myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

सेक्स के दौरान आने वाली परेशानियों को लेकर अधिकतर लोग शर्मिंदगी महसूस करते हैं और इस कारण उसे छिपा लेते हैं। लेकिन इन परेशानियों के लिए कई इलाज उपलब्ध हैं, जिनमें से एक है सेक्स थेरेपी। यह थेरेपी मनोचिकित्सा की तरह ही होती है। जब यौन समस्याओं के पीछे कोई शारीरिक कारण नहीं होता है, तब इस थेरेपी का प्रयोग किया जाता है। इसमें विशेषज्ञ आपका इलाज थेरेपी के द्वारा करते हैं। ध्यान रहें कि इसमें कुछ तरह के व्यायाम बताएं जाते हैं और थेरेपी विशेषज्ञ द्वारा किसी भी तरह से शारीरिक संबंध स्थापित नहीं किए जाते हैं।

(और पढ़ें - सेक्स के बारे में जानकारी)

  1. सेक्स थेरेपी से जुड़ी गलत सोच - Sex therapy se judi galat soch
  2. सेक्स थेरेपी किस तरह काम करती है - Sex therapy kis tarah kaam karti hai
  3. सेक्स थेरेपी के फायदे - Sex therapy ke fayde
  4. सेक्स थेरेपी के डॉक्टर

हमारे समाज में सेक्स से सम्बंधित परेशानियों का समाधान ढूंढ़ने से जुडी कुछ गलत सोच प्रचलित है। इसके दो उदाहरण यह हैं - 

1. नीम-हकीम के पास जाना 

हमारे देश में ऐसे कई धोखेबाजों ने अपनी दुकानें चला रखीं हैं जो खुद को यौन समस्याओं का विशेषज्ञ बताते हैं। इन लोगों ने कई गलतफहमियां फैलाई हैं जैसे कि हस्तमैथुन (मास्टरबेशन) हानिकारक है और स्वप्नदोष (नाइटफॉल) एक बीमारी है। दूसरी तरफ कई लोग ऐसे हैं जो वाकई कोई परेशानी होने पर डॉक्टर की अपेक्षा नीम हकीम के पास जाना ज्यादा बेहतर समझते हैं। आप इन नीम-हकीम से दूर ही रहें और किसी सेक्स विशेषज्ञ से ही अपनी समस्या का उपचार करवाएं।

(और पढ़ें - सेक्स पावर कैसे बढ़ाएं और सेक्स करने के तरीके)

2. नहीं जानते की थेरेपिस्ट के पास कब जाएं 

कई बार लोगों को यह जानकारी ही नहीं होती कि यौन संबंधों में आने वाली परेशानियों के लिए इलाज कब शुरू किया जाए। महिलाओं को सेक्स जीवन से जुड़ी परेशानी होने पर वह महिला रोग विशेषज्ञ के पास इलाज के लिए जाती हैं। जबकि कई मामलों में सेक्सुअल जीवन की समस्याएं भावनात्मक और हमारे मन से जुड़ी होती हैं, जो किसी महिला रोग विशेषज्ञ के द्वारा नहीं, बल्कि एक सेक्स थेरेपिस्ट की मदद से ठीक की जा सकती है।

(और पढ़ें - महिलाओं की सेक्स प्रोब्लेम्स)

जब आपको अपने सेक्स से जुड़े बर्ताव के बारे में सही जानकारी लेनी होती है, तो ऐसे में आपको सेक्स थेरेपिस्ट की सलाह लेनी चाहिए। कई बार महिलाओं व पुरुषों में सेक्स के दौरान अपने या अपने पार्टनर के रोल को लेकर कई तरह के सवाल होते हैं। जैसे कि पहल किसे करनी चाहिए, सही तरीका क्या है, फोरप्ले के लिए उचित समय कितना होना चाहिए, सेक्स के दौरान कितना समय बिताना ठीक होता है, कहां परफॉर्म करना चाहिए या सक्रिय पार्टनर किसे होना चाहिए आदि।

सेक्स थेरेपिस्ट इन्हीं सभी सवालों के जवाब देते हैं। साथ ही इससे जुड़ी हुई परेशानियों को सेक्स थेरेपी से ठीक किया जा सकता है।

(और पढ़ें - फोरप्ले कैसे करें)

सेक्स थेरेपी के फायदे इस प्रकार हैं -

  • अपराध बोध होने पर ले सेक्स थेरेपी

अकसर लोग यह समझते हैं कि सेक्स के बारे में सोचना अश्लीलता या कोई अपराध है। इस मानसिकता के कारण व्यक्ति अपनी सेक्स की इच्छाओं को दबाने लगते हैं। यदि कोई लड़का किसी लड़की को देखकर सेक्स की कल्पना करता है, तो उसको बाद में अपराध बोध होने लगता है। महिलाएं भी सेक्स के लिए पहल करने से डरती हैं और यदि वह इसके लिए इच्छा करें, तो भी वह खुद को अपराधी मानने लगती हैं। कई बार तो महिला के द्वारा सेक्स की इच्छा जाहिर करने से उसका पति गलत बातों को मन में बैठा लेता है। इतना ही नहीं सेक्स की इच्छा जाहिर करने पर महिलाओं की वफादारी पर भी शक किया जाता है। पति के इस तरह के विचार से सेक्स थेरेपिस्ट ही आपकी मदद कर सकता है। (और पढ़ें - यौन शोषण क्या है)

  • कई परेशानियों को करें दूर

अन्य तरीके से किए गए सेक्स की परेशानियों को दूर करने के लिए भी आप थेरेपिस्ट की मदद ले सकते हैं। महिला और पुरुष जब सामान्य तरह से सेक्स न करके किसी नई तरीके से करते हैं, जैसे एनल (गुदा) सेक्स, तो इसमें कई तरह की परेशानी भी हो सकती है। इस समस्या को दूर करने लिए आप सेक्स थेरेपी का सहारा ले सकते है। (और पढ़ें - सुरक्षित सेक्स के आसान तरीके)

  • सेक्स क्षमता में बदलाव

अगर कोई पुरुष सेक्स के दौरान अपने पार्टनर के साथ सही तरह से सेक्स नहीं कर पाता है, तो उनको इस समस्या के सही कारणों की जांच करवानी चाहिए। जिसे एक सेक्स थेरेपिस्ट ही कर समझ पाता है। (और पढ़ें - कामेच्छा को बढ़ाने के उपाय)

  • ऑर्गेज्म तक पहुंचने के लिए भी जरूरी

महिलाओं में ऑर्गेज्म ही पूर्ण संतुष्टि का चरण होता है। साथी के साथ सेक्स करते समय सक्रिय होने के बाद भी महिला ऑर्गेज्म को महसूस न कर पाएं, तो आपको थेरेपिस्ट के पास जाकर इस समस्या पर बात करनी चाहिए। (और पढ़ें - चरम सुख पाने के तरीके)

  • शादी की परेशानियों को करें दूर

कई लोग ने शादी से पूर्व महिलाओं के साथ सेक्स संबंध बनाएं होते हैं। शादी के बाद भी इस तरह के संबंध कई रूप में हो सकते हैं। ऐसे लोगों को इन संबंधों के कारण शादी में आने वाली परेशानियों को दूर करने के लिए थेरेपिस्ट की मदद लेनी चाहिए। (और पढ़ें - शादी से पहले सेक्स)

  • सेक्सुएलिटी के बारे में जानकारी के लिए

किसी भी अपराध बोध या असमंजस में पड़े रहने से अच्छा होगा हैं कि आप किसी सेक्स थेरेपिस्ट के पास जाएं। सेक्सुएलिटी में भी कई तरह के क्षेत्र होते हैं, जिनके विषय में आपको जरूर जानना चाहिए। (और पढ़ें - यौन उत्पीड़न क्या है)

  • मन को स्थिर करने के लिए 

वैसे तो सेक्स के बारे में विचार आना खराब नहीं है, लेकिन अगर इन विचारों के कारण आपका मन किसी भी काम में नहीं लग पा रहा है, तो ऐसे में अपने मन को स्थिर करने के लिए आपको सेक्स थेरेपिस्ट से सलाह ले सकते हैं।

(और पढ़ें - पहली बार सेक्स और सेक्स पोजीशन)

Dr. Abdul Haseeb Sheikh

Dr. Abdul Haseeb Sheikh

सेक्सोलोजी

Dr. Ghanshyam digrawal

Dr. Ghanshyam digrawal

सेक्सोलोजी

Dr. Shailendra Kumar Goel

Dr. Shailendra Kumar Goel

सेक्सोलोजी

और पढ़ें ...