myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

देश में कैंसर के इलाज को लेकर एक नई बहस छिड़ गई है, जिसमें लोगों की राय आपस में बटी हुई है। कुछ लोगों का कहना है कि गौमूत्र पीने से कैंसर का इलाज या रोकथाम की जा सकती है। हाल ही में एक राष्ट्रिय पार्टी की नेता ने यह बयान देकर एक नई बहस शुरू कर दी कि उन्होंने गौमूत्र पीकर कैंसर को ठीक किया है। उनके इस बयान से आस्था बनाम विज्ञान को लेकर एक नई चर्चा शुरू हो गई, जो आज भी जारी है।

आज हम आपको यह बताएंगे कि क्या वास्तविकता में गौमूत्र से कैंसर को ठीक किया जा सकता है? या फिर यह सिर्फ एक गलतफहमी है? मेडिकल और पीडियाट्रिक ओन्कोलॉजी के एक एसोसिएट प्रोफेसर से एक सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर सवाल पूछा गया कि क्या गौमूत्र से कैंसर का इलाज या रोकथाम की जा सकती है?

इस सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, ‘नहीं, गौमूत्र से कैंसर की रोकथाम या इलाज नहीं होता। इस संबंध में कोई भी वैज्ञानिक साक्ष्य उपलब्ध नहीं है। मेरे सहकर्मी ओन्कोलॉजिस्ट और मुझे एक कैंसर के मरीज को देखना है, जिसने कैंसर का इलाज करने के लिए विशेषकर गौमूत्र पिया था।’

(और पढ़ें - कैंसर में क्या खाना चाहिए)

विशेषज्ञों का तर्क 
हाल ही में देश के एक दिग्गज समाचारपत्र ने एक लेख में उल्लेख किया था कि गुजरात के जूनागढ़ विश्वविद्दालय के बायोटेक्नोलॉजी के वैज्ञानिकों ने पहले प्रयास में गौमूत्र का इस्तेमाल करके कैंसर की कोशिकाओं को नष्ट करने में सफलता हासिल की। रिसर्च टीम ने उल्लेख किया कि कैसे उन्होंने कैंसर की कोशिकाओं पर सीधे इसका टेस्ट किया, जिसमें उन्हें सफलता मिली। लेकिन अभी तक उनके दावे को वास्तविकता में वैज्ञानिक समर्थन हासिल नहीं हुआ है।

इस पर भगवान महावीर कैंसर अस्पताल के एक डॉक्टर ने कहा, ‘लोगों के बीच यह एक गलतफहमी है कि गौमूत्र से कैंसर ठीक होता है और इससे जरूर रोका जाना चाहिए। चमत्कारी गुणों के बावजूद ऐसा कोई प्रमाण नहीं है, जो यह साबित करता हो कि गौमूत्र से कैंसर को ठीक किया जा सकता है।’ 

हाल ही में एक बड़ी पार्टी की नेता के गौमूत्र से कैंसर को ठीक करने के दावे पर उन्होंने कहा, ‘स्तन कैंसर की शुरुआती स्टेज में आधुनिक तकनीकी से ही इसका इलाज संभव है। इसके शुरुआती चरण के गुजर जाने के बाद इसे ठीक करना संभव नहीं है।’

क्या होता है गौमूत्र में? 
गौमूत्र खनिज तत्वों में समृद्ध होता है, जिसमें सोडियम, पोटेशियम, क्रिएटिनिन, फास्फोरस और एपिथेलियल कोशिकाएं होती हैं। इनमें से किसी भी खनिज में कैंसर रोधी गुण नहीं होते हैं। खनिज समृद्ध गौमूत्र मिट्टी की ताकत बढ़ाने के लिए तो ठीक हो सकता है लेकिन इसे किसी भी कीमत पर कैंसर के वैकल्पिक उपचार के रूप नहीं माना जा सकता।

(और पढ़ें - यूरिन इन्फेक्शन का इलाज

ऐसे फैली अफवाह 
2014 में कुछ लोगों ने दावा किया था कि गौमूत्र पीने से शुगर, गांठ, टीबी, पेट की समस्याएं और यहां तक कैंसर ठीक होता है। कई धार्मिक गुरुओं ने इन दावों का समर्थन किया था, जिसकी वजह से अधिक लोगों ने इस जानकारी को भगवान के वाक्य का श्रेय दिया। इसके चलते बड़े स्तर पर यह बात लोगों में फैल गई की गौमूत्र से कैंसर का इलाज हो सकता है।

और पढ़ें ...