myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

मार्केट में न जाने कितने ही मसालों में मिलावट की जा रही है। इन मिलावटी मसालों का सीधा असर आपके स्वास्थ्य पर पड़ रहा है। जीरा, कॉफ़ी, दालचीनी और आपके किचन के लगभर हर मसाले पर मिलावटखोरों की नजर लगी हुई है। तो आइए जानते हैं कि कैसे  मिलावटी मसालों की जांच आप घर पर ही कर सकते हैं :

हींग
हींग हर किसी के घर में इस्तेमाल होता है, हींग पाचन तंत्र के लिए फायदेमंद है। हालांकि, नकली हींग के सेवन से कई प्रकार के रोग होने का खतरा रहता है। इसीलिए इसकी जांच करना बेहद आवश्यक है :

कैसे जांच करें

  • स्टेनलेस स्टील के चम्मच में हींग पाउडर को जलाएं।
  • असली हींग पाउडर कपूर की तरह जलता है।
  • मिलावटी हींग पाउडर उतनी आसानी नहीं जलता।

हींग में मिट्टी व सेलखड़ी मिलाना बेहद आम है, इसकी जांच के लिए नीचे दी गई विधि को अपनाएं :

  • एक गिलास पानी में एक चम्मच हींग मिलाएं।
  • यदि हींग शुद्ध होगी तो गिलास के निचले हिस्से में कोई भी मिट्टी या सेलखड़ी जमा नहीं होगी।
  • अगर हींग अशुद्ध होगी तो गिलास के निचले हिस्से में मिट्टी व सेलखड़ी इकट्ठा हो जाएगी।

काली मिर्च
काली मिर्च में कई पौष्टिक तत्व होते हैं। यह मेटाबोलिज्म को स्वस्थ बनाने में मदद करती है। 2016 में भारत के अंदर काफी भारी मात्रा में नकली काली मिर्च का व्यापार किया गया था। इस व्यापार से जुड़े सभी मुजरिमों को पुलिस ने अपनी गिरफ्त में तो ले लिया था, लेकिन इसके बाद भी नकली काली मिर्च के कई मामले सामने आ चुके हैं।

कैसे जांच करें

  • एक गिलास पानी में काली मिर्च डालें।
  • असली काली मिर्च पानी में नीचे बैठ जाती है।
  • काली मिर्च में यदि पपीते के बीजों को मिलाया गया है तो वह पानी के ऊपर तैरने लगते हैं।

लाल मिर्च
लाल मिर्च में कहीं नकली व पानी में घुलने वाले सिंथेटिक रंग तो नहीं मिलाए गए हैं। इसकी जांच के लिए नीचे दी गई विधि को अपनाएं :

कैसे जांच करें

  • एक गिलास पानी में ऊपर से लाल मिर्च पाउडर छिड़कें।
  • यदि पाउडर शुद्ध हुआ तो वह पानी की स्तर पर ही तैरता रहता है।
  • जबकि मिलावटी लाल मिर्च पाउडर जल्द ही रंग छोड़ देता है।

दालचीनी
दालचीनी में कई बार उसी की तरह दिखने वाली कैसिया बार्क नाम के उत्पाद की मिलावट की जाती है। 

कैसे करें जांच

  • एक कांच की प्लेट में दालचीनी लें।
  • कैसिया बार्क को पास से देखने पर उसकी बाहरी परत खुदरी नजर आती है जबकि, दालचीनी की परत काफी चिकनी होती है।
  • दालचीनी बेहद पतली होती है कि उससे किसी पेंसिल को लपेटा जा सकता है, इसकी महक भी अलग होती है

जीरा 
हाल ही में दिल्ली के बवाना इलाके से नकली जीरे का व्यापार कर रही गैंग पुलिस की गिरफ्त में आयी है। यहां से पता चला कि नकली जीरे में जंगली घास मुख्य रूप से मिलाई जाती है :

कैसे जांच करें

  • जीरे को अपने हाथों में रगड़ें।
  • मिलावटी जीरे का रंग काले रंग में तब्दील हो जाता है।

जीरे में कई बार सौंफ की मिलावट भी की जाती है, इसकी पहचान करने के लिए इस विधि को फॉलो करें :

कैसे जांच करें :

  • थोड़ी मात्रा में जीरा किसी बर्तन में लें।
  • अब ध्यान से सौंफ के बीज ढूंढकर उन्हें अलग कर दें।
  • बारीकी से परखने पर सौंफ और जीरे में फर्क किया जा सकता है।

सरसों के बीज
सरसों के बीज को आर्गेमोन के बीज से बदल दिया जाता है, इसीलिए इनके बीच फर्क करना थोड़ा मुश्किल होता है।

कैसे जांच करें

  • कांच की प्लेट में सरसों के बीज लें।
  • अब इनमें आर्गेमोन के बीज ढूंढने की कोशिश करें।
  • सरसों के बीज की परत चिकनी होती है और इसका अंदर का रंग पीला होता है, इसके लिए इसे दबाकर देखा जा सकता है।
  • आर्गेमोन के बीज बाहर से खुदरे और अंदर से सफेद रंग के होते हैं।

हल्दी की गांठ
हल्दी की नकली गांठ भी मौजूद है बाजार में

कैसे जांच करें

  • एक गिलास पानी में हल्दी की गांठ डालें।
  • शुद्ध हल्दी की गांठ कोई रंग नहीं छोड़ती।
  • जबकि अशुद्ध हल्दी का रंग चमकदार पीला होता है और वह पानी में रंग छोड़ने लगती है।

हल्दी पाउडर
हल्दी की गांठ की ही तरह हल्दी का पाउडर भी मिलावटी हो सकता है।

कैसे जांच करें

  • आधा चम्मच हल्दी पाउडर पानी में मिलाएं।
  • प्राकृतिक हल्दी पाउडर पानी में नीचे जाते हुए हल्का पीला रंग छोड़ता है।
  • मिलावटी हल्दी पाउडर एक गहरा पीला रंग छोड़ता है।

मसालों का पाउडर
सबसे अधिक मिलावट मसालों में की जाती है जिन्हें पकड़ पाना बेहद मुश्किल होता है।

कैसे जांच करें

  • पानी में ऊपर से मसाला छिड़कें।
  • असली मसाले किसी भी प्रकार की मिट्टी व पीसा हुआ चोकर पानी की सतह पर नहीं छोड़ते हैं।
  • वहीं नकली मसालों में मिली मिट्टी व पीसा हुआ चोकर पानी की सतह पर तैरता रहता है।

साबुत मसाले
साबुत मसालों की जांच करना मुश्किल होता है। हालांकि, इन्हें बारीकी से देखकर परखा जा सकता है।

कैसे जांच करें

  • कांच की प्लेट में साबुत मसाले का सैंपल लें
  • ध्यान से देखने पर नकली और असली मसालों के बीच के फर्क का आसानी से पता लगाया जा सकता है।
और पढ़ें ...