myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

वीरासन का नाम "वीर" शब्द पर रखा गया है जिसका अर्थ है बहादुर। यह आसन ध्यान देने के आसनों में से एक है, इस लिए इसे आम तौर से सुबह के समय करना चाहिए।

इस लेख में वीरासन करने के तरीके और उससे होने वाले लाभों ंके बारे में बताया गया है। साथ में यह भी बताया गया है कि आसन करने के दौरान क्या सावधानी बरतें। लेख के अंत में एक वीडियो भी शेयर किया गया है।

(और पढ़ें - योग क्या है)

  1. वीरासन के फायदे - Virasana (Hero Pose) ke fayde in Hindi
  2. वीरासन करने से पहले यह आसन करें - Virasana (Hero Pose) karne se pahle ye aasan kare in Hindi
  3. वीरासन करने का तरीका - Virasana (Hero Pose) karne ka tarika in Hindi
  4. वीरासन का आसान रूपांतर - Virasana (Hero Pose) ke aasan Modification in Hindi
  5. वीरासन करने में क्या सावधानी बरती जाए - Virasana (Hero Pose) me kya savdhani barte in Hindi
  6. वीरासन करने के बाद आसन - Virasana (Hero Pose) ke baad aasan
  7. वीरासन का वीडियो - Virasana (Hero Pose) Video in Hindi

वीरासन के फायदे इस प्रकार हैं:

  1. वीरासन जांघों, घुटनों, और टखनों में खिचाव लाता है।
  2. पाचन में सुधार लाता है और गैस से राहत दिलाता है वीरासन। (और पढ़ें - पेट मे गैस का घरेलू उपचार)
  3. रजोनिवृत्ति के लक्षणों को दूर करने में मदद करता है।
  4. वीरासन गर्भावस्था के दौरान पैरों की सूजन कम करता है।
  5. हाई बीपी और अस्थमा के लिए चिकित्सीय है।
  6. यह आसन मन को संतुलित करता है, एकाग्रता की शक्ति को बढ़ाता है। (और पढ़ें - ध्यान लगाने के नियम)

वीरासन करने से पहले आप यह आसन ज़रूर करें:

  1. बालासन (Balasana or Child's Pose)
  2. बद्ध कोणासन (Baddha Konasana or Bound Angle Pose)
  3. त्रिअंग मुखेकपद पश्चिमोत्तानासन (Trianga Mukhaikapada Paschimottanasana or Three-Limbed Forward Bend)

वीरासन करने का तरीका इस प्रकार है:

  1. वज्रासन में बैठ जायें।
  2. अपने दाहिने टखने को पकड़ कर दाहिने पंजे को नितंब के नीचे से निकाल कर दाहिनी जाँघ से बाहर की तरफ रख दें। ऊपर दिया गया चित्र देखें।
  3. यह बाईं टाँग के साथ भी करें।
  4. ऐसा करने पर आपके नितंब ज़मीन को छूने चाहिए।
  5. हाथ को घुटनों पर टिका लें।
  6. जितनी देर आराम से बैठ सकें, बैठे रहिए वीरासन में।

वीरासन में पूरी तरह से दोनो तरफ टाँगों को करके हो सकता है की आपके नितंब ज़मीन पर ना टिकें। अगर ऐसा हो तो अपने नितंब के नीचे एक तौलिया रोल करके रख लें।

(और पढ़ें - टांगों में दर्द का इलाज)

वीरासन करने में यह सावधानियाँ ज़रूर बरतें:

  1. यदि आपको हृदय की किसी भी तरह की समस्या है, तो वीरासन ना करें।
  2. यदि आपके घुटने या टखने में चोट है तो यह आसन ना करें।

वीरासन करने के बाद आप यह आसन कर सकते हैं:

  1. पद्मासन (Padmasana or Lotus Pose)
  2. बकासन (Bakasana or Crane Pose)

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें