myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -
  1. ब्रेस्ट कैंसर का ऑपरेशन क्या होता है? - Breast Cancer Surgery kya hai in hindi
  2. ब्रेस्ट कैंसर की सर्जरी क्यों की जाती है - Breast Cancer Surgery kab kiya jata hai
  3. स्तन कैंसर का ऑपरेशन होने से पहले की तैयारी - Breast Cancer Surgery ki taiyari
  4. स्तन कैंसर का ऑपरेशन कैसे किया जाता है? - Breast Cancer Surgery kaise hota hai?
  5. स्तन कैंसर की सर्जरी के बाद देखभाल - Breast Cancer Surgery hone ke baad dekhbhal
  6. स्तन कैंसर की सर्जरी के बाद सावधानियां - Breast Cancer Surgery hone ke baad savdhaniya
  7. स्तन कैंसर के ऑपरेशन के बाद रिकवरी - Breast Cancer Surgery ke baad recovery
  8. स्तन कैंसर की सर्जरी के परिणाम - Breast Cancer Surgery ke parinam
  9. ब्रैस्ट कैंसर सर्जरी के बाद डॉक्टर से मिलने कब जाएं - Breast Cancer Surgery ke baad follow up

स्तन कैंसर मुख्य रूप से एक महिला विशिष्ट रोग माना जाता है। हालांकि सेल की अनियंत्रित वृद्धि जो ट्यूमर में परिवर्तित हो जाती है पुरुषों को भी पीड़ित कर सकती है। गंभीर मामलों में ट्यूमर को हटाने के लिए या अगर कैंसर के उपचार के लिए दवाएं अप्रभावी हों तो स्तन कैंसर की सर्जरी की जाती है। स्तन कैंसर के उपचार के लिए विभिन्न प्रकार की सर्जरी की पद्धतियां उपयोग की जाती हैं। किस पद्धति का प्रयोग किया जाना है यह इस पर निर्भर करता है कि कैंसर किस अवस्था पर है।

स्तन कैंसर 30 वर्ष से अधिक उम्र की महिलाओं में पाया गया है। यह महिलाओं में सबसे आम कैंसर है। यदि केवल गाँठ को ही निकालना होता है तो एक्स रे प्रक्रिया के साथ इसका इलाज किया जाता है। इस प्रक्रिया को रेडियोथेरेपी कहा जाता है।

सर्जरी करने के लिए तब ही कहा जाता है जब कैंसर अग्रिम चरण में हो और सर्जरी के अलावा अन्य कोई विकल्प न बचे। सर्जरी एक विकल्प तब भी है जब स्तन कैंसर को नष्ट करने के लिए न तो दवाएं और न ही चिकित्सा काम कर पा रही हो। निम्न स्थितियों में आपको डॉक्टर द्वारा स्तन कैंसर की सर्जरी करने का निर्णय लिया जा सकता है। अगर पूरे स्तन ऊतक को हटा दिया जाए तो ही कैंसर की पुनरावृत्ति से बचा जा सकता है।

  • अग्रिम चरण के कैंसर के लक्षण - कैंसर के अग्रिम चरण पर होने के थोड़े से भी लक्षण दिखने पर ये सर्जरी मददगार है।
  • कैंसर का अन्य अंगों तक फैलना - इस सर्जरी से ये भी पता चल सकता है कि कहीं कैंसर आसपास के किसी अन्य अंग तक तो नहीं पहुँच गया।
  • कैंसर को हटाने हेतु - सर्जरी का एक और लक्ष्य शरीर से पूरी तरह से कैंसर के ट्यूमर के सभी लक्षणों को नष्ट करना है।

स्तन कैंसर सर्जरी से पहले तैयारी

आपका स्तन कैंसर हटाने से पहले सर्जन यह जांच करेंगे कि आप सर्जरी करवाने के लिए ठीक हैं या नहीं। इसकी जांच करने के लिए डॉक्टर निम्न कार्य करेंगे -

  • सर्जरी से एक या दो दिन पहले कुछ जरूरी टेस्ट जैसे ब्लड टेस्ट, यूरिन टेस्ट, एक्स रे और सिटी स्कैन किये जाएंगे।
  • यदि आप हाल ही में कोई दवा ले रहे हैं या फिर आपने पहले कभी कोई सर्जरी करवाई है तो इसके बारे में डॉक्टर को बता दें।
  • यदि आप किसी मेडिकल स्थिति से ग्रस्त हैं जैसे डायबिटीज, उच्च रक्तचाप या थायराइड विकार तो इसके बारे में डॉक्टर को बता दें।
  • सर्जरी के दिन और सर्जरी से पहले कौन सी दवाएं लेनी हैं या फिर कौन सी दवाओं को नहीं लेना है इसके बारे में डॉक्टर आपको बता देंगे।
  • यदि आप धूम्रपान या शराब का सेवन करते हैं तो डॉक्टर को बता दें व साथ ही सर्जरी से दो हफ्ते पहले इनका सेवन बंद कर दें क्योंकि यह परिणामों को गंभीर रूप से प्रभावित कर सकते हैं।
  • आपको सर्जरी से पहले कुछ भी न खाने के लिए कहा जाएगा। यह बहुत जरूरी है कि आप सर्जरी के लिए खाली पेट जाएं।

डॉक्टर से पूछे जाने वाले सवाल

यह जरूरी है कि आप अपने सभी सवालों को डॉक्टर के सामने रखें और प्रत्येक बात के बारे में जानकारी लें ताकि आपको कोई भी संदेह न रहे। यहां प्रश्नों की एक सूची दी गई है जिसके अनुसार आप डॉक्टर से प्रश्न पूछ सकते हैं -

  • इलाज का कौन सा विकल्प मेरे लिए सबसे बेहतर हैं?
  • किस तरह की सर्जरी की जाएगी और क्यों?
  • सर्जरी के भिन्न प्रकारों के क्या क्या फायदे व नुकसान हैं?
  • क्या केवल सर्जरी ही इलाज के लिए पर्याप्त होगी या फिर अन्य ट्रीटमेंट को मिलकर जैसे एक्स रे (रेडियोथेरेपी) ट्रीटमेंट या फिर दवाएं (कीमोथेरेपी) की जरूरत होगी?
  • सर्जरी की अवधि और कीमत कितनी होगी?
  • सर्जरी के बाद मुझे सामान्य रूटीन में आने में कितना समय लगेगा?
  • सर्जरी के बाद अस्पताल में कितने दिनों तक रहना है?
  • सर्जरी के बाद नए स्तन को लगवाने की सर्जरी कहां हो सकती है?
  • क्या दोबारा स्तन लगवाने से मेरी दिनचर्या प्रभावित होगी?
  • क्या मैं उन महिलाओं के संपर्क में रह सकती हूं जिन्होंने स्तन कैंसर सर्जरी कराई है?

सर्जरी के दिन

सर्जरी के लिए जाने से पहले निम्न बातों का ध्यान रखा जाना चाहिए -

  • सर्जरी के लिए जाने से पहले छह से आठ घंटों तक भूखे रहें ताकि आपको उल्टी न हो जाए।
  • सर्जरी के दिन अपने साथ किसी मित्र या रिश्तेदार को ले कर जाएं।
  • प्रक्रिया से पहले डॉक्टर द्वारा सुझाई गई दवा लें और दवा को बहुत कम पानी से लें
  • सर्जरी के लिए अनुमति फॉर्म भरवाएं जो कि सर्जरी करवाने के लिए जाने से पहले बहुत जरूरी है।

ब्रैस्ट किस तरह की सर्जरी होनी है यह इस बात पर निर्भर करता है कि कैंसर किस स्तर तक फ़ैल गया है और किस प्रकार का है। सर्जरी होने से पहले कैंसर को आकार में सिकोड़ने के लिए अन्य ट्रीटमेंट भी किये जा सकते हैं। इसमें निम्न शामिल हैं -

  • रेडियोथेरेपी -
    इस प्रक्रिया में एक्स रे के द्वारा कैंसर की कोशिकाओं को नष्ट किया जाता है या फिर उन्हें बढ़ने से रोका जाता है जिसे कैंसर का आकार घट जाता है और इसे हटाने में आसानी होती है। यह ट्रीटमेंट सर्जरी के बाद बचे हुए सेल को हटाने के लिए भी किया जा सकता है।
     
  • कीमोथेरेपी -
    कीमोथेरेपी में कैंसर कोशिकाओं को नष्ट करने के लिए इंजेक्शन या दवा दी जाती हैं। कीमोथेरेपी सर्जरी से पहले बड़े ट्यूमर के आकार को कम करने के लिए किया जा सकता है या फिर सर्जरी के बाद बची हुई कोशिकाओं को नष्ट करने के लिए भी कीमोथेरेपी की जा सकती है।

ब्रैस्ट कैंसर सर्जरी एक विशेषज्ञ सर्जन द्वारा की जाती है। सर्जरी शुरू करने से पहले आपको सुन्न करने की दवा या एनेस्थीसिया दिया जाएगा जिससे आप प्रक्रिया के दौरान सो जाएंगे।

सर्जन आपके स्तन में चीरे लगाकर सर्जरी शुरू करेंगे और निम्न में से किसी प्रक्रिया द्वारा सर्जरी की जाएगी।

ब्रैस्ट कोन्सर्विंग सर्जरी

  • सर्जरी के इस प्रकार में केवल ट्यूमर व स्तन के आसपास के ऊतकों को हटाया जाता है व पूरे स्तन को छोड़ दिया जाता है।
  • कैंसर का प्रकार व आकार और आपके स्तन का आकार यह निश्चित करते हैं कि आसपास के कितने ऊतकों को हटाया जाएगा।
  • यह इस बात को सुनिश्चित करने के लिए किया जाता है कि आसपास के ऊतकों में कैंसर के कोई निशान न बचे हों। आमतौर पर ब्रैस्ट कोन्सर्विंग सर्जरी के बाद बची हुई कोशिकाओं को नष्ट करने के लिए रेडियोथेरेपी की जाती है।
     
  • ब्रैस्ट कोन्सर्विंग सर्जरी के फायदे - 
    • इसमें पूरे स्तन को नहीं निकाला जाता है और केवल ट्यूमर व उसके आसपास की कोशिकाओं को ही निकाला जाता है।
    • इस सर्जरी से ठीक होने में अधिक समय नहीं लगता है।
    • इसके बाद शरीर में कम बदलाव होते हैं इसलिए यह सर्जरी कई महिलाएं आसानी से स्वीकार कर लेती हैं और इससे उन्हें भावनात्मक रूप से भी मदद मिलती है।
       
  • ब्रैस्ट कोन्सर्विंग सर्जरी के नुकसान -
    • इसमें रेडियोथेरेपी जैसे अतिरिक्त ट्रीटमेंट की जरूरत होती है
    • यह बड़े ट्यूमर पर नहीं की जा सकती है

मास्टेक्टॉमी 

इस प्रक्रिया में स्तन को पूरी तरह से निकाल दिया जाता है। सर्जन इसके साथ आपके स्तन के बगल की कुछ लसिका ग्रंथियों (वे ढांचें जो कि ऊतकों के अपशिष्ट पदार्थ को शरीर में फ़िल्टर करती हैं) को भी निकाल सकते हैं ताकि यह सुनिश्चित कर लें कि कैंसर कोशिकाएं पूरी तरह से निकल गई हैं जो कि शरीर में फ़ैल सकती थी।

  • मॉडिफाइड रेडिकल मास्टेक्टॉमी -
    इस प्रक्रिया में निप्पल और बगल की लसिका ग्रंथियों के साथ पूरे स्तन को निकाल दिया जाता है।
     
  • रेडिकल मास्टेक्टॉमी -
    इस प्रक्रिया में स्तन को ढक रही त्वच को, छाती की मांसपेशियों और बगल की लसिका ग्रंथियों को निकाला जाता है।
     
  • स्किन-स्पेरिंग मास्टेक्टॉमी -
    इसमें त्वचा के कम भाग को ही निकाला जाता है। इसमें स्तन और निप्पल व एरोला को निकाला जाता है।

सर्जरी करते समय सर्जन लसिका ग्रंथियों के कुछ ऊतक निकाल कर कैंसर के फैलाव की जांच कर सकते हैं। सर्जरी हो जाने के बाद सर्जन चीरों को टांकों और ड्रेसिंग की मदद से बंद कर देंगे। ऑपरेशन के स्थान से अतिरिक्त द्रव निकालने के लिए एक या दो ड्राईनिंग पाइप लगाए जा सकते हैं।

  • मास्टेक्टॉमी के फायदे -
    • इसमें कैंसर के फिर से होने की संभावना बहुत कम होती है क्योंकि 95 प्रतिशत स्तन के ऊतक को निकाल दिया जाता है
    • अधिकतर मामलों में रेडियोथेरेपी के साथ अन्य ट्रीटमेंट देने की आवश्यकता नहीं पड़ती
       
  • मास्टेक्टॉमी के नुकसान -
    • इस प्रक्रिया में पूरे स्तन को और उसके आसपास की त्वचा को हटा दिया जाता है
    • मास्टेक्टॉमी के बाद ब्रैस्ट रीकंस्ट्रक्शन की जरूरत हो सकती है
    • इसमें व्यक्ति को ठीक होने में अधिक समय लगता है

कैंसर का शरीर के अन्य भागों में फैलाव

जब कैंसर शरीर के अन्य भागों जैसे हड्डियों, फेफड़ों, लिवर, मस्तिष्क आदि में फैलता है तो इसे मेटास्टेटिस कहा जाता है। इसे निम्न के द्वारा ट्रीट किया जा सकता है -

  • हार्मोन थेरेपी -
    शरीर में कुछ ऐसे हार्मोन होते हैं जो कि कैंसर को फैलने में मदद करते हैं। हार्मोन थेरेपी एक ट्रीटमेंट है जिसमें इन हार्मोन का स्तर शरीर में कम हो जाता है और कैंसर कोशिकाओं की वृद्धि भी कम हो जाती है। हार्मोन थेरेपी सर्जरी के पहले या बाद में की जा सकती है और यह सर्जरी के पांच साल बाद तक भी भी जारी रह सकती है।
     
  • टार्गेटेड थेरेपी -
    इस ट्रीटमेंट में आपको कुछ दवाएं दी जाएंगी जो केवल कैंसर कोशिकाओं को मारती हैं और सामान्य कोशिकाओं को इससे कोई हानि नहीं होती है।

ब्रैस्ट रीकंस्ट्रक्शन सर्जरी

ब्रैस्ट रीकंस्ट्रक्शन सर्जरी में मास्टेक्टॉमी के बाद स्तन को वापस से आकार दिया जाता है। स्तन को दोबारा बनाने की यह प्रक्रिया सर्जरी के कुछ समय बाद की जा सकती है। स्तन को दुबारा बनाने के लिए सर्जन आपके शरीर के अंगों से ऊतक लेंगे। उदाहरण के तौर पर यह ऊतक आपके पेट, कूल्हे या कमर से लिए जा सकते हैं।

इम्प्लांट प्लास्टिक की थैलियां होती हैं जो कि छाती की मांसपेशियों में लगाई जाती है। हालांकि, यह भी हो सकता है कि वे जीवन भर न चलें और उसके लिए अन्य सर्जरी की जरूरत पड़ जाए। इम्प्लांट रीकंस्ट्रक्शन के अतिरिक्त प्रभावों में दर्द और सर्जरी के स्थान पर संक्रमण शामिल हैं। कभी-कभी इम्प्लांट फट भी सकता है। कुछ मामलों में इम्प्लांट और ऊतक दोनों से स्तन को दोबारा बनाया जा सकता है।

ब्रैस्ट रीकंस्ट्रक्शन सर्जरी में कितना खर्चा होगा यह सर्जरी के प्रकार पर निर्भर करता है। आमतौर पर इसमें 1.5 लाख से 3 लाख तक का खर्चा आता है।

सर्जरी हो जाने के बाद कुछ बातों का विशेष ध्यान रखना होगा जैसे -

  • आपको सर्जरी के दो हफ्ते बाद टांकों को हटवाने के लिए अस्पताल जाना होगा। यदि चिपकने वाले पदार्थ का प्रयोग किया गया था तो यह शरीर में अपने आप घुल जाएगा।
  • घाव के ऊपर की पट्टी को हर दिन बदला जाना चाहिए
  • घाव के स्थान को साफ और सूखा रखना चाहिए
  • घाव को हल्के साबुन व पानी से आराम से धोएं। कभी भी घाव को न रगड़ें
  • वेस्ट ड्रेनिंग पाइप को निकालने के दो दिन बाद आप नहा सकते हैं या फिर डॉक्टर की सलाह अनुसार आप नहा सकते हैं। बाथ टब और स्विमिंग पूल में न नहाएं।
  • घाव ठीक हो जाने के बाद और जब डॉक्टर आपको यह बता दें कि आपको पट्टी करने की जरूरत नहीं है तो आप एक नरम, आरामदायक बिना तार की ब्रा पहन सकती हैं।

सर्जरी के बाद आपको कुछ खतरे या जटिलताएं महसूस हो सकती हैं। इनके बारे में नीचे बताया गया है, जैसे -

  • बांह और कंधे में दर्द व अकड़न
  • संक्रमण
  • बांह में से लसिका ग्रंथियों के निकलने के कारण भारीपन और सूजन 
  • बांह को हिलाने में समस्या
  • यदि स्तन को दोबारा बनाने के लिए इम्प्लांट किया गया है तो यह सख्त हो सकता है और आपको दर्द हो सकता है।
  • कुछ मामलों में इम्प्लांट फेल हो सकता है जिसके कारण आपको दोबारा सर्जरी करवाने की जरूरत हो सकती है

सर्जरी के बाद आपको ठीक होने में कितना समय लगेगा यह इस बात पर निर्भर करता है कि आपने कौन सी सर्जरी करवाई है -

  • ब्रैस्ट कन्सर्विंग सर्जरी में व्यक्ति को ठीक होने में पांच से दस दिनों का समय लग सकता है
  • मास्टेक्टॉमी से ठीक होने में तीन से चार हफ्तों का वक्त लग सकता है
  • मास्टेक्टॉमी के साथ यदि रिकंस्ट्रक्शन भी करवाया गया है तो इससे ठीक होने में 6 से 8 हफ्तों या उससे अधिक का समय भी लग सकता है

सर्जरी के बाद आपको यह सलाह दी जाती है कि अपने शरीर को ठीक होने का समय दें और निम्न बातों का ध्यान रखें -

  • सर्जरी के एक से दो दिन बाद आप थोड़ी-थोड़ी देर के लिए चलना शुरू कर सकते हैं इससे शरीर में रक्त का प्रवाह अच्छा होगा और आपको ठीक होने में मदद मिलेगी
  • अपने नियमित रूटीन पर आने में आपको कुछ हफ्तों का समय लगेगा
  • फिजियोथेरेपिस्ट द्वारा बताए गए हल्के व्यायाम करने का प्रयास करें
  • ऑपरेशन के स्थान पर किसी भी तरह का खिंंचाव न हो इसके लिए अत्यधिक शारीरिक व्यायाम न करें
  • सर्जरी के 6 से 8 हफ्तों तक कुछ भी भारी सामान न उठाएं और कोई अधिक परिश्रम वाला व्यायाम न करें क्योंकि इससे आपका रक्तचाप बढ़ सकता है और ऑपरेशन के स्थान पर रक्तप्रवाह हो सकता है।
  • अपने आहार में फल और सब्जियों को शामिल करें ताकि आपके शरीर की पौष्टिक जरूरतों को पूरा किया जा सके।
  • डॉक्टर से मास्टेक्टॉमी ब्रा के बारे में पूछें। इनका प्रयोग सर्जरी के बाद किया जा सकता है और ये किसी भी फार्मेसी में मिल सकती हैं

ब्रैस्ट कैंसर सर्जरी के परिणाम -

सर्जरी के बाद अधिकतर महिलाएं अपने सामान्य रूटीन पर आ जाती है और सर्जरी की सफलता निम्न बातों पर निर्भर करती है -

  • जिस अवस्था में कैंसर का पता लगाया गया था जो कि ट्यूमर के आकार द्वारा पता किया जाता है और यह केवल स्तन में ही है या फिर अन्य भागों में भी फैला हुआ है 
  • आपको किस प्रकार का स्तन कैंसर है 
  • स्तन कैंसर कितनी तेजी से फ़ैल रहा है 
  • ट्यूमर के दोबारा होने की संभावना 
  • क्या आपको पहली बार कैंसर हुआ है या फिर कैंसर की पुनरावृत्ति हुई है 
  • यह आपकी उम्र, स्वास्थ्य और रजोनिवृति पर भी निर्भर करता है

सब कुछ ठीक है और घाव ठीक तरह से भर गया है इसकी जांच करवाने के लिए नियमित रूप से डॉक्टर के पास जाते रहें। डॉक्टर के पास जाते समय निम्न बातों का ध्यान रखें -

  • नियमित रूप से मेडिकल चेकअप के लिए डॉक्टर के पास जाएं
  • यदि आपको कोई स्वास्थय समस्या हो रही है तो इसके बारे में डॉक्टर को बताएं
  • यह देखने के लिए आप कितनी अच्छी तरह से कैंसर से ठीक हो रहे हैं डॉक्टर एक्स रे टेस्ट कर सकते हैं
  • यदि आपको निम्न लक्षण दिखाई देते हैं तो तुरंत डॉक्टर के पास जाएं -
    • तेज बुखार
    • दर्द का बढ़ना जो कि दवा द्वारा ठीक नहीं हो रहा है
    • किसी दवा से अतिरिक्त प्रभाव जैसे जी मिचलाना, उल्टी और चकत्ते
    • संवेदना का कम होना या सुन्न पड़ना
  • ट्रीटमेंट हो जाने के बाद प्रत्येक वर्ष लगभग पांच सालों तक मैमोग्राम स्क्रीनिंग की जाती है ताकि यह देखा जा सके कि आप ठीक हो चुके हैं और ना हि कैंसर कोशिकाएं नहीं बन रही हैं।
और पढ़ें ...

References

  1. National Cancer Institute. Breast Cancer—Patient Version. Cancer Types. NIH.
  2. National Health Services. Living with - Breast cancer in women. NHS Health A to Z. 2016 Sept 26.
  3. Centers for Disease Control and Prevention. What You Need to Know Before Treatment About: Breast Cancer. National Cancer Institute. 2007 Nov.
  4. Sharma GN, Dave R, Sanadya J, Sharma P, Sharma KK. Various Types and Management Of Breast Cancer: An Overview. Journal of Advanced Pharmaceutical and Technology and Research. 2010 Apr;1(2):109-26. PubMed PMID: 22247839
  5. U.S. National Library of Medicine. Breast cancer. NIH. MedlinePlus. 2017 Oct 21.
  6. National Health Services. Before surgery - Having an operation (surgery): Overview. NHS Health A to Z. 2018 Feb 7.
  7. U.S. National Library of Medicine. Mastectomy and breast reconstruction - what to ask your doctor. NIH. MedlinePlus. 2019 Mar13.
  8. National Health Services. Overview - Consent to treatment. NHS Health A to Z. 2019 Mar 29.
  9. National Health Services. Seeing a specialist - Having an operation (surgery). NHS-UK. Health A to Z. 2018 Feb 7.
  10. National Cancer Institute. Radiation Therapy to Treat Cancer. Cancer Treatment. NIH.
  11. National Health Services. Treatment - Breast cancer in women. NHS-UK. Health A to Z. 2016 Sept 26.
  12. U.S. National Library of Medicine. Mastectomy. NIH. MedlinePlus. 2017 Sept 9.
  13. National Cancer Institute. Breast Cancer Treatment – Patient Version. Breast Cancer Treatment. NIH.
  14. U.S. National Library of Medicine. Breast Reconstruction. NIH. MedlinePlus.
  15. Department of Health. Breast Cancer Treatment - What You Should Know. Cancer Treatment. New York State. 2017 Sept
  16. U.S. National Library of Medicine. Cosmetic breast surgery - discharge. NIH. MedlinePlus. 2019 Jan 30.
  17. National Cancer Institute. Surgery Choices For Women with DCIS or Breast Cancer. Making an Informed Choice: Is Lumpectomy a Safe Option for Me?. NIH. 2012 Nov
ऐप पर पढ़ें