myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -
संक्षेप में सुनें

एक्जिमा एक त्वचा विकार है जो पूरे विश्व में लोगों को प्रभावित करता है। इस स्थिति में आपके शरीर के किसी भी अंग की त्वचा पर खुजली और लाल चकत्ते हो जाते हैं। शिशुओं में यह काफी प्रचलित है। एक्जिमा कुछ मामलों में संक्रामक हो सकता है। एक्जिमा को मूल रूप से तीव्र खुजली से जाना जाता है जिसमें कभी-कभी खून निकल आता है और त्वचा को क्षति होती है। कभी-कभी कुछ लोग एक्जिमा के इलाज में काफ़ी हद तक सक्षम होते हैं जबकि कुछ लोगों को उम्र भर इसी के साथ रहना पड़ता है।

(और पढ़ें - एक्जिमा के घरेलु उपाय)

  1. एक्जिमा के प्रकार - Types of Eczema in Hindi
  2. एक्जिमा के लक्षण - Eczema Symptoms in Hindi
  3. एक्जिमा के कारण - Eczema Causes in Hindi
  4. एक्जिमा से बचाव - Prevention of Eczema in Hindi
  5. एक्जिमा का परीक्षण - Diagnosis of Eczema in Hindi
  6. एक्जिमा का इलाज - Eczema Treatment in Hindi
  7. एक्जिमा की आयुर्वेदिक दवा और इलाज
  8. एक्जिमा में क्या खाना चाहिए, क्या न खाएं और परहेज
  9. एक्जिमा के घरेलू उपाय
  10. एक्जिमा की होम्योपैथिक दवा और इलाज
  11. एक्जिमा के लिए योग
  12. एक्जिमा की दवा - Medicines for Eczema in Hindi
  13. एक्जिमा की दवा - OTC Medicines for Eczema in Hindi

एक्जिमा के प्रकार - Types of Eczema in Hindi

एक्जिमा के प्रकार  

प्रत्येक प्रकार के एक्जिमा का अपना खुद का लक्षण और ट्रिगर (किसी घटना का कारण बनना) होता है। एक्जिमा को विभिन्न प्रकारों में वर्गीकृत किया जाता है -

  1. एटोपिक डर्मेटाइटिस (Atopic dermatitis) - यह एक्जिमा का सबसे आम रूप है। यह आम तौर पर बचपन में शुरू होता है, और अक्सर हल्का हो जाता है या वयस्कता में दूर हो जाता है।
  2. डिज़िद्रोटिक एक्जिमा (Dyshidrotic eczema) - डिज़िद्रोटिक एक्जिमा हाथों और पैरों पर छोटे फफोले बनाने का कारण बनता है। पुरुषों की तुलना में महिलाओं में यह अधिक आम है।
  3. हाथ पर एक्जिमा (Hand eczema) - एक्जिमा जो केवल हाथों को प्रभावित करता है, उसे हाथ का एक्जिमा कहा जाता है। यह उन लोगों में होता है जो हेयरड्रेसिंग या सफाई जैसी नौकरी करते हैं, जहां वह लोग नियमित रूप से रसायनों का उपयोग करते हैं जो त्वचा को परेशान करते हैं।
  4. न्यूरोडर्मेटाइटिस (Neurodermatitis) - न्यूरोडर्मेटाइटिस एटोपिक डर्मेटाइटिस के समान है। यह मोटी, स्केल पैच बना देता है, जो त्वचा पर उभर जाता है।
  5. न्यूमूलर एक्जिमा (Nummular eczema) - इस प्रकार का एक्जिमा सिक्के के आकार का स्पॉट त्वचा पर बना देता है। न्यूमूलर एक्जिमा अन्य प्रकार की एक्जिमा से बहुत भिन्न होता है, और इसमें बहुत खुजली होती है।
  6. स्टैटिस डर्मेटाइटिस (Stasis dermatitis) -  स्टैटिस डर्मेटाइटिस तब होती है, जब आपकी त्वचा में कमजोर नसों से तरल पदार्थ बहता है। यह तरल पदार्थ सूजन, त्वचा का लाल होना, खुजली और दर्द का कारण बनता है।
  7. कॉन्टैक्ट डर्मेटाइटिस (Contact dermatitis) - यदि आपकी त्वचा लाल या उस पर खारिश है, जो आपके द्वारा छूने वाले पदार्थों की प्रतिक्रिया के कारण हुई है, तो आपको कॉन्टैक्ट डर्मेटाइटिस हो सकता है। इसके दो प्रकार है -
  • एलर्जी कॉन्टैक्ट डर्मेटाइटिस (Allergic contact dermatitis) - लैटेक्स या धातु जैसी उत्तेजक के प्रति प्रतिरक्षा प्रणाली की प्रतिक्रिया के कारण होता है।  
  • उत्तेजक कॉन्टैक्ट डर्मेटाइटिस (Irritant contact dermatitis) - जब एक रासायनिक या अन्य पदार्थ त्वचा को परेशान करते हैं।

एक्जिमा के लक्षण - Eczema Symptoms in Hindi

एक्जिमा एक त्वचा विकार है जो लाखों लोगों को प्रभावित करता है। यह बड़े पैमाने पर शिशुओं और साथ ही बड़ों में भी देखा जाता है। इसमें आपकी त्वचा पर लाल और खुजलीदार पैच हो सकते हैं। गर इन लक्षणों का इलाज नहीं किया जाए तो त्वचा परत दर, खुरदुरी और शुष्क हो सकती है। लंबी अवधि के एक्जिमा से प्रभावित त्वचा, बैक्टीरिया संक्रमण के लिए आमतौर पर अधिक संवेदनशील हो जाती है। लगातार खुजली से आपकी त्वचा पर खरोंच आ जाती है जिससे त्वचा की क्षति बढ़ जाती है। एक्जिमा हल्का या गंभीर हो सकता है। कभी-कभी किसी को भी पैच से मुक्ति मिल सकती है। लेकिन अधिकतर यह स्थिति आपके जीवनकाल के लिए आपकी साथ रह सकती है। उचित दवा और देखभाल के साथ, एक्जिमा के लक्षणों रोक कर रखना संभव है। (और पढ़ें - त्वचा की चिप्पी के उपाय)

एक्जिमा के कारण - Eczema Causes in Hindi

एक्जिमा क्यों होता है?

एक्जिमा में अंग की त्वचा पर खुजली और लाल चकत्ते हो जाते हैं। एक्जिमा के पीछे सही कारण पूरी तरह से ज्ञात नहीं है। हालांकि, कुछ ऐसे ट्रिगर हैं जो हालत को शुरू या खराब करने के लिए जाने जाते हैं। एक्जिमा को पामा रोग या छाजन रोग के नाम से भी जाना जाता है।

  1. एक्जिमा के कारण हैं खाद्य पदार्थ - Eczema Caused by Food in Hindi
  2. आनुवांशिक है एक्जिमा रोग - Genetic Causes Eczema in Hindi
  3. पामा रोग का कारण है एलर्जी - Allergy Causes Eczema in Hindi
  4. एक्जिमा होता है त्वचा की अनुचित देखभाल के कारण - Eczema Due to Improper Skin Care in Hindi
  5. एक्जिमा का कारण बनता है तनाव - Eczema Triggered by Stress in Hindi

 एक्जिमा के कारण हैं खाद्य पदार्थ - Eczema Caused by Food in Hindi

आपके आहार में कुछ तत्व एक्जिमा को ट्रिगर कर सकते हैं। यह हरेक व्यक्ति में भिन्न हो सकते हैं। शिशुओं को आमतौर पर इस तरह की स्थिति विकसित करने के लिए देखा जाता है। इसमें आम खाद्य पदार्थों में डेयरी उत्पादों, खट्टे भोजन, मछली, अंडे आदि शामिल हैं। आयुर्वेद के अनुसार, नमकीन और मसालेदार भोजन का भारी सेवन अस्वस्थ माना जाता है। ये आपके दोषों को बढ़ा सकते हैं। अस्वस्थ भोजन का सेवन करना हानिकारक होता है जो पचाने में मुश्किल और भारी होता है।

आनुवांशिक है एक्जिमा रोग - Genetic Causes Eczema in Hindi

हालांकि एक्जिमा के सही कारण अभी तक अज्ञात हैं, लेकिन यह यह पाया गया है कि एक या दोनों माता-पिता अगर इस त्वचा की स्थिति से पीड़ित हैं तो संतान में एक्जिमा होने की संभावना बढ़ जाती है।

पामा रोग का कारण है एलर्जी - Allergy Causes Eczema in Hindi

यह संभवत एक्जिमा के मुख्य ट्रिगर्स में से एक है। जब आप किसी विशेष प्रकार की पदार्थों के संपर्क में आते हैं जो एक्जिमा के लिए संभावित ट्रिगर हो सकता है, जिससे आपके शरीर में एक असामान्य प्रतिक्रिया होती है। कुछ सामान्य एलर्जन धूल के कण, पराग, बैक्टीरिया, वायरस, कवक, रूसी आदि हैं।

एक्जिमा होता है त्वचा की अनुचित देखभाल के कारण - Eczema Due to Improper Skin Care in Hindi

आप फेस क्लींजर या शैम्पू का उपयोग करते हैं जो कि परेशानी पैदा कर सकते हैं जिससे सूजन पैदा हो सकती है। कुछ ऐसे ही पदार्थ साबुन और डिटर्जेंट में मौजूद होते हैं जो कभी-कभी त्वचा को उत्तेजित करने के लिए जाने जाते हैं। बेहद गर्म, ठंड और शुष्क मौसम जैसी कुछ पर्यावरण स्थितियां हानिकारक भी हो सकती हैं। (और पढ़ें - एक्जिमा के लिए होममेड फेस मास्क)

एक्जिमा का कारण बनता है तनाव - Eczema Triggered by Stress in Hindi

यह अभी तक पुष्टि नहीं की गई है कि एक्जिमा के लिए तनाव एक ट्रिगर के रूप में कार्य करता है या नही लेकिन यह देखा गया है कि यह स्थिति को बढ़ा देता है। तनाव को एक्जिमा के बिगड़ने से जोड़ा जा सकता है।

एक्जिमा से बचाव - Prevention of Eczema in Hindi

जब त्वचा सूज जाती है और उसके कारण त्वचा पर लाल रैशेस हो जाते हैं और साथ ही त्वचा में खुजली और जलन होने लगती है, इस स्तिथि को एक्जिमा कहते हैं। एक्जिमा की समस्या में लगातार बहुत ज्यादा खुजली होती है। आप अपने शरीर में कहीं भी जैसे कोहनी, घुटनों, चेहरे, बांह, पैर, आदि पर लाल रैशेस या चकत्ते देख सकते हैं। इस त्वचा रोग में आप असहज महसूस करते हैं। यह जीवन भर आप के लिए समस्या का कारण बन सकता है। आप अपने आप को इस समस्या से बचाने और लक्षणों को नियंत्रित करने के लिए कुछ उपाय कर सकते हैं। आइए जानते हैं, अपनी जीवन शैली में कुछ महत्वपूर्ण बदलाव करके एक्जिमा की समस्या से निजात कैसे पाया जा सकता है। (और पढ़ें - त्वचा रोग का इलाज)

  1. संतुलित भोजन है एक्जिमा से बचने का उपाय - Eczema prevention diet in hindi
  2. एक्जिमा से मुक्ति के लिए त्वचा का ख्याल रखें - Skin care for eczema in hindi
  3. एक्जिमा स्किन डिजीज में मौसम से बचें - Avoid extreme weather for eczema in hindi
  4. एक्जिमा के उपचार के लिए पराग कण से बचें - Avoid eczema triggers in hindi
  5. तनाव से दूर रहना है एक्जिमा का इलाज - Get rid of stress to prevent eczema in hindi

संतुलित भोजन है एक्जिमा से बचने का उपाय - Eczema prevention diet in hindi

दूध, नट, सोया और गेहूं जैसे कुछ खाद्य पदार्थ एक्जिमा की समस्या को और बढ़ाते हैं। यदि आपको पहले से एक्जिमा है तो इन खाद्य पदार्थों का अधिक सेवन इस समस्या को और बढ़ा सकता है। स्वस्थ खाने की आदत डालें और केले, हरी सब्जियां, आलूअंकुरित जैसे खाद्य पदार्थों को अपने आहार में शामिल करें। संतुलित और पका हुआ भोजन खाने की कोशिश करें, जो आसानी से पचने योग्य हो। प्रत्येक दिन निश्चित समय पर ही भोजन खाएं। इसके अलावा जो खाद्य पदार्थ आपके एक्जिमा को बढ़ाते हैं, ऐसे खाद्य पदार्थो के सेवन से बचें। (और पढ़ें - दाद और खुजली को हटाने के लिए बाबा रामदेव के प्राकृतिक तरीके)

एक्जिमा से मुक्ति के लिए त्वचा का ख्याल रखें - Skin care for eczema in hindi

चूंकि यह देखा गया है कि सूखी और संवेदनशील त्वचा वाले लोग एक्जिमा से ग्रस्त होते हैं, इसलिए आप अपनी त्वचा का अच्छा ख्याल रखें। ठंडे पानी से नहाने की जगह गर्म पानी से स्नान करें। अपनी त्वचा की देखभाल के लिए त्वचा को मॉइस्चराइज़ करना न छोड़ें। संक्रमण की किसी भी संभावना से बचने के लिए हर दिन स्नान करें। नर्म और चिकने कपड़े पहनें जो आपकी त्वचा के लिए अच्छे हों। यदि त्वचा बहुत शुष्क है, तो एक तेल या घी मालिश आपकी त्वचा के लिए बहुत अच्छी होगी। (और पढ़ें - बाजार के मॉइस्चराइजर से भी बढ़िया है यह घर पर बना नेचुरल मॉइस्चराइजर)

एक्जिमा स्किन डिजीज में मौसम से बचें - Avoid extreme weather for eczema in hindi

अति गर्मी और ठंड जैसे मौसम भी आपकी त्वचा को नुकसान पहुंचा सकते हैं। जब आप झुलसती धूप में बाहर निकलते हैं, तो अपनी त्वचा की उचित देखभाल करें। सर्दी आपकी त्वचा को शुष्क बना सकती है जिससे एक्जिमा की समस्या हो सकती है। ऊन से बने कपड़े और ऊनी कंबल का उपयोग करने से बचें। मौसम की स्थिति बदलने के दौरान खुद का ज़्यादा ध्यान रखें। (और पढ़ें - बदलते मौसम में हो रही एलर्जी का आयुर्वेदिक उपचार)

एक्जिमा के उपचार के लिए पराग कण से बचें - Avoid eczema triggers in hindi

यदि आप इस बात को जानते हैं कि पराग कण आपकी एक्जिमा की समस्या को बढ़ाते हैं तो पॉलिनेशन (Pollination) सीजन में जितना हो सके, उतना बाहर जाने से बचें। रूखा साबुन और अन्य ऐसी चीजो के उपयोग करने से बचें जो आपकी एक्जिमा की स्थिति को बढ़ा सकती हैं। 

तनाव से दूर रहना है एक्जिमा का इलाज - Get rid of stress to prevent eczema in hindi

तनाव एक्जिमा को प्रभावित करता है। अत्यधिक तनाव एक्जिमा के लक्षणों को बढ़ा सकता है। स्वस्थ जीवनशैली के लिए प्रतिदिन 7-8 घंटे नींद आवश्यक है। ये फ़ैक्टर आपके हार्मोन स्तरों को प्रभावित करते हैं, जो एक्जिमा की समस्या को और बढ़ा सकते है। (और पढ़ें - तनाव को दूर करने के लिए जूस)

एक्जिमा का परीक्षण - Diagnosis of Eczema in Hindi

एक्जिमा का परीक्षण और निदान कैसे करें?

सही निदान करने के लिए डॉक्टर मरीज़ की कई बार जांच कर सकतें हैं। क्योंकि जिन लोगों को एक्जिमा होता है, उनमें एक्जिमा के लक्षण समय के साथ बदलते रहते हैं।

एक्जिमा का निदान मरीज़ के लक्षण देखकर किया जाता है, मेडिकल इतिहास भी परिक्षण में ज़रूरी होता हैं।

डॉक्टर मरीज़ से निम्लिखित बातें पूछ सकते हैं -

  • अस्थमा का होना
  • हे फीवर का होना
  • उत्तेजक के संपर्क में आना
  • सोने में दिक्कत (और पढ़ें - नींद ना आने के उपाय)
  • कुछ समय पहले त्वचा रोग के लिए किया हुआ इलाज
  • स्टेरॉइड्स या अन्य दवाइयों का इस्तेमाल करना

एक्जिमा के इलाज के लिए त्वचा-विशेषज्ञ या अलर्जिस्ट से मिलें। एक्जिमा के निदान के लिए कोई एक परिक्षण नहीं है। एक्जिमा के निदान में निम्नलिखित परिक्षण कराये जातें हैं -

  • पैच परीक्षण (Patch testing ) - त्वचा की एलर्जी के परीक्षण के लिए पदार्थ को त्वचा की सतह पर रखा जाता है।
  • त्वचा चुभन परिक्षण (Skin prick testing) - इस परीक्षण से एलर्जी का पता चलता है।
  • पर्यवेक्षित खाद्य चुनौतियां (Supervised food challenges) - कुछ खाने की सामाग्रियों को खाने से हटा दिया जाता है, और कुछ समय बाद शामिल कर दिया जाता है। यह देखने के लिए कि कही एलर्जी खाने की वजह से तो नहीं।

एक्जिमा का इलाज - Eczema Treatment in Hindi

एक्जिमा का इलाज कैसे किया जाता है?

अपनी त्वचा की देखभाल अच्छे से करें। अगर आपका एक्जिमा हल्का है, तो वह अपनी रोज़मर्रा की आदतों में बदलाव लाने से ठीक हो सकता है। (और पढ़ें - एक्जिमा के लिए योग)

अगर आपका एक्जिमा बहुत गंभीर है, तो आपको दवाई लेने की भी आवश्यकता हो सकती है।

  • हलके साबुन का प्रयोग करें जिससे आपकी त्वचा शुष्क न हो। आपको एक अच्छा मॉइस्चराइजर क्रीम, लोशन या मरहम के रूप में मिल जाएगा।
  • अगर आपका एक्जिमा बहुत गंभीर है तो, नहाने के पानी में थोड़ा सा ब्लीच मिलाएं। इससे एक्जिमा से पीड़ित लोगों की त्वचा पर मौजूद बैक्टीरिया मर जाएंगे।
  • कम अवधि के लिए गर्म पानी वाले शावर लें। बहुत ज़्यादा अवधि के लिए या बहुत गर्म पानी से ना नहाएं, इससे त्वचा शुष्क हो जाती है।
  • अपनी त्वचा मे नमी बनाये रखें, शुष्क हवा त्वचा को हानि पहुंचा सकती है।

अगर डॉक्टर को यह लगता है कि आपको दवाइयों की ज़रूरत है, तो वह आपको निम्नलिखित दवाइयां लेने का सुझाव दे सकते हैं -

