किसी तरह की चोट या कमजोरी के चलते डिस्क के अंदरूनी हिस्सा का बाहरी भाग से बाहर निकल आना स्लिप डिस्क कहलाता है. स्लिप डिस्क में गर्दन दर्द, कमर में दर्द और पैरों, हाथों व कंधे में सुन्नपन महसूस होता है.

वहीं, पीठ के निचले हिस्से से लेकर पैरों तक साइटिका नसें होती हैं. इस हिस्से से डिस्क के बाहर निकलने को साइटिका कहा जाता है. इसमें कूल्हों से लेकर नीचे एक पैर तक दर्द जाता है. इस प्रकार साइटिका को स्लिप डिस्क का ही हिस्सा माना गया है.

(और पढ़ें - स्लिप डिस्क के घरेलू उपाय)

आज इस लेख में हम स्लिप डिस्क और साइटिका के बीच के अंतर पर विस्तार से बात करेंगे.

  1. स्लिप डिस्क और साइटिका में अंतर
  2. सारांश
स्लिप डिस्क और साइटिका में क्या अंतर है? के डॉक्टर

अक्सर लोग पीठ में दर्द की शिकायत करते हैं, लेकिन दर्द की असली वजह को समझ नहीं पाते. ऐसे में स्लिप डिस्क और साइटिका के बीच के अंतर को समझना जरूरी है. यहां हम लक्षणों के आधार पर इन दोनों के बीच का अंतर बता रहे हैं.

(और पढ़ें - स्लिप डिस्क में कैसे सोना चाहिए)

स्लिप डिस्क

  • ज्यादातर स्लिप डिस्क की शुरुआत गर्दन, पीठ और हाथों से होती है.
  • इस कारण गर्दन, पीठ और कभी-कभी हाथों में भयंकर दर्द होता हैं.
  • यह समस्या डिस्क के बाहरी भाग के कमजोर पड़ने से अंदरूनी भाग के बाहर आ जाने पर होता हैं.
  • स्लिप डिस्क के होने के कई कारण हो सकते हैं, जैसे कोई भारी सामान उठाना या मांसपेशियों का कमजोर होना.
  • स्लिप डिस्क को आप रोज कसरत करके ठीक कर सकते हैं.

(और पढ़ें - स्लिप डिस्क का आयुर्वेदिक इलाज)

साइटिका

  • साइटिका में आपको कमर के निचले हिस्से में हिप्स से लेकर पैर तक जबरदस्त दर्द होता है.
  • अमूमन साइटिका शरीर के एक तरफ के हिस्से में ही होता हैं.
  • साइटिका में मरीज पैर में कमजोरी की शिकायत करता हैं.
  • कुछ लोगों को साइटिका में एक पैर दर्द करता है और दूसरा सुन्न हो जाता हैं.
  • साइटिका होने के कई कारण हो सकते हैं, जैसे कि अचानक से वजन बढ़ना या ज्यादा लंबे समय तक बैठे रहना.

(और पढ़ें - साइटिका के दर्द में क्या खाना चाहिए)

स्लिप डिस्क और साइटिका एक दूसरे से अलग नहीं है. साइटिका को स्लिप डिस्क का ही एक हिस्सा माना गया है. दोनों का इलाज मुमकिन है. बस मरीज को ठीक से इलाज और व्यायाम करने की जरूरत है. बताते चलें कि स्लिप डिस्क और साइटिका का दर्द किसी-किसी के लिए ज्यादा नुकसानदायक भी हो सकता है. इसलिए, अपने डॉक्टर से इसके बारे में सलाह लेकर ही इलाज करें.

(और पढ़ें - साइटिका का घरेलू उपाय)

Dr. Abhishek Chaturvedi

Dr. Abhishek Chaturvedi

ओर्थोपेडिक्स
5 वर्षों का अनुभव

Dr. G Sowrabh Kulkarni

Dr. G Sowrabh Kulkarni

ओर्थोपेडिक्स
1 वर्षों का अनुभव

Dr. Shivanshu Mittal

Dr. Shivanshu Mittal

ओर्थोपेडिक्स
10 वर्षों का अनुभव

Dr. Saumya Agarwal

Dr. Saumya Agarwal

ओर्थोपेडिक्स
9 वर्षों का अनुभव

ऐप पर पढ़ें