नहाना हमारे शरीर के लिये बहुत ज़रूरी होता है, कुछ लोग कई दिनों तक नहीं नहाते हैं जिससे उन्‍हें बहुत सी बीमारियां घेर लेती हैं। ऐसा भी होता है कि कई लोग रोज नहाते तो हैं लेकिन वे ठीक से नहीं नहाते हैं। बस बाथरूम गए, दो लोटे पानी डाला और बाहर आ गए। कुछ ऐसी बाते हैं जिनका हमें नहाते समय ध्यान रखना चाहिए ताकि हमारे स्वास्थ्य को लाभ हो।

  1. हल्के गुनगुने पानी से नहाना है फायदेमंद
  2. दिन में कई बार देर तक नहाना नहीं है सही
  3. दिन में कम से कम एक बार नहाना है सेहत के लिए जरूरी - दिन में कम से कम एक बार नहाना है सेहत के लिए जरूरी
  4. नहाते समय करें सही साबुन का इस्तेमाल
  5. नहाने के लिए घर पर बना उबटन आएगा काम
  6. रात को नहाना मिटाएगा सारी थकान

क्या आप जानते हैं कि हल्के गर्म पानी से नहाने से कई लाभ होते हैं। अमेरिकी त्वचा विज्ञान अकादमी के अनुसार प्राकृतिक तेल आपकी त्वचा से सूखी परत को उतारता है। इसी तरह सर्दियों में मौसम सामान्य से ड्राइ होता है और आपकी त्वचा नमी को बनाए रखने के लिए संघर्ष करती है। त्वचा विशेषज्ञों के अनुसार, सर्दी के मौसम में हल्के गुनगुने पानी से नहाना चाहिए, ताकि शरीर की नमी बरकरार रहे। लेकिन ध्यान रहे कि पानी ज्यादा गर्म ना हो। ज्यादा गर्म पानी से स्किन की नमी खत्म हो जाती है। इसलिए गुनगुने पानी से नहाना आपके लिए बेहतर है। 

(और पढ़ें – गर्म पानी से नहाने के फायदे)

myUpchar के डॉक्टरों ने अपने कई वर्षों की शोध के बाद आयुर्वेद की 100% असली और शुद्ध जड़ी-बूटियों का उपयोग करके myUpchar Ayurveda Urjas Capsule बनाया है। इस आयुर्वेदिक दवा को हमारे डॉक्टरों ने कई लाख लोगों को सेक्स समस्याओं के लिए सुझाया है, जिससे उनको अच्छे प्रभाव देखने को मिले हैं।
Long time capsule
₹719  ₹799  10% छूट
खरीदें

ठंड के मौसम में अधिक समय तक गर्म पानी से शावर या नहाना सबकी इच्छा होती है। लेकिन गर्म पानी से नहाना या लंबे समय तक नहाना या दिन में एक से अधिक बार स्नान करना एक्जिमा को ट्रिगर कर सकता है। सर्दियों के मौसम में 10 मिनट से अधिक गर्म पानी में ना नहाएँ। सुनिश्चित करें कि शरीर को धोते समय आपकी त्वचा पर साबुन या क्लीनर पूरी तरह से धुल गये हों।

स्नान के बाद धीरे से तौलिये से त्वचा को साफ करें और तुरंत अपनी त्वचा पर मॉइस्चराइज़र का उपयोग करें। विशेषज्ञों का कहना है कि क्रीम या मॉइस्चराइज़र लोशन से बेहतर काम करते हैं। नारियल तेल या जैतून का तेल भी अच्छे मॉइस्चराइजर्स के रूप में काम करते हैं।

ठंडे मौसम या देर तक सोने के कारण कभी-कभी हम दैनिक शॉवर या नहाना छोड़ देते हैं। शास्त्रीय आयुर्वेदिक ग्रंथों का कहना है कि कम से कम दिन में एक बार नियमित रूप से स्नान करना चाहिए क्योंकि इससे आपकी त्वचा को कई प्रकार के लाभ होते हैं -

  1. स्नान सुस्ती और थकान को ठीक करता है। (और पढ़ें – थकावट दूर करने के उपाय)
  2. स्नान करने से परिसंचरण में सुधार होता है।
  3. स्नान रोम छिद्र को खोलता है और विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालता है।
  4. स्नान रक्तचाप कम कर देता है।
  5. मांसपेशियों के दर्द को कम करता है।
  6. शरीर को शांत करता है।

भारत के आर्ट ऑफ़ लिविंग कैंपस के विशेषज्ञ गर्मियों में स्नान करने के लिए ठंडे पानी का उपयोग करने की सलाह देते हैं क्योंकि यह दृष्टि में सुधार करने और पाचन को प्रोत्साहित करने के लिए अच्छा माना जाता है। आयुर्वेदिक सिद्धांतों के अनुसार, भोजन के तुरंत बाद स्नान ना करना सबसे अच्छा होता है क्योंकि इससे पाचन अंगों से शरीर की गर्मी दूर होती है। इसलिए भोजन करने के कम से कम 1 घंटे के बाद स्नान करें।

(और पढ़ें – गर्म पानी से नहाना चाहिए या ठंडे पानी से – जानिए आयुर्वेद क्या कहता है)

myUpchar के डॉक्टरों ने अपने कई वर्षों की शोध के बाद आयुर्वेद की 100% असली और शुद्ध जड़ी-बूटियों का उपयोग करके myUpchar Ayurveda Kesh Art Hair Oil बनाया है। इस आयुर्वेदिक दवा को हमारे डॉक्टरों ने 1 लाख से अधिक लोगों को बालों से जुड़ी कई समस्याओं (बालों का झड़ना, सफेद बाल और डैंड्रफ) के लिए सुझाया है, जिससे उनको अच्छे प्रभाव देखने को मिले हैं।
Bhringraj hair oil
₹425  ₹850  50% छूट
खरीदें

सुपरमार्केट शेल्फ़ पर बड़े पैमाने में रखे स्नान उत्पाद अपने रंग, आकर्षक लेबल और सुगंध से आपका ध्यान अपनी ओर खींचते हैं, लेकिन ज़रूरी नहीं है कि ये आपकी त्वचा को स्वस्थ और कोमल रखें। यदि आपके साबुन या क्लीनज़र बहुत अधिक झाग पैदा करते हैं तो इसका मतलब है कि इन उत्पादों में काफी हद तक रसायन (chemicals) का उपयोग किया गया है। ये उत्पाद आपकी त्वचा से प्राकृतिक तेलों को अलग कर रहे हैं, इसी कारण अच्छे मॉइस्चराइजर्स के प्रयोग के बाद भी आपकी त्वचा ड्राइ रहती है। 

(और पढ़ें – सन टैन दूर करने के घरेलू उपाय)

त्वचा विशेषज्ञों के मुताबिक गैर-सुगंधित, हल्के साबुन या साबुन-मुक्त क्लीनज़र का उपयोग करना चाहिए। दुर्गन्ध दूर करने वाले साबुन या अल्कोहल-आधारित उत्पादों से दूर रहें।

क्या आप केमिकल युक्त बॉडीवाश के बजाय कुछ प्राकृतिक बॉडीवाश का उपयोग करना चाहते हैं? आयुर्वेद घर पर बने प्राकृतिक उबटन का उपयोग करने की सलाह देता है। घरेलू उबटन उत्कृष्ट त्वचा क्लीनज़र होते हैं। तो आइए जानते है घर पर बने एक प्राकृतिक उबटन के बारे में। इसके लिए लीजिए -

  1. 2 बड़े चम्मच चने का आटा
  2. 1 चम्मच चंदन पाउडर
  3. आधा चम्मच हल्दी पाउडर
  4. एक चुटकी कपूर

एक पेस्ट बनाने के लिए थोड़े से पानी के साथ इन सभी अवयवों को मिलाएं और पूरे शरीर पर धीरे से रगड़ें और 5 मिनट के बाद धो लें। 

(और पढ़ें – तैलीय त्वचा के लिए चंदन फेस पैक)

myUpchar के डॉक्टरों ने अपने कई वर्षों की शोध के बाद आयुर्वेद की 100% असली और शुद्ध जड़ी-बूटियों का उपयोग करके myUpchar Ayurveda Urjas Energy & Power Capsule बनाया है। इस आयुर्वेदिक दवा को हमारे डॉक्टरों ने कई लाख लोगों को शारीरिक व यौन कमजोरी और थकान जैसी समस्या के लिए सुझाया है, जिससे उनको अच्छे प्रभाव देखने को मिले हैं।
Power capsule for men
₹719  ₹799  10% छूट
खरीदें

सुबह के समय स्नान व्यस्त दिन के लिए सबसे अच्छा तरीका है, लेकिन रात में नहाना या शावर भी अच्छी नींद लेने का एक शानदार तरीका है। नींद वैज्ञानिक जेसा गैंबल की खोज के अनुसार शरीर का तापमान सोने के समय कम हो जाता है। यही कारण है कि हम सोने के बाद बिस्तर पर पहुंचने के बाद भी काफ़ी समय तक सोते नहीं हैं। इसलिए गर्म पानी से स्नान ना केवल आपके शरीर की गर्मी का स्तर सही करता है बल्कि अच्छी नींद को भी बढ़ावा देता है।

(और पढ़ें – थकान दूर करने और ताकत के लिए क्या खाएं)

ऐप पर पढ़ें