  • हाइड्रोकोर्टिसोन (Hydrocortisone) ओवर दी काउंटर लगाने वाला मरहम है, इससे हल्के एक्जिमा में आराम मिलता है। अगर एक्जिमा गंभीर है, तो दवाई की मात्रा डॉक्टर द्वारा बताई जाती है।
  • एंटीहिस्टमाईन्स (Antihistamines) दवाइयां आपको बिना प्रिस्क्रिप्शन के ओवर दी काउंटर उपलब्ध होती हैं।
  • अगर दूसरे इलाजों से फर्क नहीं पड़ रहा तो, डॉक्टर आपको कॉर्टिकॉस्टेरॉइड्स (Corticosteroids) लेने का सुझाव दे सकते हैं। स्टेरॉइड्स लेने से पहले हमेशा अपने डॉक्टर की सलाह लें।
  • आपको बताई गयी दवा आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली की प्रक्रिया पर निर्भर करती है। डॉक्टर आपको कुछ दवाइयों का सुझाव दे सकते हैं। जैसे कि - आज़ॅतियापराइन (azathioprine)
  • डॉक्टर आपको क्रीम और मरहम लगाने का सुझाव देंगे, जो सूजन और प्रतिरक्षा प्रणाली की प्रतिक्रिया को कम करके एक्जिमा ठीक करेगा। उदहारण के लिए - पिमेक्रोलिमस ( pimecrolimus ) (जो की एक क्रीम है) , क्रिसाबोरोल (crisaborole) (जो की एक मरहम है)। अगर आप पर कोई इलाज काम नहीं कर रहा है, तो आप इन्हे बहुत कम अवधि के लिए इस्तेमाल करें। इसे दो साल से कम उम्र के बच्चों पर इस्तेमाल न करें।
  • दुपीलुमब (Dupilumab) दवाई नामक इंजेक्शन माध्यम से गंभीर एटोपिक डर्मेटाइटिस में दिया जाता है। यह शरीर की सूजन को कम करता है। इस दवा को इंजेक्शन के रूप में हर दो सप्ताह में दिया जाता है और केवल वयस्कों द्वारा इसका उपयोग किया जाना चाहिए।

अगर त्वचा की स्थति बहुत गंभीर हो गई है, तो उसका इलाज पराबैंगनी प्रकाश चिकित्सा (ultra viloet rays) द्वारा किया जा सकता है।

एक्जिमा की दवा - Medicines for Eczema in Hindi

एक्जिमा के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

Medicine Name
Betnesol खरीदें
Aerocort खरीदें
Exel Gn खरीदें
Propyderm Nf खरीदें
Propygenta Nf खरीदें
Propyzole खरीदें
Propyzole E खरीदें
Clostaf खरीदें
Canflo Bn खरीदें
Tenovate Gn खरीदें
Toprap C खरीदें
Crota N खरीदें
Clop Mg खरीदें
Fubac खरीदें
Canflo B खरीदें
Tripletop खरीदें
Sigmaderm N खरीदें
Clovate Gm खरीदें
Fucibet खरीदें
Rusidid B खरीदें
Tolnacomb Rf खरीदें
Cosvate Gm खरीदें
Fusigen B खरीदें
Propyzole Nf खरीदें
Xeva Nc खरीदें

एक्जिमा की दवा - OTC medicines for Eczema in Hindi

एक्जिमा के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

OTC Medicine Name
Baidyanath Vyadhiharan Rasayana खरीदें
Baidyanath Raktashodhak Bati खरीदें
Baidyanath Talkeshwar Ras खरीदें
Divya Godhan Ark खरीदें
Baidyanath Gandhak Rasayan खरीदें
Patanjali Anti Wrinkle खरीदें
Baidyanath Raktashodhak Bati खरीदें
Dabur Kanchnar Guggulu खरीदें
Baidyanath Surakta Syrup खरीदें
Hamdard Majun Musaffi Khas खरीदें
Dabur Ras Manikya खरीदें
Baidyanath Rasmanikya Ras खरीदें
Divya Mahamanjisthadi Kwath (Pravahi) खरीदें
Baidyanath Sarivadyarishta खरीदें
Baidyanath Dadurin Ointment खरीदें
Divya Neem Ghan Vati खरीदें
Patanjali Divya Kayakalp Vati खरीदें
Baidyanath Tal Sindoor खरीदें
Divya Somraaji Taila खरीदें
Patanjali Divya Kayakalp Taila खरीदें

क्या आप या आपके परिवार में किसी को यह बीमारी है? सर्वेक्षण करें और दूसरों की सहायता करें

References

  1. Harsh Mohan: Textbook of Pathology [Internet]
  2. Stuart Ralston Ian Penman Mark Strachan Richard Hobson. Davidson's Principles and Practice of Medicine. 23rd Edition: Elsevier; 23rd April 2018. Page Count: 1440
  3. American Academy of Dermatology. Rosemont (IL), US; Stasis dermatitis
  4. National Health Service [Internet]. UK; Atopic eczema.
  5. International Eczema-Psoriasis Foundation [Internet]; Eczema Rashes: Definitions, Types, Symptoms & Best Treatments
और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें