myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

अपान वायु मुद्रा आपके ह्रदय को मजबूत करती है, जिससे हद्रय अच्छे से पंप होता है। इस मुद्रा को नियमित रूप से करने से पेट की गैस की समस्या से राहत मिलती है। अपान वायु मुद्रा को 'मृत संजीवनी मुद्रा' भी कहा जाता है। यह मुद्रा व्यक्ति को कार्डियक अरेस्ट (Cardiac arrest) से भी बचाती है। अपान वायु मुद्रा करने से रक्त परिसंचरण सुधरता है और दर्द से राहत मिलती है।

(और पढ़ें - पेट में गैस का इलाज)

  1. अपान वायु मुद्रा के फायदे - Apana Vayu Mudra ke fayde in Hindi
  2. अपान वायु मुद्रा करने का तरीका - Apana Vayu Mudra karne ka tarika in Hindi
  3. अपान वायु मुद्रा का वीडियो - Apana Vayu Mudra video in Hindi
  4. अपान वायु मुद्रा करने में क्या सावधानी बरती जाए - Apana Vayu Mudra me kya savdhaniya barte in Hindi

अपान वायु मुद्रा के लाभ कुछ इस प्रकार हैं –

  1. यह मुद्रा ह्रदय के लिए बेहद अच्छी होती है। (और पढ़ें - हृदय को स्वस्थ रखने के लिए क्या खाएं)
  2. अपान वायु मुद्रा से ह्रदय रोगों का इलाज होता है। (और पढ़ें - दिल की विफलता के कारण)
  3. अपान वायु मुद्रा करने से कार्डियक अरेस्ट को ठीक किया जा सकता है। (और पढ़ें - कार्डियक अरेस्ट और हार्ट अटैक में अंतर)
  4. अपान मुद्रा को कब्ज और बदहजमी ठीक करने के लिए भी जाना जाता है। (और पढ़ें - कब्ज का घरेलू उपाय)
  5. यह मुद्रा गैस्ट्रिक की समस्या को भी सही करती है।

(और पढ़ें - पेट की गैस के लिए योग)

अपान वायु मुद्रा करने का तरीका हम यहाँ विस्तार से बता रहे हैं, इसे ध्यानपूर्वक पढ़ें –

  1. सबसे पहले पद्मासन में बैठ जाएं।
  2. अब अपने दोनों हाथों को जांघों पर रखें।
  3. हथेलियों को ऊपर की तरफ रखें।
  4. फिर दोनों हाथों की बीच की उंगलियों को हथेलियों की तरफ मोड़ें और अंगूठे के आधार पर रखें।
  5. तर्जनी उंगली को हथेली की तरफ मोड़ें और अंगूठे के निचले वाले क्षेत्र पर उसे रख लें।
  6. आपकी छोटी उंगली सीधी रहनी चाहिए।
  7. फिर अपनी आंखों को बंद कर लें और इस मुद्रा को तब तक बनाये रखें जब तक आप चाहते हैं। 

(और पढ़ें - ध्यान लगाने की विधि)

आसन को निश्चित समय से अधिक न करें।

(और पढ़ें - पृथ्वी मुद्रा के फायदे)

और पढ़ें ...