myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

आज की भागती-दौड़ती जिंदगी में हर कोई फिट रहने के उपाय तलाश रहा है। मतलब कोई जिम में जाकर वजन घटाने में लगा है तो कोई योग के सहारे सेहतमंद रहने की कोशिश में लगा है। बावजूद इसके कई ऐसी चीजें हैं, जिनके सेवन से भी हम अपनी फिटनेस और वजन को नियंत्रित कर सकते हैं। जैसे- कुछ लोग ग्रीन-टी पीते हैं और इसके अपने अलग गुण हैं।

लेकिन, एक चाय और है जो आपके मेटाबोलिज्म को बढ़ाकर, बॉडी वेट (वजन) को कम करने में सहायक हो सकती है। वह है, हिबिस्कुस या गुड़हल की चाय। हिबिस्कुस की चाय वजन कम करने की स्थिति में आपके लिए काफी फायदेमंद हो सकती है।

(और पढ़ें - चाय के फायदे और नुकसान)

क्या है हिबिस्कुस ?
हिबिस्कुस एक प्रकार का फूल वाला पौधा है, जिसे गुड़हल या जवाकुसुम के नाम से भी जाना जाता है। इसका फूल बहुत सुंदर होता है। गुड़हल का पौधा न सिर्फ सुंदर होता है बल्कि इसमें औषधीय गुण भी पाए जाते हैं। गुड़हल मालवेसी परिवार से संबंधित है। कई बीमारियों और स्‍वास्‍थ्‍य से संबंधित समस्‍याओं में (आयुर्वेदिक चिकित्‍सक के निर्देशानुसार) आप गुड़हल का सेवन कर सकते हैं।

हिबिस्कुस (गुड़हल) चाय के कितने फायदे
एक रिपोर्ट के मुताबिक हिबिस्कुस चाय एक प्रकार की हर्बल चाय है, जो गुड़हल पौधे के ऊपर वाली पत्तियों को गर्म पानी में उबालकर या भिगोकर बनाई जाती है। इसमें क्रेनबेरी (करोंदा) जैसा खट्टा स्वाद होता है और इसे आप ठंडे या गरम पानी के साथ ले सकते हैं।

  • हिबिस्कुस की अलग-अलग करीब सैकड़ों प्रजातियां हैं, जो कि जगह और जलवायु के हिसाब से बढ़ती हैं। हालांकि, हिबिस्कुस सबदरिफा का उपयोग सबसे अधिक हिबिस्कुस चाय बनाने के लिए किया जाता है।
  • शोधकर्ताओं ने पाया है कि कैसे हिबिस्कुस की चाय पीना फिटनेस के रहस्य से जुड़ा है और इसके कितने फायदे हैं। रिपोर्ट के मुताबिक इस चाय से आपको कई तरह के शारीरिक लाभ होते हैं। जैसे-
  • लो ब्लड प्रेशर, बैक्टीरिया से लड़ने और वजन कम की स्थिति में गुड़हल की चाय पीने से फायदा होता है।
  • इसके अलावा हिबिस्कुस के सेवन से आपका दिल और लीवर दोनों तंदुरुस्त रहते हैं। इतना ही नहीं, गुड़हल आपके शरीर में कई प्रकार के कैंसर के जोखिम को भी कम करता है।

(और पढ़ें - सौंफ की चाय के फायदे)

कैसे वजन कम करती है हिबिस्कुस चाय?
हिबिस्कुस की चाय को सेहत के लिए अच्छा माना जाता है, जो कि बीएमआई (बॉडी मास इंडेक्स), शरीर का वजन और कुल्हों से लेकर कमर तक के अतिरिक्त फैट को कम करने में सहायक होती है। इसके अलावा हिबिस्कुस की चाय पीने से शरीर में कोलेस्ट्रॉल की खराब मात्रा घटती है, जिससे मोटापे का जोखिम भी कम होता है।

गुड़हल में पाए जाने वाले कई तरह के एंटीऑक्‍सीडेंट्स (वो पदार्थ होते हैं जो फ्री रेडिकल्‍स के कारण कोशिकाओं को होने वाले नुकसान को रोकते हैं) बीमारियों के खतरे को कम कर मेटाबोलिज्म को बढ़ाने और पाचन तंत्र को मजबूत बनाने का काम करते हैं। यही वजह है कि आपका वजन कम होता है और आप शारीरिक रूप से फिट रहते हैं।

(और पढ़ें - पुदीने की चाय के क्या हैं फायदे और नुकसान)

कुल मिलाकर देखा जाए तो हिबिस्कुस या गुड़हल की चाय कई बीमारियों से आपका बचाव करती है। इसके कई ऐसे गुण हैं जो हृदय रोग और कैंसर जैसी गंभीर बीमारियों से भी आपकी रक्षा करते हैं। वहीं, जो लोग वजन कम करने लिए घंटों जिम में कसरत और तमाम दवाई लेते हैं, उनके लिए यह चाय बेहद फायदेमंद है। इसलिए अगर आप भी मोटापे से परेशान हैं और फैट कम करने का विकल्प तलाश रहे हैं तो हिबिस्कुस या गुड़हल की चाय आपके लिए बेहतर विकल्प हो सकती है।

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें