myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

हम में से ज्यादातर लोग अपने शरीर को टोन करने, बेहतर आकार में रहने और फिट रहने के लिए व्यायाम करते हैं ताकि हम अपने स्वास्थ्य को बेहतर बना सकें और लम्बा जीवन जी सकें।

लेकिन जब आप मांसपेशियों के खिचाव और हैमस्ट्रिंग (hamstring) में दर्द के कारण बिस्तर पर ओढ़ जाते हैं तब आप क्या करते हैं? ऐसा अक्सर इसलिए होता है क्योंकि कई लोग व्यायाम से पहले वार्म उप करते ही नहीं हैं। आपको यह याद रखना बेहद जरूरी है कि कसरत करने के लिए वार्म अप करना आवश्यक है।

यदि आप पहले से ही व्यायाम करते आए हैं तो शायद आप पहले से ही कसरत करने से पहले अपने आपको वार्म अप करने के महत्व को जानते होंगे। यह भी संभव है कि आप इसे हल्के में लेते हों यह सोचकर की यह एक बिगिनर्स रूटीन है या अत्यधिक सावधानीपूर्वक अभ्यास करने के लिए आवश्यक है।

बहुत से लोग मानते हैं कि कसरत करने से पहले वार्म अप करना कसरत के लिए खुद को मानसिक रूप से तैयार करने का एक तरीका है। लेकिन कसरत करने से पहले वार्म-अप को छोड़ना आपके लिए काफी हानिकारक हो सकता है।

(और पढ़ें – व्यायाम करने का सही समय – सुबह या शाम)

एक पूर्ण वार्म-अप रूटीन में निमन शामिल हैं -

  • बेसिक वार्म अप
  • स्ट्रेचिंग वार्म अप
  • स्पेसिफिक वार्म-अप (यदि आप व्यायाम करते वक्त एक स्पेसिफिक शरीर के अंग पर ज़ोर देने वाले हैं)

इनमें से पहले दो बहुत महत्वपूर्ण हैं जो हमेशा कसरत से पहले करनी चाहिए। अगर आप कसरत सत्र आपके शरीर के विशिष्ट अंग को ध्यान में रख कर करते हैं तो आपको उसे करने से पहले स्पेसिफिक वार्म-अप करना चाहिए।

बहुत से लोग यह गलती करते हैं कि बेसिक वार्म उप और स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज एक साथ करते हैं। वे मानते हैं कि ये दोनों एक्सरसाइज एक ही हैं। पर इन दोनों एक्सरसाइज के बीच महत्वपूर्ण अंतर है।

(और पढ़ें – वज़न कम करने के लिए करें यह व्यायाम)

वार्म-उप अभ्यास पूरे शरीर और मांसपेशियों में रक्त प्रवाह को बढ़ाता है पर स्ट्रेचिंग अभ्यास मांसपेशियों को लचीला बनाने और उनके मूवमेंट को बढ़ाने में मदद करता है। यदि आप वार्म-अप छोड़ स्ट्रेचिंग अभ्यास करना शुरू करते हैं तो आप अपनी ठंडी और सख्त मांसपेशियों को नुकसान पहुंचा सकते हैं।

तो चलिए जानते हैं, अभ्यास से पहले वार्म-अप के क्या-क्या लाभ हैं।

  1. वार्म अप से लाभ शरीर करे गर्म - Warm up exercises increases body temperature in hindi
  2. वार्म अप करने का फायदा बढ़ाए रक्त प्रवाह - Proper warm up affects blood flow in hindi
  3. वार्म अप का उपयोग प्रदर्शन में सुधार के लिए - Warm up improves performance in hindi
  4. वार्म अप एक्सरसाइज फॉर नर्वस - Warm up ke fayde for nervous system in hindi
  5. वार्म अप के लाभ करे हार्ट की मदद - Warm up for heart rate in hindi
  6. वार्म अप के फायदे चोटों के लिए - Warm up reduces risk of injury in hindi

हीमोग्लोबिन और मायोग्लोबिन प्रोटीन पूरे शरीर में ऑक्सीजन पहुंचाने ले लिए ज़िम्मेदार हैं।

