myUpchar प्लस+ के साथ पुरे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

कार्डियो व्यायाम करना तनाव से राहत और कैलोरी को जलाने के लिए बहुत अच्छा है। लेकिन सबसे महत्वपूर्ण बात है कि कार्डियो स्वस्थ दिल के लिए सबसे अच्छा व्यायाम है।

'कार्डियोवास्कुलर फिटनेस' का संक्षिप्त नाम कार्डियो है जो दिल की उच्च दर को उत्तेजित करता है ताकि रक्त का संचार शरीर में सब जगह हो और दिल मजबूत हो। कार्डियो व्यायाम हृदय की कार्यात्मक क्षमता बढ़ाने में मदद करते हैं और शरीर की ग्लूकोज को अवशोषित करने की क्षमता में सुधार करते हैं।

अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन के अनुसार प्रत्येक व्यक्ति को सप्ताह में पांच दिन कम से कम 30 मिनट के लिए व्यायाम करना चाहिए। नियमित व्यायाम करने वालों में हृदय रोगों की आशंका लगभग 45% तक कम हो जाती है। आप इनडोर और आउटडोर दोनों ही तरीक़ो से कई तरह के कार्डियो वर्कआउट कर सकते हैं। आइए जानते हैं कुछ ऐसे ही असरदार वर्कआउट्स के बारे में -

  1. हृदय स्वास्थ्य के लिए चलने के फायदे - Walking Benefits for Heart in Hindi
  2. साइकिलिंग के फायदे मजबूत दिल के लिए - Cycling Good for Heart in Hindi
  3. स्विमिंग के फायदे हैं कार्डियोवास्कुलर हेल्थ के लिए - Swimming for Cardiovascular Health in Hindi
  4. बॉडी वेट एक्सरसाइज है हृदय के स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए - Body Weight Exercises to Get Heart Rate Up in Hindi
  5. दिल के रोग के लिए ताई ची योग - Tai Chi for Heart Health in Hindi

वॉकिंग करते समय आपकी गति ना तो बहुत धीमी हो और ना ही बहुत अधिक तेज जिससे कि आपकी सांस फूल जाए। दैनिक रूप से 10000 स्टेप्स को पूरा करने का लक्ष्य सुनिश्चित करें। वॉर्म अप करना ना भूलें, तीन मिनट के लिए सीढ़ी की चढ़ाई करना आपकी दिल की गति को बढ़ाने के लिए बहुत अच्छा होगा। वॉकिंग से हृदय स्ट्रोक का खतरा कम हो जाता है। यह शरीर में LDL को कम करके HDL के स्तर को बढ़ाता है।

यदि आप बाहर जाकर वॉक नहीं कर सकते हैं, तो आप घर पर ही वॉकिंग का विकल्प चुन सकते हैं। आप घर पर ही रहकर एरोबिक्स, नृत्य आदि भी कर सकते हैं।

(और पढ़ें – यह दावा है हमारा कि रोज़ सिर्फ आधा घंटा एक जगह पर इस तरह चलेंगे तो मोटापा हो जाएगा छूमंतर)

दैनिक रूप से साइकिल चलाने से भी हृदय मजबूत होता है। रोजाना साइकिल चलाना हृदय के लिए एक बहुत ही अच्छा व्‍यायाम है। इसलिए रोज 8-12 किमी प्रति घंटा की गति से 30-40 मिनट के लिए साइकिल चलाने से सांसों की गति बढ़ती है जो हृदय के लिए फायदेमंद होती है जिससे आपको हृदय की बीमारियां नहीं होंगी और हृदय मजबूत रहेगा।

(और पढ़ें – जांघ की चर्बी कम करने के लिए करें साइकलिंग)

स्विमिंग एक प्रकार की वॉटर एरोबिक एक्‍सरसाइज है जो आपके हृदय की मांशपेशियां को मजबूत करती है। इससे आपके पूरे शरीर में रक्‍त संचार अच्‍छा रहता है। यदि आप शुरुआत कर रहे हैं, तो 30 मिनट के लिए मध्यम तीव्रता से फ़्रीस्टाइल स्विमिंग आपके लिए पर्याप्त है। इसके अलावा अधिक अनुभवी तैराकों के लिए सप्ताह में तीन बार 60 से 75 मिनट के लिए स्विमिंग करना उपयोगी होगा। 

(और पढ़ें – हृदय की मांसपेशियों के लिए दौड़ने के लाभ)

आप हृदय गति को बढ़ाने के लिए बॉडी वेट एक्सरसाइज का उपयोग करना शुरू करें। कोई भी एक्सरसाइज जो आपके हृदय की दर 130-140 बीपीएम (BPM) तक बढ़ा देती है, वो कार्डियो एक्सरसाइज के रूप में जानी जाती है। आपके 30 मिनट के एक्सरसाइज रुटीन में एक मिनट का वॉर्म अप होना चाहिए। इसका नियमित रूप से पालन किया जाना चाहिए। बॉडी वेट एक्सरसाइज में अल्टर्नेट जम्‍प लंजेज, बर्पीज, जंपिंग जैक्‍स और माउंटेन क्‍लाइम्‍बर जैसी एक्सरसाइज शामिल हैं। बॉडी वेट एक्सरसाइज उन लोगों के लिए आदर्श हैं, जो हृदय के स्वास्थ्य को बनाए रखना चाहते हैं। 

(और पढ़ें – वेट ट्रेनिंग के फायदे हृदय के स्वास्थ्य के लिए)

यह धीमी गति वाली प्राचीन चीनी एक्सरसाइज हमें कुछ एरोबिक लाभ प्रदान कर सकती है। ताई-ची कार्डियो का एक रूप है जिसका उपयोग मन और शरीर की कसरत के लिए होता है। उन लोगों द्वारा इसका उपयोग किया जा सकता है जिनका स्वास्थ्य अच्छा नहीं रहता है। शोधकर्ताओं के मुताबिक दिल की बीमारियों के मरीज इसके अभ्यास से कार्डियोवैस्कूलर लाभ उठा सकते हैं। ताई-ची शरीर के इम्यून सिस्टम को मजबूत करता है जिससे शरीर में कई रोगों से लड़ने की प्रतिरोधक क्षमता काफी बढ़ जाती है।

हालांकि इन सभी कार्डियो वर्कआउट्स का मतलब हृदय स्वास्थ्य को बढ़ावा देने के लिए है। लेकिन ये कार्डियो वर्कआउट्स करने से पहले कुछ सावधानियों का ध्यान रखें। ये वर्कआउट्स करने के लिए पहले हमेशा वॉर्म अप करें। इसके अलावा यदि आप उच्च रक्तचाप या मधुमेह से पीड़ित हैं, तो अपनी अंतर्निहित स्थिति का ध्यान रखें।

और पढ़ें ...