myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

कई लड़कियों के लिए उनके चिकने और चिपचिपे बाल बहुत बड़ी समस्या होते हैं। जहां रूखे और घुंघराले बालों के कारण बाल अत्यधिक टूटते हैं वहीं चिकने बालों की वजह से ये अत्यधिक पतले लगते हैं और उनमें कोई भी हेयर स्टाइल अच्छी नहीं लगती।

इस लेख में हम आपको बालों के ऑयली और चिपचिपे होने के कारण और उनकी सही देखभाल के उपाय बता रहे हैं। 

(और पढ़ें - लंबे और घने बालों के उपाय)

  1. ऑयली बालों के कारण - Oily hair causes in Hindi
  2. ऑयली बालों को मैनेज करने के तरीके - Ways to manage oily hair in Hindi

ऑयली बालों के कारण - Oily hair causes in Hindi

बालों के ऑयली होने का सही कारण जानकार उनकी सही देखभाल से ही ऑयली बालों की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है। ऑयली बालों के कारण इस प्रकार हैं:

  1. बालों की सही देखभाल न करने से होते हैं बाल चिपचिपे - Wrong hair care can cause oily hair in Hindi
  2. बालों के ऑयली होने का कारण है अत्यधिक कंघी करना - Greesy hair due to too much brushing in Hindi
  3. हार्मोन की वजह से भी बाल तैलीय हो जाते हैं - Oily hair due to hormones in Hindi
  4. बालों में उंगली फेरना भी है उनके ऑयली होने का कारण - Playing too much with your hair causes greasy hair in Hindi
  5. मॉइस्चराइजिंग शैंपू के इस्तेमाल से बाल होते हैं तैलीय - Moisturizing shampoo causes oily hair in Hindi
  6. हर रोज़ शैम्पू करना बन सकता है ऑयली बालों की वजह - Greasy hair due to regular shampooing in Hindi
  7. ऑयली बालों की वजह है स्टाइलिंग उत्पादों का अधिक उपयोग - Use of too much styling product can cause oily hair in Hindi
  8. तैलीय बाल होते हैं तैलीय माथे की वजह से - Forehead oil causes greasy hair in Hindi
  9. हमेशा बांध कर रखने से भी बाल हो जाते हैं ऑयली - Too much tied up Hair is a reason of oily hair in Hindi

बालों की सही देखभाल न करने से होते हैं बाल चिपचिपे - Wrong hair care can cause oily hair in Hindi

बालों को धोते समय शैम्पू का गलत इस्तेमाल बालों को तैलीय बना सकता है। बालों में शैम्पू करने के लिए सबसे पहले उन्हें गीला करें। बेहतर होगा अगर आप उन्हें हल्के गुनगुने पानी से भिगो लें क्योंकि इससे सिर के रोमछिद्र खुल जाते हैं और चिपकी हुयी गंदगी ढीली हो जाती है जो शैम्पू से आसानी से निकल सकती है। फिर मग में इस गुनगुने पानी में थोड़ा शैम्पू घोल लें और इससे सिर धोएं क्योंकि सीधे सिर पर शैम्पू लगाने से शैम्पू में मौजूद केमिकल्स का असर सिर पर पड़ता है। जिससे बालों के साथ साथ जड़ों पर भी बुरा असर पड़ता है।
इसी तरह बालों की कंडीशनिंग करते समय, जड़ से कम से कम 2 इंच की दूरी से बालों के छोरों तक कंडीशनर लगाएं। क्योंकि जड़ें प्राकृतिक तेल का उत्पादन करती हैं, इसलिए उनमें कंडीशनर न लगाएं। यदि आप ऐसा करती हैं तो आपके बाल ऑयली हो जायेंगे। 

(और पढ़ें - बाल लंबे करने का शैम्पू)

बालों के ऑयली होने का कारण है अत्यधिक कंघी करना - Greesy hair due to too much brushing in Hindi

जब भी आप अपने बालों को ब्रश करती हैं, तो आप अपनी पूरी खोपड़ी के बालों में फिर से तेल बिखेर देती हैं। इसलिए अगर आपके बाल पहले से ही ऑयली हैं या वर्तमान समय में आप चिकने बालों की समस्या से गुज़र रही हैं तो बहुत अधिक ब्रश या कंघी न करें। 

(और पढ़ें - बाल झड़ने से रोकने के लिए हेयर मास्क)

हार्मोन की वजह से भी बाल तैलीय हो जाते हैं - Oily hair due to hormones in Hindi

बालों की देखभाल में हार्मोन की प्रमुख भूमिका होती है। कभी-कभी गर्भावस्थारजोनिवृत्ति, मासिक धर्म या गर्भनिरोधक गोलियों के कारण हार्मोन असंतुलित हो जाते हैं। इससे हार्मोन सामान्य से अलग प्रभाव डालते हैं, जिसके परिणामस्वरूप बालों की जड़ों से अत्यधिक तेल का उत्पादन होता है और बाल ऑयली हो जाते हैं। 

(और पढ़ें - हार्मोन्स का महत्व महिलाओं के स्वास्थ्य के लिए)

बालों में उंगली फेरना भी है उनके ऑयली होने का कारण - Playing too much with your hair causes greasy hair in Hindi

अनजाने में लोग अक्सर अपने बालों में उंगलियां घूमते रहते हैं और अपने लुक्स पर नए नए प्रयोग करते रहते हैं। इसपर शायद कभी ध्यान न दिया हो लेकिन यह पूरी खोपड़ी का तेल बालों में बिखेरता है। इससे भी बाल चिकने होते हैं इसलिए अपने बालों के साथ खेलना बंद करें।

मॉइस्चराइजिंग शैंपू के इस्तेमाल से बाल होते हैं तैलीय - Moisturizing shampoo causes oily hair in Hindi

यदि आपके बाल ऑयली हैं या आपकी खोपड़ी से अधिक तेल का निकलता है तो आप गहरायी से बालों को कंडीशन करने वाले या मॉइस्चराइजिंग शैंपू का इस्तेमाल न करें क्योंकि ये पहले से ही ऑयली खोपड़ी को और अधिक चिकना करते हैं।

हर रोज़ शैम्पू करना बन सकता है ऑयली बालों की वजह - Greasy hair due to regular shampooing in Hindi

यह थोड़ा हास्यास्पद लग सकता है, लेकिन हर रोज़ शैम्पू करने से भी बाल चिकने और चिपचिपे होते हैं। इसका कारण यह है कि जितना अधिक आप शैम्पू करेंगी उतने ही अधिक आपके सिर के रोमछिद्र खुलेंगे। हालांकि सिर को साफ रखना और रोमछिद्रों को खोलना निश्चित रूप से जरूरी है, लेकिन इससे छिद्रों से तेल का उत्पादन अधिक हो सकता है। इससे सिर और बाल और अधिक तैलीय हो सकते हैं। आप एक दो दिन छोड़कर शैम्पू कर सकती हैं। 

(और पढ़ें - बालों के लिए किस हेयर आयल का इस्तेमाल करें और कैसे)

ऑयली बालों की वजह है स्टाइलिंग उत्पादों का अधिक उपयोग - Use of too much styling product can cause oily hair in Hindi

बालों का आयतन बढ़ाने वाले स्प्रे और अल्कोहल युक्त स्टाइलिंग उत्पादों के इस्तेमाल से भी बालों में तेल का उत्पादन बढ़ता है। इसलिए कम स्टाइल वाले उत्पादों का उपयोग करें और कोशिश करें कि वो अल्कोहल रहित हों।

हीट स्टाइलिंग उपकरण का अत्यधिक उपयोग करने से बाल रूखे हो सकते हैं। रूखे बाल खोपड़ी से अत्यधिक सीबम (आयल) का उत्पादन करते हैं। इससे सिर से असामान्य तेल का उत्पादन होता है जिससे बाल चिकने होते हैं। इसलिए स्टाइलिंग उत्पादों के अधिक उपयोग से बालों को रूखा न करें।

तैलीय बाल होते हैं तैलीय माथे की वजह से - Forehead oil causes greasy hair in Hindi

यदि आपकी त्वचा ऑयली है, तो आपके माथे से काफी तेल निकलता होगा। इसलिए जब आप ब्रश करें या अपने बाल ड्रायर से सुखाएं तो सुनिश्चित करें कि आपके बाल माथे पर न आने पाएं। यदि आप ऐसा नहीं करेंगी तो संभावना है कि आपके बालों के सामने के भाग में तेल अवशोषित हो जायेगा जिससे आपके बाल ऑयली लगेंगे।

(और पढ़ैं - तैलीय बालों के लिए शैम्पू)

हमेशा बांध कर रखने से भी बाल हो जाते हैं ऑयली - Too much tied up Hair is a reason of oily hair in Hindi

यदि आपकी आदत अपने बालों को हमेशा बांध कर रखने की है, तो यह भी आपकी खोपड़ी के चिकनापन का कारण हो सकती है, क्योंकि ऐसा करने से तेल और सीबम सिर की कुछ जगहों पर एकत्रित हो जाता है।

तुरंत अच्छे परिणाम के लिए, आप पाउडर के साथ ड्राई शैम्पू का उपयोग कर सकती हैं। यह चंद घंटों में अच्छी तरह से काम करता है, जबकि आपके पास और उपाय करने के लिए समय न हो।

(और पढ़ैं - तैलीय बालों के लिए घरेलू उपाय)

ऑयली बालों को मैनेज करने के तरीके - Ways to manage oily hair in Hindi

असल में हमारी सीबम ग्रंथियां, प्राकृतिक कंडीशनर बनाती हैं जो खोपड़ी को लुब्रिकेट करते हैं अर्थात चिकना बनाये रखते हैं। जबकि थोड़ा अतिरिक्त तेल खोपड़ी को अच्छी हालत में रखता है और ड्राई होने से रोकता है। कभी कभी कुछ अन्य कारणों जैसे, आनुवंशिकता, हार्मोन के स्तर में उतार-चढ़ाव, शैंपू के अवशेष जो बालों में रह जाते हैं उनके कारण खोपड़ी में अत्यधिक तेल का उत्पादन बढ़ जाता है। जिसके बदले बाल चिकने लगते हैं। निम्नलिखित तरीके अपनाने से आपको अपने ऑयली बालों को सुंदर और मैनेज रखने में मदद मिलेगी। (और पढ़ें - बालों के लिए आंवला, रीठा और शिकाकाई)

  1. दिन में के बार ही सिर से नहाइये। अगर गर्मियों में आप दो या अधिक बार भी नहाती हैं तो बालों को बार बार मत भिगोइये।
  2. शैम्पू लगाने के बाद थोड़ी सी देर उसे बालों से आयल और गंदगी निकालने के लिए लगा रहने दें। हेयरड्रेसर सलाह देते हैं कि तेल उत्पादन को संतुलित रखने के लिए हर 2-3 दिन में सर धोएं।
  3. अतिरिक्त तेल और गंदगी की गहरायी से सफाई के लिए महीने में एक बार क्लेरिफाइंग शैम्पू (Clarifying shampoo) का उपयोग करें। कई क्लेरिफाइंग शैम्पू में सोडियम लॉरिल सल्फेट (Sodium lauryl sulfates) होते हैं जो खोपड़ी और बालों दोनों से तेल निकालते हैं।
  4. वैकल्पिक रूप में, कुछ लोग हर दो से चार सप्ताह में शैम्पू में बेकिंग सोडा मिलाने की सलाह देते हैं। यदि आप डैंड्रफ शैंपू का प्रयोग करें तो ध्यान रखिये क्योंकि कभी कभी ये बालों को बहुत अधिक ड्राई कर देते हैं।
  5. बेहद तैलीय बालों के लिए, एस्ट्रिंजेंट (Astringents) और प्राकृतिक उत्पादों का उपयोग करने की कोशिश करें जो सेबम के उत्पादन को धीमा करने में मदद कर सकें।
  6. बालों की देखभाल के लिए विशेषज्ञों द्वारा कुछ प्राकृतिक उपाय सुझाये गए हैं जिनमें बालों को बीयर, नींबू के रस या सिरके से बालों को धोने के लिए कहा गया है क्योंकि इनसे उनका आयल अच्छे से साफ़ हो जाता है। माउथवाश और विच हेज़ल में कसैले गुण होते हैं जो त्वचा को सख्त करते हैं और रोमछिद्रों को भी छोटा बनाते हैं।
  7. एक छोटे कंटेनर में, विच हेज़ल और माउथवाश की समान मात्रा मिलाएं।
  8. रुई के टुकड़े को उसमें डुबोकर उसकी सहायता से मिश्रण को सिर पर लगाएं।
  9. एस्ट्रिंजेंट का उपयोग शैंपू करने और बालों को धोने के बाद करना चाहिए।
  10. कंडीशनर का उपयोग बालों के छोरों पर पहले करें क्योंकि वहां बाल काफी रूखे होते हैं। कुछ महिलाएं सप्ताह में एक बार या किसी कंडीशनर का उपयोग नहीं करती हैं।
  11. अपने बालों को धोने के बाद, अच्छी तरह से तौलिया से सुखाएं।
  12. ड्रायर की गर्म हवा से ग्रंथियों से सेबम का उत्पादन अधिक हो सकता है, इसलिए सामान्य तरीके से बालों को सुखाएं।
  13. बालों को आवश्यकतानुसार ही ब्रश करें। हीट स्टाइलिंग उपकरण का कम से कम प्रयोग करें क्योंकि इनसे भी आयल अधिक बनता है।
  14. ड्राई शैम्पू तैलीय बालों वाली व्यस्त महिलाओं के लिए सबसे अधिक महत्वपूर्ण हो सकता है। ये उत्पाद स्पंज की तरह तेल सोखते हैं।
  15. अपने बालों को कभी कभी खुला भी रखिये। हमेशा बांधने से आयल एक जगह इकठा हो जाता है। जिससे बाल तैलीय लगते हैं।


और पढ़ें ...