myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

क्‍या कॉलेस्ट्रॉल हानिकारक है?

कोलेस्ट्रॉल एक वसायुक्त (फैटी) पदार्थ है, जो प्राकृतिक रूप से हमारे शरीर के अंदर बनता है और कई शारीरिक क्रियाओं के लिए काफी महत्वपूर्ण होता है। कॉलेस्ट्रॉल सभी सेलुलर वॉल (कोशिकिय परत) की परतों का हिस्सा होता है। यह पाचन के लिए पित्त रस का निर्माण करता है और नए हार्मोन बनाता है। 

शरीर को कोलेस्ट्रॉल की जरूरत होती है लेकिन सिर्फ एक निश्चित स्तर तक। कोलेस्ट्रॉल का स्तर असामान्य रूप से बढ़ जाना सेहत के लिए अच्छा नहीं होता है, खासतौर पर लो-डेंसिटी लिपोप्रोटीन (एलडीएल) का बढ़ना।

(और पढ़ें - उच्च लिपोप्रोटीन के कारण)

पतले लोगों का कोलेस्ट्रॉल नहीं बढ़ता

कोलेस्ट्रॉल बढ़ने से संबंधित संभावनाओं में जीन की काफी महत्वपूर्ण भूमिका होती है। इसलिए नियमित रूप से अपने कोलेस्ट्रॉल के स्तर की जांच करवाते रहना चाहिए, क्योंकि भले ही आपका वजन अधिक ना हो लेकिन कुछ अनुवांशिक कारक हैं, जो आपके कोलेस्ट्रॉल के स्तर को प्रभावित कर सकते हैं। जैसे कि गतिहीन जीवन (शारीरिक रूप से कम सक्रिय रहना) का कोलेस्‍ट्रॉल लेवल पर बहुत असर पड़ता है।

(और पढ़ें - कोलेस्ट्रॉल का स्तर या नार्मल रेंज चार्ट क्या है)

व्यायाम से घट सकता है कोलेस्ट्रॉल

फैट (वसा) की तरह ही कोलेस्ट्रॉल को भी “लिपिड” की श्रेणी में रखा गया है। लेकिन इसे केवल व्यायाम की मदद से कम नहीं किया जा सकता है। ट्राइग्लिसराइड और कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने के लिए संतुलित आहार और स्वस्थ जीवनशैली अपनाने के साथ-साथ कोलेस्ट्रॉल कम करने वाली दवाओं का सेवन करना भी जरूरी है।

बच्चों में हाई कोलेस्ट्रॉल नहीं होता

वैसे तो कोलेस्ट्रॉल आमतौर पर वयस्कों में ही देखा जाता है, लेकिन यह बच्चों को भी प्रभावित कर सकता है। बचपन में कोलेस्ट्रॉल संबंधी समस्याओं के प्रमुख तीन कारक हैं जिनमें फैमिली हिस्‍ट्री (परिवार में पहले किसी सदस्‍य को कोलेस्ट्रॉल संबंधी समस्या होना), असंतुलित आहार और मोटापा शामिल हैं।

कोलेस्ट्रॉल सिर्फ दवाओं से कम होता है

यदि आप कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए पूरी तरह से दवाओं पर ही निर्भर हैं, तो ऐसे में कोलेस्‍ट्रॉल के कंट्रोल होने की गारंटी नहीं है। कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने के लिए स्वस्थ आहार, व्यायाम और दवाएं तीनों मददगार होती हैं।

कोलेस्ट्रॉल सिर्फ भोजन से मिलता है

आपका शरीर भी प्राकृतिक रूप से कम या ज्यादा मात्रा में कोलेस्ट्रॉल बना सकता है, जिसकी मात्रा आपके शरीर की आनुवंशिक प्रकृति पर निर्भर करता है। अपने भोजन में ऐसे खाद्य पदार्थों को शामिल करें जिनमें कम मात्रा में कोलेस्ट्रॉल होता है जैसे कम वसा वाले मीट, हरी सब्जियां और लो फैट डेयरी उत्पाद आदि।

और पढ़ें ...