myUpchar Call

पार्टनर को चरम सुख यानी ऑर्गेज्म का आनंद मिल भी पाता है या नहीं, यह जानना किसी पहेली से कम नहीं है. खासकर महिला पार्टनर के मामले में इसकी पहचान करना मुश्किल है. ऐसा इसीलिए, क्योंकि चरमसुख पाने के दौरान पुरुषों का इजैकुलेशन होता है, लेकिन महिलाओं के साथ ऐसा न के बराबर होता है. वहीं, अगर पुरुष ने भी कंडोम प्रयोग किया है, तो उसके ऑर्गेज्म का पता करना भी मुश्किल हो जाता है.

आज इस लेख में आप जानेंगे कि पार्टनर को चरमसुख का आनंद मिल भी पाता है या नहीं, ये कैसे जानें -

क्लाइमैक्स को फील करने के लॉन्ग टाइम स्प्रे को इस्तेमाल करना न भूलें, जो ऑनलाइन सबसे कम कीमत पर मिल रहा है.

  1. ऑर्गेज्म के समय क्या होता है?
  2. पार्टनर के ऑर्गेज्म को ऐसे पहचानें
  3. सारांश
यौन रोग के डॉक्टर

सबसे पहले तो यह जानना जरूरी है कि ऑर्गेज्म के दौरान क्या होता है. क्या महिला और पुरुष, दोनों को ऑर्गेज्म के समय एक जैसा ही महसूस होता है? क्या ऑर्गेज्म के दौरान उनकी बॉडी में एक जैसे ही बलदाव होते हैं? दरअसल, ऑर्गेज्म के दौरान एंडोर्फिन हार्मोन खून में रिलीज होता है. इस हार्मोन की वजह से व्यक्ति को चरमसुख के दौरान खुशी के साथ-साथ रिलैक्सेशन भी महसूस होता है. 

(और पढ़ें - स्पॉन्टेनियस ऑर्गेज्म का उपचार)

Delay Spray For Men
₹349  ₹499  30% छूट
खरीदें

पार्टनर को चरमसुख का आनंद मिल भी पाता है या नहीं, यह जानना आसान नहीं है. हालांकि, पुरुषों के मामले में तो फिर भी इसका पता लगाना संभव है, क्योंकि पुरुष चरमसुख का आनंद मिलते ही इजैकुलेट कर लेते हैं. वहीं, महिलाओं के मामले में इस बारे में जानना थोड़ा मुश्किल हो जाता है. आइए, इस बारे में विस्तार से जानते हैं -

शरीर की गर्माहट

ऑर्गेज्म तक पहुंचने के बाद महिला और पुरुष दोनों को गर्माहट महसूस होती है. इसे वो स्वयं तो महसूस करते ही हैं, साथ ही पार्टनर भी इसे महसूस कर सकता है.

एनर्जी में कमी के चलते ऑर्गेज्म तक पहुंचना मुश्किल हो रहा है, तो आज ही खरीदें आयुर्वेदिक टेस्टोस्टेरोन बूस्टर कैप्सूल.

रिलैक्स शरीर

ऑर्गेज्म सेक्शुअल अराउजल का पीक होता है. ऑर्गेज्म होने पर दोनों पार्टनर की मांसपेशियों में कसाव आ जाता है. साथ ही चरमसुख की प्राप्ति होते ही व्यक्ति का पूरा शरीर रिलैक्स हो जाता है, जिसमें खास तौर पर प्राइवेट पार्ट्स शामिल हैं.

स्पर्म काउंट है बढ़ाना, तो आज ही ले आएं पुरुषों के लिए पावर कैप्सूल, वो भी आयुर्वेदिक गुणों से भरपूर.

इजैकुलेशन

पुरुषों को चरमसुख की प्राप्ति स्पर्म के रिलीज होते ही हो जाती है, जिसका पता पार्टनर को आसानी से लग सकता है. हां, अगर कंडोम का इस्तेमाल किया है, तो इसका पता लगाना थोड़ा मुश्किल जरूर है. महिलाओं की स्थिति में चरमसुख का अंदाजा लगाना थोड़ा मुश्किल है, क्योंकि सिर्फ 10 प्रतिशत महिलाएं ही चरमसुख के आनंद की प्राप्ति के दौरान इजैकुलेट कर पाती हैं. 

(और पढ़ें - फीमेल इजैक्युलेशन क्या है)

चेहरे में बदलाव

सांसों के तेज चलने या चेहरे की भाव-भंगिमाओं में आने वाले बदलाव को देखकर भी कुछ हद तक पता चल सकता है कि पार्टनर को चरमसुख का आनंद मिला है या नहीं.

(और पढ़ें - महिला कामोत्तेजना क्या है)

पार्टनर को चरमसुख का आनंद मिल भी पाता है या नहीं, यह जानना आसान तो नहीं है, लेकिन मुश्किल भी नहीं है. पुरुषों के मामले में तो फिर भी इसका पता लगाया जा सकता है, क्योंकि उन्हें ऑर्गेज्म की स्थिति में इजैकुलेशन होता है. वहीं, महिलाओं के चेहरे की भाव-भंगिमाओं में आए बदलाव और शरीर में महसूस होने वाली गर्माहट से कुछ हद तक इसकी पहचान की जा सकती है कि उन्हें चरमसुख मिला है या नहीं. यहां यह जानना और समझना जरूरी है कि सबका शरीर और चरमसुख के आनंद को पाने का तरीका अलग-अलग होता है. इसीलिए, पार्टनर को चरमसुख का आनंद पाने में मदद करनी चाहिए. 

 

Dr. Hemant Sharma

Dr. Hemant Sharma

सेक्सोलोजी
11 वर्षों का अनुभव

Dr. Zeeshan Khan

Dr. Zeeshan Khan

सेक्सोलोजी
9 वर्षों का अनुभव

Dr. Nizamuddin

Dr. Nizamuddin

सेक्सोलोजी
5 वर्षों का अनुभव

Dr. Tahir

Dr. Tahir

सेक्सोलोजी
20 वर्षों का अनुभव

ऐप पर पढ़ें