• हिं

थायराइड स्‍कैन एक ऐसा टेस्‍ट है, जिसमें रेडियोएक्टिव ट्रेसर्स से थायराइड ग्रंथि की संरचना और कार्य की जांच की जाती है। इस टेस्‍ट से थायराइड ग्रंथि का आकार, जगह और आकृति का भी पता चलता है। सटीक परिणाम के लिए रेडियोएक्टिव आयोडीन अपटेक टेस्‍ट के साथ थायराइड स्‍कैन की सलाह दी जाती है।

  1. थायराइड स्कैन क्यों किया जाता है? - What is the purpose of Thyroid Scan in Hindi?
  2. थायराइड स्कैन से पहले की तैयारी? - How to prepare for Thyroid Scan in Hindi?
  3. थायराइड स्कैन कैसे किया जाता है? - How the Thyroid Scan is done in Hindi?
  4. थायराइड स्कैन के परिणाम का क्या मतलब है? - What do the results of Thyroid Scan mean in Hindi?

थायराइड स्‍कैन से निम्‍न बातों का पता चलता है :

  • थायराइड नोड्यूल की जांच
  • थायराइड कैंसर का पता लगाना
  • गलगंड रोग (थायराइड ग्रंथि का बढ़ना) का पता लगाना
  • थायराइड ग्रंथि के अत्‍यधिक सक्रिय होने के कारण की पहचान
  • थायराइड ग्रंथि में किसी तरह की दिक्‍कत होना
  • थायराइड ग्रंथि के बाहर थायराइड कैंसर के फैलने की जांच करना

टेस्‍ट से कई दिनों पहले ही व्‍यक्‍ति को लो-आयोडीन डाइट लेने या टेस्‍ट से पहले किसी सप्‍लीमेंट या दवा का इस्‍तेमाल बंद करने के लिए कहा जा सकता है। स्‍कैन से पहले डेन्‍चर (नकली दांत) और ज्‍वेलरी भी उतारने के लिए कहा जाता है।

(और पढ़ें - आयोडीन के नुकसान)

अगर आप नियमित रूप से किसी दवा का सेवन कर रहे हैं तो डॉक्‍टर को उसके नाम एवं खुराक के बारे में जरूर बताएं। कुछ दवाओं जैसे कि थायराइड-रोधी औषधि, थायराइड हार्मोन और सप्‍लीमेंट में मौजूद आयोडीन टेस्‍ट के परिणाम को प्रभावित कर सकते हैं।

किसी दवा से एलर्जी होने खासतौर पर आयोडीन युक्‍त दवा या किसी तत्‍व से गंभीर एलर्जी है तो इसके बारे में डॉक्‍टर को जरूर बताएं। इसके अलावा अगर आपने थायराइड स्‍कैन से 4 सप्‍ताह पहले तक आयोडीन डाई या रेडियोएक्टिव चीजों जैसे कि सीटी स्कैन करवाया है तो इसके बारे में भी चिकित्‍सक को बता दें। गर्भवती हैं या स्तनपान करवा रही हैं तो डॉक्‍टर को इस बात की जानकारी जरूर दें।

स्‍कैन से लगभग 30 मिनट पहले व्‍यक्‍ति को टेक्नेटियम से इंजेक्शन लगाया जाता है या 4 से 24 घंटे पहले आयोडीन खाने के लिए कहा जाता है।

थायराइड स्‍कैन के दौरान निम्‍न प्रक्रिया की जाती है:

  • व्‍यक्‍ति को गर्दन ऊपर की ओर उठाकर पीठ के बल लेटने के लिए कहा जाता है।
  • गामा सिंटिलेशन कैमरा से थायराइड ग्रंथि की तीन तरफ से तस्‍वीरें ली जाती है।
  • संपूर्ण शरीर के थायराइड स्‍कैन में कैमरा सिर से लेकर पैर तक पूरे शरीर को स्‍कैन करता है।
  • इसके 30 मिनट या 24 घंटे बाद दोबारा स्‍कैन किया जा सकता है।

स्‍कैन में केवल कुछ मिनटों का समय लगता है।

थायराइड स्‍कैन से कोई खतरा नहीं होता है। इस टेस्‍ट में बहुत ही कम मात्रा में रेडियोएक्टिव चीजों का इस्‍तेमाल किया जाता है, इसलिए दुष्‍प्रभाव की आशंका बेहद कम रहती है। हालांकि, टेस्‍ट के बाद पेशाब करते समय विशेष सावधानी बरती जानी चाहिए, क्योंकि परीक्षण के दौरान इस्तेमाल होने वाली रेडियोएक्टिव चीजें अगले 24 घंटों के अंदर पेशाब के जरिए बाहर निकल जाती हैं। व्‍यक्‍ति को पेशाब करने के बाद दो बार फ्लश करने और अच्‍छी तरह से हाथ धोने के लिए कहा जाता है।

  • सामान्य थायराइड स्कैन रिजल्‍ट 
    नॉर्मल थायराइड स्‍कैन में थायराइड ग्रंथि सही जगह और सामान्‍य आकार एवं आकृति में दिखाई देती है। यह ग्रंथि ग्रे रंग की दिखती है।
  • असामान्य थायराइड स्कैन रिजल्‍ट 
    असामान्य थायराइड स्‍कैन का मतलब निम्‍न परिस्थितियों से हो सकता है :
    • थायराइड का एक ओर बढ़ना ट्यूमर का संकेत हो सकता है।
    • ग्रंथि के एक हिस्‍से का रंग हल्‍का होने का मतलब है कि थायराइड ग्रंथि में कोई दिक्‍कत है।
    • थायराइड नोड्यूल का रंग गहरा नजर आने का मतलब है कि थायराइड ग्रंथि ज्‍यादा सक्रिय है।
    • थायराइड ग्रंथि का रंग गहरा होना सूजन या किसी अन्‍य क्षति की ओर इशारा करता है।
    • थायराइड ग्रंथि के ओवरएक्टिव होने पर नोड्यूल में थायराइड हार्मोन का उत्‍पादन बहुत ज्‍यादा होने लगता है, जिसे हॉट नोड्यूल कहते हैं।
    • कोल्‍ड नोड्यूल में थायराइड ग्रंथि के कम सक्रिय होने की वजह से नोड्यूल में थायराइड हार्मोन बनना बंद हो जाता है।

नोट : टेस्‍ट के रिजल्‍ट और व्‍यक्‍ति के लक्षणों के आधार पर ही उचित निदान किया जाना चाहिए। उपरोक्त जानकारी पूरी तरह से शैक्षिक दृष्टिकोण से दी गई है और यह किसी भी तरह से डॉक्‍टर की चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है।

और पढ़ें ...

संदर्भ

  1. Michigan Medicine: University of Michigan [internet]; Thyroid Scan
  2. Salvatore D, Davies TF, Schlumberger M-J, Hay ID, Larsen PR. Thyroid physiology and diagnostic evaluation of patients with thyroid disorders. In: Melmed S, Polonsky KS, Larsen PR, Kronenberg HM, eds. Williams Textbook of Endocrinology. 13th ed. Philadelphia, PA: Elsevier; 2016:chap
  3. Blum M. Thyroid imaging. In: Jameson JL, De Groot LJ, de Kretser DM, et al., eds. Endocrinology: Adult and Pediatric. 7th ed. Philadelphia, PA: Elsevier Saunders; 2016: chap 79.
  4. National Institute of Health. US National Library of Medicine [internet]: Bethesda (MA), US. US Department of Health and Human Services Procedures/Diagnostic Tests: Thyroid scan/thyroid uptake study
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