myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

आपकी त्वचा शरीर का एक ऐसा अंग है जो उम्र बढ़ने के संकेतो को सबसे पहले दिखाती है। जितना अधिक आप अपनी त्वचा और आपके समग्र स्वास्थ्य की देखभाल करेंगे, उतना ही बेहतर उम्र बढ़ने की प्रक्रिया का सामना करेंगे।

जैसे जैसे उम्र बढ़ती है, हमारी त्वचा में परिवर्तन होता है - त्वचा के अंतर्निहित समर्थन संरचना वाले कोलेजन फाइबर के उतार चढ़ाव झुर्रियों और फाइन लाइन्स का कारण बनते हैं। यहाँ बताई गई कुछ दैनिक गलतियों से बच कर आप उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को धीमा करने में काफ़ी हद तक सफल हो सकते हैं।

  1. अधिक एक्सफोलिएशन है झुर्रियों का कारण - Too Much Exfoliation Cause Wrinkles in Hindi
  2. धूम्रपान से नहीं रहेगा चेहरे पर कसाव - Smoking Causes Aging of Skin in Hindi
  3. कठोर क्लींजर है झुर्रियों की वजह - Harsh Cleansers Cause Skin Aging in Hindi
  4. सूर्य की किरणे हैं स्किन एजिंग का कारण - Skin Aging Due to Sun Exposure in Hindi
  5. नींद की कमी दिखाए अधिक उम्र - Less Sleep Causes Aging in Hindi
  6. शारीरिक गतिविधि की कमी है उम्र बढ़ने का कारण - Lack of Exercise Causes Aging in Hindi
  7. तनाव है बढ़ती उम्र की वजह - Skin Aging Due to Stress in Hindi
  8. एंटी एजिंग को बढ़ाएँ मेकअप के साथ सोना - Sleeping in Makeup Ages Skin in Hindi

हम में से अधिकांश सोचते हैं कि एक्सफोलिएशन मृत कोशिकाओं को समाप्त कर देता है। यह सच है, लेकिन अत्यधिक एक्सफोलिएशन से त्वचा में पानी की कमी हो जाती है, जिससे आपकी त्वचा ड्राइ दिखने लगती है जो झुर्रियों की ओर योगदान करती है। 

(और पढ़ें – आइस फेशियल के लाभ निकालें मृत कोशिकाओं को बाहर)

हृदय, फेफड़े और कैंसर के खतरे के अलावा, धूम्रपान भी तेजी से त्वचा की उम्र को बढ़ाता है। जिसके कारण झुर्रियों और फाइन लाइन्स विकसित होने लगती है। इसके अलावा सिगरेट से निकली हीट त्वचा को बर्न करती है, इससे त्वचा के लोचदार तंतुओं में परिवर्तन और त्वचा में नमी की कमी हो जाती है। 

(और पढ़ें - सिगरेट पीना नहीं छोड़गें तो होंगे ये नुकसान)

कठोर क्लींजर त्वचा की प्राकृतिक लिपिड को समाप्त कर सकते हैं जिससे त्वचा में झुर्रियों का सर दिखाई देना शुरू हो जाता है। लगातार नई त्वचा के लिए आपको घरेलू क्लींजर का उपयोग करना चाहिए।

(और पढ़ें - शुष्क त्वचा की देखभाल के लिए ज़रूरी शहद और अंडे का क्लीनज़र)

हाल के अध्ययनों से यह पता चला है कि 70% मामलों में स्किन एजिंग का कारण सूर्य की किरणे हैं। यह त्वचा में घुसकर त्वचा की लोच को ख्तम कर देती है और मुक्त कणों के उत्पादन को बढ़ाती है। इसलिए त्वचा की रक्षा के लिए यह आवश्यक है कि आप बाहर निकालने से पहले सनस्क्रीन का उपयोग करें। 

(और पढ़ें - पाएं सनबर्न से छुटकारा लेकर इन प्राकृतिक तरीकों का सहारा)

जो लोग पूरी नींद नहीं लेते हैं उनका सीधा असर उनकी उम्र पर पड़ता है जिसके कारण आपकी त्वचा ज्दली बूढ़ी होने लगती है। रात में शरीर पुनर्जन्म, त्वचा की मरम्मत और कोशिकाओं को शुद्ध करता है। इसलिए रात के समय उचित नींद लेना आपके लिए बहुत महत्वपूर्ण है।

(और पढ़ें - योग निद्रा के माध्यम से पायें सुखद गहरी नींद)

एक्सरसाइज मूव्मेंट्स कोशिकाओं को फिर से जीवंत करने में मदद करती है। शारीरिक गतिविधि त्वचा को अधिक टोन बनाती है, क्योंकि इससे रक्त में ऑक्सीजन और पोषक तत्व त्वचा कोशिकाओं तक आसानी से पहुंचते हैं। एक सप्ताह में 4 बार लगभग 20-30 मिनट का व्यायाम पर्याप्त है। एक्सरसाइज शरीर में जमे हुए टोक्सिन को बाहर निकालने में मदद करती है।

मनुष्य मजबूत पर्यावरणीय तनाव का सामना कर सकते हैं, लेकिन अगर तनाव सीमा से परे हो जाए तो यह शारीरिक और मानसिक थकावट देता है। इसलिए तनाव का प्रबंधन बहुत महत्वपूर्ण है, जीवन की दीर्घावस्था तनाव की ओर ध्यान देने वाले स्तरों से जुड़ा हुआ है।

त्वचा की भलाई के लिए कभी भी मेकअप को उतारे बिना नहीं सोना चाहिए। मेकअप त्वचा की ऑक्सीजन को रोक देता है और फलस्वरूप यह उम्र बढ़ने की प्रक्रिया, झुर्रियों के निर्माण, टोन और लोच के नुकसान का कारण होता है। मेकअप हटाने और त्वचा को साफ करने के लिए चेहरे को साफ करना आवश्यक है। 

(और पढ़ें - रोज मेकअप करना आपकी सेहत के लिए हो सकता है हानिकारक)

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें