myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

बक का मतलब बगुला या सारस है। इस आसन को करते समय आपके शरीर की मुद्रा बगुले की तरह हो जाती है इसलिए इसे बकासन कहा जाता है। इस आसन को शुरआत में करने में थोड़ी कठिनाई हो सकती है लेकिन ये आसन आपके शरीर को उतने ही अधिक लाभ देने में मदद करता है। ये आसन आपके शरीर का रक्त परिसंचरण भी सुधारता है। 

इस लेख में बकासन करने के तरीके व उससे होने वाले लाभों के बारे में बताया गया है। साथ ही लेख में यह भी बतायाा गया है कि बकासन के दौरान क्या सावधानी बरतनी चाहिए। 

(और पढ़ें - योग क्या है)

  1. बकासन के फायदे - Bakasana (Crane Pose) ke fayde in HIndi
  2. बकासन करने का तरीका - Bakasana (Crane Pose) karne ka tarika in Hindi
  3. बकासन करने में क्या सावधानी बरती जाए - Bakasana (Crane Pose) karne kya savdhani barte in Hindi
  4. बकासन का वीडियो - Bakasana (Crane Pose Video Hindi

बकासन के लाभ कुछ इस प्रकार हैं –

  1. इस आसन को करने से आपके चेहरे पर चमक आती है। (और पढ़ें - चेहरे पर चमक लाने के उपाय)
  2. इस आसन को करने से नितम्बों और पैरों की मांसपेशियों को सुदृढ़ बनाता है। (और पढ़ें - मांसपेशियों के दर्द)
  3. बकासन से हाथों की मांसपेशियों में मजबूती आती है। (और पढ़ें - मांसपेशियों के दर्द का उपाय)
  4. शरीर में जमा चर्बी कम होती है और शरीर सुडोल बनता है। (और पढ़ें - मोटापा घटाने के घरेलू उपाय)
  5. यह आसन पेट के रोगों के लिए बेहद लाभकारी है। (और पढ़ें - पेट में गैस का इलाज)

बकासन करने का तरीका हम यहाँ विस्तार से दे रहे हैं, इसे ध्यानपूर्वक पढ़ें –

  1. सबसे पहले पंजों को एक साथ जोड़कर खड़े हो जाएं। पूरे शरीर को शिथिल करें।
  2. हाथों को शरीर के सामने से ऊपर उठाते हुए, सिर के ऊपर ले जाएं।
  3. फिर कूल्हों से सामने की ओर झुकें और दोनों हाथों से दाहिने पैर की उंगलियों को पकड़ लें।
  4. धीरे से बाएं पैर को पीछे ले जाएं और उसे अधिक से अधिक ऊपर उठायें। साथ ही माथे को घुटनों की और लाएं।
  5. दोनों पैर सीधे रखें।
  6. बाएं पैर को नीचे करें और सीधे खड़े होने की स्थिति में लौट आएं।
  7. दूसरे पैर से भी इस अभ्यास को दोहराएं।
  8. इस आसन को दो बार जरूर करें फिर अपनी क्षमता के अनुसार अवधि को बढ़ाते रहें।   

बकासन में बरतने वाली सावधानियां कुछ इस प्रकार हैं –

  1. हाई ब्लड प्रेशर की समस्या से पीड़ित व्यक्ति इस आसन को न करें।
  2. ह्रदय रोग से ग्रस्त व्यक्तियों को यह आसन नहीं करना चाहिए।
  3. कंधे में दर्द होने पर इस आसन को करना बंद कर दें।
  4. इस आसन को करने के लिए जल्दबाजी नही करनी चाहिए।

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें