिक एंटीबायोटिक के रूप में लहसुन की क्षमता बढ़ाने के लिए, आप इसका सेवन सुबह-सुबह खाली पेट कर सकते हैं।

  1. लहसुन के फायदे - Lahsun ke Fayde in Hindi
  2. लहसुन के नुकसान - Lahsun ke Nuksan in Hindi
  3. लहसुन की तासीर - lehsun ki taaseer
  1. लहसुन के फायदे लाएं हृदय स्वास्थ्य में सुधार - Lahsun for Heart in Hindi
  2. लहसुन के गुण हैं हाई बीपी को नियंत्रित करने के लिए लाभदायक - Garlic Reduces Blood Pressure in Hindi
  3. लहसुन के लाभ करें गठिया के दर्द को कम - Garlic for Arthritis Pain in Hindi
  4. लहसुन का उपयोग बढ़ाए प्रतिरक्षा प्रणाली - Garlic Improves Immune System in Hindi
  5. लहसुन खाने के लाभ हैं सर्दी और खांसी का प्रभावी इलाज - Garlic Helps in Cold and Cough in Hindi
  6. कच्चे लहसुन खाने के फायदे हैं कवक संक्रमण से लड़ने के लिए - Garlic for Fungal Infection in Hindi
  7. लहसुन का सेवन है एलर्जी में फायदेमंद - Garlic Used for Allergies in Hindi
  8. लहसुन खाने के फायदे दिलाएँ दांत दर्द से राहत - Lahsun ke Fayde for Tooth Pain in Hindi
  9. लहसुन का प्रयोग है पाचन प्रक्रिया में बेहद लाभकारी - Garlic Helps in Digestion in Hindi
  10. लहसुन के औषधीय गुण कैंसर को रोकने में सहायक - Garlic Cures Cancer in Hindi
  11. लहसुन खाने के फायदे वजन कम करने के लिए - Lehsun for Weight Loss in Hindi

लहसुन के फायदे लाएं हृदय स्वास्थ्य में सुधार - Lahsun for Heart in Hindi

लहसुन दिल के स्वास्थ्य के लिए एक अच्छा आहार माना जाता है। इससे रक्त परिसंचरण में सुधार लाने, कोलेस्ट्रॉल को कम करने और हृदय रोग को रोकने में मदद मिलती है। यह एथेरोस्क्लेरोसिस (धमनीकलाकाठिन्य) के विकास या धमनियों के सख्त होने की गति को धीमा कर देता है। यह दिल के दौरे या स्ट्रोक के जोखिम को कम करने में भी सहायक है।

(और पढ़ें - स्ट्रोक का इलाज)

लहसुन के हृदय-सम्बंधी स्वास्थ्य लाभ उठाने के लिए:-

  • रोजाना सुबह-सुबह 1 या 2 क्रश किए हुए लहसुन का सेवन करें। इससे आपके हृदय के स्वास्थ्य में सुधार आएगा और हृदय को रोगों से संरक्षण प्राप्त होगा।
  • आप अपने चिकित्सक से परामर्श करने के बाद इस जड़ी बूटी के पूरक आहार (सप्लीमेंट्स) का सेवन भी कर सकते हैं।

(और पढ़े - हृदय को स्वस्थ रखने के लिए खाएं ये आहार)

लहसुन के गुण हैं हाई बीपी को नियंत्रित करने के लिए लाभदायक - Garlic Reduces Blood Pressure in Hindi

अगर शरीर में एंजियोटेंसिन I-converting एंजाइम, या "एसीई" (I-converting enzyme, or “ACE") नामक एंजाइम का उत्पादन बढ़ जाए तो इससे बीपी बढ़ जाता है। कई अंग्रेजी दवाइयां इस एंजाइम को बनने से रोकने का काम करती है लेकिन उनके कई दुष्प्रभाव होते हैं। लहसुन में गामा-ग्लूटामिलसीस्टीन (gamma-glutamylcysteine), एक प्राकृतिक एसीई अवरोधक होता है। यह रसायन होने की वजह से लहसुन धमनियों को चौड़ा करता है जिससे हाई बीपी नियंत्रित हो जाता है।  

अध्ययनों से पता चला है कि लहसुन उच्च रक्तचाप को भी कम कर सकता है, विशेष रूप से सिस्टल रक्तचाप। उच्च रक्तचाप से पीड़ित लोगों को रोजाना कुछ लहसुन की कलियों को खाली पेट खाना चाहिए। अगर आपको लहसुन का स्वाद पसंद नहीं है, तो इसे खाने के बाद आप एक गिलास दूध पी सकते हैं। आप लहसुन के सप्लीमेंट्स की खुराक भी ले सकते हैं।

(और पढ़ें - खाली पेट लहसुन खाने के फायदे)

लहसुन के लाभ करें गठिया के दर्द को कम - Garlic for Arthritis Pain in Hindi

गठिया एक ऐसी बीमारी है जो आपको जीवन में किसी भी आयु या चरण में प्रभावित कर सकती है। इस स्तिथि को पलटा नहीं जा सकता है पर सामान्य जीवन जीने के लिए निश्चित रूप से इससे लड़ने के कई तरीके हैं। नियमित दवाइयों के साथ-साथ उचित अभ्यास और उचित डाइट, गठिया रोगियों के लिए बराबर महत्वपूर्ण है।

(और पढ़ें- संतुलित आहार क्या है)

प्राचीन ग्रंथों में इसके लक्षणों को दूर करने में मदद के लिए कई पूरक या वैकल्पिक थेरेपी भी बताई गई है। हालांकि इनमें से अधिकतर उपचारों में वैज्ञानिक प्रमाण-अवधारणा नहीं है; कुछ का शोधकर्ताओं द्वारा परीक्षण किया गया है जो अत्यधिक प्रभावी साबित हो रहे हैं। गठिया के दर्द और सूजन के लिए ऐसा एक घर आधारित उपाय लहसुन है।  

लहसुन एक ऐसा हर्बल उत्पाद है जिसपर काफी शौध हुए हैं और कई स्वास्थ्य स्थितियों के लिए इसका उपयोग किया गया है।  रूमेटोइड गठिया के इलाज में ये विशेषकर लाभदायक साबित होता है। 

संधिशोथ (rheumatoid) गठिया वाले लोगों के दर्द और अन्य लक्षणों को कम करने के लिए लहसुन एक परखा हुआ और प्रभावी उपाय है। इसमें निहित एंटी-ऑक्सिडेंट और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण गठिया के विभिन्न रूपों से जुड़ी सूजन को कम करने में मदद करते हैं। इसमें एकडायलिल डाइस्फाइड नामक यौगिक भी शामिल है जो हानिकारक एंजाइमों को सीमित करने में सहायता करता है।

गठिया के कारण सूजन और जोड़ों में दर्द को कम करने के लिए, अपने नियमित आहार में लहसुन शामिल करें। इसका सेवन खाली पेट करें।

लहसुन को लेने के कई तरीके हैं। आपको ये सूखे पाउडर के रूप में और कैप्सूल या टैबलेट में के रूप में मिल सकता है। आप इसका तेल भी इस्तेमाल कर सकते हैं। गठिया या अन्य दर्द के लिए उपाय के रूप में लहसुन को उपयोग करने से पहले एक बार डॉक्टर से बात कर लें।

(और पढ़ें - गठिया का घरेलू उपाय)

लहसुन का उपयोग बढ़ाए प्रतिरक्षा प्रणाली - Garlic Improves Immune System in Hindi

प्रथम विश्व युद्ध के दौरान कच्चे लहसुन के रस को घावों पर एंटीसेप्टिक के रूप में इस्तेमाल किया गया था और हजारों लोगों को बचाने में मदद मिली थी। इसको इलाज के रूप में काफी समय से इस्तेमाल किया जा रहा है।  

कई सालों से सुझाव दिए जाते हैं कि लहसुन हृदय रोग, हाई कोलेस्ट्रॉल, सर्दी जुकाम और फ्लू सहित विभिन्न प्रकार की चिकित्सा समस्याओं में मदद कर सकता है। इसका कारण यह है कि लहसुन में एलिसिन होता है जिसकी एक अलग गंध होती है। 

लहसुन विटामिन सी, बी 6 और सेलेनियम और मैंगनीज़ जैसे खनिज का एक अच्छा स्रोत है। यह सभी विटामिन और खनिज प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाने में मदद करते हैं और खनिज के अवशोषण में भी सुधार लाते हैं।

इसके अलावा लहसुन में एंटीऑक्सीडेंट और एंटी-बायोटिक गुण होते हैं जो शरीर की बीमारियों से लड़ने की क्षमता को मजबूत करते हैं। 

(और पढ़े - रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के उपाय)

लहसुन खाने के लाभ हैं सर्दी और खांसी का प्रभावी इलाज - Garlic Helps in Cold and Cough in Hindi

लहसुन एंटी-बायोटिक और एंटी-वायरल लाभ प्रदान करता है जो लहसुन को सर्दी और खांसी के लिए एक अद्भुत उपचार बना देती है। इससे ऊपरी श्वसन संक्रमण की गंभीरता भी कम हो सकती है। 

(और पढ़ें - खांसी के घरेलू उपचार)

इसके अलावा लहसुन अस्थमा और ब्रोंकाइटिस जैसे विभिन्न श्वसन स्थितियों के इलाज में अत्यधिक लाभकारी है। यह खांसी सम्बंधित कफ निस्सारक को बढ़ावा देता है।

लहसुन खाने के अतिरिक्त, आप लहसुन के सप्लीमेंट्स का भी नियमित आधार पर सेवन ऊपरी श्वसन संक्रमण को कम करने के लिए कर सकते हैं।

(और पढ़े - अस्थमा को रोकने के उपाय)

कच्चे लहसुन खाने के फायदे हैं कवक संक्रमण से लड़ने के लिए - Garlic for Fungal Infection in Hindi

लहसुन में शक्तिशाली एंटी-फंगल (कवक विरोधी) गुण पाए जाते हैं जो फंगल संक्रमण से लड़ने में सहायता करते हैं। फंगल इन्फेक्शन दाद का एक प्रमुख कारक बन सकता है। लहसुन कैंडिडा से लड़ने में भी मदद करता है।

कवक संक्रमणों को मात देने के लिए :-

• प्रभावित त्वचा क्षेत्रों पर लहसुन का जैल या तेल लगाएं।
• मुंह के छाले से पीड़ित होने पर, मुंह के प्रभावित क्षेत्रों पर लहसुन का पेस्ट लगाएं। (और पढ़ें - मुंह के छाले का कारण)
• अपने आहार में ताज़ा कच्चे लहसुन को शामिल करें।

(और पढ़े - फंगल संक्रमण का घरेलु उपाय)

लहसुन का सेवन है एलर्जी में फायदेमंद - Garlic Used for Allergies in Hindi

लहसुन, बंद नाक, छींकें आना और आंख से पानी आने जैसे एलर्जी के लक्षणों से आराम  दिलाने और उन्हें ठीक करने में मदद करता है। यह आपके एलर्जी के लक्षणों की गंभीरता को कम करने के लिए हिस्टामाइन (एलर्जिक रिएक्शन की वजह से निकलने वाला रसायन) से लड़ने में सक्षम है। यही कारण है कि लहसुन एक हिस्टामाइन विरोधी है।

लहसुन एलर्जी वाले कोशिकाओं पर हमला करके और रक्त प्रवाह से पूरी तरह उन्हें हटाकर एलर्जी को ठीक करने में मदद करता है।  

लहसुन में उत्तम एंटी-वायरल और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं जो शरीर को विभिन्न प्रकार की एलर्जी से लड़ने में मदद करते हैं। लहसुन ने एलर्जिक रायनाइटिस के कारण हुई वायुमार्ग के सूजन को कम करने में भी सकरात्मक प्रभाव दिखाया है।

एलर्जी सीजन के दौरान, एलर्जी वाले लोगों को दैनिक रूप से लहसुन के पूरक लेने की सलाह दी जाती है। त्वचा पर चकत्ते, कीट काटने या किसी अन्य प्रकार की एलर्जी के कारण खुजली से तुरंत राहत पाने के लिए, पीसे हुए लहसुन के पेस्ट को प्रभावित क्षेत्र पर लगाना एक अच्छा विकल्प है।

(और पढ़े - एलर्जी से बचने के उपाय)

लहसुन खाने के फायदे दिलाएँ दांत दर्द से राहत - Lahsun ke Fayde for Tooth Pain in Hindi

मुंह में पाए जाने वाले बैक्टीरिया की लगभग 500 से अधिक अधिक प्रजातियां होती हैं। इनमें से कुछ बैक्टीरिया स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद हैं और कुछ नहीं होते हैं। अपने मुंह को स्वस्थ रखने के लिए आपको इन अच्छे और बुरे बैक्टीरिया को संतुलित रखना पड़ता है।

(और पढ़ें - दांत दर्द के घरेलू उपाय)

लहसुन में पाए जाने वाला एलिसिन खराब बैक्टीरिया को रोकता है जो मुंह में बढ़ने से दांत ख़राब होने का कारण बनते हैं। कई अध्ययनों ने निष्कर्ष निकाला कि लहसुन के उपयोग से खराब बैक्टीरिया की आबादी को नियंत्रित करके और अच्छे बैक्टीरिया को बढ़ने देने से मसूड़ों की बीमारी से लड़ने में मदद मिल सकती है।

दांत दर्द को कम करने में लहसुन बहुत ही प्रभावी माना जाता है। इसका श्रेय इसमें निहित एंटी-बैक्टीरियल और एनाल्जेसिक गुणों को जाता है। दांत-दर्द से तत्काल राहत पाने के लिए आपको बस लहसुन का तेल या क्रश किये हुए लहसुन का एक टुकड़ा प्रभावित दाँत पर और आसपास के मसूड़ों पर लगाना है।

(और पढ़े - दाँत में दर्द का सरल उपाय)

लहसुन का प्रयोग है पाचन प्रक्रिया में बेहद लाभकारी - Garlic Helps in Digestion in Hindi

लहसुन पाचन शक्ति को बढ़ाने के लिए पेट के कार्यों को नियंत्रित करता है। पाचन तंत्र के लिए सबसे फायदेमंद खाद्य पदार्थों में से एक लहसुन है। यह लिम्फ पर लाभकारी प्रभाव डालता है और साथ ही शरीर में मौजूद घातक पदार्थ को खत्म करने में सहायता करता है। यह पाचन रस के स्राव को बढ़ाता है। लहसुन की कलियों को कुचलकर लौंग, पानी या दूध में डाला जा सकता है और पाचन के सभी प्रकार के विकारों के लिए लिया जा सकता है।

(और पढ़ें - पाचन शक्ति बढ़ाने का घरेलू नुस्खा)

लहसुन आंत पर एक बहुत ही चिह्नित प्रभाव पैदा करता है। यह एक कीड़े एक्सपेलर के रूप में एक उत्कृष्ट एजेंट है। यह दस्त के विभिन्न रूपों पर भी एक सुखद प्रभाव पड़ता है। कोलाइटिस, डाइसेंटरी और कई अन्य आंतों के अप्सेट्स जैसी समस्याओं का सफलतापूर्वक ताजा लहसुन या लहसुन कैप्सूल के साथ इलाज किया जा सकता है। एक लहसुन कैप्सूल दिन में तीन बार लिया जाता है जो आम तौर पर दस्त या डाइसेंटरी के हल्के मामलों को ठीक करने के लिए पर्याप्त होता है।

लहसुन जिगर को भी शरीर से विषाक्त पदार्थों को छुटकारा दिलाने के लिए उत्तेजित करता है और साथ ही जिगर को नुकसान पहुंचने से भी बचाता है। लेकिन इसका अर्थ बिल्कुल भी यह नहीं है कि आप लहसुन का सेवन अत्यधिक मात्रा में करें, क्योंकि यह पाचन तंत्र को परेशान कर सकता है।

(और पढ़ें - दस्त से बचने के उपाय)

(और पढ़े – भिंडी के फायदे रखें पाचन को सही)

लहसुन के औषधीय गुण कैंसर को रोकने में सहायक - Garlic Cures Cancer in Hindi

लहसुन में कैंसर विरोधी गुण पाया जाता है। विशेष रूप से, यह कैंसर के ट्यूमर में खून को जाने से रोकता है। लहसुन पेट, गैस्ट्रिक और कोलन कैंसर में विशेष रूप से लाभदायक होता है।  

यह कुछ प्रकार के ट्यूमर के विकास पर भी रोक लगाता है और कुछ ट्यूमर के आकार को कम करने में मदद करता है। लहसुन में एलिल सल्फर यौगिकों की उपस्थिति कैंसर कोशिका को बढ़ने की प्रगति को धीमा कर सकती है। जिन लोगों के पारिवारिक इतिहास में कैंसर से कोई पीड़ित था, तो उन्हें कई प्रकार के कैंसर के खतरे को कम करने के लिए लहसुन का नियमित सेवन अवश्य करना चाहिए।

(और पढ़ें- बैक्टीरियल इन्फेक्शन का इलाज)

कई रिपोर्ट में लहसुन में पाए जाने वाले एलिसिन (allicin) को संभावित एंटी-कैंसर एजेंट बताया गया है जो लहसुन को काटने या कुचलने पर उत्पादित होता है। यह संभव है कि एलिसिन एंटीऑक्सीडेंट के रूप में काम करता है। यह रक्त में कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में निश्चित रूप से प्रभावी है। एलिसिन विशेष रूप से बैक्टीरिया, वायरस, यासत्स और आंतों के अमीबा के संक्रमण को रोकने एक बहुत ही मजबूत प्राकृतिक हथियार है। उन्हें निकलाकर यह कई अप्रत्यक्ष तरीकों से कैंसर के खिलाफ लड़ने में मदद कर सकता है।

(और पढ़े - कैंसर में क्या खाना चाहिए)

लहसुन खाने के फायदे वजन कम करने के लिए - Lehsun for Weight Loss in Hindi

यह औषधीय जड़ी बूटी प्रभावी रूप से सैटीएटी (satiety) हार्मोन को नियंत्रित करती है जो आपके पेट को लंबे समय तक भरा रखता है। इसका मतलब है कि लहसुन खाने से आपकी भूख दबती है जिससे आप स्वास्थ्य के लिए हानिकारक स्नैक्स के साथ साथ अत्यधिक खाने से भी बच सकते हैं । यह चीनी और फास्ट फूड की इच्छा को भी महत्वपूर्ण रूप से कम कर देता है।

यह चयापचय को बढ़ाने में भी मदद करता है। लहसुन का नियमित सेवन आपके शरीर को नोरेपीनेफ्राइन (norepinephrine) बनाने में मदद करता है, जो शरीर की चयापचय गतिविधि को बढ़ाने के लिए एक जिम्मेदार न्यूरोट्रांसमीटर है। जिससे रोजाना खाने से शरीर में इक्क्ठे फेेट को तोड़ने वाली प्रक्रियाओं में मदद मिलती है।

अगर आप लहसुन का उपयोग वजन कम करने के लिए करने जा रहे हैं तो इसको खाली पेट लेना सबसे अच्छा तरीका है। यह तरीका लहसुन से वजन कम करने का सबसे अच्छा घरेलू उपाय माना जाता है। खाली पेट लहसुन का सेवन आपके शरीर के चयापचय को भी तेज़ी से बढ़ा कर वजन कम करने में बहुत जल्दी असर दिखाता है।

इसके लिए आप हर सुबह खाली पेट दो से तीन लहसुन खाएँ। इससे आपको अतिरिक्त वजन से छुटकारा मिलने के साथ साथ आपका रक्त संचार भी ठीक रहेगा।  

(और पढ़े - वजन घटाने के लिए क्या खाएं)

लहसुन का उपभोग करने के बहुत सारे फायदे तो हैं परन्तु साथ ही साथ इसमें स्वास्थ्य के लिए कुछ दुष्प्रभाव भी होते हैं, जिनका ज्ञान इसका सही प्रकार से इस्तेमाल करने के लिए और उन दुष्प्रभावों से बचने के लिए आवश्यक है। लहसुन के साइड इफेक्ट्स को अच्छे प्रकार से जानने के लिए निम्नलिखित अंकों को पढ़ें।

  • लहसुन का उपभोग ब्लोटिंग, पेट फूलना, गैस, खराब पेट, गन्दी सांस और शरीर की गंध जैसे समस्या उत्पन्न करता है। यदि आप पेट या पाचन कीसमस्या से ग्रस्त हैं, तो सावधानी के साथ लहसुन का उपयोग करें। (और पढ़ें – पेट गैस का घरेलू इलाज)
  • यह एक स्कन्दनरोधी (रक्त-पतला करने वाला) के रूप में कार्य करता है और रक्त पतला करने वाली दवाओं से हस्तक्षेप कर सकता है।
  • लहसुन का सेवन करने से आपके शरीर व मुंह से दुर्गन्ध आ सकती है।
  • लहसुन के पूरक या सप्लीमेंट्स का सेवन गर्भवती महिलाओं को नहीं करना चाहिए। (और पढ़ें - प्रेगनेंसी में क्या खाना चाहिए)
  • लहसुन वॉटरिन, एंटीप्लेटलेट, साक्विनावीर, एंटीहाइपरटेन्सिव, कैल्शियम चैनल ब्लॉकर और एंटीबायोटिक दवाओं के प्रभावों में हस्तक्षेप कर सकता है, इसलिए लहसुन का सेवन करने से पहले एक बार डॉक्टर से परामर्श करना सर्वोत्तम है।

ऊपरलिखित सावधानियों को ध्यान में रखें और लहसुन के दैनिक सेवन से सेहत बनाएं। :)

लहसुन की तासीर गर्म और खुश्क होती है इसलिए सीमित मात्रा में इसका उपयोग करना चाहिए।  

कई बार इसका अत्यधिक उपयोग करने से पेट की कई समस्याएं हो जाती हैं। गर्मियों में इसका उपयोग कम ही करना चाहिए क्योकि यह गर्म होता है। और गर्म तासीर की वजह से ही आम-तौर पर इसे सर्दियों में उपयोग करने की सलाह दी जाती है।  

अगर किसी को इसका दुष्प्रवाभ हो जाता है तो उस व्यक्ति को धनिया, नींबू, पुदीना आदि लेने की सलाह दी जाती है। कई मामलों में देखा गया है की इसमें सल्फर मौजूद होने की वजह से लोगों को इससे एलर्जी हो जाती है जिससे कई समस्याएं हो सकती हैं इसलिए जिन लोगों को इससे एलर्जी जैसा महसूस हो या जो इससे एलर्जिक हों, वो इसका सेवन न करें।

(और पढ़ें - सर्दियों में क्या खाना चाहिए)


लहसुुन के फ़ायदे सम्बंधित चित्र

और पढ़ें ...
Medicine NamePack SizePrice (Rs.)
Shivalik Herbals GarlicGarlic, Allium Sativum, Lasuna, Extract Capsules, Digestion, Skin, Hair, Respiratory System, Ayurvedic Medicines
Buddha's Herbs Garlic OilBuddha's Herbs Garlic Oil 1 Piece
HealthVit Garlin Garlic PowderHealth Vit Garlin Garlic Powder 300mg 60 Capsules Pack Of 2
Forever Garlic ThymeForever Living Forever Garlic Thyme 1 Pc
Morpheme Remedies Garlic CapsulesMorpheme Garlic (Lasuna) High Blood Pressure Supplement 500mg Extract 60 Veg Capsules 2 Combo Pack
Morpheme Remedies GarlicMorpheme Remedies Garlic Capsules For Cholesterol Control
Hawaiian Garlic Heart Care CapsuleHawaiian Garlic Heart Care Capsule693.0
Hawaiian Garlic Thyme Softgelgarlic thyme softgel737.0
Hawaiian Mega Garlic Plus CapsulesMega Garlic Plus Capsules715.0
Baidyanath Krimikuthar RasBaidyanath Krimikuthar Ras120.0
Baidyanath Gaisantak BatiBaidyanath Gaisantak Bati Combo Pack Of 2108.0
Sri Sri Ayurveda Garlic Oil CapsuleSri Sri Ayurveda Health Supplement Vegetarian Capsule, Garlic Oil175.0
Hamdard Tila AzamHamdard Tila Azam50.0
Sun Pharma Garlic PearlsGarlic Pearls Capsule108.0
Nutrilite Garlic Heart CareNutrilite Garlic Heart Care Tablet819.0
Patanjali Peedantak OintmentPatanjali Peedantak Oil60.0