इस डिजटल युग में स्मरण शक्ति कमजोर होना बहुत सामान्य बात है। आज के दौर में यह चलन है कि जो भी आपके दिमाग से निकल जाएं, उसे गूगल कर लो। हालांकि, यह अच्छी बात नहीं है कि कोई चीज आपके दिमाग से निकली और आप उसे गूगल में ढ़ूढ़ लिए। गूगल में ढ़ूढ़ने की बजाय आपको अपने दिमाग पर जोर डालना चाहिए। ऐसा करने से अपका दिमाग अधिक सक्रिय और अनुशासित रहेगा। इसके साथ ही साथ एकाग्रता भी बढ़ेगी। आप अपने दिमाग में किस तरह की बातों को याद रखते हैं, इससे आपके सोचने के तरीके का पता चलता है।

(और पढ़ें - कमजोर याददाश्त)

इसके अलावा स्मरण शक्ति को बेहतर बनाने के लिए तनाव कम करें और अपने खाने-पीने पर अधिक ध्यान दें। इसके साथ ही साथ आप अपने सोचने के तरीके में परिवर्तन लाकर भी अपने स्मरण शक्ति को बेहतर बना सकते हैं। इसलिए आज हम आपको बताएंगे किन-किन चीजों को खाने से स्मरण शक्ति मजबूत होती है। इसके अलावा स्मरण शक्ति बढ़ाने के उपाय के बारे में भी इस लेख में जानेगें।

(और पढ़ें - याददाश्त बढ़ाने के घरेलू उपाय)

  1. स्मरण शक्ति बढ़ाने के उपाय - Smaran shakti badhane ke upay
  2. स्मरण शक्ति बढ़ाने के लिए क्या खाएं - Smaran shakti badhane ke liye kya khaye
  3. स्मरण शक्ति बढ़ाने के लिए तनाव कैसे कम करें - Smaran shakti badhane ke liye tanav kaise kam kare
  1. स्मरण शक्ति बढ़ाने का तरीका है वर्तमान पलों को जीना - Smaran shakti badhane ka tarika hai vartaman palo ko jina
  2. स्मरण शक्ति बढ़ाने का घरेलू उपाय है आसपास की चीजों पर ध्यान देना - Smaran shakti badhane ka gharelu nuskha hai aaspaas ki chijon par dhayan dena
  3. याद शक्ति बढ़ाने के लिए करना चाहिए एक समय पर एक ही काम - Yad shakti badhane ke liye karna chahiye ek samay par ek hi kam
  4. स्मरण शक्ति बढ़ाने का नुस्खा है नई-नई चीजें सीखना - Smaran shakti badhane ka nuskha hai nai-nai chije sikhna
  5. स्मरण शक्ति तेज करने का उपाय है पांचो इंद्रियों का इस्तेमाल - Smaran shakti tej karne ka upay hai pancho indriyon ka istemal
  6. स्मरण शक्ति बढ़ाने के तरीके में चीजों को बार-बार दोहराएं - Smaran shakti badhane ke tarike me chijo ko baar-baar dohraye
  7. स्मरण शक्ति को बढ़ाये दिमाग को हल्का रख कर - Smaran shakti badhane dimag ko halka rakh kar
  8. याद शक्ति बढ़ाएं रोजाना खुद का टेस्ट ले कर - Yad shakti badhane ka tarika rojana hai khud ka test lene
  9. याद शक्ति बढ़ाने का तरीका है प्रयास करना - Yad shakti badhane ka upay hai prayas karta

स्मरण शक्ति बढ़ाने का तरीका है वर्तमान पलों को जीना - Smaran shakti badhane ka tarika hai vartaman palo ko jina

जब आप सचेत रहते हैं तो अपने वर्तमान पल को जीते हैं। लेकिन हर इंसान वर्तमान पल को नहीं जी पाता है। इंसान की सबसे बड़ी समस्या यहीं होती है कि वह वर्तमान के बारे में न सोचकर भूत और भविष्य काल के बारे में चिंतित रहता है। जब आप वर्तमान पल में जीते हैं तो अपने विचारों और भावनाओं को पूर्ण रूप से स्वीकार करते हैं।

ऐसा न करें - मान लो आज सुबह-सुबह आपकी किसी से कहा सुनी हो गई। गुस्से में आकर आप उसे कुछ कहना चाहते थे, लेकिन नहीं कह पाए। मगर सुबह की बात आपके दिमाग में बार-बार चल रही है और आप बार-बार उस व्यक्ति के बारे में सोच कर गुस्सा हो रहे हैं।

ऐसा करें - आपके साथ जो सुबह हुआ सो हुआ, अब उस बात को भूल जाएं। ऐसा सोचें कि जो बात हुई थी सुबह हुई थी अब उसके बारे में सोचकर अपना समय बर्बाद नहीं करूंगा। इसलिए अब मैं अपने वर्तमान पल को जिऊंगा। 

(और पढ़ें - गुस्सा कैसे कम करें)

स्मरण शक्ति बढ़ाने का घरेलू उपाय है आसपास की चीजों पर ध्यान देना - Smaran shakti badhane ka gharelu nuskha hai aaspaas ki chijon par dhayan dena

जब आप अपने आसपास की चीजों के बारे में ध्यान देते हैं, तब आपका दिमाग अधिक सक्रिय रहता है। ऐसे करने से आप अपने दिमाग को एक फोटोग्राफर की तरह इस्तेमाल करते हैं। इसलिए अपने आसपास की चीजों पर ध्यान दें। आपके आसपास कौन-कौन से कलर का रंग है, किस तरह के लोग हैं और अन्य प्रकार की क्या-क्या चीजे हैं। इस सब पर आपको ध्यान रखना चाहिए, इससे आपकी स्मरण शक्ति बेहतर होगी।

(और पढ़ें - दिमाग तेज करने के उपाय)

याद शक्ति बढ़ाने के लिए करना चाहिए एक समय पर एक ही काम - Yad shakti badhane ke liye karna chahiye ek samay par ek hi kam

अध्ययन बताता है कि आपका दिमाग एक काम से दूसरे काम में आसानी से ध्यान केद्रित नहीं कर पाता है। इसका मतलब यह हुआ कि जब आप एक ही टाइम पर एक से अधिक काम करते हैं, तो अपना समय बर्बाद कर रहे होते हैं। ऐसे कई शोध हैं जो इस बात की पुष्टी कर चुके हैं कि जब आप एक ही समय पर एक से अधिक काम करते हैं या चीजों को सीखते हैं, तो इन्हें अधिक समय तक याद नहीं रख पाते हैं। इसलिए अगर आप अपनी स्मरण शक्ति बढ़ाना चाहते हैं और चीजों को अधिक समय तक याद रखना चाहते हैं तो एक समय पर एक ही काम को करें।

(और पढ़ें - दिमाग तेज़ कैसे करें)

स्मरण शक्ति बढ़ाने का नुस्खा है नई-नई चीजें सीखना - Smaran shakti badhane ka nuskha hai nai-nai chije sikhna

नई-नई भाषा सीखें, अलग-अलग चीजें बजाना सीखें, नई-नई शब्दों के बारे में जाने और उनके अर्थों को जानें। नई-नई शब्दों को अपने दिमाग में बैठाएं और अपने बोल-चाल में इनका इस्तेमाल करें। जब आप किसी चीज को रोजाना इस्तेमाल करते हैं, तब आपका दिमाग उस चीज से उत्तेजित नहीं होता है। इसलिए नियमित रूप से नई-नई चीजों को अपने दिमाग से अवगत कराएं।

आप चीजों को अलग-अलग तरीके से सीखने का प्रयास करें। उदाहरण के लिए रोजाना आप जिस हाथ से ब्रेश करते हैं, उस हाथ से न करके दूसरे हाथ से करें। किताब को 10 मिनट तक उल्टा पलटते हुए पढ़ें।

(और पढ़ें - कमजोर याददाश्त के लिए योग)

स्मरण शक्ति तेज करने का उपाय है पांचो इंद्रियों का इस्तेमाल - Smaran shakti tej karne ka upay hai pancho indriyon ka istemal

अध्ययन में इस बात की पुष्टी हो चुकी है कि अलग-अलग इंद्रियों का इस्तेमाल करने से चीजों को समझने और याद रखने में आसानी होती है। यदि आप किसी चीज को अधिक समय तक याद रखना चाहते हैं, तो उसे अच्छी तरह से देखें। उसके बारे में लिखें और जोर-जोर से अपनी आवाज में दोहराएं।

यदि आप किसी का नाम याद करना चाहते हैं तो सबसे पहले अपने दिमाग में उसके चित्र को याद करें। ऐसा करने से अपने आप उसका नाम आपको याद आ जाएगा।

यदि आप किसी भाषा को सीखना चाहते हैं तो रोजाना 10 से 20 शब्द याद करें। इसके अलावा कम से कम 10 बार इसे कॉपी में लिखें और अपने आवाज में दोहराएं। फ्लैश कार्ड चीजों को याद करने का एक बहुत ही अच्छा माध्यम और तरीका है।

(और पढ़ें - डायरी लेखन के लाभ)

स्मरण शक्ति बढ़ाने के तरीके में चीजों को बार-बार दोहराएं - Smaran shakti badhane ke tarike me chijo ko baar-baar dohraye

यदि आप अपने याददाश्त को बढ़ाना चाहते हैं तो जिन चीजों को याद रखना चाहते हैं तो उन्हें बार-बार करें और अपने आवाज में बोलकर दोहराएं।

जब भी आप किसी व्यक्ति से मिले तो उससे हाथ मिलाएं। हाथ मिलाने के बाद उस व्यक्ति का नाम लेकर हाय बोलें। इसके बाद जब उस व्यक्ति के साथ बातचीत खत्म हो जाएं, उसका नाम लेकर कहें आपसे मिल कर अच्छा लगा। ऐसा करने से आप उसका नाम अधिक दिनों तक याद रख पाएंगे।

(और पढ़ें - अल्जाइमर रोग के उपचार)

स्मरण शक्ति को बढ़ाये दिमाग को हल्का रख कर - Smaran shakti badhane dimag ko halka rakh kar

आपका दिमाग एक ही समय पर बहुत अधिक जानकारियां जमा कर सकता है। इसलिए आप जो सीखना चाहते हैं, केवल उन्हीं चीजों पर ध्यान दें। अपने याददाश्त का प्रभावी रूप से इस्तेमाल करें और जिस चीज को याद रखना चाहते हैं या जिस चीज को सीखना चाहते हैं, उन्हीं को महत्व दें।

किसी चीज को याद करने के लिए खुद को समय और जगह देना बहुत महत्वपूर्ण होता है। इस तरह किसी नंबर को याद रखने के लिए सामान्य तरीके (5-6-2-2-8-9-7 ) का इस्तेमाल न करके, इस तरीके 562-28-97 का इस्तेमाल करें। ऐसा करने से आप चीजों को अधिक दिनों तक याद रख पाएंगे।

याद शक्ति बढ़ाएं रोजाना खुद का टेस्ट ले कर - Yad shakti badhane ka tarika rojana hai khud ka test lene

स्मरण शक्ति बढ़ाने के लिए पूरे दिन में खुद का टेस्ट लें। उदाहरण के लिए जब आप रेस्टोरेंट से खाने के बाद बाहर निकलें तो खुद से पूछें कि जिस व्यक्ति ने आपको खाना ला कर दिया, उसका या उसकी कौन सी चीज आपको अच्छी लगी। जैसे बाल, आंखें, टी-शर्ट का रंग और नाम।

(और पढ़ें - मेडिटेशन करने के तरीके)

याद शक्ति बढ़ाने का तरीका है प्रयास करना - Yad shakti badhane ka upay hai prayas karta

इस बात का ध्यान रहे कि जब आपकी उम्र बढ़ती है, तब आपके दिमाग की काम करने की शक्ति कम होती जाती है। इसके बावजूद नई-नई चीजें सीखा जा सकता है और दिमाग की गतिविधियों में सुधार लाया जा सकता है। बस अपने आप को समझाएं और नई-नई चीजों को सीखने के लिए बार-बार प्रयास करें।

(और पढ़ें - आयु के संबंधी याददाश्त की कमी का इलाज)

एंटीऑक्सिडेंट खाएं -

अध्ययन के अनुसार, ब्लूबेरी आपके दिमाग को सुरक्षित रखने में मदद करता है। इसके अलावा उम्र बढ़ने से होने वाली बीमारियां जैसे अल्जाइमर और डिमेंशिया से भी बचाता है। इसलिए रोजाना कम से कम 1 कप ब्लूबेरी खाएं। इसके साथ-साथ अनार भी खाएं, यह भी एंटीऑक्सीडेंट का बहुत अच्छा स्त्रोत है।

(और पढ़ें - अल्जाइमर के लिए आहार)

