myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

जब आप युवा होते हैं उस समय आपकी उम्र आपके पक्ष में होती है और आप सभी प्रकार की स्वास्थ्य समस्या से दूर रहते हैं। लेकिन जैसे जैसे आपकी उम्र बढ़ती है, आपको अपने शरीर और अपने  महत्वपूर्ण अंगों पर अधिक ध्यान देना पड़ सकता है। कुछ ऐसी जीवनशैली बीमारियां हैं जिनके संकेतों पर ध्यान नहीं देते हैं तो आप स्वास्थ्य समस्याओं से घिर सकते हैं। तो चलिए जानते हैं ऐसे ही कुछ स्वास्थ्य समस्याओं के बारे में जिसकी जानकारी उम्र बढ़ने के साथ हर व्यक्ति को होनी चाहिए ताकि वो समय रहते इसके प्रभाव को नियंत्रित कर सके। 

  1. उम्र बढ़ने के कारण हो सकती है ह्रदय की समस्या - Effects of aging on the cardiovascular system in hindi
  2. उम्र बढ़ने से होती है इरेक्टाइल डिसफंक्शन की समस्या - Erectile dysfunction a normal part of aging in hindi
  3. आयु बढ़ने पर होता है प्रोस्टेट कैंसर - Prostate cancer is chiefly a disease of aging in hindi
  4. उम्र बढ़ने की प्रक्रिया में झड़ते है बाल - Aging cause hair loss in hindi

पुरुषों को महिलाओं की तुलना में हृदय संबंधी बीमारियों से ज्यादा सावधान रहना चाहिए ज्यादातर उन लोगों को जिन्हें 40 वर्ष से कम उम्र में ही मधुमेह की समस्या हो गयी हो। अध्ययनों से पता चला है कि जो लोग मधुमेह से पीड़ित हैं उन लोगों में मायोकार्डियल इन्फेक्शन से पीड़ित होने का खतरा अधिक रहता है। 47 से 50 की उम्र के बीच बिना मधुमेह वाले लोगों की तुलना में मधुमेह से ग्रस्त लोगों को स्ट्रोक या यहां तक कि समयपूर्व मृत्यु की समस्या हो सकती है। यह एक कारण है कि पुरुषों को सलाह दी जाती है कि वे अपने उतार-चढ़ाव वाले रक्त शर्करा के स्तर का ख्याल रखें और उम्र में हृदय को स्वस्थ रखने के लिए नियमित रूप से व्यायाम करें। (और पढ़ें – हृदय को स्वस्थ रखने के लिए खाएं ये आहार)

यह सच है कि उम्र बढ़ने के साथ साथ पुरुषों का प्रजनन स्वास्थ्य कम होने लगता है, पर इरेक्टाइल डिसफंक्शन (Erectile dysfunction) से पीड़ित होने पर यह उन्हें और अधिक असहनीय बना देता है। जैसे कि बिस्तर पर प्रदर्शन के मुद्दों पर इसका मनोवैज्ञानिक प्रभाव हो सकता है। वास्तव में अगर कोई व्यक्ति मधुमेह, उच्च कोलेस्ट्रॉल या उच्च रक्तचाप से पीड़ित है तो उसे 40 साल के उम्र के बाद इरेक्टाइल डिसफंक्शन की समस्या हो सकती है। तो पुरुष ध्यान दें - यदि आप अपने यौन जीवन की समस्या से पीड़ित नहीं रहना चाहते हैं तो देर होने से पहले अपने स्वास्थ्य की देखा भाल गंभीरता से करें। इसके लिए आप चुकंदर और अन्य सब्जियां खाएं ये आपकी कम कामेच्छा और इरेक्टाइल डिसफंक्शन से लड़ने में मदद कर सकते हैं। (और पढ़ें – यौनशक्ति कम होने के कारण)

यदि किसी को भी प्रोस्टेट कैंसर नहीं है तो सभी पुरुषों को प्रोस्टेट कैंसर के बारे में थोड़ा सावधान रहना चाहिए क्योंकि बुजुर्ग पुरुषों में यह बहुत आम समस्या है। प्रोस्टेट ग्रंथि की अन्य समस्याएं भी एंड्रोलॉजिस्ट के पास जाने का कारण बन सकती है। एक अध्ययन के मुताबिक 39 से कम उम्र के पुरुषों में 0.005% प्रोस्टेट कैंसर के विकास की संभावना बढ़ जाती है। वहीँ 40 से 59 साल के बीच के पुरुषों में प्रोस्टेट कैंसर के विकास की संभावना 2.2% बढ़ जाती है और 60 से 79 साल के बीच के पुरुषों में 13.7% प्रोस्टेट कैंसर के विकास की संभावना होती है। हालांकि उचित जाँच और उपचार इस से निपटने में बहुत अधिक प्रबंधनीय तरीके से मदद कर सकता है। याद रखें मूत्र में रक्त आना प्रोस्टेट कैंसर का लक्षण हो सकता है।(और पढ़ें – पौरुष ग्रंथि कैंसर की सर्जरी (प्रोस्टेट कैंसर सर्जरी))

पुरुषों में बालों के झड़ने की समस्या आम बात है और बहुत से पुरुषों तो पैटर्न गंजेपन की समस्या से बच भी नहीं सकते हैं। पुरुष और पैटर्न गंजापन के बीच एक मजबूत कड़ी है और इससे प्रोस्टेट कैंसर का खतरा बढ़ जाता है। (और पढ़ें - बाल झड़ने के कारण)

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें