myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

स्जोग्रेन सिंड्रोम क्या है?

स्जोग्रेन सिंड्रोम या शोग्रीन्स सिंड्रोम एक ऐसी बीमारी है जिसके कारण आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली बैक्टीरिया या वायरस पर हमला करने की बजाय स्वस्थ कोशिकाओं पर हमला करने लगती है। इस तरह की स्थितियों को ऑटोइम्यून रोग कहा जाता है।

(और पढ़ें - बैक्टीरियल संक्रमण का इलाज)

आपकी सफेद रक्त कोशिकाएं, जो आम तौर पर आपको रोगाणुओं से सुरक्षा करती हैं, शरीर में नमी पैदा करने वाली ग्रंथियों पर हमला करती हैं। जब ऐसा होता है, तो ये ग्रंथिया आंसू और लार का उत्पादन नहीं कर पाती हैं।

स्जोग्रेन सिंड्रोम के लक्षण क्या हैं?

सूखी आंखें और शुष्क मुंह स्जोग्रेन सिंड्रोम के सबसे आम लक्षण हैं। आप कभी-कभी अपने शरीर के अन्य हिस्सों में भी समस्याएं महसूस कर सकते हैं, जैसे आपके चेहरे और गर्दन के आसपास की ग्रंथियों में सूजन, सूखी त्वचा या नाक का मार्ग शुष्क महसूस होना, जोड़ों में दर्द और कठोरता इत्यादि। स्जोग्रेन सिंड्रोम से जुड़े लक्षण हल्के, मध्यम या गंभीर हो सकते हैं और इनका बढ़ना-घटना अक्सर अप्रत्याशित होता है।

डॉक्टर स्जोग्रेन सिंड्रोम के सटीक कारणों के बारे में नहीं जानते हैं। आपका कोई जीन आपको इस जोखिम में डाल सकता है। बैक्टीरिया या वायरस से होने वाला संक्रमण भी इस रोग को बढ़ावा दे सकता है। स्जोग्रेन सिंड्रोम से ज्यादातर प्रभावित महिलाएं होती हैं।

(और पढ़ें - जोड़ों के दर्द का घरेलू उपाय)

स्जोग्रेन सिंड्रोम क्यों होता है?

यह रोग आम तौर पर 40 वर्ष की उम्र के बाद शुरू होता है। यह कभी-कभी अन्य बीमारियों से भी जुड़ा होता है जैसे रूमेटाइड गठिया और लुपस। यह स्थिति धीरे-धीरे बढ़ सकती है, इसलिए शुष्क आंखों और मुंह के सामान्य लक्षणों को दिखने में सालों लग सकते हैं। हालांकि, कभी-कभी एकदम भी लक्षण शुरू हो सकते हैं।

(और पढ़ें - शुष्क आंखों के घरेलू उपाय)

स्जोग्रेन सिंड्रोम से कारण गंभीर जटिलताओं में अत्यधिक थकान, पुराना दर्द, प्रमुख अंगों में परेशानी, न्यूरोपैथी और लिम्फोमा इत्यादि शामिल हैं। निदान करने के लिए, डॉक्टर मेडिकल हिस्ट्री, शारीरिक जांच, आंख और मुंह के कुछ टेस्ट, खून की जांच और बायोप्सी आदि का उपयोग कर सकते हैं।

स्जोग्रेन सिंड्रोम का इलाज कैसे होता है?

आपको अपने लक्षणों का प्रबंधन करने में मदद के लिए अपने पूरे जीवन भर दवा लेनी होगी। आप बिना किसी पर्चे के भी कुछ प्रकार की दवाइयों को खरीद सकते हैं, जैसे आई ड्रॉप्स जो आपकी आंखों को नम रखती हैं। आपके डॉक्टर अन्य दवाओं को लिख सकते हैं, जो आपके मुंह में लार की मात्रा को बढ़ाती हैं।

(और पढ़ें - थकान दूर करने के उपाय)

  1. स्जोग्रेन सिंड्रोम की दवा - Medicines for Sjogren's Syndrome in Hindi

स्जोग्रेन सिंड्रोम की दवा - Medicines for Sjogren's Syndrome in Hindi

स्जोग्रेन सिंड्रोम के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

Medicine NamePack SizePrice (Rs.)
MedizoxMedizox Pr Gel199.0
CeladrinCeladrin Capsule113.0

क्या आप या आपके परिवार में किसी को यह बीमारी है? सर्वेक्षण करें और दूसरों की सहायता करें

और पढ़ें ...