भारत में कोविड-19 बीमारी ने एक लाख से ज्यादा लोगों की जान ले ली है। शुक्रवार को देशभर में 1,069 कोरोना वायरस संक्रमितों की मौत हो गई है। इसी दौरान करीब 80 हजार नए संक्रमितों की पुष्टि हुई है। इससे कोरोना वायरस की चपेट में आए लोगों की कुल संख्या 64 लाख 73 हजार 544 हो गई है। इनमें से मारे गए मरीजों का आंकड़ा एक लाख 842 तक पहुंच गया है। इसके साथ ही भारत दुनिया का ऐसा तीसरा देश बन गया है, जहां कोरोना वायरस ने एक लाख से ज्यादा लोगों की जान ली है। इस सूची में अमेरिका और ब्राजील पहले से शामिल हैं। इन दोनों देशों में इस महामारी ने क्रमशः दो लाख 13 हजार और एक लाख 45 हजार लोगों को अपना शिकार बनाया है।

शुक्रवार को मरीजों और मृतकों की संख्या में हुई बढ़ोतरी के बाद देश में कोविड-19 का केस फटैलिटी रेट या मृत्यु दर 1.56 प्रतिशत हो गई है, जबकि रिकवरी रेट 83.84 प्रतिशत पर पहुंच गया है। उधर, कोरोना संक्रमण की चपेट में आए लोगों की पहचान करने के लिए किए जा रहे परीक्षणों की संख्या सात करोड़ 78 लाख से ज्यादा हो गई है। शनिवार को ताजा अपडेट जारी करते हुए भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान यानी आईसीएमआर ने बताया है कि बीते 24 घंटों में देशभर में 11 लाख 32 हजार 675 कोरोना वायरस टेस्ट किए गए हैं। इससे अब तक हुए टेस्टों का कुल आंकड़ा सात करोड़ 78 लाख 50 हजार 403 हो गया है। अगले हफ्ते यह संख्या आठ करोड़ के पार चली जाएगी।

(और पढ़ें - कोविड-19: मेटर्नल इम्यून सेल्स कोरोना वायरस को गर्भनाल तक पहुंचा सकते हैं- अध्ययन)

महाराष्ट्र में 37 हजार से ज्यादा मौतें
देश कोविड-19 से सबसे ज्यादा मौतें महाराष्ट्र में देखने को मिली हैं। यहां कोरोना वायरस से संक्रमित हुए लोगों की संख्या 14 लाख से ज्यादा है, जिनमें से 37 हजार से अधिक की मौत हो चुकी है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, महाराष्ट्र में कोविड-19 से जुड़े कुल 14 लाख 16 हजार 513 मामले हैं। इनमें से 37 हजार 480 मामलों से जुड़े मरीजों की मौत हो गई है। शुक्रवार को राज्य में 15 हजार 591 नए मरीजों का पता चला है और 424 संक्रमितों की मौत हो गई है। यह बताता है कि महाराष्ट्र में संक्रमण की दर कम हुई है, लेकिन प्रतिदिन दर्ज होने वाली मौतों की संख्या में कोई अंतर नहीं आया है।

इस बीच, महाराष्ट्र में कोविड-19 इन्फेक्शन से जुड़े दिलचस्प आंकड़े सामने आए हैं। गुरुवार को बृह्नमुंबई नगरपालिका (बीएमसी) ने दूसरे सेरोलॉजिकल सर्वे की रिपोर्ट जारी की थी। इसमें बताया गया है कि मुंबई के स्लम इलाकों में कोरोना वायरस के सेरोलॉजिकल प्रेवलेंस में कमी आई है। रिपोर्ट के मुताबिक, मुंबई की झोपड़पट्टियों में रहने वाले लोगों में कोरोना वायरस के फैलने की दर 12 प्रतिशत तक कम हो गई है। बीएमसी ने सर्वे रिपोर्ट जारी करते हुए यह बात कही थी। उसके मुताबिक, स्लम एरिया में कोविड-19 का सेरो प्रेवलेंस 45 प्रतिशत पाया गया है। इसका मतलब है कि इन इलाकों की 45 फीसदी आबादी कोरोना वायरस से संक्रमित होकर उसके खिलाफ एंटीबॉडी विकसित कर चुकी है। लेकिन जुलाई में पहले सेरो-सर्वे में सेरोपॉजिटिविटी रेट 57 प्रतिशत था। गौरतलब है कि कुछ इसी तरह के परिणाम दिल्ली के तीसरे सेरो सर्वे में भी देखने को मिले थे। ये हर्ड इम्यूनिटी की उम्मीद लगा रहे जानकारों के लिए झटके की तरह है। 

(और पढ़ें - कोविड-19: अब रीजेनेरॉन ने कोरोना वायरस के खिलाफ सक्षम मोनोक्लोनल एंटीबॉडी बनाने का दावा किया)

9,000 मौतों वाला तीसरा राज्य बना कर्नाटक
कर्नाटक में कोरोना संक्रमण से मारे गए लोगों की संख्या 9,000 के पार चली गई है। शुक्रवार को यहां 125 नई मौतों की पुष्टि हुई है और 8,793 नए मामले सामने आए हैं। इससे कर्नाटक में मृतकों की कुल संख्या 9,119 हो गई है, जबकि मरीजों का आंकड़ा छह लाख 20 हजार 630 हो गया है। इस मामले में कर्नाटक ने तमिलनाडु को पीछे छोड़ दिया है और कोरोना वायरस संकट से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्यों की सूची में तीसरे नंबर पर आ गया है। आंकड़े बताते हैं कि तमिलनाडु में सार्स-सीओवी-2 ने छह लाख 8,885 लोगों को संक्रमित किया है। इनमें से 9,653 की मौत हो गई है। बीते दिन दक्षिण राज्य में 67 मौतें दर्ज की गई हैं और करीब 5,600 नए संक्रमितों की पुष्टि हुई है। अगर यही सिलसिला कुछ दिन और चलता रहा कि मौतों के मामले में भी कर्नाटक तमिलनाडु से आगे निकल सकता है। हालांकि मरीजों को बचाने के मामले में वह तमिलनाडु से पीछे है। यहां कोविड-19 का रिकवरी रेट 90 प्रतिशत से ज्यादा है, जबकि कर्नाटक में 80.5 प्रतिशत मरीजों को बचाया गया है।

(और पढ़ें - कोविड-19 के वे मरीज, जो महीनों पहले इससे उबरने के बाद भी आजतक इसके लक्षणों से मुक्त नहीं हो पाए हैं, जानें अब कैसी है उनकी जिंदगी)

आंध्र प्रदेश में सात लाख मरीज, मृतकों के मामले में यूपी से पिछड़ा
एक और दक्षिण राज्य आंध्र प्रदेश की बात करें तो यहां कोरोना वायरस से प्रभावित लोगों की संख्या सात लाख से ज्यादा हो गई है। बीते 24 घंटों में आंध्र प्रदेश में 6,555 नए कोविड मरीजों की पुष्टि हुई है और 31 नई मौतें देखने को मिली हैं। इससे आंध्र प्रदेश में संक्रमितों की कुल संख्या सात लाख 6,790 तक पहुंच गई है, जबकि मौतों का आंकड़ा 5,900 हो गया है। हालांकि इस मामले में वह उत्तर प्रदेश से पिछड़ गया है, जहां कोरोना वायरस से ग्रस्त हुए लोगों की संख्या चार लाख से ज्यादा हो गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, गुरुवार को उत्तर प्रदेश में कोरोना मरीजों की संख्या चार लाख के पार चली गई थी। शुक्रवार को इसमें 3,894 मरीजों का और इजाफा हो गया है, जिससे यह आंकड़ा अब चार लाख 7,000 के करीब पहुंच गया है। वहीं, मृतकों की संख्या 53 नई मौतों के साथ 5,917 हो गई है। उधर, पश्चिम बंगाल में भी मृतकों की संख्या 5,000 के पार जा चुकी है। यहां भी बीते दिन 53 मौतों की पुष्टि हुई है और 3,300 से ज्यादा नए मामले सामने आए है, जिससे मरीजों का आंकड़ा दो लाख 63 हजार से ज्यादा हो गया है।

कोविड-19 से जुड़ी अन्य अहम अपडेट्स

  • दो लाख मरीजों वाला 9वां राज्य बना केरल, अब तक 2.13 लाख से ज्यादा मरीजों की पुष्टि
  • आईआईटी दिल्ली से जुड़ी स्टार्टअप कंपनी ने एंटीवायरस प्रोटेक्शन किट लॉन्च की
  • दिल्ली में संक्रमितों की संख्या 2.85 लाख से ज्यादा हुई, मृतकों का आंकड़ा 5,438 हुआ
  • यूपी में कारगर दिख रही प्लाज्मा थेरेपी, सर्वाइवल रेट 76 प्रतिशत होने का दावा
  • तेलंगाना में 1.97 लाख से ज्यादा लोग बीमार, दो लाख मरीजों वाले राज्यों की संख्या 10 होने की संभावना
  • बीते दो महीनों में हुई कोरोना टेस्टों में से 45 प्रतिशत एंटीजन आधारित: रिपोर्ट
  • बिहार में भी मृतकों का आंकड़ा 900 के पार, अब तक एक लाख 85 हजार से ज्यादा मरीज
  • टेस्टिंग को तीन गुना बढ़ाने की तैयारी में कर्नाटक सरकार, पीपीपी मॉडल के तहत लैब होंगी तैयार
  • 1,000 मौतों वाला 15वां राज्य बना छत्तीसगढ़, 1.18 लाख से ज्यादा संक्रमितों की संख्या
  • कोविड-19 की रिकवरी के मामले में भारत की स्थिति अंतरराष्ट्रीय स्तर की: स्वास्थ्य मंत्रालय
  • मौतों के मामले में पंजाब ने गुजरात (3,475) को पीछे छोड़ा, 3,500 के पार गया आंकड़ा
  • सितंबर में हरियाणा में मरीजों (1.31 लाख) और मौतों (1,425) की संख्या दोगुनी हुई


उत्पाद या दवाइयाँ जिनमें भारत में कोविड-19 से एक लाख लोगों की मौत है

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें