myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

हर महिला सुडौल और आकर्षक स्तन पाना चाहती हैं। इसलिए अधिकतर महिलाएं स्तनों की देखभाल को लेकर सजग रहती हैं। लेकिन इसके बावजूद आप वास्तव में अपने स्तनों के बारे में क्या जानते हैं? यह आश्चर्य की बात है कि उनके बारे में इतनी सारी चीज़ें हैं जिन्हें आप नहीं जानते हैं। तो आइए जानते हैं स्तन से जुड़े कुछ तथ्‍यों और मिथक के बारे में -

  1. स्तनों से जुड़े तथ्य - Facts about Breast in Hindi
  2. स्तनों से जुड़े मिथक - Myths about Breasts in Hindi

स्‍तन एक महिला के शरीर का अहम हिस्‍सा होता है। तो आज हम आपको कुछ ऐसे ही तथ्यों के बारे में बताने जा रहे हैं जिनका आप सभी को पता होना चाहिए। तो आइये जानते हैं इनके बारे में - 

  1. ब्रेस्ट साइज विभिन्न आकार और शेप के होते हैं - Breasts are Different in Sizes and Shapes in Hindi
  2. अतिरिक्त निपल्स असामान्य नहीं होते हैं - Extra Nipples are not that Uncommon in Hindi
  3. स्तन में गांठ होना असामन्य है - Lumps and Bumps in Breasts are Common in Hindi
  4. स्तन अलग अलग समय पर कर सकते हैं अलग महसूस - Breasts Feel Different at Different Times in Hindi
  5. आपका बाएं ब्रेस्ट दाएं से अधिक बड़ी होती है - Left Breast Bigger than Right Breast in Hindi
  6. स्तन टिशू के साथ होता है स्तन कैंसर का खतरा - Who Can Get Breast Cancer
  7. उम्र के साथ स्तन शिथिल हो जाते हैं - Breasts Sag with Age in Hindi
  8. स्तनों में दर्द के होते हैं कई कारण - There are Many Causes of Pain in the Breasts in Hindi

ब्रेस्ट साइज विभिन्न आकार और शेप के होते हैं - Breasts are Different in Sizes and Shapes in Hindi

हर किसी की ब्रेस्ट का आकर और शेप अलग होती है। कुछ लड़कियों की ब्रेस्ट का साइज अधिक होता है जिससे उन्हें लगता है कि ज्यादा आकर्षित नहीं होने के बावजूद उन पर अधिक ध्यान दिया जाता है। वहीँ दूसरी ओर, छोटे स्तन वाले कुछ लड़कियां अक्सर महसूस करती हैं कि वे काफी सेक्सी नहीं हैं और रातोंरात अपने स्तनों का आकर बढ़ाना चाहती है। चाहे आपके स्तनों का साइज बड़ा हो या नहीं, वास्तव में यह आपके शरीर के आकार और डीएनए पर निर्भर करता है। स्तन लगभग पूरी तरह फैटी टिशू के बने होते हैं, जो बताते हैं कि वजन कम होने पर साइज कुछ काम हो सकता है या वजन में बढ़ोतरी पर साइज बढ़ सकता है। हालांकि, आपको यह जानना होगा कि कोई निश्चित मानक नहीं है जो स्तन को 'पूर्ण' के रूप में परिभाषित करता है। कोई भी दो स्तन समान नहीं होते हैं। इसलिए अपने स्तनों को प्यार करें। (और पढ़ें - ब्रेस्ट टाइट करने के लिए एक्सरसाइज)

अतिरिक्त निपल्स असामान्य नहीं होते हैं - Extra Nipples are not that Uncommon in Hindi

स्तन आकार और शेप की तरह ही यह सिद्धांत निपल्स के लिए भी लागू होता है। निपल्स हल्के या गहरे रंग के होते हैं, बड़े या छोटे होते हैं और उनके आसपास बाल भी हो सकते हैं, जो सामान्य है। कुछ लोगों के दो से अधिक हो सकते हैं! उल्टे या पीछे हटने वाले निपल्स, जो बाहर के बजाय अंदर की तरफ रह जाते हैं, वे भी पूरी तरह से सामान्य होते हैं। यह वास्तव में कोई बड़ी बात नहीं है। और क्या आप जानते हैं कि आप अकेले निप्पल उत्तेजना से एक संभोग भी कर सकते हैं

