कड़ा व्यायाम करने से मेमरी यानी स्मरण शक्ति (याददाश्त) बेहतर होती है। स्विट्जरलैंड स्थित यूनिवर्सिटी ऑफ जेनेवा के वैज्ञानिकों ने अपने नए अध्ययन के परिणामों के हवाले से यह जानकारी दी है। उन्होंने कहा है कि कम से कम 15 मिनट के इन्टेंस वर्कआउट से मेमरी में सुधार होता है। यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों ने बकायदा डेमोन्स्ट्रेशन करके यह साबित करने की कोशिश की है। उन्होंने बताया कि कड़ी एक्सरसाइज करने से मस्तिष्क में एंडोकैनबिनॉइड्स नामक मॉलिक्यूल्स एक्शन में आ जाते हैं। ये संल्गन मस्तिष्क के न्यूरॉन्स के बीच पाए जाने वाले जोड़ों (सिनैप्सिस) में होने वाले बदलाव (सिनैप्टिक प्लास्टिसिटी) को बढ़ाने का काम करते हैं, जिसके फलस्वरूप मेमरी बेहतर होती है। यह महत्वपूर्ण जानकारी जानी-मानी विज्ञान पत्रिका साइंटिफिक रिपोर्ट्स में प्रकाशित हुई है।

(और पढ़ें - बेहद ज्यादा तनाव से भी बाहर निकाल सकती है रेग्युलर एक्सरसाइज: अध्ययन)

किसी भी प्रकार की एक्सरसाइज करने वाले जानते हैं कि ऐसा करने के बाद वे शारीरिक और मनोवैज्ञानिक रूप से अच्छा महसूस करते हैं। ऐसा दिमाग में एंडोकैनबिनॉइड्स के एक्टिव होने के चलते होता है, जो व्यायाम के कारण शरीर द्वारा प्रोड्यूस किए जाते हैं। इनकी भूमिका को लेकर यूनिवर्सिटी ऑफ जेनेवा में बेसिक न्यूरोसाइंस के लेक्चरर किंगा इग्लोई कहते हैं, 'एंडोकैनबिनॉइड्स रक्त में सर्कुलेट होते हैं और दिमाग और खून के बीच की बाधा को आसानी से पार कर जाते हैं। इसके बाद ये विशेष सेल्युलर रिसेप्टर्स से बंध जाते हैं, जिससे यूफोरिया (सुख का आभास) की भावना सक्रिय हो जाती है। इसके अलावा, ये मॉलिक्यूल्स हिपोकैंपस (मस्तिष्क का एक अंदरूनी हिस्सा) के रिसेप्टर्स से भी बंध जाते हैं, जो मेमरी प्रोसेसिंग से जुड़े दिमाग के मेन स्ट्रक्चर माने जाते हैं।'

(और पढ़ें - कोविड-19: क्या एक्सरसाइज करने वालों का इम्यून रेस्पॉन्स और बढ़ा सकती है कोरोना वायरस की वैक्सीन, जानें क्या कहते हैं वैज्ञानिक)

इन्टेंस एक्सरसाइज से स्मरण शक्ति के बेहतर होने के कारण को जानने के लिए वैज्ञानिकों ने 15 युवाओं को अपने अध्ययन में शामिल किया। ये सभी पुरुष थे और पूरी तरह स्वस्थ थे। इनमें से कोई भी एथलीट नहीं था। शोधकर्ताओं ने तीन फिजिकल एक्सरसाइज कंडीशन के तहत इन युवाओं के मेमरी टेस्ट लिए। ये तीनों कंडीशन इस निम्नलिखित हैं-

  • 30 मिनट की सामान्य साइकिलिंग के बाद मेमरी टेस्ट
  • 15 मिनट तक इन्टेंस साइकिलिंग कराने के बाद मेमरी टेस्ट
  • एक्सरसाइज के बाद रेस्ट सेशन के पूरा होने के बाद मेमरी

टेस्ट के दौरान क्या प्रक्रिया अपनाई गई यह बताते हुए एक अन्य शोधकर्ता ब्लैंका मैरिन ने कहा, 'एक्सरसाइज के तहत एक स्क्रीन पर चार पॉइंट दिखाए गए जो एक के बाद एक आते थे। ये पॉइंट्स या डॉट्स लगातार बदलते हुए स्टार की शेप लेते थे। प्रतिभागियों को जितना तेजी से संभव हो इन डॉट्स के कॉरेसपॉन्डिंग बटन को दबाना था। यह प्रक्रिया बार-बार दोहराई गई, यह जानने के लिए डॉट्स की मूवमेंट को प्रतिभागी कितनी जल्दी याद कर पा रहे थे। हमने देखा कि इन्टेंस स्पोर्ट्स सेशन के बाद प्रतिभागियों के प्रदर्शन में काफी सुधार हुआ था।'

(और पढ़ें - याददाश्त समेत दिमाग की कई क्षमताओं को बेहतर कर सकती है सुनने की मशीन: वैज्ञानिक)

मेमरी टेस्ट के परिणामों के अलावा वैज्ञानिकों ने प्रतिभागियों के ब्रेन स्ट्रक्चर की सक्रियता में भी बदलाव देखे। उन्होंने एमआरआई और ब्लड टेस्ट की मदद से इन बदलावों की पहचान की। शोधकर्ताओं ने पाया कि कड़े व्यायाम के बाद प्रतिभागियों के एंडोकैनबिनॉइड्स एक्टिव हो गए थे। विश्लेषण के दौरान उन्हें निम्नलिखित बातें पता चलीं-

  • जो प्रतिभागी जितनी तेजी से एक्सरसाइज कर रहा था, उसका हिपोकैंपस (मेमरी से जुड़ा ब्रेन एरिया) और कॉडेट न्यूक्लस उतना एक्टिव हो गया था
  • एक्सरसाइड की इनटेंसिटी जितनी ज्यादा थी, एंडोकैनबिनॉइड्स का लेवल उसी कर्व (रेखा) में ऊपर की ओर गया यानी दिमाग उतना ज्यादा सक्रिय हुआ, जिसके चलते मेमरी परफॉर्मेंस में सुधार आया
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