स्वस्थ वसा खाएं -

रावस (जिसे "इंडियन सैल्मन" भी कहा जाता है) और बांगड़ा (जिसे "इंडियन मैकरेल" भी कहा जाता है) मछलियों में बहुत अधिक मात्रा में ओमेगा-3 फैटी एसिड होता है। यह एक प्रकार का स्वस्थ्य वसा है, जो आपके दिमाग की गतिविधियों के लिए बहुत आवश्यक होता है। यह वसा सूजन को कम करने में भी मदद करता है। इसलिए हफ्ते में 2 से 3 दिन कम से कम 115 ग्राम मछली खाएं। इसके अलावा एवोकाडो भी स्वस्थ वसा का अच्छा स्त्रोत है।

सूखे मेवे और बीज खाएं -

सूखे मेवे और बीज, विटामिन ई का सबसे अच्छा स्त्रोत होते हैं। विटामिन ई उम्र के साथ होने वाले दिमाग की कमजोरी को ठीक करने में मदद करता है। इसलिए रोजाना कम से कम 30 ग्राम सूखे मेवे और बीज खाएं।

साबुत अनाज खाएं -

साबुत अनाज खाने से आपके हृदय का स्वास्थ्य बेहतर होता है। यह पूरे शरीर के साथ-साथ दिमाग में भी रक्त को पहुंचाने का काम करता है। इसलिए रोजाना कम से कम आधा कप साबुत अनाज खाएं। साबुत अनाज के साथ-साथ 1 से 2 ब्रेड भी खाएं।

(और पढ़ें - हृदय रोग का उपचार)

बीन्स खाएं -

बीन्स रक्त में शुगर (ग्लूकोज) के स्तर को संतुलित बनाए रखता है। आपको इस बात का पता होना चाहिए कि ग्लूकोज दिमाग के ईंधन का काम करता है। इसलिए रोजाना कम से कम आधा कप बीन्स खाएं।

(और पढ़ें - शुगर में परहेज)

ताजा चाय पीएं -

रोजाना कम से कम 2 से 3 कप चाय पीएं। चाय में कैफीन की मात्रा होती है, जो आपके याददाश्त को बढ़ाने में मदद करती है। इसके अलावा यह एकाग्रता और मानसिक स्थिति में सुधार लाने में भी मदद करती है। लेकिन, ध्यान रहे यदि आप तनाव या चिंता से ग्रस्त हैं तो कैफीन की मात्रा लेना कम करें।

(और पढ़ें - तनाव दूर करने के उपाय)

डार्क चॉकलेट खाएं -

डार्क चॉकलेट में एंटीऑक्सिडेंट होते हैं। इसके अलावा इसमें कैफीन भी होता है, जो आपके एकाग्रता को बढ़ाने में मदद करता है। इसके साथ ही साथ यह मानसिक स्थित को भी बेहतर बनाता है। इसलिए रोजाना 30 ग्राम डार्क चॉकलेट खाएं।

पर्याप्त पानी पीएं -

आपको पता होना चाहिए की आपका दिमाग 80% पानी से बना होता है। जब आपका दिमाग अधिक समय तक डिहाइड्रेट रहता है, तब यह सही तरीके से काम नहीं करता है। इसलिए इस बात का पता लगाएं कि आपको एक दिन में कितना पानी की आवश्यकता है। यदि आपका वजन 68 किलो ग्राम है तो आपको दो से ढ़ाई लीटर पानी की प्रतिदिन आवश्यकता होगी।

(और पढ़ें - पानी पीने के फायदे)

स्मरण शक्ति बढ़ाने के लिए महत्वपूर्ण है कि आप तनाव न लें। ऐसा पाया गया है कि अधिक तनाव लेने से स्मरण शक्ति कम हो जाती है। तो यह कुछ उपाय हैं तनाव कम करने के लिए -

रोजाना मेडिटेशन करें -

रोजाना कम से कम 15 से 30 मिनट मेडिटेशन करना चाहिए। मेडिटेशन करने से आपके दिमाग में परिवर्तन आता है और चिंता भी कम होती है। अध्ययन के अनुसार, मेडिटेशन एकाग्रता को बढ़ाता है और नींद में भी सुधार लाता है। 

(और पढ़ें - चिंता खत्म करने के लिए योगासन)

रोजाना योगा करें -

योगा आपके शरीर का लचीलापन और शारीरिक क्षमता दोनों को बढ़ाता है। इसके अलावा यह आपके दिमाग के लिए भी बहुत अधिक लाभदायक होता है। शोध के अनुसार, योगा, तनाव, चिंता और अवसाद को कम करने में मदद करता है। इसके साथ ही साथ यह उम्र के बढ़ने के साथ होने वाले दिमाग के सिकुडन को भी रोकने में सहायक है।

(और पढ़ें - डिप्रेशन के घरेलू उपाय)

रोजाना व्यायाम करें –

शोध के अनुसार, व्यायाम करने से आपका दिमाग अधिक सक्रिय रहता है। आपको इस बात का पता होना चाहिए कि उम्र बढ़ने के साथ आपका दिमाग कमजोर होता जाता है। लेकिन, जब आप नियमित रूप से व्यायाम करते हैं तो यह समस्या कम हो जाती है। इसके अलावा एक्सरसाइज करने से तनाव कम होता है और मानसिक स्थिति में सुधार आता है। इसके साथ ही साथ आपका आत्मविश्वास बेहतर होता है। 

(और पढ़ें - एक्सरसाइज करने का सही टाइम)

पर्याप्त नींद लें -

एक वयस्क व्यक्ति को एक दिन में कम से कम 7.5 से 9 घंटे की नींद लेनी चाहिए। वहीं बच्चों और किशोरों को इससे भी अधिक नींद की आवश्यकता होती है। जब आप लगातार पर्याप्त नींद नहीं लेते हैं, तब आप चिंता, तनाव, याददाश्त कमजोर होने जैसी समस्याओं का शिकार होते हैं। इसलिए रोजाना पर्याप्त नींद लें।

(और पढ़ें - कम सोने के नुकसान)

चीजों को व्यवस्थित रखें -

जब आप घर पर रखी अपनी महत्वपूर्ण चीजों जैसे चाभी, कॉपी-किताब और अन्य सामान को ढ़ूढ़ते हैं और नहीं पाते हैं, तो बहुत जल्दी तनाव में आ जाते हैं। इसके अलावा जब आप अपने घर में चीजों को अव्यवस्थित देखते हैं तब भी परेशान होते हैं। इसलिए घर पर जिन चीजों को जहां होना चाहिए, वहीं व्यवस्थित रूप से सजाकर रखें, इससे तनाव कम होगा। ऐसा करने से आप अन्य चीजों पर अधिक ध्यान केन्द्रित कर पाएंगे।

लोगों से मिलजुल कर रहें -

उन लोगों के साथ समय बिताएं, जो लोग आपको खुश रखते हैं और आपकी अच्छाईयों से आपको रूबरू कराते हैं। इसलिए लोगों से मिलजुल कर रहें। ऐसा करने से तनाव कम होगा, आत्मविश्वास बढ़ेगा। इसके अलावा जिन चीजों की वजह से आपको तनाव होती है, उनसे भी ध्यान हटेगा।

खुश रहें -

शोध से इस बात की पुष्टि हो चुकी है कि खुश रहने से और हंसने से वयस्कों में स्मरण शक्ति बढ़ती है। स्मरण शक्ति बढ़ने के साथ-साथ हंसने से एंडोर्फिन (खुश रखने वाला हार्मोंस) भी बढ़ता है और आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता भी मजबूत होती है। इसके अलावा हंसने से सभी उम्र के लोगों में तनाव कम होता है और याददाश्त बेहतर होता है।

इसलिए खुश रहने के लिए कॉमेडी फिल्म देखें, जोक्स पढ़ें और अपने दोस्तों के साथ साझा करें।

(और पढ़ें -खुश रहने के आसान तरीके)

कुछ समय के लिए कम्प्यूटर और मोबाइल से दूर रहें -

दिन भर में कम से कम 30 मिनट के लिए कम्प्यूटर और मोबाइल से दूर रहें। ऐसा करने से आपके दिमाग का स्वास्थ्य बेहतर होगा और आप किसी चीज को गहराई से सोच पाएंगे। इसके अलावा आप मोबाइल और कम्प्यूटर से जब दूर रहते हैं तो वर्तमान पल को अच्छी तरह से जीते हैं और आपका तनाव भी कम होता है।

डॉक्टर से सलाह लें -

यदि आप लगातार तनाव और चिंता से ग्रस्त रहते हैं और अनिद्रा के शिकार हैं, तो अपने डॉक्टर से सलाह लें। हो सकता है आपका डॉक्टर आपको मनोवैज्ञानिक के पास जाने को कहे या दवा लेने की सलाह दें।

(और पढ़ें - अच्छी नींद के उपाय)

और पढ़ें ...
close
Subscribe to Youtube