myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

गाय का दूध और भैंस का दूध दोनों पोषण में बहुत फायदेमंद हैं। जब दोनों उपलब्ध हैं, तब कौन सा दूध लेना है, यह आपकी व्यक्तिगत आवश्यकताओं, स्वास्थ्य की स्थिति और पाचन शक्ति पर निर्भर करता है।

दोनों गाय के दूध और भैंस के दूध का स्वाद मीठा होता है और प्रभाव शीतलन है। गाय के दूध और भैंस के दूध, दोनों प्राकृतिक कामोद्दीपक के रूप में काम करते हैं। दोनों कई पोषक तत्वों का स्रोत होने के कारण पोषण में उच्च हैं और शक्ति में सुधार करते हैं। दोनों दूध पित्त को शांत करते हैं और जलन से राहत देते हैं।

परंतु इन दोनों में काफी अंतर भी है। आइए जानें यह अंतर क्या है?

  1. भैंस के दूध या गाय के दूध के लाभ शिशुओंं के लिए - Cow milk or buffalo milk better for babies in Hindi
  2. भैंस का दूध या गाय का दूध है प्रोटीन का अच्छा स्रोत - Cow milk vs buffalo milk protein in Hindi
  3. गाय के दूध या भैंस के दूध में हैं अधिक कैलोरी - Cow milk vs buffalo milk calories in Hindi
  4. भैंस या गाय के दूध के गुण बेहतर नींद के लिए - Cow milk vs buffalo milk for better sleep in Hindi
  5. भैंस या गाय के दूध के फायदे बेहतर कोलेस्ट्रॉल के लिए - Cow milk vs buffalo milk cholesterol in Hindi
  6. भैंस या गाय का दूध देता है बेहतर पोषण - Nutritional value of cow milk vs buffalo milk in Hindi
  7. गाय के दूध और भैंस के दूध के डेयरी उत्पाद में अंतर - Cow milk vs buffalo milk dairy products in Hindi
  8. गाय के दूध और भैंस के दूध के घी में अंतर - Cow milk ghee vs buffalo milk ghee in Hindi
  9. आयुर्वेद के अनुसार भैंस के दूध या गाय के दूध का ज़्यादा महत्व - Cow milk vs buffalo milk ayurveda in Hindi

फैट की मात्रा भैंस के दूध में गाय के दूध की तुलना में 100% अधिक है। इसलिए भैंस का दूध गाय के दूध की तुलना में पचाने में ज़्यादा भारी है। इसी कारण से नवजात शिशुओं और वृद्ध लोगों को इसे पीने की सलाह नहीं दी जाती है।

(और पढ़ें – दूध पीने का सही समय क्या है)

प्रोटीन की मात्रा भैंस के दूध में गाय के दूध की तुलना में 11% अधिक है। इस अधिक प्रोटीन को पचाने में परेशानी के कारण भी भैंस के दूध को नवजात बच्चों और बूढ़े लोगों को देने का परामर्श नहीं दिया जाता है। जिन्हें ज़्यादा प्रोटीन की आवश्यकता है, वह अवश्य इसे ले सकते हैं। 

(और पढ़ें – प्रोटीन के स्रोत)

कैलोरी की मात्रा भैंस के दूध में गाय के दूध की तुलना में अधिक है। 100 ml गाय के दूध में अगर 70 कैलोरी है तो वहीं भैंस के दूध में 100 कैलोरी हैं। इसलिए जो लोग कैलोरी प्रतिबंधित डाइट पर हैं, वह भैंस का दूध लेने से पहले इस बात का ध्यान रख सकते हैं।

प्राकृतिक नींद देने की क्षमता भैंस के दूध में गाय के दूध की तुलना में अधिक है। 

(और पढ़ें – नींद ना आने के आयुर्वेदिक उपाय)

कोलेस्ट्रॉल की मात्रा भैंस के दूध में गाय के दूध की तुलना में कम है। भैंस के दूध में 0.65 mg/g है गाय के दूध में 3.14 mg/g है। जबकि  इसलिए जो लोग हाई बीपी, मधुमेह, किड्नी संबधित बीमारियों से परेशान हैं, उनके लिए भैंस का दूध अच्छा हो सकता है। 

(और पढ़ें – उच्च रक्तचाप के लिए घरेलू उपचार)

हालांकि दोनों भैंस के दूध और गाय के दूध मिनरल्स से भरपूर हैं, किंतु फिर भी भैंस के दूध में गाय के दूध के मुक़ाबले अधिक कैल्शियम (92% अधिक), फॉस्फोरस (118% अधिक), आयरन (37.7% अधिक), मैग्नीशियम और पोटेशियम होता है। 

(और पढ़ें – हल्दी दूध पीने के फायदे)

भैंस के दूध से जो डेयरी उत्पाद बनते हैं, वो गाढ़े और क्रीमी अधिक होते हैं जैसे दही, पनीर, खोया, घी आदि। साथ ही भैंस का दूध अधिक समय तक स्टोर किया जा सकता है। दूसरी तरफ गाय के दूध से बने डेयरी उत्पाद (दही, स्वीट्स, पनीर) गाढ़े और क्रीमी कम होते हैं और कम समय के लिए ही स्टोर किए जा सकते हैं। 

(और पढ़ें – बकरी के दूध के फायदे)

भैंस के दूध से तैयार घी कफ बढ़ाता है, जबकि गाय के दूध से तैयार घी पित्त को शांत करता है और पाचन शक्ति बढ़ाता है। 

(और पढ़ें – गाय के घी के फायदे और नुकसान , फायदे और नुकसान)

गाय के दूध का भैंस के दूध की तुलना में आयुर्वेद में इस्तेमाल अधिक किया जाता है।

जैसा कि आपने देखा दोनों ही दूध काफी फ़ायदेमंद हैं। अपने शरीर की ज़रूरत के अनुसार आप अपने लिए सही दूध का चुनाव करें।

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें