myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

वजन कम करने के लिए आप नये-नये डाइट प्लैन अपनाते होंगे, पर तब भी वजन वहीं का वहीं रहता है। लेकिन हम आपको इस लेख में एक बेहतरीन डाइट के बारें में बता रहे हैं। इस डाइट को क्रैश डाइट कहते हैं। यह डाइट बहुत ही आसान है और इसकी मदद से आप अपना वजन कम कर सकते हैं।

(और पढ़ें - वजन कम करने के उपाय)

तो चलिए आपको इस लेख में हम बताते हैं क्रैश डाइट क्या है, इसे कैसे करें, फायदे और नुकसान।

  1. क्रैश डाइट क्या है - Crash diet kya hai
  2. क्रैश डाइट कैसे करें - Crash diet kaise kare
  3. क्रैश डाइट के फायदे - Crash diet ke fayde
  4. क्रैश डाइट के नुकसान - Crash diet ke nuksan

क्रैश डाइट एक डाइट प्लैन है जो कम वक़्त में तेजी से वजन कम करने में मदद करता है। इस डाइट प्लैन का लक्ष्य रोजाना ली जाने वाली कैलोरी को कम करना है। यह डाइट प्लैन कुछ ही दिनों में परिणाम दिखाने लगता है। अगर पार्टी, सगाई, शादी और अन्य तरह के समारोह में जाने के लिए वजन कम करना है, तो कई लोग इस डाइट का पालन करते हैं।

(और पढ़ें - संतुलित आहार चार्ट)

यहां आपको सात दिन का क्रैश डाइट प्लान बताया गया है। इसे मनचाहा परिणाम मिलने पर दोहराया जा सकता है। 

पहला दिन -

दूसरा दिन -

तीसरा दिन -

चौथा दिन -

  • नाश्ता - ग्रीन टी और एक सेब।
  • दोपहर का खाना - दो ग्लास तरबूज का जूस।
  • दोपहर के खाने के कुछ घंटे बाद - एक केला
  • रात का खाना - टमाटर और धनिये का जूस।

पांचवा दिन -

  • नाश्ता - एक ब्राउन टोस्ट ब्रेड के साथ तला हुआ अंडा।
  • दोपहर का खाना - पत्ता गोभी सूप।
  • दोपहर के खाने के कुछ घंटे बाद - दही
  • रात का खाना - संतरे का जूस और चार बादाम।

छठा दिन -

  • नाश्ता - कीवी और तरबूज के जूस में नींबू का जूस।
  • दोपहर का खाना - मशरूम का सूप।
  • दोपहर के खाने के बाद - अंगूर का जूस।
  • रात का खाना - खीरा, टमाटर और दही का सलाद।

सातवां दिन -

  • नाश्ता - शहद और नींबू से बनी डिटॉक्स ड्रिंक और एक संतरा।
  • दोपहर का खाना - उबली दाल के साथ बेक्ड सब्जियां जैसे गाजर और चुकंदर
  • दोपहर के खाने के कुछ घंटे बाद - टमाटर का जूस।  
  • रात का खाना - बेक्ड फिश।
  • रात का खाना - पपीते का जूस।

अगर आप शाकाहारी हैं या मीट नहीं खाना चाहते हैं तो आप रोजाना एक ग्लास सोया मिल्क जरूर पियें। प्रोटीन के अन्य स्रोत हैं जैसे दाल, बीन्स, छोले, लोबिया, मशरूम और ड्राई फ्रूट्स भी खा सकते हैं। आप ऊपर बताई मीट की डिश की जगह इन सब को खा सकते हैं। 

(और पढ़ें - मोटापा कम करने के लिए डाइट चार्ट)

क्रैश डाइट के फायदे इस प्रकार हैं -

  1. इस डाइट से कम वक़्त में तेजी से वजन कम करने में मदद मिलती है।
  2. इस डाइट को लेते समय आपको पोषक तत्व की जरूरत को अनदेखी नहीं करनी चाहिए।
  3. इस डाइट में तेजी से वजन कम करने के लिए आपको भूखा रहने की जरूरत नहीं है।
  4. क्रैश डाइट से आप अधिक चुस्त और ताजा महसूस करते हैं।
  5. क्रैश डाइट से आपकी पाचन क्रिया सही रहती है।
  6. इससे आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता में कमी नही आती है।

(और पढ़ें - motapa kam karne ke liye yoga)

क्रैश डाइट के नुकसान इस प्रकार हैं -

  1. अगर आप लम्बे वक्त तक लो कैलोरी वाली डाइट का पालन करते हैं, तो आपका शरीर कमजोर पड़ने लगेगा। आपकी मांसपेशियां और हड्डियां काम करने में सक्षम नहीं होंगी। (और पढ़ें - कम कैलोरी वाला आहार)
  2. जब आप क्रैश डाइट के सातवे दिन पर होते हैं, तो आप अधिक मेहनत लगने वाले व्यायाम को नहीं कर पाते।
  3. जो लोग लम्बे समय तक क्रैश डाइट का पालन करते हैं, उन्हें खाना खाने या पचने से संबंधित समस्याएं हो सकती हैं।
  4. पोषण की कमी से आपको हेयर फॉल और त्वचा से जुडी बीमारियां हो सकती हैं।

(और पढ़ें - vajan kam karne ke liye kya nahi khana chahiye

चेतावनी: यह लेख केवल जानकारी के लिए है। myUpchar किसी भी डाइट को अपनाने की हिदायत या डिफारिश नहीं देता है। कोई भी डाइट प्लान अपनाने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह करें कि यह आपके लिए सही है या नहीं। 

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें