myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

बच्चों के दाँतों में बहुत जल्दी कैविटीज़ होने की संभावना होती है क्योंकि उन्हें मिठाई और चॉकलेट बहुत पसंद होते हैं। खराब मौखिक स्वच्छता कैविटी की समस्या और बढ़ा देती है।

तो चलिए जानते हैं कैसे बच्चों को मौखिक स्वच्छता के लिए प्रोत्साहित कर सकते हैं और उनको कैविटीज़ की समस्या से छुटकरा दिला सकते हैं -

  1. कैविटी का घरेलू उपचार खाने के बाद ब्रश करना - Brushing teeth prevents cavities in hindi
  2. कैविटी का इलाज है फ्लोराइड - Fluoride repairs cavities in hindi
  3. कैविटी से बचने के उपाय के लिए लें सलाह दंत चिकित्सक से - Dental check up for cavities in hindi
  4. दांतों में सड़न का इलाज करे च्‍यूइंग गम - Chewing gum prevents cavities in hindi
  5. कैविटीज़ के उपचार के लिए करें फ्लॉसिंग - Flossing reduces cavities in hindi
  6. कैविटी की दवा है किशमिश - Raisins fight cavities in hindi
  7. दांतों में सड़न होने से रोके सीलंट - Sealant prevents cavities in hindi
  8. दांतों में कैविटी रोकता है चीज़ - Cheese helps cavities in hindi
  9. कैविटीज़ से बचने के लिए ना पिएं शक्कर युक्त पेय - Avoid sugary drinks for cavities in hindi
  10. बच्चों के लिए दांतों में कैविटी से बचने के उपाय के डॉक्टर

अपने बच्चे को भोजन के बाद ब्रश करने की शिक्षा दें। ब्रश करने से उनके मुँह में जो खाद्य पदार्थ होते हैं, वो बाहर निकल जाते हैं जिससे कैविटीज़ की समस्या नहीं होती है। यही खाद्य पदार्थ मुँह में सड़ कर कैविटीज़ की समस्या पैदा करते हैं। दिन में दो बार ब्रश करना आपके बच्चे के लिए अच्छा अभ्यास है। यदि आपका बच्चा दिन में तीन बार या हर भोजन के बाद ब्रश करता है तो यह आपके बच्चे की लिए बहुत ही अच्छा होगा। अपने बच्चे को हर रोज इस रूटीन का पालन करने के लिए प्रोत्साहित करें और उन्हें पुरस्कृत करें।

(और पढ़ें – जानिए पायरिया, कैविटी, मसूड़ों और अन्य दाँतों की समस्याओं का इलाज)

अपने बच्चों के लिए फ्लोराइड युक्त टूथपेस्ट का प्रयोग करें क्योंकि यह एक आवश्यक खनिज है जो दांत को मजबूत करने में मदद करता है। यह दाँत क्षय को भी रोकता है। फ्लोराइड युक्त टूथपेस्ट का नियमित उपयोग दांतों की कैविटीज़ से रक्षा करता है और दांतों को मजबूत बनाने में मदद करता है।

(और पढ़ें – अगर ये खाएँगे तो दाँत प्राकृतिक रूप से सफेद हो जाएँगे)

हालांकि इसकी आवश्यकता कम पड़ती है, फिर भी आपके बच्चों की मौखिक स्वच्छता बनाए रखने के लिए दंत चिकित्सक से सलाह लेना बहुत जरूरी है। क्योंकि बची हुई गंदगी समय के साथ ठोस रूप ले लेती है जो ब्रश करने पर भी आसानी से नहीं हटती है। यह दांतों में सड़न की स्थिति पैदा कर सकती है। नियमित रूप से दंत चिकित्सक को दिखाने से दांतों की स्थिति का पता चलता है और दांत अच्छी तरह से साफ किया जा सकता है।

अपने बच्चों को शक्कर रहित च्‍यूइंग गम चबाने को दें। शक्कर रहित च्‍यूइंग गम का उपयोग लार के उत्पादन में वृद्धि करने में मदद करता है और भोजन के बाद दाँतों पर छोड़ेगए एसिड को हटाता है। ये एसिड दातों में कैविटीज़ की समस्या पैदा करता है।

(और पढ़ें – दांतों को साफ करने के लिए क्या नारियल का तेल आपके आम टूथपेस्ट से ज्यादा इफेक्टिव है?)

फ्लॉसिंग दांतों के बीच में फसी हुई गंदगी को हटाने में मदद करता है। दांतों के बीच फसी हुई गंदगी के कारण दातों में सड़न और कैविटीज़ की समस्या होती है। तो अपने बच्चों की दांतों की स्वच्छता के लिए फ़्लोसिंग ज़रूरी है।

(और पढ़ें – दातों के लिए तेल से कुल्ला करने के फायदे)

कम मात्रा में किशमिश का सेवन कैविटीज़ की समस्या से छुटकारा दिला सकता है। किशमिश में पॉलीफेनोल और फ्लैनोनोइड पाए जाते हैं जो कैविटीज़ को रोकने में मदद करते हैं। आवश्यक मात्रा से अधिक किशमिश का सेवन करने से कैविटीज़ पर उल्टा प्रभाव पड़ सकता है।

(और पढ़ें – दांतों का पीलापन दूर करें इन आसान घरेलू उपायों से)

सीलंट (सीलंट एक प्रकार की प्लास्टिक कोटिंग होती है जो स्थायी दांतों के चबाने वाली सतह पर की जाती है) दांतों पर एक अतिरिक्त परत प्रदान करता है और दांतों को कैविटीज़ से सुरक्षित रखता है।

चीज़ कैल्शियम और कैसिइन में समृद्ध होता है और ये दोनों दांतों को पुनर्खनिजीकृत (remineralize) करने में मदद करते हैं और कैविटीज़ को होने से रोकते हैं।

अपने बच्चो को शक्कर युक्त पेय का सेवन नहीं करने दें। अगर वे कभी-कभी शक्कर युक्त पेय का सेवन करते भी हैं तो स्ट्रॉ से पीने के लिए कहें।

Dr. Gaurav Chauhan

Dr. Gaurav Chauhan

सामान्य चिकित्सा

Dr. Sushila Kataria

Dr. Sushila Kataria

सामान्य चिकित्सा

Dr. Sanjay Mittal

Dr. Sanjay Mittal

सामान्य चिकित्सा

और पढ़ें ...