संक्षेप में सुनें

नपुंसकता (इरेक्टाइल डिसफंक्शन या स्तंभन दोष) पुरुषों द्वारा यौन संबंध बनाने के लिए लिंग में उत्तेजना पाने या उत्तेजना बनाएं रखने में असमर्थता होने की समस्या है। यह समस्या कपल्स (जोड़ों) के लिए एक महत्वपूर्ण संकट पैदा कर सकती है।

कभी-कभी लिंग में उत्तेजना न आना असामान्य नहीं है। स्तंभन होने या उसे बनाएं रखने में अगर कभी-कभी विफलता हो जाए उसके बारे में चिंता ना करें, यह सामान्य समस्या होती है। कई पुरुष तनाव के दौरान ऐसा अनुभव करते हैं। बार-बार होने वाला स्तंभन दोष स्वास्थ्य समस्याओं का संकेत हो सकता है, जिनके इलाज की आवश्यकता होती है। यह भावनात्मक या रिलेशनशिप संबंधी कठिनाइयों का संकेत भी हो सकता है, जिन्हें डॉक्टर को दिखाना पड़ सकता है। इसके कुछ कारणों में बहुत अधिक शराब पीना, चिंता और थकावट आदि शामिल हैं। अगर यह जारी नहीं रहता को चिंता करने की कोई बात नहीं है। हालांकि नपुंसकता की समस्या अगर जारी रहती है, तो इसकी जांच एक डॉक्टर द्वारा करवानी चाहिए। जिन पुरूषों को अपने यौन प्रदर्शन से संबंधित समस्याएं हैं, उनको डॉक्टर से इस बारे में बात करने में हिचक हो सकती है। क्योंकि उनको लगता है कि यह एक शर्मनाक मसला हो सकता है। अगर आपको स्तंभन दोष या नपुंसकता से संबंधी समस्या है, तो डॉक्टर से इस बारे में अवश्य बात करें, भले ही आपको शर्म आ रही हो। कई बार इस समस्या के अंतर्निहित कारण का इलाज करना ही नपुंसकता को ठीक करने के लिए काफी होता है। नपुंसकता के उपचार में मुंह द्वारा खाई जाने वाली दवाएं (आमतौर पर टेबलेट आदि), लिंग में इन्जेक्शन और परामर्श आदि शामिल है। (और पढ़ें - नपुंसकता के घरेलू उपाय)

  1. नपुंसकता (स्तंभन दोष) के प्रकार - Types of Impotence in Hindi
  2. नपुंसकता (स्तंभन दोष) के लक्षण - Erectile Dysfunction (Impotence) Symptoms in Hindi
  3. नपुंसकता (नामर्दी) के कारण और जोखिम कारक - Erectile Dysfunction Causes & Risk Factor in Hindi
  4. नपुंसकता (स्तंभन दोष) से बचाव - Prevention of Impotence (Erectile Dysfunction) in Hindi
  5. नपुंसकता (स्तंभन दोष) का परीक्षण - Diagnosis of Erectile Dysfunction in Hindi
  6. नपुंसकता (स्तंभन दोष, नामर्दी) का इलाज - Erectile Dysfunction (Impotence) Treatment in Hindi
  7. नामर्दी (स्तंभन दोष) के जोखिम और जटिलताएं - Erectile Dysfunction Risks & Complications in Hindi
  8. नपुंसकता (इरेक्टाइल डिसफंक्शन) के घरेलू उपाय
  9. नपुंसकता (स्तंभन दोष) के लिए योग
  10. नपुंसकता (इरेक्टाइल डिसफंक्शन) की दवा - Medicines for Erectile Dysfunction in Hindi
  11. नपुंसकता (इरेक्टाइल डिसफंक्शन) की दवा - OTC Medicines for Erectile Dysfunction in Hindi
  12. नपुंसकता (इरेक्टाइल डिसफंक्शन) के डॉक्टर

नपुंसकता कितने प्रकार की हो सकती है?

नपुंसकता के दो प्रकार होते हैं:

  • प्राथमिक नपुंसकता (Primary Erectile dysfunction) – इस में वे पुरुष आते हैं, जो कभी भी स्तंभन प्राप्त या उसे बनाए नहीं रख पाते।
  • द्वितीय नपुंसकता (Secondary Erectile dysfunction) – जो व्यक्ति स्तंभन प्राप्त करने में शुरू में सक्षम होते हैं, लेकिन बाद में अक्षम हो जाते हैं। उस स्थिति को द्वितीय नपुंसकता के नाम से जाना जाता है। 

प्राथमिक नपुंसकता काफी दुर्लभ स्थिति होती है। यह लगभग हमेशा मानसिक कारकों या नैदानिक ​​रूप से कुछ स्पष्ट शारीरिक विकारों के कारण होता है।

द्वितीय नपुंसकता अधिक सामान्य स्थिति है और इसके 90 प्रतिशत मामलों में कार्बनिक एटीयोलॉजी होती है। द्वितीय नपुंसकता से ग्रस्त होने वाले ज्यादातर लोग रिएक्टिव साइकोलॉजी विकसित कर लेते हैं जो मिलकर इस समस्या को पैदा करती हैं। 

नपुंसकता (नामर्दी​) के संकेत व लक्षण क्या हो सकते हैं?

आपको स्तम्भन दोष (नामर्दी) हो सकता है, यदि आपको नियमित रूप से:-

  • लिंग में उत्तेजना लाने में परेशानी हो रही हो।
  • यौन गतिविधियों के दौरान उत्तेजना को बनाए रखने में कठिनाई होती हो।
  • सेक्स करने की इच्छा में कमी। (और पढ़ें - कामेच्छा बढ़ाने के उपाय और sex karne ke tarike)

नपुंसकता (नामर्दी) से संबंधित अन्य यौन विकारों में शामिल हैं:-

  • समय से पहले स्खलन।
  • स्खलन में देरी।
  • प्रयाप्त उत्तेजना होने के बाद भी संभोग सुख प्राप्त करने में असमर्थता

कुछ अन्य भावनात्मक लक्षण भी हो सकते हैं, जैसे शर्म, लज्जा या चिंता महसूस होना और शारीरिक संभोग में रूचि कम होना।

अगर किसी व्यक्ति को ये लक्षण नियमित रूप से हो रहे हैं, तो उसमें नपुंसकता से ग्रस्त मान लिया जाता है।

डॉक्टर को कब दिखाएं?

अगर आपको इन लक्षणों में से कोई भी हो, तो आपको अपने डॉक्टर से बात करनी चाहिए। खासकर यदि ये लक्षण दो या अधिक महीनों से चल रहें हो। आपका चिकित्सक यह निर्धारित कर सकता है कि आपके यौन रोग का कारण कौनसी अंतर्निहित स्थिति है जिसके उपचार की आवश्यकता है।

आपको डॉक्टर से दिखा लेना चाहिए यदि आपको:

  • अगर आपको स्तंभन को लेकर किसी प्रकार की चिंता है, या आपके स्खलन में विलंब हो रहा है तो इस बारे में डॉक्टर को दिखा लेना चाहिए।
  • यदि आपको डायबिटीज, हृदय रोग या अन्य कोई ऐसी समस्या है, जो स्तंभन दोष से जुड़ी हो सकती है।
  • अगर आपको स्तंभन दोष के साथ अन्य लक्षण महसूस हो रहे हैं।

नपुंसकता (नामर्दी​) क्यों होती है?

सामन्य स्तंभन के फंक्शन को नीचे दी गई प्रणालियों से जुड़ी किसी भी समस्या द्वारा प्रभावित किया जा सकता है -

नपुंसकता के कई संभावित कारण हैं। इसमें भावनात्मक और शारीरिक दोनों विकारों को शामिल कर सकते हैं। अधिकांश स्तंभन दोष वाहिकाओं, न्यूरोलॉजिक, साइकोलॉजिक और हार्मोन संबंधी विकारों से संबंधित होते है। ड्रग आदि का इस्तेमाल करना भी इसका एक कारण हो सकता है। कुछ सामान्य कारण हैं:

परिसंचरण संबंधी समस्याएं – स्तंभन तब होता है जब लिंग में खून भर जाता है। खून भरने के बाद लिंग के आधार में लगी वाल्व बंद हो जाती है जिससे खून अंदर ही रुक जाता है। डायबिटीज, हाई ब्लड प्रेशर, कोलेस्ट्रोल और एथेरोस्क्लेरोसिस (धमनियों का अकड़ना) आदि ये रोग लिंग स्तंभन की इस प्रक्रिया में हस्तक्षेप कर सकते हैं। ऐसी परिसंचरण समस्याएं नपुंसकता के लिए नंबर एक कारण होती हैं। अक्सर स्तंभन दोष को कार्डियोवास्कुलर रोगों का पहला ध्यान देने योग्य लक्षण माना जाता है।

सर्जरी – पेल्विस की सर्जरी और विशेष रूप से प्रोस्टेट कैंसर के लिए प्रोस्टेट की सर्जरी करने से वे नसें क्षतिग्रस्त हो जाती है, जिनकी स्तंभन प्राप्त करने और बनाए रखने में आवश्यकता पड़ती है।

रीढ़ की हड्डी या पेल्विक में चोट लगना – इनमें चोट लगने से स्तंभन को उत्तेजित करने वाली नस कट सकती है। (और पढ़ें - रीढ़ की हड्डी के लिए योगासन)

हार्मोनल विकार – टेस्टिक्युलर फेलियर, पिट्यूटरी ग्रंथि संबंधी समस्याएं या अन्य कुछ प्रकार की दवाओं के सेवन से टेस्टोस्टेरोन (पुरुष सेक्स हार्मोन) में कमी हो सकती है।

डिप्रेशन (Depression) – यह नपुंसकता का एक सामान्य कारण है। डिप्रेशन एक शारीरिक डिसऑर्डर है और साथ ही साथ एक मनोरोग (मानसिक रोग) भी है। डिप्रेशन के शारीरिक प्रभाव भी हो सकते हैं। अगर आप यौन स्थितियों में असहज महसूस करते हैं, तो इसके शारीरिक प्रभाव हो सकते हैं।

शराब की लत – लंबे समय से शराब की लत लगी होना नपुंसकता को विकसित कर सकती है, भले की सेक्स करते समय खून में बिलकुल भी अल्कोहल ना हो।

पेरोनी रोग – लिंग के अंदर निशान वाले ऊतक (Scar tissue) विकसित होना।

धूम्रपान – सिगरेट आदि पीने से रक्त वाहिकाएं संकुचित हो जाती हैं। जिससे लिंग में खून का बहाव कम हो जाता है और इस कारण से स्तंभन दोष हो जाता है। (और पढ़ें - सिगरेट पीना नहीं छोड़गें तो होंगे ये नुकसान)

प्रदर्शन की चिंता - संभोग के दौरान अच्छा प्रदर्शन करने आदि को लेकर चिंतित होने के कारण अधिकांश पुरुषों में कुछ बिंदुओं पर स्तंभन दोष की समस्या हो सकती हैं। अगर ऐसा अक्सर हो रहा है, तो सेक्स की प्रत्याशा (पूर्वानुमान) तंत्रिका प्रतिक्रियाओं को ट्रिगर करती हैं और स्तंभन नहीं हो पाता। यह सारी प्रक्रिया दोषपूर्ण चक्र के रूप में काम करने लगती हैं।

स्थितिगत साइकोलॉजिकल समस्याएं – ऐसी समस्याएं कुछ लोगों को कुछ विशेष स्थितियों या कुछ लोगों के साथ ही होती हैं। रिश्तों में परेशानियां होने के कारण कुछ पुरुष अपने साथी के साथ पूरी तरह से स्तंभन प्राप्त नहीं कर पाते लेकिन किसी और के साथ स्तंभन की समस्याएं नहीं होती।

कैंसर – कैंसर उन नसों व वाहिकाओं के कार्यों में हस्तक्षेप कर सकता है, जो स्तंभन प्रक्रिया के लिए जरूरी होती हैं।

दवाएं – नीचे कुछ ऐसे प्रकार के ड्रग्स के बारे में बताया गया है, जो नपुंसकता का कारण बन सकते हैं।

  • एंटी कैंसर मेडिकेशन (कैंसर-विरोधी दवाएं)
  • एंटीडिप्रैसेंट्स (जैसे साइटेलोप्राम, पैरोक्सेटीन, सर्टेलीन, एमीट्रिप्टिलीन)
  • कोकीन, हेरोइन, गांजा (और पढ़ें - नशे की लत)
  • एस्ट्रोजन
  • नशीले पदार्थ (opioids)
  • डाइयुरेटिक्स (स्पायरोनोलैक्टोन, क्लोरथैलीडॉन)
  • चिंता-निवारक दवाएं और सीडेटिव डायजेपैम

नपुंसकता इनमें से कुछ कारकों या किसी एक के कारण हो सकता है। यही कारण है कि अपने चिकित्सक की सहायता लें, ताकि वे किसी भी अंतर्निहित चिकित्सा स्थिति का पता कर सकें या उनका इलाज कर सकें।

नपुंसकता को विकसित करने वाले जोखिम कारक

इसके जोखिम कारकों में निम्न शामिल हैं:

स्तंभन दोष की रोकथाम कैसे की जा सकती है?

खाने-पीने और रहने आदि के तरीकों में ऐसे कई बदलाव किए जा सकते हैं, जिससे स्तंभन स्वास्थ्य पर एक साकारात्मक प्रभाव पड़ता है। यह भी हो सकता है, कि आपको पता भी ना हो कि ये चीजें स्तंभन दोष से जुड़ी हैं, लेकिन काफी सारे लोगों ने यह पाया कि इन कारकों में कुछ बदलाव करने से उनके स्तंभन में सुधार आया है। इन बदलावों में निम्न शामिल हो सकते हैं:

  • स्वस्थ और संतुलित आहार का सेवन करना – कुपोषित होने से स्तंभन दोष होने की संभावना नहीं बढ़ती। लेकिन अगर आप स्वस्थ आहार नहीं खाते तो आपके अंत में कोलेस्ट्रॉल बढ़ना, हाई ब्लड प्रेशर या डायबिटीज जैसे रोग हो जाते हैं। इन रोगों के होने से नपुंसकता की संभावना भी बढ़ जाती हैं।
  • धूम्रपान बंद करना – जैसा कि ऊपर बताया गया है, कि धूम्रपान सामान्य रूप से खून के प्रवाह पर नाकारात्मक प्रभाव डालता है, जिससे नपुंसकता जैसी समस्याएं हो सकती हैं।
  • शराब की मात्रा में कमी करना – शराब को कम करने या बंद करने से अन्य स्वास्थ्य के फायदों के साथ-साथ नपुंसकता पर भी एक साकारात्मक प्रभाव पड़ता है।
  • वजन कम करना – यह हर किसी की मदद नहीं करेगा। लेकिन अधिक वजन होना नपुंसकता की समस्या को बढ़ावा दे सकता है।
  • तनाव का स्तर कम करना – तनाव, ब्लड प्रेशर से जुड़े मसलों का कारण बन सकता है। लेकिन यह उन सिग्नलों में भी हस्तक्षेप कर सकता है, मस्तिष्क द्वारा स्तंभन करने के लिए भेजे जाते हैं।

स्तम्भन दोष का परीक्षण कैसे किया जाता है?

आपके डॉक्टर आपको लक्षणों और स्वास्थ्य संबंधी इतिहास के बारे में प्रश्न पूछेंगे। वे यह निर्धारित करने के लिए परीक्षण कर सकते हैं कि आपके लक्षण किसी अंतर्निहित स्थिति के कारण तो नहीं हैं।

कई व्यक्तियों में स्तंभन का परीक्षण करने के लिए और उसके लिए उपचार निर्धारित करने के लिए डॉक्टर को शारीरिक परीक्षण व कुछ सवाल (पिछली जानकारी से जुड़े) पूछने की ही जरूरत होती है। अगर आपको कोई दीर्घकालिक स्वास्थ्य समस्या है या आपके डॉक्टरों को लगता है कि इसमें कोई अंतर्निहित समस्या है। तो ऐसी स्थिति में आपको अन्य टेस्ट करवाने या किसी विशेषज्ञ के पास जाना पड़ सकता है।

अंतर्निहित स्थितियों के लिए टेस्टों में निम्न भी शामिल हो सकते हैं:

  • शारीरिक परीक्षण – इस टेस्ट में आपके लिंग व वृषणों की सावधानीपूर्वक जांच की जा सकती है और उत्तेजना की जांच करने के लिए नसों को चेक किया जा सकता है। आपका ऐसा परीक्षण किया जा सकता है जिसमें हृदय और फेफड़ों की आवाजें सुनकर उनकी जांच की जाती है। इसके अलावा इस टेस्ट में ब्लड प्रेशर चेक किया जाता है और लिंग व वृषणों की जांच की जाती है। प्रोस्टेट की जांच करने के लिए रेक्टल इग्जाम (गुदा परीक्षण) भी किया जा सकता है।
  • खून टेस्टहृदय रोग, डायबिटीज, कोलेस्ट्रॉल का निम्न स्तर या अन्य स्थितियों की जांच करने के लिए आपके खून का सैंपल निकाल कर उसे लैब में भेजा जा सकता है।
  • यूरिन टेस्ट (मूत्र विश्लेषण) – खून टेस्ट की तरह पेशाब के सैंपल का इस्तेमाल भी डायबिटीज व अन्य स्वास्थ्य से जुड़ी समस्याओं की जांच करने के लिए किया जाता है।
  • अल्ट्रासाउंड – यह टेस्ट आमतौर पर एक विशेषज्ञ द्वारा अस्पताल या लैब में किया जाता है। इस टेस्ट में एक छड़ी जैसे उपकरण का इस्तेमाल किया जात है, इसे ट्रांसड्यूसर (Transducer) कहा जाता है। ट्रांसड्यूसर को उस वाहिका के ऊपर से फेरा जाता है, जो लिंग में खून पहुंचाती है। इस प्रक्रिया का द्वारा एक वीडियो छवि तैयार की जाती है, जिससे डॉक्टर को वाहिका संबंधी अगर कोई समस्या है तो उसका पता चल जाता है। इस टेस्ट को कई बार लिंग में एक इंजेक्शन लगाने के साथ किया जाता है। यह इन्जेक्शन लिंग के उत्तेजित करता है जिससे स्तंभन की प्रक्रिया के लिए रक्त का बहाव बढ़ जाता है।
  • साइकोलॉजिकल परीक्षण – तनाव और नपुंसकता के अन्य साइकोलॉजिकल कारणों पता लगाने के लिए डॉक्टर इनसे संबंधी कुछ सवाल पूछ सकते हैं।

नॉक्टर्नल पेनाइल ट्यूम्य्सेनस (एनपीटी) टेस्ट -

एनपीटी टेस्ट एक पोर्टेबल, बैटरी-संचालित डिवाइस का उपयोग करके किया जाता है जो आप सोते हुए अपनी जांघ पर पहनते हैं। डिवाइस, रात की उत्तेजना की गुणवत्ता का मूल्यांकन करता है और डेटा संग्रहीत करता है, जिसे आपके चिकित्सक बाद में एक्सेस कर सकते है। आपका डॉक्टर इस ब्योरे का उपयोग आपके लिंग की कार्यविधि और नपुंसकता को बेहतर ढंग से समझने के लिए कर सकता है।

रात्रिकालीन उत्तेजना जब आप सो रहे हो तब होती है और जो एक स्वस्थ लिंग का सामान्य हिस्सा होती हैं।

नपुंसकता का इलाज कैसे किया जा सकता है?

स्तंभन दोष (नामर्दी) के लिए उपचार उसके कारण पर निर्भर करेगा। आपको दवाइयों, जीवनशैली में परिवर्तन या चिकित्सा सहित उपचारों के संयोजन का भी उपयोग करना पड़ सकता है।

नपुंसकता (इरेक्टाइल डिसफंक्शन या ईडी या स्तंभन दोष) के लिए दवा:-

आपके डॉक्टर नपुंसकता के लक्षणों को प्रबंधित करने में मदद करने के लिए कोई दवा लिख ​​सकते हैं। कौनसी दवा काम करेगी ये पता लगाने के लिए पहले आपको कुछ दवाएं आजमाने की आवश्यकता हो सकती है। इन दवाओं के दुष्प्रभाव हो सकते हैं इसलिए यदि आपको दुष्प्रभाव का सामना करना पड़ रहा है, तो अपने डॉक्टर से बात करें। वे कोई अन्य दवा की सिफारिश कर सकते हैं।

निम्नलिखित दवाएं नपुंसकता के इलाज में मदद करने के लिए आपके लिंग में रक्त के प्रवाह को उत्तेजित करती हैं:

  • एलप्रोस्टेडिल (कवरजेक्ट) [Alprostadil (Caverject)]
  • अवानफिल (स्टेन्डरा) [Avanafil (Stendra)]
  • सिल्डेनाफिल (वियाग्रा) [Sildenafil (Viagra)]
  • तडालफिल (सीआलिस) [Tadalafil (Cialis)]
  • वर्डेनफिल (लेविट्रा) [Vardenafil (Levitra)]

नोट: कोई भी दवा आपके डॉक्टर की सलाह के बिना ना लें।

ये दवाए स्वचालित रूप से स्तंभन विकसित नहीं करती हैं। लिंग की नसों से नाइट्रिक ऑक्साइड जारी होने के लिए उन्हें पहले यौन उत्तेजनाएं विकसित होने की आवश्यकता पड़ती है। ये दवाएं यौन उत्तेजना विकसित करने वाले सिग्नलों को बढ़ा देती हैं, जिसे कुछ पुरूषों स्तंभन प्रक्रिया ठीक से काम करने लग जाती है। स्तंभन दोष की ओरल दवाएं (टेबलेट व कैपसूल आदि) कामोत्तेजक (Aphrodisiacs) नहीं होती। ये दवाएं उत्साह पैदा नहीं करती और जिन पुरूषों की स्तंभन प्रक्रिया सामान्य रूप से काम कर रही है, उनको ये दवाएं नहीं लेनी चाहिए।

नपुंसकता (इरेक्टाइल डिसफंक्शन या ईडी या स्तंभन दोष) के लिए टॉक थेरेपी -

स्तंभन दोष का एक सामान्य कारण मनोवैज्ञानिक कारक है, जिसमें शामिल हैं:

यदि आप मनोवैज्ञानिक कारण से नपुंसकता का सामना कर रहे हैं, तो आपको टॉक थेरेपी के उपचार से फायदा हो सकता है।

यह थेरेपी आपके मानसिक स्वास्थ्य को प्रबंधित करने में आपकी सहायता कर सकती है। आपको अपने चिकित्सक के साथ कई सत्रों में काम करना होगा और आपके चिकित्सक प्रमुख तनाव या चिंता के कारकों, सेक्स के आसपास की भावनाओं या अवचेतन संघर्षों से संबंधित आपके यौन जीवन को प्रभावित करने वाले कारकों से उभरने में आपकी मदद करेगें।

अगर नपुंसकता के कारण आपके रिलेशनशिप पर भी असर पड़ रहा है, तो आप किसी रिश्ते सलाहकार (Relationship counselor) से भी बात कर सकते हैं। रिलेशनशिप के लिए ली गई सलाह आपके पार्टनर के साथ भावनात्मक रूप से फिर से जुड़ने में मदद कर सकती है। इससे स्तंभन दोष की समस्या में भी सुधार आ सकता है।

नपुंसकता के लिए अन्य इलाज -

1) प्रोस्टेटिक मालिश - कुछ पुरुष प्रोस्टेटिक मालिश नामक मालिश चिकित्सा के एक तरीके का उपयोग करते हैं। डॉक्टर आपके लिंग में रक्त के प्रवाह को बढ़ावा देने के लिए आपके ग्रोइन (पेट और जांघ के बीच का भाग) में और आसपास के ऊतकों को मालिश करते हैं।

2) एक्यूपंक्चर - एक्यूपंक्चर, साइकोलॉजिकल से संबंधित नपुंसकता का इलाज करने में मदद कर सकता है। आपके द्वारा किसी भी प्रकार का सुधार नोटिस करने से पहले आपको डॉक्टर से कई बार अपॉइंटमेंट लेना पड़ सकता है।

3) पेल्विक फ्लोर मांसपेशियों की एक्सरसाइज – मध्यम से जोरदार एरोबिक एक्टीविटी, स्तंभन दोष में सुधार ला सकती है। हालांकि कुछ पुरूषों में इस गतिविधि से कम लाभ मिल पाता है, इनमें वे लोग शामिल हैं जिनको कोई हृद्य संबंधी स्थिर रोग है या अन्य कोई विशेष मेडिकल समस्या है।  

यहां तक कि कम जोरदार (Less strenuous) एक्सरसाइज को नियमित रूप से करने पर भी स्तंभन दोष के जोखिम को कम किया जा सकता है। गतिविधियों का स्तर बढ़ाने से नपुंसकता के जोखिम को और कम किया जा सकता है।

पेल्विक फ्लोर मांसपेशियों की एक्सरसाइज को नियमित रूप से करके लिंग के कार्यों में सुधार होने लगता है, इससे सामान्य स्तंभन प्रक्रिया को भी फिर से प्राप्त किया जा सकता है।

कीगल एक्सरसाइज एक बहुत ही सरल व्यायाम होता है, इससे पेल्विक फ्लोर की मांसपेशियों को मजबूत बनाया जा सकता है। इस एक्सरसाइज को करने के तरीके निम्न हैं:

  1. सबसे पहले पेल्विक की मांसपेशियों की पहचान करें। इनको पहचानने के लिए पेशाब करने के दौरान प्रवाह को बीच में ही रोकने की कोशिश करें। जब आप पेशाब की धारा को बीच में ही रोकने की कोशिश करते हैं, तो रोकने के लिए इस्तेमाल की गई मांसपेशियां पेल्विक फ्लोर की ही होती हैं। इन मांसपेशियों को संकुचित करने के दौरान आपके वृषण भी ऊपर की तरफ उठते हैं।
  2. अब आप पेल्विक फ्लोर मांसपेशियों की पहचान कर चुके हैं। इसलिए इन मांसपेशियों को 5 से 20 सेकंड संकुचित (सिकोड़ना) करें और उसके बात सामान्य स्थिति में छोड़ दें।
  3. इस इस प्रक्रिया को लगातार 10 से 20 बार अवश्य करें। इस व्यायाम को पूरे दिन में कम से कम तीन से चार बार अवश्य करें
  4. यह सुनिश्चित कर लें कि आप इस प्रक्रिया के दौरान स्वाभाविक रूप से साँस ले रहे हैं और पेशाब करने के लिए जोर ना लगाएं। इसकी बजाएं मांसपेशियों को एक साथ संकुचित होने की गति में लाएं।

4) टेस्टोस्टेरॉन रिप्लेसमेंट – कुछ पुरूषों में टेस्टोस्टेरॉन हार्मोन का निम्न स्तर होने के कारण स्तंभन दोष और जटिल हो सकता है। ऐसी स्थिति के लिए अक्सर टेस्टोस्टेरॉन रिप्लेसमेंट थेरेपी का सुझाव दिया जाता है। इस थेरेपी को पहली थेरेपी के रूप में या किसी अन्य थेरेपी के साथ संयोजन के रूप में किया जा सकता है।

5) - अपनी दवाएं बदलें - कुछ मामलों में, अन्य बिमारियों का इलाज करने वाली दवाएं इरेक्टाइल डिसफंक्शन का कारण हो सकती हैं। उन दवाइयों के बारे में अपने डॉक्टर से बात करें जो आप ले रहे हैं। इनके बदले कोई अन्य दवाएं हो सकती हैं जिन्हें आप ले सकते हैं।

पहले अपने डॉक्टर से बात करें बिना दवाओं को लेना बंद न करें।

स्तंभन दोष की जटिलताएं क्या हो सकती हैं?

नपुंसकता (नामर्दी) के परिणास्वरूप होने वाली जटिलाओं में निम्न शामिल हो सकती हैं।

Dr. Kapil Sharma

Dr. Kapil Sharma

सामान्य चिकित्सा

Dr. Venkatesh

Dr. Venkatesh

सामान्य चिकित्सा

Dr. Neethu Mary

Dr. Neethu Mary

सामान्य चिकित्सा

नपुंसकता (इरेक्टाइल डिसफंक्शन) के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

Medicine NamePack SizePrice (Rs.)
AlpostinAlpostin 500 Mcg Injection6372.0
BioglandinBioglandin 500 Mcg Injection5850.0
Prostin VrProstin Vr 500 Y Injection106.0
EdgonEdgon 10 Mg Tablet36.92
EscotEscot 100 Mg Tablet57.0
Adams DelightAdams Delight 100 Mg Tablet13.0
AlsigraAlsigra 100 Mg Tablet121.0
AnytimeAnytime 100 Mg Jelly47.0
AssuransAssurans 20 Mg Tablet173.0
BigfunBigfun 100 Mg Jelly10.0
BisonBison 50 Mg Capsule88.0
CavertaCaverta 100 Mg Tablet235.0
DilkhushDilkhush 100 Mg Tablet11.0
DrxDrx 100 Mg Tablet58.0
DuragaDuraga 100 Mg Tablet120.0
EdegraEdegra 100 Mg Tablet117.0
ErecErec 50 Mg Tablet37.0
ErixErix 100 Mg Tablet27.0
EuniceEunice 100 Mg Tablet11.0
ExgraExgra 100 Mg Tablet108.0
ExigraExigra 100 Mg Tablet12.0
ExygraExygra 100 Mg Tablet8.0
IntagraIntagra 100 Mg Tablet8.0
Jean SiagraJean Siagra 100 Mg Tablet100.0
JoshilaJoshila 100 Mg Tablet35.0
JuanJuan 100 Mg Tablet222.0
Manforce TabletManforce 100 Mg Tablet232.0
ManpilManpil 100 Mg Tablet11.0
NyteNyte 50 Mg Tablet75.0
PahPah 20 Mg Tablet110.0
Powerman (Psychotropics)Powerman 100 Mg Tablet10.0
Power VegraPower Vegra 100 Mg Tablet54.0
SatisfactionSatisfaction 100 Mg Tablet150.0
SatisfilSatisfil 50 Mg Tablet68.0
SdfSdf 100 Mg Tablet10.0
SelegSeleg 25 Mg Tablet145.0
S FilmS Film 50 Mg Tablet885.0
SildaprepSildaprep 25 Mg Tablet165.0
Tuf N TightTuf N Tight 100 Mg Tablet14.0
Viagra TabletViagra 100 Mg Tablet1055.0
VigreksVigreks 100 Mg Tablet120.0
VigronVigron 50 Mg Tablet11.0
VistagraVistagra 100 Mg Tablet12.0
VygexVygex 100 Mg Tablet37.0
WavegraWavegra 100 Mg Tablet12.0
WingoraWingora 100 Mg Tablet10.0
ZeagraZeagra 100 Mg Tablet125.0
ZestograZestogra 100 Mg Tablet11.0
1 2 31 2 3 100 Mg Tablet12.0
AgraAgra 100 Mg Tablet10.0
AlivherAlivher 25 Mg Tablet149.0
AndrozAndroz 100 Mg Tablet124.0
Double ForceDouble Force Tablet30.0
DuragraDuragra 50 Mg Tablet13.0
EnthusiaEnthusia 100 Mg Tablet14.0
ErevaEreva 25 Mg Tablet142.0
EriactaEriacta 100 Mg Tablet14.0
HonygraHonygra 50 Mg Tablet73.0
KamagraKamagra 100 Mg Tablet131.0
LupigraLupigra Tablet10.0
OptithikOptithik 25 Mg Tablet149.0
Penegra TabletPenegra 100 Mg Tablet183.0
Penegra XpressPenegra Xpress 25 Mg Tablet139.0
Powerman (Abbott)Powerman 50 Mg Tablet125.0
PrograProgra 100 Mg Tablet73.0
PulmodayPulmoday 20 Mg Tablet86.0
PulmosilPulmosil 0.8 Mg Injection1605.0
RezumRezum 50 Mg Tablet40.0
RockyRocky 50 Mg Tablet75.0
RomentoRomento 100 Mg Tablet134.0
SexigraSexigra 100 Mg Tablet8.0
SidnakindSidnakind Tablet13.0
SilagraSilagra 100 Mg Tablet132.0
SildaflowSildaflow 20 Mg Tablet100.0
SildenafilSildenafil 50 Mg Tablet7.0
Sildenafil CitrateSildenafil Citrate 50 Mg Tablet80.0
SilnafilSilnafil 25 Mg Tablet179.0
SpegraSpegra 100 Mg Tablet105.0
Suhagra TabletSuhagra 100 Mg Tablet175.0
Target PlusTarget Plus Tablet16.0
ToniteTonite 100 Mg Tablet22.0
UnigraUnigra 100 Mg Tablet14.0
UpliftUplift 50 Mg Tablet61.0
VasosureVasosure 20 Mg Tablet164.0
VegaVega 100 Mg Tablet15.0
VigoraVigora 100 Mg Tablet116.0
VigoreVigore Spray170.0
VirahaViraha 100 Mg Tablet12.0
WowWow 50 Mg Tablet56.0
ZenegraZenegra 100 Mg Tablet9.0
Zenegra RedZenegra Red Red 100 Mg Tablet3.0
Ed SaveEd Save 20 Mg Tablet39.0
ForzestForzest 10 Mg Tablet78.0
MegalisMegalis 10 Mg Tablet142.0
MildfilMildfil Tablet129.0
ModulaModula 5 Mg Tablet162.0
PulmopresPulmopres 20 Mg Tablet275.0
Super ManforceSuper Manforce 20 Mg Tablet140.0
TadactTadact 10 Mg Tablet88.0
TfilTfil 10 Mg Tablet98.0
ZydalisZydalis 10 Mg Tablet Md104.9
Bigfun 36Bigfun 36 Tablet16.25
EdonEdon 10 Tablet96.08
FildaFilda 10 Mg Tablet81.93
FilgudFilgud 10 Mg Tablet72.82
GetgoGetgo 10 Mg Tablet68.0
PopupPopup 20 Mg Tablet86.53
TadacipTadacip 10 Mg Tablet73.86
TadafilTadafil 10 Mg Tablet80.47
TadafloTadaflo 5 Mg Tablet250.0
TadaforceTadaforce 20 Mg Tablet280.0
Tadalis SxTadalis Sx 20 Mg Tablet53.0
TadoraTadora 20 Mg Tablet18.75
TadovasTadovas 20 Mg Tablet238.1
TafilTafil 5 Mg Tablet120.0
TazzleTazzle 10 Mg Tablet752.0
Td 36Td 36 10 Mg Tablet72.32
T FilmT Film 10 Mg Disintegrating Strip147.5
TtabTtab 5 Mg Tablet124.11
UprizeUprize 10 Mg Tablet80.21
UpwardzUpwardz 10 Mg Tablet96.0
TadaTada 20 Mg Tablet25.31
Tadalafil 20 Mg TabletTadalafil 20 Mg Tablet7.63
TadilTadil 180 Mg Tablet50.47
Anas DeeAnas Dee Gel37.17
BiocaineBiocaine 2% Injection12.5
Lignocaine (Neon)Lignocaine 2% Injection17.0
Lox HeavyLox Heavy 2% Injection18.75
LoxicardLoxicard 2% Infusion52.0
NummitNummit 15% W/W Spray220.0
WocaineWocaine 2% Gel27.06
Xylocaine AdrenalineXylocaine Adrenaline 2% Injection30.7
Xynova LonzengeXynova Lonzenge 200 Mg Tablet52.56
AnescaineAnescaine 2% Gel38.0
LidfastLidfast 2% Injection31.25
LidocynLidocyn Gel53.9
Lidocyn PlusLidocyn Plus Injection41.5
LignoxLignox 1% Injection26.97
Lox (Neon)Lox 2% Injection32.5
OculanOculan 1% Injection144.2
ResocaineResocaine 2% Gel29.0
Xylo(Astra)Xylo 2% Infusion36.22
XylocaineXylocaine 1%W/V Injection34.5
Xylocaine HeavyXylocaine Heavy 5% Injection4.5
XylocardXylocard 2% Injection43.0
XyloxXylox 0.2% Gel37.17
AlocaineAlocaine Injection18.0
LcaineLcaine Injection30.0
NircaineNircaine Injection80.92
UnicainUnicain 2% Injection14.5
Wocaine AWocaine A Injection583.31
XylonumbXylonumb 2% Injection26.0
XynovaXynova 2% Gel39.65
ZelcaineZelcaine Injection16.58
Lignocaine (Azp)Lignocaine (Azp) 4% Cream11.87
LignocareLignocare Gel19.37
OcukaneOcukane 4% Solution27.48
PilenilPilenil 0.70% Ointment80.0
BiosoreBiosore 2% Gel38.5
CalignoCaligno Jelly37.5
GesicainGesicain 5% Ointment29.76
Suhagra DuralongSuhagra Duralong Spray264.0
Vigora SprayVigora 15 Gm Spray170.0
Xynova EndoXynova Endo 200 Mg Lozenges59.0
Zenegra LidoZenegra Lido Spray69.87
ZyloZylo 5% Ointment18.75
CaldobCaldob 500 Mg Capsule120.0
PaparinPaparin 2 Ml Injection14.52
UdzireUdzire 100 Mg Tablet1150.0
Alivher EsAlivher Es 1 Mg/25 Mg Tablet0.0
Endothik EsEndothik Es 1 Mg/25 Mg Capsule0.0
PrimiwalPrimiwal 2 Mg/25 Mg Tablet0.0
Prostium EsProstium Es 2 Mg/25 Mg Capsule Dr0.0
EndonormEndonorm Tablet218.25
AnomexAnomex Suppository54.0
CorectCorect Suppository66.0
PileumPileum Suppository60.0
AnovateAnovate Cream83.5
Pilo GoPilo Go Cream55.0
Proctosedyl BdProctosedyl Bd Cream58.85
ProctosedylProctosedyl Ointment53.6
AudoticAudotic Ear Drops58.78
Obpex Eye DropsObpex Eye Drops29.0
OtiflamOtiflam Ear Drops51.6
OtorestOtorest Ear Drop52.0
Otras OtOtras Ot Drops42.0
Bestoflox ClBestoflox Cl Ear Drops33.93
Clodibiotic Ear DropClodibiotic Ear Drop48.0
DrepDrep Ear Drop46.55
Myclin OMyclin O Ear Drops30.5
CandibioticCandibiotic Ear Drop65.0
Orecure PlusOrecure Plus Ear Drops59.7
AlbioticAlbiotic Ear Drop52.0
GlybioticGlybiotic Ear Drop45.0
MycoticMycotic Ear Drop48.0
OtidropOtidrop Ear Drops25.33
OtocinOtocin Ear Drop39.6
Smuth SuspensionSmuth Suspension65.15
Dejac TDejac T Tablet213.0
Td PillTd Pill Tablet230.0
UpholdUphold 10 Mg/30 Mg Tablet234.0
DepofilDepofil Tablet200.0
DentacainDentacain 8.7%/2% Gel58.0
CurasilCurasil Gel32.0
Orogard SgOrogard Sg Ointment20.0
SelenoSeleno Gel45.0
LidocamLidocam Mouth Wash84.75
Lignocad AdrLignocad Adr Injection12.5
Lignox+AdrenlineLignox+Adrenline 0.005 Mg/2% Injection25.86
XicaineXicaine 0.022 Mg/2% Injection21.5
Mugel Freshora 8.7%W/W/2.0%W/W GelMugel Freshora 8.7%W/W/2.0%W/W Gel40.0
Oraflora LaOraflora La 8.70% W/W/2% W/W Gel48.4
ViloralViloral 8.7%W/W/2%W/W Gel51.9
Anabel CtAnabel Ct 8.7% W/W/2% W/W Gel53.0
DentogelDentogel 8.7%/2% Gel57.7
MyclinMyclin 1%W/W/2%W/W Ear Drops25.0
RaystatRaystat 1%W/W/2%W/W Eye/Ear Drops44.45
NumbexNumbex Cream160.0
XyloplusXyloplus Ointment37.0
AsthesiaAsthesia Cream530.0
DolocaineDolocaine Cream137.9
Xynova PXynova P Cream144.0
Orabliss 2%/2% GelOrabliss 2%/2% Gel61.0
Otobiotic Sf 0.3%W/V/1%W/V/2%W/V Eye DropOtobiotic Sf 0.3%W/V/1%W/V/2%W/V Eye Drop39.0
Quik KoolQuik Kool Gel65.0
Ora FastOra Fast Cream40.0
Orex LoOrex Lo Gel58.3
Sd PillSd Pill 50 Mg/30 Mg Tablet240.0
DaposureDaposure 50 Mg/30 Mg Tablet200.0
Da Sutra 30 XDa Sutra 30 X 50 Mg/30 Mg Tablet220.0
DuraforceDuraforce 50 Mg/30 Mg Tablet190.47
Kutub 30 XKutub 30 X Tablet220.0
Manforce StaylongManforce Staylong Condom Pineapple24.92
PowerforcePowerforce 50 Mg/30 Mg Tablet62.25
Suhagra ForceSuhagra Force Tablet199.0
SustimaxSustimax Tablet201.45
ThrilpilThrilpil Tablet230.0
Viglast SViglast S 50 Mg/30 Mg Tablet190.47
Softee(Leo)Softee Laxative Syrup94.9
Sufrate LaSufrate La Cream75.0
TricozolTricozol Ear Drop50.5
Tympalin CTympalin C Drops45.0
PilcarePilcare Cream29.0
Lignocaine 2% InjectionLignocaine 2% Injection15.13
Lignocaine (Cdl)Lignocaine 213 Mg Injection10.0
Lignocip 2 % InjectionLignocip 2 % Injection29.96
XcinXcin Gel138.1
HadensaHadensa Capsule40.0

नपुंसकता (इरेक्टाइल डिसफंक्शन) के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

OTC Medicine NamePack SizePrice (Rs.)
Dabur Shila X OilDabur Shila X Oil 20ml Pack
Deemark Shakti PrashShakti Prash
Dabur Camne Vid TabletsDabur Camne Vid Tablets
Dabur Shrigopal TailaDabur Shrigopal Tail
Herbal Hills Safed Musli PowderSafed Musli Powder 100 Gms Powder563.0
Himalaya Tentex RoyalHimalaya Tentex Royal Capsules120.0
Himalaya Himcolin GelHimalaya Himcolin Gel130.0
Himalaya Confido TabletsHimalaya Confido Tablets100.0
Himalaya Tentex ForteHimalaya Tentex Forte Tablets529.0
Himalaya Gokshura TabletsHimalaya Gokshura Capsules150.0
Himalaya Kapikachhu CapsulesHimalaya Kapikachhu Capsules110.0
Baidyanath Poorna ChandrodayaBaidyanath Poorna Chandrodaya Table205.0
Baidyanath Shatavaryadi ChurnaBaidyanath Shatavaryadi Churna Combo Pack Of 2124.0
Baidyanath Shri Gopal OilBaidyanath Shri Gopal Tel (Ky)240.0
Baidyanath Kamini Vidravan RasBaidyanath Kaminividravan Ras1649.0
Baidyanath Jatiphaladi Bati (Stambhak)Baidyanath Jatiphaladi Bati (Stambhak)799.0
Baidyanath Ashwagandhadi ChurnaBaidyanath Ashwagandhadi Churna63.0
Dabur Ashwagandha ChurnaDabur Ashwagandha Churna Pack Of 2136.0
Dabur Stimulex OilDabur Stimulex Oil96.0
Dabur Shrigopal TailDabur Shrigopal Tail220.0
Dabur Shilajit GoldDabur Shilajit Gold205.0
Baidyanath Manmath Ras Manmath Ras By Baidyanath122.0
Baidyanath Vita-ex gold plusbaidyanath vita-ex gold plus cap 20 capsules585.0
Patanjali Youvan ChurnaPatanjali Youvan Churna200.0
Hamdard Tila AzamHamdard Tila Azam50.0
Hamdard Majun Shabab AwarHamdard Majun Shabab Awar168.0
Japani OilJapani Oil171.0
Tentex RoyalTentex Royal Capsule120.0
Zandu Vigorex SFZandu Vigorex Sf Capsule175.0

क्या आप या आपके परिवार में किसी को यह बीमारी है? सर्वेक्षण करें और दूसरों की सहायता करें

नपुंसकता (इरेक्टाइल डिसफंक्शन) से जुड़े सवाल और जवाब

सवाल 8 महीना पहले

Sir me shadi shuda bhut dino se penis erection bilkul nahi ho raha h ladkiyo k liye koi feeling nahi h gudda me bhi har waqt kuch mahsus hota h ghabrahat rahti h dhadkan tej ho jaati h

Dr. Honey Arora BDS

Shahzad ji. Aap bahut stress me hain. Sabse pehle stress na le kyunki aisa ho sakta hai life me kai baar ki in cheezon se man uchat jaye. Aap meditation aur exercise karna shuru karen.Paushtik ahaar le, paani zyada piyen aur neend acchi le. Kahin bahar ghum aayen. Saath hi aap Dhatupaushtik churan din me 2 baar khane ke baad le.. Thanks.

और पढ़ें ...