myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

टॉन्सिल एक बहुत आम समस्या है। मौसम के बदलाव के कारण यह समस्या किसी ना किसी को होती रहती है। टॉन्सिल (Tonsils) गले से जुड़ी एक बीमारी है। इस बीमारी में गले में सूजन आने के साथ साथ तेज दर्द होने लगता है। इसलिए टॉन्सिल का उचित इलाज करवाना बहुत ज़रूरी है।

मौसम के बार-बार बदलने के कारण लोगो को सर्दी, ख़ासी और बुखार हो जाता है। इसकी शुरुआत टॉन्सिल से होती है। अगर आप लोग भी इस बीमारी से ग्रस्त है तो आइए जानिए कुछ आसान घरेलू नुस्खे जो आपको देंगे टॉन्सिल्स से आराम। टॉन्सिल के मुख्य लक्षण - गले में खराश, बुखार और ठंड लगना, निगलने में परेशानी, सामान्य कमजोरी, सिर दर्द, सांसों में बदबू, जबड़े के नीचे सूजन आना आदि हैं। 

(और पढ़ें – सिर दर्द के उपाय)

  1. टॉन्सिल के घरेलू उपचार - Tonsils home remedy in Hindi
  2. टॉन्सिल्स में क्या ना करें - Tonsillitis me kya nahi karna chahiye in Hindi

टॉन्सिल का घरेलू नुस्खा है नींबू शहद - Tonsils ka gharelu upay hai lemon and Honey in Hindi

नींबू एक बहुत अच्छा घरेलू उपचार है जो टॉन्सिल की समस्या में आराम पहुँचाता है। गुनगुने पानी में नींबू निचोड़ें और शहद मिला कर कुल्ला करें।

(और पढ़ें – नींबू से गोरी त्वचा पाने के चमत्कारी उपाय)

टॉन्सिल का रामबाण उपाय करे हल्दी दूध से - Tonsils ka gharelu nuskha hai turmeric milk in Hindi

एक चुटकी हल्दी पाउडर में उबला हुआ गर्म दूध मिला कर रात में सोने से पहले इसका सेवन करें। यह बहुत ही असरदार होम रेमेडी है।

(और पढ़ें – दूध पीने का सही समय क्या है)

टॉन्सिल से बचने का तरीका है नमक - Tonsils ka dard kam karta hai salt in Hindi

उबले हुए पानी में नमक मिला कर उससे कुल्ला करें। इससे आपको बहुत जल्दी आराम मिलेगा।

टॉन्सिल से छुटकारा पाने का उपाय करें गाजर के जूस से - Tonsil se bachne ka upay carrot juice in Hindi

गाजर का जूस पीने से आपको जल्दी ही टॉन्सिल के दर्द से छुटकारा मिल सकता है। 

(और पढ़ें – आँखों की रोशनी बढ़ाने के लिए गाजर खायें)

टॉन्सिल दूर करने का उपाय है मेथी बीज - Tonsil dur karne ka upay hai fenugreek seeds in Hindi

मेथी के बीज के 3 छोटे चम्मच एक लिटर पानी में गर्म करें। फिर इस पानी से दिन में 3 बार गरारे करें। इस समस्या से निजात पाने का, यह एक बहुत अच्छा और आसान तरीका है।  

(और पढ़ें – रूसी हटाने के घरेलू उपाय हैं मेथी के बीज)

टांसिल रोग का घरेलू नुस्खा है अंजीर - Tonsil ka desi upay hai figs in Hindi

अंजीर को पानी में उबाल कर एक पेस्ट बनाएं। फिर इस पेस्ट को गले के उपर लगा लें। यह आपको गले के दर्द से आराम दिलाएगा।

गले में टॉन्सिल के घरेलू उपाय है चुकंदर - Tonsil ka desi nuskha hai beetroot in Hindi

चुकंदर का जूस गले के दर्द में बहुत प्रभावी होता है। अगर आप टॉन्सिल्स की समस्या से बहुत परेशान है तो आज से ही चुकंदर का जूस पीना शुरू कर दें।

टॉन्सिल्स का होम रेमेडी है खीरा - Tonsils ka ramban upay kare cucumber se in Hindi

खीरे में भी चुकंदर की तरह विषैले तत्वों को शरीर से बाहर निकालने वाले गुण हैं। इस समस्या के लिए यह एक बहुत अच्छा घरेलू उपचार है। आप इसको आसानी से खा सकते हैं और उसके बाद देखिए इसके फायदे।

(और पढ़ें – खीरे के फायदे और नुकसान)

टॉन्सिल का देसी नुस्खा है फिटकरी - Tonsils ka desi nuskha hai alum in Hindi

फिटकरी के पाउडर को पानी में उबाल लें और फिर इस पानी से कुल्ला करें।

(और पढ़ें – फिटकरी के फायदे)

टॉन्सिल्स में इन बातों का रखें ध्यान - 

  • सफाई और अच्छा स्वास्थ्य एक दूसरे से जुड़े होते हैं। इसलिए अगर आप अच्छी साफ सफाई अपनाएँगे तो कोई भी बीमारी आपको छू नही पाएँगी। बाथरूम से आने के बाद, खाना खाने से पहले या फिर छींकने के बाद अपने हाथों को धोना ना भूलें। उस व्यक्ति से पूरी तरह से बचें जिसको खाँसी या जुखाम हो।
  • ठंडा पानी पीने से गले में संक्रमण होने का ख़तरा अधिक रहता है। टॉन्सिल ना हो इसके लिए मानसून में कोल्ड ड्रिंक ना पिएं। अगर आपको गर्मी लग रही है और आप ज़्यादा देर के लिए इंतजार नही कर सकते हैं, तो कम से कम अपने पसीने को सूख जाने दें और उसके बाद कोल्ड ड्रिंक पिएं।
  • अगर आपको तम्बाकू या स्मोकिंग करने की बुरी आदत है, तो कृप्या ना करें। ज्यादातर टॉन्सिल होने का कारण तम्बाकू ही है। यह गले को सूखा देता है जिससे संक्रमण होने का ख़तरा बहुत बढ़ जाता है। इसलिए मानसून में स्मोकिंग ना ही करें तो बेहतर होगा।
  • खट्टे फलों में मौजूद एसिड आपके गले को और भी ज़्यादा नुकसान पहुँचा सकता है। जब गला खराब हो तो आपको नींबू, संतरा, स्ट्रॉबेरी और मोसंबी नही खाना चाहिए। मानसून में खासतौर पर फलों को फ्रिज से तुरंत निकाल कर नहीं खाना चाहिए।
  • टॉन्सिल को दूर करने का यह सबसे आम और प्राकृतिक उपचार है। हर्बल टी पीने से कफ फैलने वाले रोगाणु और बैक्टीरिया मर जाते हैं। कोशिश करें कि आप ग्रीन टी, दालचीनी की चाय, लौंग या इलायची से बनी चाय ही पिएं। यह शरीर के लिए भी अच्छी है और गले के लिए भी बहुत ही अच्छी है।
और पढ़ें ...