शरीर का तापमान बढ़ने से ऑक्सीजन-पहुंचने वाली गतिविधि बढ़ जाती है और इससे शरीर को एक प्रभावी कसरत सत्र के लिए आवश्यक स्वस्थ ऑक्सीजन प्राप्त होता है।

(और पढ़ें – अब एरोबिक्स क्लास जॉइन करने की ज़रूरत नहीं, घर पर ही कर सकते हैं ये एरोबिक डांस फॉर वेट लॉस)

वार्म-अप मांसपेशियों में रक्त प्रवाह को सुनिश्चित करता है ताकि व्यायाम करने के लिए आपकी मांसपेशियां अच्छी तरह से गर्म, अधिक लचीली और ऊर्जा महसूस कर सकेन।

यह मांसपेशियों और जोड़ों को अधिक काम करने लायक बनाता है। स्वस्थ परिसंचरण आसानी से एक्सरसाइज करने के लिए मांसपेशियों और जोड़ों को सक्षम बनाता है। इस प्रकार यह विभिन्न प्रकार के अभ्यासों के लिए शरीर को सक्षम बनता है।

(और पढ़ें – योग को अपनाएं, जोड़ों में दर्द से राहत पायें)

द जर्नल ऑफ स्ट्रेंगथ एंड कंडिशनिंग रिसर्च में प्रकाशित 2010 के एक अध्ययन के मुताबिक कसरत करने से पहले वार्म अप करने से प्रदर्शन में सुधार होता है और यह किसी भी तरह से हानिकारक नहीं है।

(और पढ़ें – अगर स्लिम फिगर पानी है तो केवल दस मिनट दें इस व्यायाम को)

वार्मिंग उप नर्व सेंसिटिविटी में सुधार करता है और नर्व इम्पल्स की मात्रा में वृद्धि करता है

इसका मतलब यह है कि वार्मिंग उप हमारे शारीरक कौशल को बढ़ाता है जिससे हमारा दिमाग क्या करना चाहता है और हमारी मांसपेशियों और शरीर क्या अंत में परफॉर्म करते हैं, इन दोनों के बीच अच्छा समन्वय बना रहता है।

(और पढ़ें – क्या आपको अक्सर घबराहट या नर्वसनेस होती है तो उसे दूर करने के लिए काम आएँगे ये तरीके)

चूंकि दिल पूरे शरीर में ऑक्सीजन युक्त रक्त को पहुंचाने में मदद करता है इसलिए वार्म उप शरीर में ऑक्सीजन की बढ़ती मांग को तुरंत पहुंचाने में हार्ट की मदद करता है।

(और पढ़ें – हृदय को स्वस्थ रखने के लिए ज़रूर करें ये 5 कार्डियो एक्सरसाइज)

स्पोर्ट्स मेडिसिन में प्रकाशित 2007 के एक अध्ययन के मुताबिक कसरत से पहले स्ट्रेचिंग और वार्म उप एक्सरसाइज चोटों को रोकने के लिए काफी महत्वपूर्ण है।

जब हम व्यायाम के लिए भारी भार उठाते हैं तो वजन उठाने में सक्षम होने के लिए पर्याप्त शक्ति प्राप्त करने के लिए हमारी मांसपेशियां कस जाती हैं। जब हमारी मांसपेशियां कास जाती है तो शरीर से द्रव निकलने लगता है। चूंकि मांसपेशियां एक दूसरे के ऊपर स्थित होती हैं इसलिए लगातार व्यायाम के दौरान उन्हें चिकनाहट की ज़रुरत होती है ताकि उनमें कोई खिचाव ना आए

(और पढ़ें – जानिये व्यायाम छोड़ने का क्या होता है आपके शरीर पर प्रभाव)

यदि आप पहले वार्म उप करते हैं तो अधिक कठोर अभ्यासों के लिए आपका शरीर आपकी मांसपेशियों के लिए पर्याप्त तरल पदार्थ को मुक्त करेगा।

और पढ़ें ...