स्तन में गांठ होना असामन्य है - Lumps and Bumps in Breasts are Common in Hindi

हां, बहुत सी महिलाओं के लम्पी और बम्पी स्तन हो सकते हैं। जो अलग-अलग चीजों के कारण हो सकते हैं और न सिर्फ स्तन कैंसर की वजह से हो सकते हैं। फाइब्रोकिस्टिक ब्रेस्ट चेंज, वैज्ञानिक रूप से लम्पी स्तन ऊतक और तरल पदार्थ से भरे हुए सिस्ट का वर्णन करता है जो कि महिलाओं को जीवन में कुछ बिंदुओ पर बड़ी संख्या में प्रभावित करते हैं। पीरियड्स के दौरान स्तन में गांठ, कोमलता और स्तन दर्द भी बहुत आम हैं। यदि आप एक गांठ नोटिस करते हैं तो बहुत अधिक परेशान न हों। हालांकि, जब गांठ कठोर, अचल और दर्दनाक लगती है तो आपको निश्चित रूप से डॉक्टर से जांच करानी चाहिए। (और पढ़ें - ब्रेस्ट पम्प के इस्तेमाल से जुड़ें कुछ मिथक)

स्तन अलग अलग समय पर कर सकते हैं अलग महसूस - Breasts Feel Different at Different Times in Hindi

यह आपके चक्र के बिंदु पर निर्भर करता है। आपके पीरियड्स के समय दूध-उत्पादक ऊतक (milk-producing tissues) अधिक सक्रिय हो जाते हैं, यही वजह है कि आपके स्तन इस समय इतने कोमल महसूस करते हैं और यहां तक कि आप कुछ दर्द भी महसूस कर सकते हैं। इसके अलावा, उनका आकार महीने के अलग-अलग समय पर बदल सकता है। आपके मासिक धर्म चक्र या गर्भनिरोधक गोलियों के कारण सेक्सी-समय या कुछ बिंदुओं के दौरान, आपके स्तनों के आकार को प्रभावित करने वाले कुछ कारक होते हैं।

(और पढ़ें - sex karne ka tarika)

आपका बाएं ब्रेस्ट दाएं से अधिक बड़ी होती है - Left Breast Bigger than Right Breast in Hindi

बिल्कुल सही, सिमेट्रिकल स्तन वास्तव में असली नहीं होते हैं। उन्हें जुड़वा कहा जा सकता है, लेकिन ज्यादातर महिलाओं में, एक स्तन दूसरे की तुलना में हमेशा थोड़ा बड़ा होता है। बाएं स्तन दांए स्तन की तुलना में बड़ा होता है। एक सिद्धांत के अनुसार ऐसा इसलिए है क्योंकि बाएं स्तन के नीचे दिल होता है और इस क्षेत्र से ब्लड पंप होता है इसलिए एक स्तन दूसरे स्तन से थोड़ा अधिक बड़ा हो सकता है। (और पढ़ें - ब्रेस्ट की देखभाल सही तरीके से कैसे करें)

स्तन टिशू के साथ होता है स्तन कैंसर का खतरा - Who Can Get Breast Cancer

यह जानना ज़रूरी है कि आपके स्तनों में सामान्य क्या है या कुछ अलग या हानिकारक है का कैसे पता किया जाएँ। याद रखें इसके बारे में जल्दी पता लगाना ही इसे हराने का सबसे अच्छा तरीका है, इसलिए आगे बढ़ो और अपने स्तनों को महसूस करें। प्रत्येक महिला को एक महीने में एक बार अपने स्तनों को चेक करना चाहिए और अपने हाथों को एक परिपत्र पैटर्न में ले जाने के बाद आत्मनिर्णय करना चाहिए। इसके अलावा यह अंडरआर्म्स के नीचे के क्षेत्र की जांच करें। यदि आप पता लगाते हैं और अनियमितता पाते हैं तो डॉक्टर से मिलाना सबसे अच्छा है।

मोटापा स्तन कैंसर का खतरा बढ़ सकता है, इसलिए स्वस्थ वजन बनाए रखना जरुरी है। फिट रहने के बाद हमेशा एक स्वस्थ विकल्प होता है। इसके अलावा, अल्कोहल भी आपके जोखिम को बढ़ा सकता है, इसलिए हर सप्ताह कॉकटेल की संख्या के बारे में फिर से सोचना एक अच्छा विचार होगा।

उम्र के साथ स्तन शिथिल हो जाते हैं - Breasts Sag with Age in Hindi

यह जानकार शायद आपको बुरा लगें लेकिन उम्र के साथ हमारी त्वचा की तरह, हमारे स्तन भी शिथिल हो जाते हैं। जैसे जैसे आप बड़े होते हैं आपका शरीर कम एस्ट्रोजन का उत्पादन करता है जिससे आपकी दूध ग्रंथि वसायुक्त ऊतकों में वापस आ जाती है। इसके कारण आपके स्तन अपनी दृढ़ता खो सकते हैं। एक ऐसी ब्रा पहने जो आपको सही से फिट बैठती है और धूम्रपान करने से बचें।

स्तनों में दर्द के होते हैं कई कारण - There are Many Causes of Pain in the Breasts in Hindi

ब्रेस्ट में दर्द और संवेदनशीलता अक्सर हार्मोनल परिवर्तन, आपके चक्र में उतार-चढ़ाव, गर्भधारण या गर्भनिरोधक गोलियों के कारण एस्ट्रोजेन के प्रति संवेदनशीलता के कारण होता है। कुछ महिलाएं एस्ट्रोजेन के प्रति दूसरों की तुलना में भी अधिक संवेदनशील होती है। इसके अलावा, पुरानी ब्रा जो पर्याप्त समर्थन प्रदान नहीं कर रही है वह भी स्तन दर्द के पीछे का कारण हो सकती है। वर्कआउट करना, विशेष रूप से चेस्ट एक्सरसाइज करना और पुश-अप के कारण आपके स्तन (आपकी छाती की मांसपेशियों) के पीछे मांसपेशियों में दर्द हो सकता है जिससे आपको अपने स्तनों में दर्द महसूस हो सकता है। (और पढ़ें – मांसपेशियों में दर्द का इलाज)

आप सोचते हैं कि कुछ पुरुष बड़े स्तनों को पसंद करते हैं, जबकि कुछ छोटे चेस्ट पसंद करते हैं, लेकिन सच्चाई यह है कि पुरुष सिर्फ स्तन पसंद करते हैं। इसलिए चिंता करना बंद करें और आपके पास जो भी है आपको उन पर गर्व होना चाहिए।

स्तनों से जुड़ी कुछ बात आपने सुनी और उस पर विश्वास भी कर लिया। ये बाते आपके दोस्तों, परिवार या यहां तक कि इंटरनेट से भी आ सकती हैं। यहां आपके स्तनों को लेकर ऐसे 10 मिथक हैं जिनके बारे में आपको विश्वास बंद करने की जरूरत है ... अगर आप अभी भी इन पर विश्वास करते हैं!

  1. अक्सर महिलाओं को यह लगता है कि अधिक सेक्स करने से उनके स्तन के आकार में वृद्धि होगी। लेकिन ऐसा नहीं हैं। आप बड़े स्तनों के लिए सेक्स को अपना रास्ता नहीं बना सकते हैं। इसमें कोई सबूत नहीं है जो कि इस विकास की तरफ इशारा करता है।
  2. कुछ महिलाओं का मानना है कि पूरे जीवन उनका ब्रा साइज एक जैसा रहता है। लेकिन यह सच नहीं है। क्योंकि एक महिला अपने जीवनकाल के दौरान, 7-8 अलग ब्रा साइज पहन सकती है। कई वर्षों में, एक महिला के शरीर में बहुत सारे परिवर्तन होते हैं जिससे उसके स्तनों की मात्रा, घनत्व और आकार बदल जाएगा।
  3. कुछ लोगों को लगता है कि आपकी स्लीपिंग पोजीशन के कारण आपके स्तन असमान हो सकते हैं। अपनी साइड सोना या अपने पेट के बल सोना किसी भी तरह से आपके स्तन के विकास को प्रभावित नहीं करता है। आपके स्तनों पर दबाव एक निश्चित शैली में सोते समय आपके शरीर में रक्त और हार्मोनल संचलन को प्रभावित करने के लिए पर्याप्त नहीं है।
  4. कई लोगों का मानना है कि वजन बढ़ने के साथ आपके स्तनों का आकर भी बढ़ता है। हालाँकि कुछ मामलों में जब आप वजन बढ़ाते हैं, तो आपके स्तन भी बड़े होते हैं, लेकिन इसे सामान्य धारणा बनाना ठीक नहीं होगा। वसा हर किसी के शरीर में अलग तरह से वितरित होती है कुछ के लिए, अतिरिक्त वजन उनके जांघों, चेहरे या पेट तक जा सकता है और स्तन पूरी तरह से अप्रभावित रह सकते हैं!
  5. कुछ महिलाओं का मानना है यदि आपके स्तन छोटे हैं तो आपको एक स्पोर्ट्स ब्रा पहनने की ज़रूरत नहीं है। लेकिन यह केवल एक मिथक है। क्योंकि जोरदार व्यायाम के दौरान स्तनों को समर्थन की आवश्यकता होती है, चाहे आकार कुछ भी क्यों न हो। यदि आप चलने या कसरत करते समय ब्रा नहीं पहनते हैं जो आपको उचित समर्थन प्रदान करती हैं, तो आप अपने लिगामेंट्स को नुकसान पहुंचा सकते हैं।
  6. एक ब्रा में सोने से आपको मजबूत (perky) ब्रेस्ट मिलती है। यह भी एक मिथक है। यह केवल एक ऐसी चीज है जो रात को सुपर असुविधाजनक बना देती है, जब तक कि आप इसके आदी नहीं होते हैं। यदि आप वास्तव में मजबूत स्तन चाहते हैं तो एक पेशेवर ब्रा फिटिंग के लिए जाएँ और अपने लिए सटीक आकार प्राप्त करें!
  7. एक मिथक यह भी है कि किशोरावस्था के बाद स्तनों की वृद्धि होना बंद हो जाती है। एक महिला के स्तनों में उसके जीवन के माध्यम से परिवर्तन देखने को मिलते हैं। हाँ युवावस्था के दौरान यह प्रक्रिया शुरू होती है, लेकिन यह वयस्कता तक समाप्त नहीं होती है। वास्तव में, हार्मोनल परिवर्तन, गर्भावस्था, वजन में उतार-चढ़ाव जैसे कई कारक हैं - जो किसी महिला के स्तनों को प्रभावित या प्रभावित नहीं कर सकते हैं। हालांकि, किशोर वर्षों के बाद भी वे निश्चित रूप से परिवर्तन देखने को मिलेंगें।
  8. एक मिथक यह भी है कि ब्रा पहनने से स्तन कैंसर हो सकता है। यह काफी लोकप्रिय मिथक है। हालांकि, ब्रा के पहनने और ब्रेस्ट कैंसर होने के बीच संबंध को साबित करने के लिए कोई भी वैज्ञानिक सबूत नहीं मिला है।
  9. अकसर माना जाता है आपके दोनों स्तन समान आकार के होते हैं। लगभग सभी महिलाओं के स्तन असमान होते हैं। दोनों स्तनों के बीच का अंतर नग्न आंखों से देखने के लिए पर्याप्त है और यह शायद एक कप के आकार का लगभग पांचवां हिस्सा होता है। फिर भी, यह एक मिथक है कि स्तन समान आकार के होते हैं।
  10. कुछ महिलाओं को लगता है कि अगर वो अपने बच्चे को स्तनपान कराती है तो उनके स्तन शिथिल हो जाते हैं। लेकिन लोकप्रिय धारणा के विपरीत, जब एक बच्चा स्तनपान नहीं कर रहा होता है तब आपके स्तन लूसे हो जाते हैं। यह गर्भावस्था के प्रभाव के बाद होता है इसलिए भविष्य के संदर्भ के लिए, स्तनपान कराने से आपके सुडौल स्तनों में कोई फर्क नहीं पड़ता है।

(और पढ़ें - पुत्र प्राप्ति के लिए क्या करें और बच्चा गोरा होने के उपाय)

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें
कोरोना मामले - भारतx

कोरोना मामले - भारत

CoronaVirus
154001 भारत
33अंडमान निकोबार
3171आंध्र प्रदेश
2अरुणाचल प्रदेश
781असम
3061बिहार
279चंडीगढ़
369छत्तीसगढ़
2दादरा नगर हवेली
15257दिल्ली
68गोवा
15195गुजरात
1381हरियाणा
273हिमाचल प्रदेश
1921जम्मू-कश्मीर
448झारखंड
2418कर्नाटक
1004केरल
53लद्दाख
7261मध्य प्रदेश
56948महाराष्ट्र
44मणिपुर
20मेघालय
1मिजोरम
4नगालैंड
1593ओडिशा
46पुडुचेरी
2139पंजाब
7703राजस्थान
1सिक्किम
18545तमिलनाडु
2098तेलंगाना
230त्रिपुरा
469उत्तराखंड
6991उत्तर प्रदेश
4192पश्चिम बंगाल

मैप देखें