मां का दूध हर शिशु के लिए अमृत समान होता है। नवजात शिशु को मां के दूध से ही पोषण मिलता है, जिससे उसे कई बीमारियों से भी बचने में मदद मिलती है। स्तनपान कराते समय महिलाओं को कई तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। इनमें सबसे बड़ी परेशानी स्तन में दर्द और स्तन में सूजन की होती है। इन सभी समस्याओं का उपचार घरेलू नुस्खों द्वारा किया जा सकता है। आइए जानते हैं स्तन संबंधित परेशानियों और इसके उपायों के बारे में -

(और पढ़ें - मां का दूध (ब्रेस्ट मिल्क) बढ़ाने के लिए क्या खाएं)

मैसिटाइटिस में असरदार पत्तागोभी
डॉक्टरों के अनुसार, 70 फीसदी महिलाओं को जीवन में कभी न कभी स्तन में दर्द का अनुभव होता है। मासिक चक्र, संक्रमण, सूजन और स्तनपान इसके मुख्य कारण होते हैं। बच्चे को स्तनपान के कुछ समय बाद कई महिलाओं में निप्‍पल में दरार आ जाती है, जिससे बैक्‍टीरिया के स्‍तनों में अंदर जाने पर सूजन और ब्रेस्‍ट टिश्‍यू में संक्रमण हो जाता है। इस स्थिति को मैसिटाइटिस कहते हैं। इसका सबसे बड़ा कारण है कि मां जब बच्‍चे को लंबे समय तक दूध पिलाती है और उस बीच स्तनों को थोड़ी देर आराम नहीं दे पाने की वजह से यह दिक्कत झेलनी पड़ती है। लेकिन इस समस्या में उपचार के लिए पत्ता गोभी काफी कारगर औषधि मानी जा सकती है।

बैक्‍टीरियल इंफेक्‍शन मैसिटाइटिस
मैसिटाइटिस एक प्रकार का बैक्‍टीरियल इन्फेक्‍शन है, जिसे एंटीबायोटिक उपचार के माध्यम से ठीक किया जा सकता है। यदि इस इन्फेक्शन के होने पर स्तनों में दर्द और सूजन भी हो रही हो तो पत्तागोभी का इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके लिए साफ, सूखी और ठंडी बंदगोभी की कुछ पत्तियां लें। फिर इन्हें स्तनों पर लगाएं और इसे तब तक लगाकर रखें, जब तक यह गर्म नहीं हो जाती। इस बात का ध्यान रखें कि पत्तागोभी के पत्ते से अपने स्तनों को पूरी तरह से कवर करना है, लेकिन यदि स्तनों पर दर्द या ब्लीडिंग अधिक हो रही है तो वह स्थान न ढकें। इस उपाय को 20 मिनट के लिए करें और फिर हटा दें। चाहें तो हल्‍के हाथों से स्तनों को धो सकते हैं। ध्यान रहे कि इस्तेमाल की गई पत्तागोभी के पत्तों को दोबारा इस्तेमाल नहीं करना है। यदि स्तनपान कराना बंद कर दिया है तो दिन में तीन बार इस उपाय को 20-20 मिनट के लिए कर सकती हैं।

(और पढ़ें - स्तनपान से जुड़ी समस्याएं और उनके समाधान)

स्तन का दूध सुखाने का उपाय
अधिकांश महिलाओं को बच्चे के स्तनपान बंद करने के बाद भी स्तनों में दूध बनता रहता है, जिससे वे परेशान हो जाती हैं। इस दिक्कत का भी उपाय पत्तागोभी से किया जा सकता है। जिस तरह मैसिटाइटिस की समस्या में पत्तागोभी असरदार है, उसी तरह दूध सूखाने के लिए पत्तागोभी को गर्म होने तक ब्रेस्ट पर लगाए रखें, इस प्रक्रिया को कभी भी दोहराया जा सकता है। इस प्रक्रिया से कुछ ही दिनों में स्तनों से दूध आना बंद हो जाएगा, लेकिन इस विधि को कई दिनों तक करना पड़ेगा, लेकिन लाभ अवश्य होगा।

स्तनों में दर्द व सूजन के लिए बेहतर उपचार
ब्रेस्ट इंगॉर्जमेंट की समस्या में पत्तागोभी एक बेहतरीन नुस्खा है। कुछ रिसर्च में यह पाया गया है कि पत्ता गोभी स्तनों पर लगाने से दर्द और ब्रेस्‍ट की हार्डनेस को कम किया जा सकता है। इस उपाय से महिलाएं अपने शिशु को बिना किसी परेशानी के लंबे समय के लिए स्तनपान करा सकती हैं। डॉ. लक्ष्मीदत्ता शुक्ला के अनुसार, गोभी के उपयोग से स्तन कैंसर के खतरे को भी कम किया जा सकता है।

(और पढ़ें - ब्रेस्ट कैंसर का ऑपरेशन कैसे किया जाता है)

और पढ़ें ...
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