myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

आज की व्यस्त जीवनशैली में सभी के लिए जिम जॉइन करना मुमकिन नहीं है, ऐसे में ज्यादातर लोग खुद को फिट रखने के लिए घर पर ही एक्सरसाइज करते हैं। ये तो आप भी जानते हैं कि एक्सरसाइज कई तरह की होती हैं लेकिन क्या आपको ये पता है कि आपके लिए और आपकी जरूरत के अनुसार कौन-सी एक्सरसाइज ज्यादा बेहतर है, एक्सरसाइज का चुनाव व इसकी शुरुआत कैसे करनी है।

आज हम आपको इस लेख के जरिए यही बताने जा रहे हैं कि एक्सरसाइज शुरु करने से पहले आपको किन बातों का ध्यान रखना चाहिए।  

लक्ष्य तय करें

फिटनेस को लेकर सबसे पहले आपको अपना लक्ष्य तय करने की जरूरत है। ये लक्ष्य कुछ भी हो सकता है जैसे वजन कम करना, स्टैमिना बढ़ाना, शरीर की मजबूती बढ़ाना, शरीर में लचीलापन लाना इत्यादि। इसलिए फिटनेस को लेकर चुनी गई एक्सरसाइज ऐसी होनी चाहिए, जिससे आपका लक्ष्य पूरा हो सके। कई बार लोगों का सुझाव हम बिना जांचे-परखे अपना लेते हैं। ऐसे में आप अपने मुख्य लक्ष्य से दूर होते जाते हैं। इसलिए अपने लक्ष्य के प्रति जागरूक रहें ताकि अपने फिटनेस प्रोग्राम को पूरा करने के लिए सटीक योजना बना सकें और अपने लक्ष्य को पाने में आपको ज्यादा देर भी न हो।

(और पढ़ें - स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज करने के तरीके)

फिटनेस लेवल को जानें 

कई बार लोग फिट रहने के लिए एक्सरसाइज करना शुरु तो कर देते हैं, लेकिन इसे लंबे समय तक अपने रूटीन में बनाए रखने में विफल हो जाते हैं। इसका सबसे बड़ा कारण यह हो सकता है कि आप जिस तरह की एक्सरसाइज कर रहे हैं और उसमें जितना समय लग रहा है, वो आपकी क्षमता से ज्यादा हो।

यदि एक्सरसाइज जरूरत से ज्यादा की जाए, तो यह आपके शरीर को नकारात्मक रूप से प्रभावित कर सकती है, जिस कारण लक्ष्य पूरा होने से पहले ही एक्सरसाइज को छोड़ना पड़ सकता है। यह बात बॉडी बिल्डिंग, एथलेटिक्स, खेल इत्यादि चीजों पर भी लागू होती है। शरीर को फिट रखने के लिए अभ्यास के साथ समय की भी जरूरत होती है।

(और पढ़ें - फिट रहने के लिए क्या खाएं)

लाइफस्टाइल को मैच करें

ऐसी एक्सरसाइज से शुरुआत करें, जो आपके लिए प्रैक्टिकल हो। यहां प्रैक्टिकल का मतलब है जो आपके रूटीन में आसानी से जगह बना सके और जो आपके लाइफस्टाइल के अनुकूल हो। खास बात यह है कि इसमें आपकी इच्छा का शामिल होना बेहद जरूरी है क्योंकि बिना मन से एक्सरसाइज प्रोग्राम जॉइन करने से हो सकता है कि यह आपको लाभ ना पहुंचाए और इसकी वजह से आपके जरूरी दैनिक कार्य भी प्रभावित हों। 

(और पढ़ें - इन 6 तरीकों से शुरू करें अपना फिटनेस रूटीन)

व्यक्तित्व से तालमेल 

जैसे अपनी पसंद-नापसंद को जानने से आप सही करियर और जीवनसाथी का चुनाव कर पाते हैं, उसी तरह फिटनेस प्रोग्राम निर्धारित करने से पहले भी आपको अपनी जरूरतों के बारे में सोचना चाहिए। उदाहरण के लिए, कुछ लोग एक्सरसाइज के लिए बूटकैंप (ग्रुप में किया गया फिजिकल ट्रेनिंग प्रोग्राम, जो जिम, व्यक्तिगत प्रशिक्षकों या अन्य संगठनों द्वारा संचालित किया जा सकता है) पसंद करते हैं जबकि अन्य लोग योग स्टूडियो में शांति से योगाभ्यास करना पसंद करते हैं। प्रत्येक तरीके के अपने फायदे होते हैं, लेकिन हर एक्सरसाइज को करने का अपना एक अलग तरीका होता है। जब यह आपके व्यक्तित्व (पर्सनैलिटी) से मेल खाएगा तो आपको एक्सरसाइज प्रोग्राम से निरंतर जुड़े रहने में मदद मिलेगी।

(और पढ़ें - व्यायाम करने का सही समय

टिप्स

  • यदि आपने कभी एक्सरसाइज नहीं की है या फिर किसी खेल में इच्छा नहीं जताई है, तो बेहतर रहेगा कि आप चलने, टहलने, साइकिल चलाने और पैदल चलने से शुरुआत करें।
  • यदि आप ग्रुप में प्रशिक्षण लेना चाहते हैं, तो किसी फिटनेस क्लब से जुड़ने की सोच सकते हैं। साइक्लिंग ग्रुप, रॉक क्लाइम्बिंग ग्रुप, ज़ुम्बा, बॉलीवुड डांसिंग और बॉलरूम डांसिंग इत्यादि ग्रुप में की जाने वाली गतिविधियां हैं, जो कार्डियो वर्कआउट के लिए की जाती हैं।
  • यदि आप वर्कआउट करने के इच्छुक नहीं हैं, तो स्वस्थ रहने के लिए पैदल चलना, साईकिल चलाना और उचित खान-पान को रूटीन में शामिल कर सकते हैं। 

(और पढ़ें - जानिए व्यायाम छोड़ने पर क्या होता है शरीर पर असर)

और पढ़ें ...