myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

अगर आपका भी एक ही बच्चा है तो आप बखूबी समझ सकते हैं कि भाई या बहन की कमी उसे कितनी महसूस होती होगी। ज्यादातर माएं इसी वजह से दूसरा बच्चा प्लान करती हैं। लेकिन दूसरे बच्चे की प्लानिंग के पहले आपको कुछ जरूरी बातों को अवश्य ध्यान में रखना चाहिए। इस बात पर गौर करें कि घर में एक और नए मेहमान के आने का मतलब है कई तरह की नई जिम्मेदारियां और बदलाव।

अगर आप भी दूसरे बच्चे की प्लानिंग कर रहे हैं तो जान लें कि इससे पहले आपको किन बातों का ध्यान रखना है।

(और पढ़ें - माँ बनने की सही उम्र)

क्या आपका शरीर दूसरे बच्चे के लिए तैयार है

दूसरे बच्चे की प्लानिंग करने से पहले अपने शरीर की ओर ध्यान देना न भूलें। कई महिलाएं दूसरे बच्चे को जन्म देने और 9 महीने के लम्बे सफर को तय करने में शारीरिक रूप से सक्षम नहीं होती हैं। इसलिए उन्हें दूसरी बार गर्भवती होने से पहले अपनी सेहत को लेकर डॉक्टर की सलाह जरूर लेनी चाहिए। सेहत को नजरअंदाज़ करना आपकी प्रेगनेंसी के लिए खतरनाक साबित हो सकता है इसलिए ऐसा करने से बचें।

(और पढ़ें - प्रेगनेंसी में क्या करें)

दूसरे बच्चे में कितना गैप रखें

शोध इस बात की ओर इशारा करती है कि एक बच्चे को जन्म देने के बाद महिला के शरीर को पूरी तरह से स्वस्थ होने में 18 महीने का समय लगता है। 173,205 बच्चों पर किए गए एक अध्ययन के अनुसार, जो महिलाएं पहले बच्चे के जन्म के महज़ 6 माह बाद ही गर्भवती हो जाती हैं उनका दूसरा बच्चा अपने बड़े भाई या बहन की तुलना में कमजोर होता है। जन्म के समय इनका वजन भी कम हो सकता है। वहीं जो महिलाएं पहली प्रेगनेंसी के 18 से 23 महीने बाद दूसरा बच्चा प्लान करती हैं, उनका दूसरा बच्चा भी स्वस्थ होता है। उनमें किसी भी तरह के जोखिम का खतरा कम रहता है।

(और पढ़ें - प्रेगनेंसी में क्यों जरूरी है नमक)

क्या है सही समय

दूसरी बार मां बनने पर भी आपको सतर्क रहना चाहिए। अगर आप 30 साल की उम्र पार कर चुकी हैं तो फर्टिलिटी को लेकर चिंता करना स्वाभाविक है। इस उम्र में आपको जल्द से जल्द अपनी दूसरी प्रेगनेंसी प्लान कर लेनी चाहिए वरना आपकी मुश्किलें बढ़ सकती हैं।

(और पढ़ें - गर्भावस्था में देखभाल)

आर्थिक स्थिति पर भी ध्यान दें

अपनी सेहत के साथ-साथ आपको अपने घर की वित्तीय सिथति पर भी गौर करना चाहिए। ध्यान रखें कि दूसरे बच्चे के आने से आपका बजट और जिम्मेदारियां दोनों ही बढ़ जाएंगी। क्या आप इस नई जिम्मेदारी को उठाने के लिए आर्थिक रूप से तैयार हैं। इस बात को समझें कि पुरानी जिम्मेदारियां कम नहीं हुई हैं और बच्चे के पालन-पोषण, स्कूल आदि के खर्च दिनों-दिन बढ़ते जाएंगे। ऐसी स्थिति में क्या दूसरे बच्चे के खर्च को आप वहन कर सकते हैं? अगर इन सब चीज़ों के लिए आप तैयार हैं तो ही दूसरे बच्चे की प्लानिंग करें।

दूसरी प्रेगनेंसी में कम गैप रखने के नुकसान

  • अगर आप अपने पहले बच्चे के बाद सही समय का गैप नहीं रखती हैं तो आपकी सेहत को इसकी कीमत चुकानी पड़ सकती है।
  • आप खुद को समय नहीं दे पाती हैं
  • घर के कामों को भी संभालने में दिक्कत आ सकती है 
  • अगर आपका पहला प्रसव सी-सेक्शन यानी सिजेरियन ऑपरेशन से हुआ है तो दूसरे बच्चे के समय नॉर्मल डिलीवरी की संभावना कम रह जाती है। (और पढ़ें - नॉर्मल डिलीवरी के लिए क्या करें)
  • दूसरी प्रेग्नेंसी के दौरान पहले बच्चे को स्तनपान करवाने की स्थिति में आपके शरीर को दो बच्चों के पोषण का ध्यान रखना पड़ता है जो कि काफी मुश्किल काम है। (और पढ़ें - स्तनपान से जुड़ी समस्याएं)
और पढ़ें ...