myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

कोरोना वायरस सार्स-सीओवी-2 से होने वाली बीमारी कोविड-19 दुनिया के 194 देशों में फैल चुकी है। लाखों लोग संक्रमित हैं और हजारों की मौत हो गई है। वहीं, अभी तक इसकी दवा या वैक्सीन उपलब्ध नहीं होने के कारण हजारों लोगों की हालत चिंताजनक बनी हुई है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों का कहना है कि बुजुर्गों पर कोरोना वायरस का सबसे अधिक प्रभाव देखने को मिलता है। उल्लेखनीय है कि कोविड-19 के अधिकतर मृतक बुजुर्ग आयु के ही लोग हैं। ऐसे में 60-70 या उससे ज्यादा उम्र के लोगों में इस बीमारी के इलाज को लेकर निराशा होना अस्वाभाविक नहीं है। हालांकि, ऐसे भी मामले हैं जो उम्मीद जगाते हैं। कोविड-19 से पीड़ित कुछ बुजुर्गों ने इस जानलेवा बीमारी को मात दी है।

(और पढ़ें- कोरोना वायरस: इलाज की खोज में इन दवाओं का हो रहा इस्तेमाल, डब्ल्यूएचओ ने चार के क्लीनिकल ट्रायल को दी मंजूरी)

सौ साल से अधिक उम्र की महिला हुई ठीक
आपको यह जानकर हैरानी होगी कि सौ या उससे ज्यादा साल की उम्र की दो महिलाएं सार्स-सीओवी-2 के संक्रमण से पूरी तरह ठीक हुई हैं। पहला मामला चीन का है और दूसरा ईरान से जुड़ा है। मीडिया में आई खबरों के मुताबिक, चीन के वुहान में कोविड-19 से संक्रमित एक 103 वर्षीय बुजुर्ग महिला का सफल इलाज किया गया है। इस महिला का नाम झांग गुआंगफेन है, जिन्हें इलाज के बाद अस्पताल से छुट्टी भी दे दी गई है। चीन से आई रिपोर्टों की मानें तो गुआंगफेन केवल छह दिनों के लिए अस्पताल में भर्ती रहीं।

वहीं, वुहान में ही कोरोना को हराने वाली इस आयुवर्ग की वे अकेली चीनी नागरिक नहीं हैं। स्थानीय समाचारों के मुताबिक, वुहान में कोरोना वायरस से संक्रमित एक 100 वर्षीय व्यक्ति भी कोविड-19 से पूरी तरह ठीक हो चुका है। खबरों में बताया गया कि बीती सात मार्च को इस व्यक्ति को वुहान के अस्पताल से डिस्चार्ज किया गया था।

ईरान में भी एक बुजुर्ग महिला पूरी तरह से ठीक
अंतरराष्ट्रीय मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, ईरान में भी एक और 103 वर्षीय बुजुर्ग महिला को कोरोना वायरस के संक्रमण से मुक्त कराया गया है। यह महिला एक हफ्ते से ईरान के सेमनान शहर के एक अस्पताल में भर्ती थी। यहां सेमनान यूनिवर्सिटी ऑफ मेडिकल साइंसेज की मानें तो महिला को पूरी तरह से ठीक होने के बाद छुट्टी दे दी गई है। गौरतलब है कि ईरान उन देशों में शामिल है जहां कोविड-19 का प्रकोप सबसे अधिक देखा गया है। यहां अब तक सार्स-सीओवी-2 से जुड़े 27,000 मामले सामने आ चुके हैं और इनमें से 2,000 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है।

(और पढ़ें- कोरोना वायरस: भारत में 560 से ज्यादा मरीज, मीडिया रिपोर्टों में 12 की मौत, जानें कोविड-19 से जुड़ी सभी अहम खबरें)

इटली में भी बुजुर्ग महिला हुई ठीक
यूरोपीय देश इटली में नए कोरोना वायरस ने सबसे ज्यादा तबाही मचाई है। यहां कोविड-19 से अब तक करीब 7,000 लोगों की मौत हो चुकी है। चीन के बाद कोरोना वायरस के सबसे ज्यादा संक्रमित मरीज इटली में ही हैं। इस बीमारी ने यहां के लोगों के दिलों में लंबे वक्त तक के लिए उदासी भर दी है। हालांकि उम्मीद जगाने वाली कुछ कहानियां यहां भी सामने आई हैं। गौरतलब है कि इटली में कोरोना वायरस से संक्रमित कई बुजुर्ग लोगों ने ठीक होकर देश के बाकी लोगों का साहस बढ़ाया है। इन बुजुर्गों में एक 95 वर्षीय महिला भी शामिल है, जो अब कोविड-19 के संक्रमण से पूरी तरह उबर चुकी है।

स्थानीय रिपोर्टों के मुताबिक, इटली के उत्तरी प्रांत में रहने वाली अल्मा क्लारा कोर्सिनी को कुछ दिनों पहले कोरोना वायरस से पीड़ित होने के बाद एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इसके बाद एंटी-वायरल थेरेपी के जरिए उनका इलाज किया गया। यह वह समय था जब चीन और इटली समेत पूरी दुनिया में बुजुर्गों की कोविड-19 से मौत हो रही थी। लेकिन अल्मा में पूरा सुधार देखने को मिला। इलाज के बाद उन्हें अस्पताल से छुट्टी भी दे दी गई है। कुछ अन्य रिपोर्टों की मानें तो अल्मा से पहले एक 97 वर्षीय बुजुर्ग (पुरुष) को भी सफल इलाज के बाद अस्पताल से डिस्चार्ज किया जा चुका है।

(और पढ़ें- कोरोना वायरस से मचे कोहराम के बीच चीन में हंता वायरस से एक की मौत, जानें कैसे फैलता है यह विषाणु)

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें
कोरोना मामले - भारतx

कोरोना मामले - भारत

CoronaVirus
2283 भारत
132आंध्र प्रदेश
10अंडमान निकोबार
1अरुणाचल प्रदेश
16असम
24बिहार
18चंडीगढ़
9छत्तीसगढ़
219दिल्ली
6गोवा
87गुजरात
43हरियाणा
6हिमाचल प्रदेश
70जम्मू-कश्मीर
2झारखंड
124कर्नाटक
286केरल
14लद्दाख
99मध्य प्रदेश
335महाराष्ट्र
2मणिपुर
1मिजोरम
5ओडिशा
3पुडुचेरी
46पंजाब
133राजस्थान
309तमिलनाडु
107तेलंगाना
10उत्तराखंड
113उत्तर प्रदेश
53पश्चिम बंगाल

मैप देखें