• हिं

एक खूबसूरत चेहरा होने के साथ साथ सुंदर और स्वस्थ हाथ पैर भी महत्वपूर्ण हैं। यह स्वास्थ्य और कल्याण का संकेत हैं जो यह दिखाते हैं कि आप कितनी अच्छी तरह से खुद की देखभाल करते हैं। हर लड़की अपने हाथों और पैरो को सुंदर देखना चाहती है। घरेलू स्क्रब्स इस मामले में आपकी काफी मदद करते हैं तथा हाथों और पैरों को नर्म मुलायम बनाए रखते हैं। इसलिए आपके हाथ अगर टैंड (tanned) हैं और फटी काली एड़ी हैं तो उन्हें अलविदा कहने के लिए कुछ प्राकृतिक उपचारो को अपनाएँ। हम आपको कुछ प्राकृतिक उपचार बताने जा रहे हैं जिनसे ना केवल आप अपने हाथ पैरों की अच्छी से देखभाल कर सकेंगे, बल्कि साथ ही उन्हें सुंदेर भी बना पाएंगे -

  1. हाथों और पैरों की देखभाल करें जैतून के तेल से - Olive oil for hands and feet in Hindi
  2. हाथों और पैरों को सुंदर बनाएं खीरे और नींबू से - Lemon and Cucumber for beautiful hands and feet in Hindi
  3. त्वचा का रंग हल्का करें ग्लिसरीन और गुलाब जल के साथ - Glycerin and Rose water for skin lightening in Hindi
  4. सूखी त्वचा के लिए अद्धभुत उपाय है मसूर दाल - Red lentils for dry skin in Hindi
  5. त्वचा को गोरा बनाएं बेसन और दही के साथ - Gram flour and Curd for fairness in Hindi
हाथों और पैरों की देखभाल करें इन घरेलू नुस्खों से के डॉक्टर

अतिरिक्त शुद्ध जैतून का तेल (Extra virgin olive oil) आपकी त्वचा के लिए बहुत अच्छा होता है। यह आपके हाथों और पैरों का ख्याल रखता है और उन्हें पोषण देकर सुंदर बनाता हैं। अपने हाथों और पैरों की मालिश के लिए जैतून के तेल का नियमित रूप से प्रयोग करें। नियमित रूप से उपयोग के साथ, आप अपने हाथ पैरों मेँ कोमलता और चमक को महसूस करने लगेंगे।

खीरा और नींबू दोनों अच्छे क्लीनज़र हैं और इनमेँ त्वचा के रंग को हल्का करने के गुण होते हैं। नींबू में विटामिन सी और एंटी-ऑक्सीडेंट होते है जो त्वचा को युवा और स्वस्थ बनाने में मदद करते हैं। जबकि खीरे में शीतलन गुण होते हैं। आप नींबू और खीरे के रस को मिक्स करें और अपने हाथों और पैरों पर लगाएँ। इसे धोने से पहले कुछ मिनट के लिए लगा रहने दें। आपको निश्चित रूप से अंतर दिखाई देगा।

(और पढ़ें – कोमल और मुलायम हाथों के लिए आज़माएँ यह देसी नुस्खे)

यह भी एक बहुत अच्छा संयोजन है। ग्लिसरीन त्वचा को नर्म और कोमल बनाकर साफ भी करती है। यह फटी एड़ियों को भी ठीक करने में मदद करती है। जबकि गुलाब जल एक बहुत अच्छा टोनर है। बराबर अनुपात में इन दोनों को मिक्स करें और 20-25 मिनट के लिए इसमें अपने पैरों और हाथों को डुबो कर रखें। परिणाम देखने के लिए इसे दैनिक रूप से उपयोग करते रहें।

(और पढ़ें – सुंदर, गोरी, स्वस्थ और चमकदार त्वचा के लिए काम आएँगे बाबा रामदेव के यह 10 सरल टिप्स)

मसूर की दाल सूखी त्वचा के इलाज के लिए एक अद्धभुत उपाय है। यह त्वचा को नर्म, चिकनी और गोरा बनाती है। यह मुँहासे, पिंपल्स जैसे त्वचा संक्रमण के इलाज में भी मदद करती है। कुछ घंटे के लिए पानी में मसूर की दाल भिगोने के बाद, एक पेस्ट बनाने के लिए इसे पीस लें। इस पेस्ट में कुछ दूध मिलाएं और प्रभावी देखभाल के लिए कुछ मिनट तक अपने पैरों और हाथों पर लगा कर रखें। 

(और पढ़ें – सर्दियों में रूखी त्वचा का इलाज)

बेसन त्वचा से मृत कोशिकाओं को निकालने के लिए अद्धभुत है। यह त्वचा को चिकनी बनाकर चमक बढ़ाता है और टैंड त्वचा को हटाने में मदद करता है। दही त्वचा को पोषण देता है और एक बेहतर रंग देता है। इन दोनों के मिश्रण से एक पैक बनाएं, अपने हाथों और पैरों पर लगाएं और 10-15 मिनट के बाद धो लें।

Dr. Jugal kishor

Dr. Jugal kishor

सामान्य चिकित्सा
1 वर्षों का अनुभव

Dr. Suvendu Kumar Panda

Dr. Suvendu Kumar Panda

सामान्य चिकित्सा
7 वर्षों का अनुभव

Dr. Aparna Gurudiwan

Dr. Aparna Gurudiwan

सामान्य चिकित्सा
3 वर्षों का अनुभव

Dr. Pallavi Tripathy

Dr. Pallavi Tripathy

सामान्य चिकित्सा
3 वर्षों का अनुभव

संदर्भ

  1. Nasrollahi S.A., Ayatollahi A., Yazdanparast T., Samadi A., Hosseini H., Shamsipour M., Akhlaghi A.A., Yadangi S., Abels C., and Firooz A. Comparison of linoleic acid-containing water-in-oil emulsion with urea-containing water-in-oil emulsion in the treatment of atopic dermatitis: a randomized clinical trial. Clinical, Cosmetic and Investigational Dermatology, 5 January 2018; 11: 21–28. PMID: 29379309.
  2. Lodén M., Andersson A.C., Andersson C., Frödin T., Öman H. and Lindberg, M. Instrumental and dermatologist evaluation of the effect of glycerine and urea on dry skin in atopic dermatitis. Skin Research and Technology, 2001; 7: 209-213.
  3. Treesirichod A., Chaithirayanon S., Chaikul T. and Chansakulporn S. The randomized trials of 10% urea cream and 0.025% tretinoin cream in the treatment of acanthosis nigricans. Journal of Dermatological Treatment, 2020.
  4. Chew Y.L. The beneficial properties of virgin coconut oil in management of atopic dermatitis. Pharmacognosy Reviews, 2019;13:24-7.
  5. Atrux-Tallau N., Romagny C., Padois K., Denis A., Haftek M., Falson F., Pirot F. and Maibach H.I.. Effects of glycerol on human skin damaged by acute sodium lauryl sulphate treatment. Archives of Dermatological Research, 2010; 302: 435–441.
  6. Fluhr J.W., Darlenski R., Surber C. Glycerol and the skin: holistic approach to its origin and functions. British Journal of Dermatology, 159 (1): 23-34. First published 27 May 2008.
  7. Visscher M., Davis J. and Wickett R. Effect of topical treatments on irritant hand dermatitis in health care workers. American Journal of Infection Control, December 2009; 37(10): 842.e1-842.e11.
  8. Kraft J.N. and Lynde C.W. Moisturizers: what they are and a practical approach to product selection. Skin Therapy Letter, June 2005; 10(5): 1-8.
  9. Lin T.K., Zhong L. and Santiago J.L. Anti-inflammatory and skin barrier repair effects of topical application of some plant oils. International Journal of Molecular Sciences, 19(1): 70. PMID: 29280987.
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